shayarisms4lovers may18 46 - इंतज़ार शायरी Intezaar Shayari in Hindi

इंतज़ार शायरी Intezaar Shayari in Hindi

आज हम आपके लिए लाये है इंतज़ार शायरी खास आपके लिए… कविता लिखने बैठी तो खिड़की से झांकती पेड़ों की फुनगियो पर बैठी अलसाई धूप ने पूछा क्या सवेरे की नर्म धूप का उजाला है तुम्हारी कविता में … Intezaar Shayari in Hindi कविता लिखने बैठी तो खिड़की से झांकती पेड़ों की फुनगियो पर बैठी अलसाई धूप ने पूछा क्या सवेरे की नर्म धूप का उजाला है तुम्हारी कविता में … तभी अचानक एक चिड़िया खिड़की के सरिए पर आ बैठी अपने पंख फड़फड़ा कर बोली क्या मेरे पांव की तरह आसमान नापने की उमंग है तुम्हारी कविता में … फूलों पर मँडराती – इठलाती रंग-बिरंगी तितली ने कहा क्या मेरे पीछे दौड़ते-भागते बच्चों के चेहरे पर आई खुशी की खिलखिलाहट है … रंम्भाते बछड़े की तरह क्या तुम्हारी कविता व्याकुल करती है किसी का हृदय लौटाने के लिए … या कोयल के स्वर की मिश्री घोल पाती है किसी के मन प्राण में वायु की तरह नवजीवन का संचार करती है या झरने-सा मधुर संगीत भरती है चंद्रमा-सा शीतल सौंदर्य क्या दृष्टिगत होता है कविता में तुम्हारी … कि तभी मोर ने पंख फैलाकर कहा क्या बादलों सा प्यार बरसाती है धरती पर या मुझसामुग्ध करने वाला नृत्य है […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 12 - जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं

जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं

याद -ऐ -माझी यूं ही आज याद -ऐ -माझी ने रुला दिया है मुझे मौत से भी पहले ज़िन्दगी ने सुला दिया है मुझे पास रह के भी मेरे दोस्त क्यों हैं दूर इसी सोच ने अंदर तक हिला दिया है मुझे बिछड़े हुए यारों की याद आई है इतनी इन यादों की तपीश ने जला दिया है मुझे बीती हुए यादों को खुरचने की कोशिश ने हंसी , ख़ुशी , ज़िन्दगी सब कुछ भुला दिया है मुझे जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं यूं ग़मो ने आँसूओ से मिला दिया है मुझे Yaad-ae-maazi yoon hi aaj yaad-ae-maazi ne rula diya hai mujhe mout se bhi pehle zindagi ne sula diya hai mujhe pass reh ke bhi mere dost kyon hain dur issi soch ne under tak hila diya hai mujhe bichrey hue yaaron ki yaad aye hai itni in yaadin ki tapish ne jala diya hai mujhe beeti hue yaadon ko khuruchney ki koshish ne hunsi , khushi , zindagi sub kuch bhula diya hai mujhe Jab kabhi hanste hai to aankhain chalak padti hain yoon gamoon ne aansoon se mila diya hai mujhe

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 98 - तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है

तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है

तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है ऐतबार नहीं है मुझे अपनी किस्मत पे एक धोखा सा लगता है जब भी तुझे करीब पता हूँ एक सकून सा लगता है फिर न जाने क्यों एक डर सा लगता है तुझे पाकर जहाँ मुकमल सा लगता है फिर भी न जाने कहीं एक कोना अधूरा सा लगता है जमानो चले जिस के साथ हर एक पल का साथ फिर भी न जाने क्यों यह सफर अधूरा लगता है रहेंगे तलबगार तेरे सारी उम्र का है फिर भी न जाने यह वादा अधूरा लगता है देखे सारे ख्वाब हर ख्वाब को जिया हमने फिर भी न जाने क्यों एक सपना अधूरा लगता है कहीं तो कुछ खाली है कहीं तो कुछ अधूरा है फिर भी न जाने क्यों तेरा साथ मुकमल लगता है Tera Aana Meri Zindagi Mein Ek Khwab Aa Lagta Hai Tera aana meri jindagi mein ek khwab sa lagta hai aitbaar nahi hai mujhe apni kismat pe ek dhokha sa lagta hai Jab bhi tujhe karib pata hoon ek sakoon sa lagta hai phir na jane kyon ek dar sa lagta hai tujhe pake jahan mukamal […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 47 - उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

प्यार , इनकार और इकरार इनकार वो करते है इकरार के लिए नफरत भी करते है तो प्यार के लिए उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां आँखों को बंद  करते है  दीदार के लिए Pyar , Inkaar Aur  Ikraar Inkaar woh karte hai ikraar ke liye, Nafrat bhi karte hai to pyar ke liye, Ulte hi chalte hai ye ishq karwan, Aankhon ko bandh karte hai deedar ke liye मोहब्बत आदत बन गई एक तमना थी जो अब हसरत बन गई कभी दोस्ती थी अब  मोहब्बत  बन गई कुछ इस तरह शामिल हुए तुम ज़िंदगी में के तुम को सोचते रहना मेरी आदत बन गई Mohabbat Aaddat Ban Gai Ek tamana thi jo ab hasrat ban gai, Kabhi dosti thi ab mohabat ban gai, Kuch is tarha shamil hue tum zindgi mein, Ke tum ko sochte rehna meri addat ban gai. बसा है आँखों में उसका चेहरा बसा है आँखों में उसका चेहरा इस कदर गुलाब से खुसबू  बसती  है जिस तरह जान बाकि हो और साँस न चले तेरी कमी महसूस होती है कुछ इस तरह Basa Hai Ankhon Mein Uska Chehra Basa Hai Ankhon mein Uska Chehra Is tarha Gulab Se Khusbu basti hai Jis tarha Jaan baqi ho aur sans na chale Teri […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 133 - 55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari दोस्तों आज के हिंदी शायरी के इस आर्टिकल में पढ़ सकते हैं खुशबू shayari का मजेदार कलेक्शन साथ ही पढ़ सकते हैं Khushboo Shayari 2 lines, Khushabu Status, khushboo Whatsapp Status तो देर कैसी आईये पढ़ते Khushboo Shayari 2 lines के इस पोस्ट को और शेयर करते हैं इसे फेसबुक और व्हात्सप्प पर खुशबू Shayari बडी खामोशी से भेजा था गुलाब उसको. पर खुशबू ने शहर भर में तमाशा कर दिया. Badi Khamoshi Se Bheja Tha Gulaab Usako, Par Khushabu Ne Shahar Bhar Me Tamaasha Kar Diya. इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आंखों में, जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए. Ishk Ke Fool Khilate Hai Teri Khubsurat Ankho Me, Janha Dekhe Tu Ek Nazar Waha Khushabu Bikhar Jaaye. गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है, कौन सी खूशबू मुझमें बसा गई हो तुम, जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा, ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गई हो तुम. Gulaab Ki Khushabu Bhi Fiki Lagati Hai, Kain Si Khushabu Mujhame Basaa Hayi Ho Tum, Zindagi Hai Kya Teri Chahat Ke Siwa, Ye Kaisa Khwaab Ankho Me Dikha Gayi Tum. वक्त के मोड़ पे ये कैसा वक्त […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 245 - शानदार 55 महफ़िल पर शायरी - Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी – Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी  – Mahafil Status, Shayari In Hindi आज की पोस्ट 2 Line महफ़िल Status Hindi की हैं जिसमे पढ़ सकते हैं, “महफ़िल पर शायरी Facebook”, महफ़िल पर शायरी 4 Line और महफ़िल पर शायरी One Line शायरी के “Mahafl Status In Hindi” आईये दोस्तों अब पढ़ते हैं महफ़िल शायरी के इस लाज़वाब कलेक्शन को जिसे अगल अलग सोशल मिडिया के माध्यम से संग्रह किया गया हैं खास आप सभी शायरी के चाहने वालो के लिए❗ मेरे लफ़्ज़ों को महफूज कर लो दोस्तों. हमारे बाद बहुत सन्नाटा होगा, इस ✒  महफ़िल में. Mere Labzo Ko Mafafuz Kar Lo Dosto, Hamaare Baad Bahut Sannata Hoga Is Mahfil Me❗ उस अजनबी से हाथ मिलाने के वास्ते ✒  महफ़िल में सब से हाथ मिलाना पड़ा मुझे. Us Ajanabi Se Hath Milane Ke Vaste, Mahafil Me Sab Se Hath Milaana Pada❗ इतनी चाहत से न देखा कीजिए ✒  महफ़िल में आप  शहर वालों से हमारी दुश्मनी बढ़ जाएगी. Itani Chahat Se Na Dekha Kijiye Mahafil Me Aap, Shahar Walo Se Hamaari Dushamani Badh Jaayegi❗ एक महफ़िल में कई ✒ महफ़िलें होती हैं शरीक जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा निदा फ़ाज़ली Ek Mahafil Me Kayi Mahafile Hoti Hai Sharik, Jis Ko Bhi Paas Se Dekhoge Akela Hoga❗ मुझ तक उस ✒ महफ़िल में फिर जाम-ए-शराब आने […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 04 - शानदार 55 महफ़िल पर शायरी - Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी – Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी  – Mahafil Status, Shayari In Hindi आज की पोस्ट 2 Line महफ़िल Status Hindi की हैं जिसमे पढ़ सकते हैं, “महफ़िल पर शायरी Facebook”, महफ़िल पर शायरी 4 Line और महफ़िल पर शायरी One Line शायरी के “Mahafl Status In Hindi” आईये दोस्तों अब पढ़ते हैं महफ़िल शायरी के इस लाज़वाब कलेक्शन को जिसे अगल अलग सोशल मिडिया के माध्यम से संग्रह किया गया हैं खास आप सभी शायरी के चाहने वालो के लिए❗ मेरे लफ़्ज़ों को महफूज कर लो दोस्तों. हमारे बाद बहुत सन्नाटा होगा, इस ✒  महफ़िल में. Mere Labzo Ko Mafafuz Kar Lo Dosto, Hamaare Baad Bahut Sannata Hoga Is Mahfil Me❗ उस अजनबी से हाथ मिलाने के वास्ते ✒  महफ़िल में सब से हाथ मिलाना पड़ा मुझे. Us Ajanabi Se Hath Milane Ke Vaste, Mahafil Me Sab Se Hath Milaana Pada❗ इतनी चाहत से न देखा कीजिए ✒  महफ़िल में आप  शहर वालों से हमारी दुश्मनी बढ़ जाएगी. Itani Chahat Se Na Dekha Kijiye Mahafil Me Aap, Shahar Walo Se Hamaari Dushamani Badh Jaayegi❗ एक महफ़िल में कई ✒ महफ़िलें होती हैं शरीक जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा निदा फ़ाज़ली Ek Mahafil Me Kayi Mahafile Hoti Hai Sharik, Jis Ko Bhi Paas Se Dekhoge Akela Hoga❗ मुझ तक उस ✒ महफ़िल में फिर जाम-ए-शराब आने […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 127 - हिंदी और उर्दू शायरी – दो लाइन शायरी – Daag , Perveen , Naqvi Shayari

हिंदी और उर्दू शायरी – दो लाइन शायरी – Daag , Perveen , Naqvi Shayari

न जाने कौन न जाने कौन सा आसब दिल में बसता है के जो भी ठहरा वो आखिर मकान छोड़ गया … Na jane kaun Na jane kaun sa aasaab dil mein basta hai Ke jo bhi thehra wo aakhir makaan chod gaya तुझी को पूछता रहा बिछड़ के मुझ से , हलक़ को अज़ीज़ हो गया है तू , मुझे तो जो कोई भी मिला , तुझी को पूछता रहा Tujhi ko puchta raha Bichar ke mujh se, halaq ko aziz ho geya hai tu Mujhe to jo koi mila, tujhi ko puchta raha मेरे हम-सकूँ  मेरे हम-सकूँ  का यह हुक्म था के कलाम उससे मैं कम करूँ .. मेरे होंठ ऐसे सिले के फिर उसे मेरी चुप ने रुला दिया … Mere hum-sukhan Mere hum-sukhan ka yeh hukm tha ke kalaam us se main kam karoon.. mere hont aise sile ke phir usey meri chup ne rula diya …. यह शब-ऐ-हिजर यह शब-ऐ-हिजर तो साथी है मेरी बरसों से जाओ सो जाओ सितारों के मैं ज़िंदा हूँ अभी Shab-ae-hizar Yeh Shab-ae-hizar To Sathi Hai Meri Barsoon Se Jao So Jao Sitaro Ke Main Zinda Hoon Abhi न आना तेरा ले चला जान मेरी रूठ के जाना तेरा ऐसे […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 77 - 2 Line Shayari in Hindi , Tay hai badlna

2 Line Shayari in Hindi , Tay hai badlna

तय है बदलना, हर चीज बदलती है इस जहां में, किसी का दिल बदल गया, किसी के दिन बदल गए। यूं तो किसी चीज के मोहताज नही हम, बस एक तेरी आदत सी हो गयी है। बिन दिल के जज्बात अधूरे, बिन धड़कन अहसास अधूरे, बिन साँसों के ख्वाब अधूरे, बिन तेरे हम कब हैं पूरे। ज़ुल्फों को उंगलियों से किनारे किया ना कर दिल मेरा आवारा है इसे और बिगाड़ा ना कर। आँखे खुली जब मेरी तो जाग उठीँ हसरतेँ सारी, उसको भी खो दिया मैँने..जिसे पाया था ख़्वाब मेँ। तेरे वजूद से ही मेरी मुकम्मल कहानी, मैं एक खोखली सीप तू एक मोती रूहानी। मोहल्ले की मोह्ब्बत का भी अजीब फ़साना है, चार घर की दूरी और बीच मे सारा जमाना है। खुला ना रख हर एक के लिये दिल का दरवाज़ा, ये दिल एक घर हैं इसे बाज़ार मत बना। कोशिश तो बहुत करता हूँ, पर अब किसी से तुम्हारे जैसी मोहब्बत नही होती। 💔 मुस्कुराने के मकसद न ढूंढ वर्ना जिन्दगी यूँही कट जायेगी, कभी बेवजह भी मुस्कुरा के देख, तेरे साथ जिन्दगी भी मुस्कुरायेगी।

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 35 - हम ने भी बनाया था एक यार शीशे का

हम ने भी बनाया था एक यार शीशे का

एक यार शीशे का पत्थरों की बस्ती में कारोबार शीशे का कोई भी नहीं करता ऐतबार शीशे का कांच से बने पुतले कहाँ दूर चलते हैं चार दिन का होता है यह खुमार शीशे का बन सँवर के हरजाई आज घर से निकला है जाने कौन होता है फिर शिकार शीशे का दिल के आज़माने को एक संग काफी है बार बार नहीं लेना इम्तेहान शीशे का फ़राज़ इस ज़माने मैं झूठे हैं सब रिश्ते हम ने भी बनाया था एक यार शीशे का Ek Yaar Sheeshee Ka Patharon Ki Basti Main Karobar Sheeshe Ka Koi Bhi Nahi Karta Aitbar Sheeshe Ka Kaanch Se Bane Putlay kahan Door Chalte Hein Chaar Din Ka Hota Hai Yeh Khumar Sheeshe Ka Ban Sanwar Ke Harjaai Aaj Ghar Se Nikla Hai Jane Kon Hota Hai Phir Shikar Sheeshe Ka Dil Ke Aazmane Ko ek Sang Kafi Hai Bar Bar Nahi Lena Imtehan Sheeshe Ka FARAZ Is Zamane Main jhuthe Hein Sub Rishtey Hum Ne Bhi Banaya Tha ek Yaar Sheeshee Ka.. शाम -ऐ- आलम अश्क़-ऐ- दौरान की लहर है और हम हैं दोस्तों इस बे -वफ़ा का शहर है और हम हैं दोस्तों यह अजनबी सी मंज़िलें और रफ़त -गाह की याद तन्हाइयों […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 60 - फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत उर्दू शायरी

फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत उर्दू शायरी

तन्हाई और महफ़िल – फ़राज़ तन्हाई में जो चूमता है मेरे नाम के हरूफ फ़राज़ महफ़िल में  वो शख्स मेरी तरफ देखता भी नहीं ​ Tanhai Aur Mehfil – Faraz Tanhai main jo chomta hai mere naam ke haroof  “Faraz” Mehfil mein wo shakhas meri taraf dekhta bhi nahi​ जिंदगी और मौत – फ़राज़ कोई न आएगा तेरे सिवा मेरी जिंदगी में  “फ़राज़” एक मौत ही है जिस का हम वादा नही करती ​ Zindgi Aur Maut – Faraz Koi na ayega tere siwa meri zindgi main “Faraz” Ek maut hi hai jiss ka hum wada nahi karte मिज़ाज़ और धड़कन – फ़राज़ कितना नाज़ुक मिज़ाज़ है  उसका  कुछ न पूछिये  “फ़राज़” नींद नही आती उन्हें धड़कन के शोर से ​ Mizaz Aur Dhadkan – Faraz Kitna nazuk mizaz hai uska kuch na puchiay “Faraz” Neend nhi ati unhe Dhadkan ke shor se​ खुश और उदास – फ़राज़ वो मुझ से बिछड़ कर खुश है तो उसे खुश रहने दो “फ़राज़ “ मुझ से मिल कर उस का उदास होना मुझे अच्छा नहीं लगता Khush Aur Udaas – Faraz Wo mujh se bichad kar khush hai to usse khush rehne do “Faraz” Mujh se mil kar us ka udass hona muje […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 292 - यह उदास शाम और तेरी जुदाई – यह शाम तेरे नाम शायरी

यह उदास शाम और तेरी जुदाई – यह शाम तेरे नाम शायरी

शाम-ऐ-तन्हाई शाम से है मुझ को सुबह-ऐ-ग़म की फ़िक्र सुबह से ग़म शाम-ऐ-तन्हाई का है Shaam-ae-Tanhai Sham se hai mujh ko subha-ae-gham ki fikar Subha se gham shaam-ae-tanhai ka hai शाम के बाद तू है सूरज तुझे मालूम कहाँ रात का दर्द तू किसी रोज़ मेरे घर में उतर शाम के बाद लौट आये न किसी रोज़ वो आवारा मिज़ाज खोल रखते हैं इसी आस पर दर शाम के बाद Shaam ke Baad Tu hai suraj tujhe maloom kahan raat ka dard Tu kisi roz mere ghar mein utar sham ke baad Laut aaye na kisi roz wo aavara mizaaj Khol rakhte hain isi aas par dar shaam ke baad शाम की दहलीज़ भीगी हुई एक शाम की दहलीज़ पे बैठा हूँ मैं दिल के सुलगने का सबब सोच रहा हूँ दुनिया की तो आदत है बदल लेती है आंखें में उस के बदलने का सबब सोच रहा हूँ Shaam Ki Dehleez Bheegi hui ek Shaam Ki Dehleez Pe Baitha hoon Main dil Ke Sulagne Ka Sabab Soch Raha Hoon Duniya Ki to Aadat Hai Badal leeti Hai Ankhain Mein us Ke Badlaney Ka Sabab Soch Raha Hoon ज़रा सी शाम होने दो अभी सूरज नहीं डूबा ज़रा सी शाम […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 196 - मुझसे मुहब्बत की है तो वफ़ा का वादा भी कर

मुझसे मुहब्बत की है तो वफ़ा का वादा भी कर

तेरी राहगुज़र यह अजब क़यामते हैं तेरी राहगुज़र में गुजरी न हो के मर मिटे हम , न हो के जी उठें हम .. Teri Rahguzaar Yeh ajab qayamaten hain teri rahguzar main guzaari, Na ho ke mar mittain hum, na ho ke jee uthain hum… कोई शिद्दत से याद आता है इक अजीब सी कशिश है , इस बरसात के मौसम में न चाहते हुए भी कोई शिद्दत से याद आता है ..!!! Koi Shiddat Sey Yaad Aata Hai Ik Ajeeb Si Kashish Hai , is Barsaat Ky Mousam Main Na Chahtay Hoay b, Koi Shiddat Sy Yaad Aata Hai… तेरे प्यार में दो पल तेरे प्यार में दो पल की ज़िन्दगी बहुत है …. एक पल की हंसी एक पल की ख़ुशी बहुत है … यह दुनिया जाने या न जाने … तेरी आँखें मुझे पहचानती है यही बहुत है ….!! Tere Pyar Mein do Pal Tere pyar mein do pal ki zindagi bahut hai…. Ek pal ki hansi ek pal ki khushi bahut hai… Yeh duniya jane ya na jane… Teri ankhein mujhe pehchanti hai yahi bahut hai….!! मुहब्बत में भी बंदिशे बात बात पर और हर बात पर जुदाई की धमकी ..!!! वाह  साहिब ..!! तुम ने […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 202 - इश्क़ और तन्हाई शायरी

इश्क़ और तन्हाई शायरी

तन्हाई कितनी अजीब है मेरे अंदर की तन्हाई भी ,​ ​हज़ारों अपने हैं मगर याद तुम ही आते हो ..​ Tanhai Kitni Ajeeb Hai Mere Andar Ki Tanhai Bhi,​ ​Hazaron Apne Hain Magar Yaad Tum Hi Atey Ho..​ तन्हाईयाँ तन्हाईयाँ कुछ इस तरह से डसने लगी मुझे मैं आज अपने पैरो की आहट से डर गया .. ​ Tanhaiyan Tanhaiyan kuch is tarha se dasney lagi mujhey Main aaj apne pairo ki ahat se dar gaya..

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 28 - गम-ऐ-मुहब्बत शायरी

गम-ऐ-मुहब्बत शायरी

दिल का आलम सिर्फ चेहरे की उदासी से भर आए आँसू दिल का आलम तो अभी आप ने देखा ही नहीं … Dil ka Alam Sirf chehray ki Udasi say bhar aye Ansoo Dil ka alam tu Abhi ap nay Dekha hi nahi… गम-ऐ-मुहब्बत वो जो बिछड़ा तो मैंने जाना लोग मर मर कर भी जिया करते हैं ..!! Gam-AE-mohabbat Who Jo Bichra Tu Main Ne Jana Log Mar Kar Bi Jiya Kartey Hai’n..!! आईना जो दिल के आईने में हो , वही है प्यार के क़ाबिल वरना दीवार के क़ाबिल तो हर तस्वीर होती है Aaiena Jo Dil Ke Aainey Mein Ho, Wohi Hai Pyaar Ke Qaabil Warna Dewaar Ke Qabil To Har Tasveer Hoti Hai वो तो खुश्बू है हवाओं में बिखर जाएगा वो तो खुश्बू है हवाओं में बिखर जाएगा मसला फूल का है फूल किधर जाएगा हम तो समझे थे के एक ज़ख्म है , भर जाएगा क्या खबर थी के रग -ऐ -जान में उतर जाएगा वो हवाओं की तरह खाना -बेजान फिरता है एक झौंका है जो आएगा गुज़र जाएगा वो जब आएगा तो फिर उस की रफ़ाक़त के लिए मौसम -ऐ -गुल मेरे आँगन में ठहर जाएगा आख़िर वो भी कहीं रेत पे […]

Continue Reading