Badalte Rang Pyar Ke | Based on True Love Story | Hindi Real Life Love Story

a true love story Badalte Rang Pyar Ke Hindi love story Love Stories love story

नमस्कार दोस्तों आज मैं एक ऐसी लव स्टोरी के बारे में बताने जा रहा हु जिसे पढ़के आपको ऐसा लगेगा जैसे यह कहानी आपके ही प्यार की कहानी है |

दोस्तों कहानी की शुरुआत होती है एक कॉलेज कैंपस से जहा कुछ लड़के ग्रुप में खड़े होते है उन सब लड़को के बीच में हमारी कहानी का हीरो यानि रोहित भी होता है सारे लड़के आपस में बात कर रहे होते है तभी कॉलेज कैंपस में कहानी की हीरोइन यानि लवली की एंट्री होती है, लवली पर रोहित की नजर पड़ती हैं और रोहित लवली को देखता ही रह जाता है क्योकि आज लवली बहुत ही खूबसूरत लग रही है, लवली को रोहित ही नहीं, कॉलेज कैंपस में उस समय मौज़ूद हर शख्स देख रहा होता है लेकिन लवली अपने ही ख्यालो में ही खोई है और सीधे क्लासरूम की तरफ चली जा रही है  |

तभी वह एक लड़की से टकरा जाती है और वो लड़की और कोई नहीं लवली की बेस्ट फ्रेंड साक्षी है, टकराने की वजह से लवली की हाथ की सारी किताबे गिर जाती है किताबे गिरने की वजह से लवली गुस्से से साक्षी की तरफ देखतीं है और उधर यह सब रोहित भी देख रहा होता है और दौड़ कर लवली की तरफ आता है ताकि वह किताब उठाने में लवली की मदद कर सके लेकिन जैसे ही वह किताबे उठाने वाला ही होता है तभी साक्षी उसे मना कर देती है लेकिन फिर भी वह किताब उठाता है तभी रोहित और लवली की नजरे आपस में मिलती है और लवली रोहित को थैंक्स बोल के चली जाती है लेकिन बार 2 पलट कर रोहित को देख रही होती है |

यह सब साक्षी को अच्छा नहीं लगता और वह लवली से कहती है की रोहित अच्छा लड़का नहीं है |

अब ऐसे ही अक्सर अनजाने में ही लवली और रोहित की मुलाकाते होती रही लेकिन साक्षी की वजह से दोनों की कभी बात ना हो पाई एक दिन जब साक्षी की तबियत खराब होने की वजह से वह कॉलेज नहीं आई तब रोहित रेड रोज लेकर लवली के पास गया और रोज उसने लवली की तरफ बढ़ाया, तब लवली ने गुस्से से रियेक्ट किया और गाल पर मारने के लिए हाथ बढ़ाया लेकिन मारा नहीं और रेड रोज एक्सेप्ट कर लिया |

तुम्हारी चाहत तुम्हारे सपनो की हिफाज़त की है,
तुम्हारी मासूम निगाहों की कसम,
दिल तोह दिल,
मेरी रूह ने भी तुमसे मोहब्बत की है |

इस तरह रोहित और लवली के प्यार की शुरुवात हुई लेकिन जब यह बात साक्षी को पता चली तब वह पहले तो बहुत गुस्सा हुई लेकिन दोनों के बीच के प्यार को देख कर वह बहुत खुश हुई और उनकी खुशियो में शामिल हो गई |

आज लवली और रोहित के प्यार को 6 महीने पुरे हो गए है और दोनों आज एक रेस्टोरेंट में मिलने के लिए गए दोनों बैठ कर बात कर रहे होते है तभी रोहित के पास एक कॉल आती है, दूसरी तरफ से उसे कोई जरुरी काम से अभी बुलाता है तो वह यह बात लवली को बता कर वहा से चला जाता है यह सब वही पास में बैठा एक लड़का रवि देख रहा होता है रोहित के जाते ही रवि लवली के पास आकर उससे कहता पहचाना (रवि लवली का स्कूल फ्रेंड है) लवली कहती है रवि तुम यहाँ कैसे इस तरह दोनों की बातचीत शुरू होती है |

दोनों की इतनी बात होने लगती है की लवली रोहित को इग्नोर करने लगती है, रोहित सोचता है शायद लवली किसी बात को लेकर उससे नाराज है लेकिन ऐसा अक्सर होता देख वह यह बात साक्षी को बताता है तब साक्षी लवली और रवि के बारे में सारी बात रोहित को बता देती है |

रोहित बहुत दुखी होता है और वहा से चला जाता और वह यह सोच कर सब भूल जाता है की शायद उसके ही प्यार में कोई कमी रहे गई होगी |

आज भी उनकी आखो में ख्वाब वही था,
मुखड़ा हसी और मुखड़े का रंग वही था,
कैसे कहे दू उनको बेवफा मैं यारो,
उनका तो देखने का अंदाज़ आज भी वही था |

और इधर रवि और लवली अक्सर मिलने लगे, एक दिन लवली का एक रोड एक्सीडेंट हो गया, एक्सीडेंट के वक़्त साक्षी  उसके साथ थी लवली का एक्सीडेंट देख कर साक्षी बहुत डर गई लेकिन किसी तरह उसने खुद को संभाला और रवि को कॉल करके बतया लेकिन रवि ने कहा मैं क्या करू अगर उसका एक्सीडेंट हुआ है और फ़ोन काट दिया यह बात सुन कर साक्षी और घबरा गई उसने उसके बाद कई कॉल किये रवि को लेकिन उसने फ़ोन रिसीव ही नहीं किया और इधर लवली हालत बिगड़ती जा रही है |

फिर साक्षी ने रोहित को कॉल करके सब कुछ बताया, रोहित तुरंत ही वहा पहुंचा और लवली को लेकर तुरंत हॉस्पिटल ले गया, हॉस्पिटल देर से पहुंचने की वजह से लवली का काफी खून बह चूका था, तब रोहित ने अपना खून दिया और जब तक लवली को होश नहीं आया तब तक उसने उसका ख्याल रखा और लवली के होश में आते ही वह वहाँ से चला गया, और जाते 2 वह साक्षी से यह बोलकर गया की वह उसके बारे में लवली से कुछ ना कहे |

लवली ने होश में आते ही रवि के बारे में पूछा तभी वहा पर मौजूद नर्स ने कहा, कौन वह लड़का जो आपकी देख भाल कर रहा था वह तो आपसे बहुत प्यार करता है, पूरी रात जागता रहता आपके लिए और खून भी दिया आपको, आप तो बहुत खुशनशीब हो जो आपको इतना प्यार करने वाला मिला, वह यह बात कहकर वहा से चली गई, तभी साक्षी वहा पहुंची, साक्षी को देख  लवली ने पूछा रवि कहा गया. साक्षी कहती है रवि अभी अभी यहाँ गया है तुम्हारे लिए दवा लेने | अब आपको लग रहा होगा लवली की जान तो रोहित ने बचाई है तो साक्षी रवि का नाम क्यू ले रही है |

अब यह बात इतनी आसानी से बता देंगे तो आप इस कहानी का अगला अध्याय कैसे पढेंगे

हम इस कहानी का अगला अध्याय शीग्र ही लेकर आएंगे |

आपको यह कहानी कैसे लगी हमे कमेंट करके जरूर बतलाये जिससे की हमे कहानी का अगला अध्याय लिखने का प्रोत्साहन मिले धन्यवाद !

Leave a Reply