Wasi Shah - Sochta hoon ke usay neend bhi ati hogi..

प्यार, मोहबत और चाहत शायरी – Shayari of Love and Romance

Shayari
चाहत की महफ़िल

ग़म न कर ज़िन्दगी बहुत बड़ी है
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है

 

Chahat Ki Mehfil

Gham Na Kar Zindagi Bahut Badi Hai,
Chahat Ki Mehfil Tere Liye Saji Hai,
Bas Ek Baar Muskura Kar Tho Dekh,
Taqdeer Khud Tujhse Milne Bahar Khadi Hai

 


आप के नाम

मंज़िलों की हर राह आप के नाम ,
मोहब्बत की हर अदा आप के नाम
प्यार भरी हर निगाह आप के नाम
और आज लबों पर आने वाली हर दुआ आपके नाम

Aap Ke Naam

Manzilo ki har sadak aap ke naam
Mohabbat ki har adda aap ke naam
Pyaar bhari har nigah aap ke naam
Aur aaj labon par aaane wali har dua aapke naam

 


प्यार की तड़प

प्यार की तड़प को दिखाया नहीं जाता
दिल में लगी आग को बुझाया नहीं जाता
कितनी भी दूरी हो प्यार में मगर
आप जैसे दोस्त को भुलाया नहीं जाता

 

Pyaar ki Tadap

pyaar ki tadap ko dikhaya nahi jata
dil mein lagi aag ko bhujaya nahi jata
kitni bhi doori ho pyaar mein magar
aap jaise dost ko bholaya nahi jata

 


तेरी  तस्वीर

न दिल को “बहलाने” के लिए .
न घर मैं “सजाने” के लिए .
बस आपकी एक “तस्वीर” चाहिए हमें .
अपने सूने घर को “बसाने” के लिए

 

Teri Tasveer

Na Dil Ko “BEHLANEY” Ke Liye.
Na Ghar Main “SAJANEY” Ke Liye.
Bus Aapki Ek “TASVEER” Chahiye Humain.
Apne Sune Ghar ko “BASANE” ke Liye