shayarisms4lovers June18 279 - हम कभी मिल सकें मगर – फ़राज़ की शायरी

हम कभी मिल सकें मगर – फ़राज़ की शायरी

हम कभी मिल सकें मगर , शायद जिनके हम मुन्तज़र रहे, उनको मिल गए और हमसफ़र शायद जान पहचान से भी क्या होगा फिर भी ऐ दोस्त , गौर कर शायद, अजनबीयत की धुंध छट जाए चमक उठे तेरी नज़र शायद ज़िन्दगी भर लहू रुलाएगी याद -ऐ -यारां -ऐ -बेखबर शायद जो भी बिछड़े वो कब मिले […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 133 - 55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari दोस्तों आज के हिंदी शायरी के इस आर्टिकल में पढ़ सकते हैं खुशबू shayari का मजेदार कलेक्शन साथ ही पढ़ सकते हैं Khushboo Shayari 2 lines, Khushabu Status, khushboo Whatsapp Status तो देर कैसी आईये पढ़ते Khushboo Shayari 2 lines के इस पोस्ट को और शेयर […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 292 - यह उदास शाम और तेरी जुदाई – यह शाम तेरे नाम शायरी

यह उदास शाम और तेरी जुदाई – यह शाम तेरे नाम शायरी

शाम-ऐ-तन्हाई शाम से है मुझ को सुबह-ऐ-ग़म की फ़िक्र सुबह से ग़म शाम-ऐ-तन्हाई का है Shaam-ae-Tanhai Sham se hai mujh ko subha-ae-gham ki fikar Subha se gham shaam-ae-tanhai ka hai शाम के बाद तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द तू किसी रोज़ मेरे घर में उतर शाम के बाद लौट आये न […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 196 - मुझसे मुहब्बत की है तो वफ़ा का वादा भी कर

मुझसे मुहब्बत की है तो वफ़ा का वादा भी कर

तेरी राहगुज़र यह अजब क़यामते हैं तेरी राहगुज़र में गुजरी न हो के मर मिटे हम , न हो के जी उठें हम .. Teri Rahguzaar Yeh ajab qayamaten hain teri rahguzar main guzaari, Na ho ke mar mittain hum, na ho ke jee uthain hum… कोई शिद्दत से याद आता है इक अजीब सी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 28 - गम-ऐ-मुहब्बत शायरी

गम-ऐ-मुहब्बत शायरी

दिल का आलम सिर्फ चेहरे की उदासी से भर आए आँसू दिल का आलम तो अभी आप ने देखा ही नहीं … Dil ka Alam Sirf chehray ki Udasi say bhar aye Ansoo Dil ka alam tu Abhi ap nay Dekha hi nahi… गम-ऐ-मुहब्बत वो जो बिछड़ा तो मैंने जाना लोग मर मर कर भी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 262 - Life Shayari, Agar koi puche zindagi mein kya khoya

Life Shayari, Agar koi puche zindagi mein kya khoya

एक खूबसूरत सोच अगर कोई पूछे जिंदगी में क्या खोया और क्या पाया, तो कहना जो कुछ खोया वो मेरी नादानी थी और.. जो भी पाया वो प्रभू की मेहेरबानी थी, खुबसूरत रिश्ता है मेरा और भगवान के बीच में, ज्यादा मैं मांगता नहीं और कम वो देता नहीं! Agar Koi Poochhe.. Zindagi Mein Kya […]

Continue Reading
IMG 01802 - कोई तो जलवा खुदा के बास्ते

कोई तो जलवा खुदा के बास्ते

अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो – फ़िल्मी शायरी  दीदार के काबिल कोई तो जलवा खुदा के बास्ते दीदार के काबिल दिखाई तो दे संगदिल तो मिल चुके है हजारो कोई एहले दिल तो दिखाई दे Didar Ke Kabil Koi to jalwaa khudaa ke bastee didar ke kabil dikhaee to de Sangdil to mil chuke hai […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 263 - आज फिर दिल है कुछ उदास उदास – जावेद अख्तर

आज फिर दिल है कुछ उदास उदास – जावेद अख्तर

दर्द अपनाता है पराये कौन कौन सुनता है और सुनाए कौन कौन दोहराए वो पुरानी बात गम अभी सोया है जगाए कौन वो जो अपने हैं क्या वो अपने हैं कौन दुःख झेले आज़माए कौन अब सुकून है तो भूलने में है लेकिन उस शख्स को भुलाए कौन आज फिर दिल है कुछ उदास उदास […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 248 - ऐ दिल है मुश्किल शायरी – आज जाने की जिद न करो

ऐ दिल है मुश्किल शायरी – आज जाने की जिद न करो

ऐ दिल है मुश्किल जब प्यार में प्यार न हो जब दर्द में यार न हो जब आँसूओ में मुस्कान न हो जब लफ़्ज़ों में जुबान न हो जब साँसे बस यूं ही चले जब हर दिन में रात ढले जब इंतज़ार सिर्फ वक़्त का हो जब याद उस कमबख्त की हो क्यों वो हो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 116 - हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”

हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”

प्यार की गहराइयाँ हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़” यहाँ नहीं डूबता तो कहीं और डूबे होते Pyar ki Gehraiya hume to pyar ki gehraiya maaloom karni thi “FARAZ” yahan nhi dubte to kahin aur dube hote मेरी ख़ामोशी वो अब हर एक बात का मतलब पूछता है मुझसे “फ़राज़” कभी जो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 74 - ख्याल-ऐ -इश्क़ शायरी

ख्याल-ऐ -इश्क़ शायरी

यह नादान दिल यह दिल न जाने क्या कर बैठा मुझ से बिना पूछे यह फैसला कर बैठा इस ज़मीन पर कभी टूटा तारा भी नहीं गिरा यह नादान चाँद से दिल लगा बैठा Yeh Naadan Dil Yeh dil na jane kya kar betha Mujh se bina puche yeh fesla kar betha Is zaamen par […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 76 - Ishq Shayari

Ishq Shayari

Ishq ka jisko khwaab aa jata hai, Waqt samjho khraab aa jata hai, Mehboob aaye ya na aaye, Par Taare ginne ka hisaab jarur aa jata hai! इश्क का जिसको ख्वाब आ जाता है, समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है, महबूब आये या न आये, पर तारे गिनने का तो हिसाब आ ही जाता […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 205 - शब-ऐ-इंतज़ार – Mirza Galib,Ahmed Faraz,Mohsin Naqvi,Raaz Sarwer Shayari

शब-ऐ-इंतज़ार – Mirza Galib,Ahmed Faraz,Mohsin Naqvi,Raaz Sarwer Shayari

मेरी वेहशत इश्क़ मुझको नहीं वेहशत ही सही मेरी वेहशत तेरी शोहरत ही सही कटा कीजिए न तालुक हम से कुछ नहीं है तो अदावत ही सही Meri Wehshat Ishq mujhko nahin wehshat hi sahi Meri wehshat teri shohrat hi sahi kta kijiay na taaluq hum se kuch nahin hai to adaawat he sahi… शब-ऐ-इंतज़ार […]

Continue Reading