shayarisms4lovers may18 41 - तेरे वादे पर सितमगर – Daag Dehlvi

तेरे वादे पर सितमगर – Daag Dehlvi

तेरे वादे पर सितमगर अभी और सब्र करते अजब अपना हाल होता जो विसाल-ऐ-यार होता कभी जान सदके होती कभी दिल निसार होता न मज़ा है दुश्मनी में न है लुत्फ़ दोस्ती में कोई गैर गैर होता कोई यार यार होता यह मज़ा था दिल्लगी का के बराबर आग लगती न तुम्हें क़रार होता न […]

Continue Reading

15 Best and Beautiful Poems on Diwali

You would be wondering what does Diwali have to do with poems. Well these beautiful poems on Diwali 2017 will increase your enthusiasm of celebrating the festival. I hope you would like these poems on Diwali 2017. Below poems contains some folk Diwali poems also. You can also sing these Diwali poems with your friends […]

Continue Reading

Motivational Diwali Poem in Hindi for The Indians

जगमग दिये की तरह, जलते रहो तुम सारी उम्र मन में छुपे अंधेरों को, खलते रहो तुम सारी उम्र रौशनी की रात आई है, खुशियों की सौगात लाई है देखो आज ज़मीन पर यूँ, सितारों की बारात आई है दिवाली के पटाखों की तरह, दर्द के छाले फोड़ दो हो बुराई जितनी भी मन में, […]

Continue Reading

Best Hindi Shayari on Love , Life Download 2018

आज कल किसी को आजमाता नहीं हूँ मैं पास अपने भी किसी को बिठाता नहीं हूँ मैं ख्वाब में भी कहीं बेवफाई उसकी न दिखे इस लिए आँखों को कभी सुलाता नहीं हूँ मैं I O O O मुझे आईने की ज़रूरत नहीं है मैं तेरी निगाहों में रहना हूँ चाहता ना कर पाए कोई […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 02 - मुहब्बत की जुबान

मुहब्बत की जुबान

मुहब्बत की जुबान यहां तक आये हो कुछ ज़ुबान से कह दो लफ्ज़ मुहब्बत नहीं कह सकते सलाम तो कह दो पलकें तो उठाओ अपनी इतनी भी हया कैसी ज़ुबान से नहीं कुछ कहते निगाह से ही कह दो दिल को यकीन आये कहदो आप हमारे हो अपने लिखे खतों का जवाब साथ लाए हो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 220 - बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया

बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया

बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया काग़ज़ पे शाम काट के फिर शाम लिख दिया बिखरी पड़ी थी टूट के कलियाँ ज़मीन पर तरतीब दे के मैंने तेरा नाम लिख दिया आसान नहीं थी तर्क -ऐ -मुहब्बत की दास्ताँ दो आंसूओं ने आखरी पैग़ाम लिख दिया अल्लाह […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 166 - वक़्त के साथ गर हम भी बदल जाते तो अच्छा था

वक़्त के साथ गर हम भी बदल जाते तो अच्छा था

वक़्त के साथ गर हम भी बदल जाते तो अच्छा था … बहुत अरमान थे दिल में निकल जाते तो अच्छा था … न शीशे के रह पाये न पत्थर के हो पाये … किसी अच्छे से साँचे में जो ढल जाते तो अच्छा था … गिरे तो यूँ गिरे के गिराया सब ने नज़रों […]

Continue Reading

नटखट कविताएं – Kids Naughty Poems

मोटा पेट मोटा पेट , सड़क पर लेट गाड़ी आयी फट गया पेट गाड़ी का नंबर 563 मोटा बोला हाय मेरा पेट Kids Naughty Poems – नटखट कविताएं – मोटा पेट , सड़क पर लेट नाच मोर का नाच मोर का सब को भाता ​जब वह पंखो को फैलाता , ​कूँ -कूँ कर के शोर […]

Continue Reading

“झाँसी की रानी” कविता | Jhansi ki Rani Poem

Jhansi Ki Rani दोस्तों, बचपन से ही हमनें झाँसी की राणी लक्ष्मीबाई की वीरता के बहुत से किस्से सुने होंगे। हम बचपन में स्कूल के प्रोग्राम में कभी झाँसी की राणी भी बने होंगे। उनकी वीरता को बताने के लिए शब्द भी कम पड़ते हैं। झाँसी की राणी सभी महिलाओं के लिए प्रेरणा स्थान हैं। […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 279 - सुभद्रा कुमारी चौहान की कवितायेँ | Subhadra Kumari Chauhan Poems

सुभद्रा कुमारी चौहान की कवितायेँ | Subhadra Kumari Chauhan Poems

Subhadra Kumari Chauhan – सुभद्रा कुमारी चौहान हिन्दी भाषा की एक महान और प्रसिद्ध कवयित्री तथा लेखिका थीं। उन्होंने अपने जीवन में बहुत सुंदर सुंदर रचनाएँ की उनकी प्रसिद्ध कविता “झाँसी की रानी” आपने हमारे पिछले पोस्ट में पढ़ी। यह कविता झाँसी की रानी लक्ष्मीबाई की वीरता की गाथा बताती है इसी कविता के वजह […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - पिता पर खूबसूरत कविता

पिता पर खूबसूरत कविता

पिता एक उम्मीद है, एक आस है परिवार की हिम्मत और विश्वास है, बाहर से सख्त अंदर से नर्म है उसके दिल में दफन कई मर्म हैं। पिता संघर्ष की आंधियों में हौसलों की दीवार है परेशानियों से लड़ने को दो धारी तलवार है, बचपन में खुश करने वाला खिलौना है नींद लगे तो पेट […]

Continue Reading
Vajpayee - Motivational Lines by Atal Bihari Vajpayee To Get Success

Motivational Lines by Atal Bihari Vajpayee To Get Success

क्या हार में, क्या जीत में किंचित नहीं भयभीत मैं कर्तव्य पथ पर जो भी मिला यह भी सही, वो भी सही वरदान नहीं मांगूंगा हो कुछ पर हार नहीं मानूंगा – अटल बिहारी वाजपेयी

Continue Reading
Tribute to atal bihari vajapayee shayari

Special RIP Atal Bihari Vajapyee Tribute Shayari

  मौत खड़ी थी सर पर इसी इंतजार में थी ना झूकेगा ध्वज मेरा 15 अगस्त के मौके पर तू ठहर इंतजार कर लहराने दे बुलंद इसे मैं एक दिन और लड़ूंगा मौत तेरे से… मंजूर नही है कभी मुझे झुके तिंरगा स्वतंत्रता के मौके पे कोटि कोटि नमन व् श्रद्धांजलि भारत रत्न वाजपेयी जी R.I.P

Continue Reading
Vajpayee - भारतीय जनता के लिए अटल बिहारी वाजपेयी जी की प्रसिद्ध कविता

भारतीय जनता के लिए अटल बिहारी वाजपेयी जी की प्रसिद्ध कविता

क़दम मिला कर चलना होगा बाधाएँ आती हैं आएँ घिरें प्रलय की घोर घटाएँ, पावों के नीचे अंगारे, सिर पर बरसें यदि ज्वालाएँ, निज हाथों में हँसते-हँसते, आग लगाकर जलना होगा। क़दम मिलाकर चलना होगा। हास्य-रूदन में, तूफ़ानों में, अगर असंख्यक बलिदानों में, उद्यानों में, वीरानों में, अपमानों में, सम्मानों में, उन्नत मस्तक, उभरा सीना, […]

Continue Reading