प्यार का इज़हार और इक़रार शायरी ||Best Love Proposal Shayari in Hindi

Public Post Shayari

Love Proposal shayari - प्यार का इज़हार और इक़रार शायरी ||Best Love Proposal Shayari in Hindi

नहीं करना था मुझे
मोहब्बत का इज़हार तुमसे

गबारा नहीं था मुझे
तेरी रुसबाई का सबब होना

फासले दरमिया तुम्हारे लगते है शूल मुझे
तेरी चाहत में यही सही
मँजूर है मुझे दर्द का सैलाव बनाना 

Shayari By – Ravi Minhas©

खामोश लफ्ज़ो से मोहब्बत
का इज़हार होता है

चुपके से ताकना इश्क़
का इक़रार होता है

कोई और आके कहे हमे बताये
चलो अपने प्यार  को
कोई नाम देते है

Shayari By – Ravi Minhas©

सच झूट का फ़साना
नहीं है मोहब्बत

यह मेरे प्यार का इज़हार है मोहब्बत
क्यों मैं तुझे दिल का
रूं रूं न दिखाऊँ

यह मेरे कत्ल का सामान है मोहब्बत

Shayari By – Ravi Minhas©

कदम रोक लू तो
तुम दूर चले जाते हो

इज़हार-ऐ-लफ्ज़ बोल दूँ  
तो कहीं मोहब्बत तमाशा न हो जाये

खुदा करे जो कदम और
लफ्ज़ एक हो जायें

अपनी मोहब्बत❤️का सफर
आसान हो जाये

Shayari By – Ravi Minhas©

जो किसी ने नहीं किया
वो मोहब्बत में करके दिखा दूंगा

तेरी सच्ची मोहब्बत❤️का
ऐसा क़र्ज़ चूका दूंगा

शाहजहाँ ने मोहब्बत में ताजमहल
तामीर ‍♀️किया था

मैं गरीब आदमी हूँ
तेरी कब्र पक्की करवा दूंगा

प्यार मेरा कबूल कर या न कर
पैगाम यह खुदा का है 
मुझे तो जलील न कर
मेरी सच्ची मोहब्बत का एतबार तो कर
शादी किसी और से कर लेना 
मुझसे प्यार तो कर

Shayari By – Ravi Minhas©

सुना इश्क़ में ❤️
इज़हार करना पड़ता है

चोट खा के भी
मुस्कुराना पड़ता है

कबूल करें मेरे की प्यार सौगात
इन खामोश निगाहों से

लफ्ज़ बोल के इज़हार किया
तो डर है की थपड भी पड़ सकता है

Shayari By – Ravi Minhas©

Leave a Reply