shayarisms4lovers mar18 12 - जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं

जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं

याद -ऐ -माझी

यूं ही आज याद -ऐ -माझी ने रुला दिया है मुझे
मौत से भी पहले ज़िन्दगी ने सुला दिया है मुझे

पास रह के भी मेरे दोस्त क्यों हैं दूर
इसी सोच ने अंदर तक हिला दिया है मुझे

बिछड़े हुए यारों की याद आई है इतनी
इन यादों की तपीश ने जला दिया है मुझे

बीती हुए यादों को खुरचने की कोशिश ने
हंसी , ख़ुशी , ज़िन्दगी सब कुछ भुला दिया है मुझे

जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं
यूं ग़मो ने आँसूओ से मिला दिया है मुझे

Yaad-ae-maazi

yoon hi aaj yaad-ae-maazi ne rula diya hai mujhe
mout se bhi pehle zindagi ne sula diya hai mujhe

pass reh ke bhi mere dost kyon hain dur
issi soch ne under tak hila diya hai mujhe

bichrey hue yaaron ki yaad aye hai itni
in yaadin ki tapish ne jala diya hai mujhe

beeti hue yaadon ko khuruchney ki koshish ne
hunsi , khushi , zindagi sub kuch bhula diya hai mujhe

Jab kabhi hanste hai to aankhain chalak padti hain
yoon gamoon ne aansoon se mila diya hai mujhe…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 47 - उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

प्यार , इनकार और इकरार

इनकार वो करते है इकरार के लिए
नफरत भी करते है तो प्यार के लिए
उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां
आँखों को बंद  करते है  दीदार के लिए

Pyar , Inkaar Aur  Ikraar

Inkaar woh karte hai ikraar ke liye,
Nafrat bhi karte hai to pyar ke liye,
Ulte hi chalte hai ye ishq karwan,
Aankhon ko bandh karte hai deedar ke liye


मोहब्बत आदत बन गई

एक तमना थी जो अब हसरत बन गई
कभी दोस्ती थी अब  मोहब्बत  बन गई
कुछ इस तरह शामिल हुए तुम ज़िंदगी में
के तुम को सोचते रहना मेरी आदत बन गई

Mohabbat Aaddat Ban Gai

Ek tamana thi jo ab hasrat ban gai,
Kabhi dosti thi ab mohabat ban gai,
Kuch is tarha shamil hue tum zindgi mein,
Ke tum ko sochte rehna meri addat ban gai.


बसा है आँखों में उसका चेहरा

बसा है आँखों में उसका चेहरा इस कदर
गुलाब से खुसबू  बसती  है जिस तरह
जान बाकि हो और साँस न चले
तेरी कमी महसूस होती है कुछ इस तरह

Basa Hai Ankhon Mein Uska Chehra

Basa Hai Ankhon mein Uska Chehra Is tarha
Gulab Se Khusbu basti hai Jis tarha
Jaan baqi ho aur sans na chale
Teri hi kami Mehsoos hoti hai Kuch Is tarha


ख्वाब – फ़राज़

वो मुझसे पूछता किस किस के ख्वाब देखते हो “फ़राज़ ”
बेखबर जानता नहीं के यादें उसकी सोने कहाँ देती हैं

Khwab – FARAZ

Wo Mujhse Pochta Ha Kis Kis K Khwab Dekhte Ho “FARAZ”
Be Khabar Janta Nahi K Yaaden Uski Soney Kahan Deti Hain..…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 279 - हम कभी मिल सकें मगर – फ़राज़ की शायरी

हम कभी मिल सकें मगर – फ़राज़ की शायरी

हम कभी मिल सकें मगर , शायद
जिनके हम मुन्तज़र रहे, उनको मिल गए और हमसफ़र शायद

जान पहचान से भी क्या होगा
फिर भी ऐ दोस्त , गौर कर शायद, अजनबीयत की धुंध छट जाए
चमक उठे तेरी नज़र शायद

ज़िन्दगी भर लहू रुलाएगी
याद -ऐ -यारां -ऐ -बेखबर शायद

जो भी बिछड़े वो कब मिले हैं ‘फ़राज़
फिर भी तू इंतज़ार कर शायद ..!!!​

Hum Kabhi Mil SakeiN Magar, Shayad
Jinke Hum Muntazar Rahe , Unko Mil gaye Aur Humsafar Shayad

Jaan Pahchaan Se Bhi Kya Hoga
Phir Bhi Ae Dost, Gauur Kar Shayad, Ajnabeeyat ki Dhund Chhat Jaye
Chamak Utthe Teri Nazar Shayad

Zindagi Bhar Lahu Rulaayegi
Yaad-e-Yaaran-e-Bekhabar Shayad

Jo Bhi BichhRe Wo Kab Mile haiN ‘FARAZ
Phir Bhi Tu Intezaar kar Shayad..!!!​…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 92 - तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे

तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे

तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे

तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे
बड़े नादान थे हम हाय समझे भी तो क्या समझे

मुहब्बत में हमें तक़दीर ने धोखे दिए क्या क्या
जो दिल का दर्द था इस दर्द को दिल की दवा समझे

हमारी बेबसी ये कह रही है हाय रो रो के
डूबोया उसने कश्ती को जिसे हम नाखुदा समझे

कहाँ जाएं की इस दुनिया में कोई भी नहीं अपना
उसी ने बेवफाई की जिसे जान -ऐ -वफ़ा समझे

Tujhe ae bewafa hum zindagi ka aasra samjhe

tujhe ae bewafa hum zindagi ka aasra samjhe
bade naadaan the hum haaye samjhe bhi to kyaa samjhe

muhabbat mein hamein taqdeer ne dhoke diye kyaa kyaa
jo dil kaa dard tha is dard ko dil ki davaa samjhe

hamari bebasi yeh keh rahi hai haaye ro ro ke
duboyaa usne kashti ko jise hum naKhudaa samjhe

kidhar jaayein ki is duniyaa mein koi bhi nahiin apnaa
usi ne bewafai ki jise jaan-ae-wafa samjhe…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 133 - 55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari
दोस्तों आज के हिंदी शायरी के इस आर्टिकल में पढ़ सकते हैं खुशबू shayari का मजेदार कलेक्शन साथ ही पढ़ सकते हैं Khushboo Shayari 2 lines, Khushabu Status, khushboo Whatsapp Status

तो देर कैसी आईये पढ़ते Khushboo Shayari 2 lines के इस पोस्ट को और शेयर करते हैं इसे फेसबुक और व्हात्सप्प पर
खुशबू Shayari

बडी खामोशी से भेजा था गुलाब उसको.
पर खुशबू ने शहर भर में तमाशा कर दिया.
Badi Khamoshi Se Bheja Tha Gulaab Usako,
Par Khushabu Ne Shahar Bhar Me Tamaasha Kar Diya.

इश्क के फूल खिलते हैं तेरी खूबसूरत आंखों में,
जहां देखे तू एक नजर वहां खुशबू बिखर जाए.
Ishk Ke Fool Khilate Hai Teri Khubsurat Ankho Me,
Janha Dekhe Tu Ek Nazar Waha Khushabu Bikhar Jaaye.

गुलाब की खुशबू भी फीकी लगती है,
कौन सी खूशबू मुझमें बसा गई हो तुम,
जिंदगी है क्या तेरी चाहत के सिवा,
ये कैसा ख्वाब आंखों में दिखा गई हो तुम.
Gulaab Ki Khushabu Bhi Fiki Lagati Hai,
Kain Si Khushabu Mujhame Basaa Hayi Ho Tum,
Zindagi Hai Kya Teri Chahat Ke Siwa,
Ye Kaisa Khwaab Ankho Me Dikha Gayi Tum.

वक्त के मोड़ पे ये कैसा वक्त आया है
जख्म दिल का जुबाँ पर आया है,
न रोते थे कभी कांटो की चुभन से
आज न जाने क्यो फूलो की खुशबू से रोना आया है.
Waqt Ke Mod Pe Ye Kaisa Waqt Aaya Hai
Zakhm Dil Ka Jiba Par Aaya Hai,
Na Rote The Kabhi Kanto Ki Chubhan Se
Aaj Naa Jaane Kyu Foolo Ki Khushabu Se Rona Aaya Hain.

किनारे बैठी हूँ तेरी यादों के सहारे
हर लहर इक एहसास जगाती है
मुझे हवा से भी तेरी ही खुशबू आती है.
Kinaare Baithi Hun Teri Yaado Ke Sahaare
Har Lahar Ek Ehasaas Jagaati Hai
Mujhe Hawa Se Bhi Teri Hi Khushbu Aati Hai.

खुशबू की तरह आया वो तेज हवाओं में,
माँगा था जिसे हमने दिन-रात दुआओं में.
Khushabu Ki Tarah Aaya Wo Tez Hawaaon Me
Manga Tha Jise Hmane Din-Raat Duaaon Me.

बड़ी ख़ामोशी से भेजा था गुलाब उसको,
पर ख़ुशबू ने शहर भर में तमाशा कर दिया.
Badi Khamoshi Se Bheja Tha Gulaab Ka Pool Usako
Par Khushbu Ne Shahar Bhar Me Tamaasha Kar Diya.

ख़ुशबू तेरी प्यार की मुझे महका जाती हैं,
तेरी हर बात मुझे बहका जाती हैं,
साँस तो बहुत देर लेती है आने में
हर साँस से पहले तेरी याद …

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 245 - शानदार 55 महफ़िल पर शायरी - Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी – Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी  – Mahafil Status, Shayari In Hindi

आज की पोस्ट 2 Line महफ़िल Status Hindi की हैं जिसमे पढ़ सकते हैं, “महफ़िल पर शायरी Facebook”, महफ़िल पर शायरी 4 Line और महफ़िल पर शायरी One Line शायरी के “Mahafl Status In Hindi”
आईये दोस्तों अब पढ़ते हैं महफ़िल शायरी के इस लाज़वाब कलेक्शन को जिसे अगल अलग सोशल मिडिया के माध्यम से संग्रह किया गया हैं खास आप सभी शायरी के चाहने वालो के लिए❗
मेरे लफ़्ज़ों को महफूज कर लो दोस्तों.
हमारे बाद बहुत सन्नाटा होगा, इस ✒  महफ़िल में.
Mere Labzo Ko Mafafuz Kar Lo Dosto,
Hamaare Baad Bahut Sannata Hoga Is Mahfil Me❗
उस अजनबी से हाथ मिलाने के वास्ते
✒  महफ़िल में सब से हाथ मिलाना पड़ा मुझे.
Us Ajanabi Se Hath Milane Ke Vaste,
Mahafil Me Sab Se Hath Milaana Pada❗
इतनी चाहत से न देखा कीजिए ✒  महफ़िल में आप
 शहर वालों से हमारी दुश्मनी बढ़ जाएगी.
Itani Chahat Se Na Dekha Kijiye Mahafil Me Aap,
Shahar Walo Se Hamaari Dushamani Badh Jaayegi❗
एक महफ़िल में कई ✒ महफ़िलें होती हैं शरीक
जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा
निदा फ़ाज़ली
Ek Mahafil Me Kayi Mahafile Hoti Hai Sharik,
Jis Ko Bhi Paas Se Dekhoge Akela Hoga❗
मुझ तक उस ✒ महफ़िल में फिर जाम-ए-शराब आने को है
उम्र-ए-रफ़्ता पलटी आती है शबाब आने को है.
फ़ानी बदायुनी
Mujh Tak Us Mahafil Me Fir Jaam-E-Sharaab Aane Ko Hai,
Umr-E-Rftaa Palati Aati Hai Shabaab Aane Ko Hai❗

महफ़िल पर शायरी

तुम्हारा जिक्र हुआ तो ✒ महफ़िल छोड़ आये,
गैरों के लबों पे तुम्हारा नाम अच्छा नहीं लगता.
Tumhaara Zikr Hua To Mahafil Chhod Aaye,
Gairo Ke labo Pe Tumhaara Naam Achchha Nahi Lagata❗
मैंने आंसू को समझाया, भरी ✒  महफ़िल में ना आया करो,
आंसू बोला, तुमको भरी महफ़िल में तन्हा पाते है,
इसीलिए तो चुपके से चले आते है.
Maine Ansu Ko Samjhaya, Bhari Mahafil Me Naa Aaya Karo,
Ansu Bola Tumako Bhari Mahafil Me Tnnha Paate Hai.
Isliye To Chupake Se Chale Aate Hai❗
देख के हमको वो सर झुकाते हैं,
बुला कर ✒ महफ़िल में नजरें चुराते हैं,
नफरत हैं तो कह देते हमसे,
गैरों से मिलकर क्यों दिल जलाते हैं..
Dekh Ke Hamako Wo Sar Jhukaate Hain,
Bula Kar Mahafil Me Nazare Churaate Hai❗
Nafarat Hai To Kah Dete Hamako.
Gairo Se Milkar Kyu Dil Jalaate Hai ❗
मुझे गरीब समझ कर ✒ महफिल से निकाल
Continue Reading
shayarisms4lovers June18 80 - रूह का रूह से मिलन शायरी

रूह का रूह से मिलन शायरी

जो तेरे गुलाबी लब मेरे लबों को छू जायें,
मेरी रूह का मिलन तेरी रूह से हो जाये,

ज़माने की साज़िशों से बेपरवाह हो जायें,
मेरे ख्वाब कुछ देर तेरी बाहों में सो जायें,

मिटा कर फ़ासले हम प्यार में खो जायें,
आ कुछ पल के लिये एक-दूजे के हो जायें।…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 04 - शानदार 55 महफ़िल पर शायरी - Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी – Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी  – Mahafil Status, Shayari In Hindi

आज की पोस्ट 2 Line महफ़िल Status Hindi की हैं जिसमे पढ़ सकते हैं, “महफ़िल पर शायरी Facebook”, महफ़िल पर शायरी 4 Line और महफ़िल पर शायरी One Line शायरी के “Mahafl Status In Hindi”
आईये दोस्तों अब पढ़ते हैं महफ़िल शायरी के इस लाज़वाब कलेक्शन को जिसे अगल अलग सोशल मिडिया के माध्यम से संग्रह किया गया हैं खास आप सभी शायरी के चाहने वालो के लिए❗
मेरे लफ़्ज़ों को महफूज कर लो दोस्तों.
हमारे बाद बहुत सन्नाटा होगा, इस ✒  महफ़िल में.
Mere Labzo Ko Mafafuz Kar Lo Dosto,
Hamaare Baad Bahut Sannata Hoga Is Mahfil Me❗
उस अजनबी से हाथ मिलाने के वास्ते
✒  महफ़िल में सब से हाथ मिलाना पड़ा मुझे.
Us Ajanabi Se Hath Milane Ke Vaste,
Mahafil Me Sab Se Hath Milaana Pada❗
इतनी चाहत से न देखा कीजिए ✒  महफ़िल में आप
 शहर वालों से हमारी दुश्मनी बढ़ जाएगी.
Itani Chahat Se Na Dekha Kijiye Mahafil Me Aap,
Shahar Walo Se Hamaari Dushamani Badh Jaayegi❗
एक महफ़िल में कई ✒ महफ़िलें होती हैं शरीक
जिस को भी पास से देखोगे अकेला होगा
निदा फ़ाज़ली
Ek Mahafil Me Kayi Mahafile Hoti Hai Sharik,
Jis Ko Bhi Paas Se Dekhoge Akela Hoga❗
मुझ तक उस ✒ महफ़िल में फिर जाम-ए-शराब आने को है
उम्र-ए-रफ़्ता पलटी आती है शबाब आने को है.
फ़ानी बदायुनी
Mujh Tak Us Mahafil Me Fir Jaam-E-Sharaab Aane Ko Hai,
Umr-E-Rftaa Palati Aati Hai Shabaab Aane Ko Hai❗

महफ़िल पर शायरी

तुम्हारा जिक्र हुआ तो ✒ महफ़िल छोड़ आये,
गैरों के लबों पे तुम्हारा नाम अच्छा नहीं लगता.
Tumhaara Zikr Hua To Mahafil Chhod Aaye,
Gairo Ke labo Pe Tumhaara Naam Achchha Nahi Lagata❗
मैंने आंसू को समझाया, भरी ✒  महफ़िल में ना आया करो,
आंसू बोला, तुमको भरी महफ़िल में तन्हा पाते है,
इसीलिए तो चुपके से चले आते है.
Maine Ansu Ko Samjhaya, Bhari Mahafil Me Naa Aaya Karo,
Ansu Bola Tumako Bhari Mahafil Me Tnnha Paate Hai.
Isliye To Chupake Se Chale Aate Hai❗
देख के हमको वो सर झुकाते हैं,
बुला कर ✒ महफ़िल में नजरें चुराते हैं,
नफरत हैं तो कह देते हमसे,
गैरों से मिलकर क्यों दिल जलाते हैं..
Dekh Ke Hamako Wo Sar Jhukaate Hain,
Bula Kar Mahafil Me Nazare Churaate Hai❗
Nafarat Hai To Kah Dete Hamako.
Gairo Se Milkar Kyu Dil Jalaate Hai ❗
मुझे गरीब समझ कर ✒ महफिल से निकाल
Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 43 - Aankhon mein dekhi jati hain pyar ki gehraiyan, Shayari

Aankhon mein dekhi jati hain pyar ki gehraiyan, Shayari

Aankhon mein dekhi jati hain pyar ki gehraiyan,
shabdon mein to chhup jate hain bahut s tanhaiyan!

आँखों में देखी जाती हैं प्यार की गहराईयाँ,
शब्दों में तो छुप जाती हैं बहुत सी तन्हाईयाँ! 🌹💞…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 77 - 2 Line Shayari in Hindi , Tay hai badlna

2 Line Shayari in Hindi , Tay hai badlna

तय है बदलना, हर चीज बदलती है इस जहां में,
किसी का दिल बदल गया, किसी के दिन बदल गए।

यूं तो किसी चीज के मोहताज नही हम,
बस एक तेरी आदत सी हो गयी है।

बिन दिल के जज्बात अधूरे, बिन धड़कन अहसास अधूरे,
बिन साँसों के ख्वाब अधूरे, बिन तेरे हम कब हैं पूरे।

ज़ुल्फों को उंगलियों से किनारे किया ना कर
दिल मेरा आवारा है इसे और बिगाड़ा ना कर।

आँखे खुली जब मेरी तो जाग उठीँ हसरतेँ सारी,
उसको भी खो दिया मैँने..जिसे पाया था ख़्वाब मेँ।

तेरे वजूद से ही मेरी मुकम्मल कहानी,
मैं एक खोखली सीप तू एक मोती रूहानी।

मोहल्ले की मोह्ब्बत का भी अजीब फ़साना है,
चार घर की दूरी और बीच मे सारा जमाना है।

खुला ना रख हर एक के लिये दिल का दरवाज़ा,
ये दिल एक घर हैं इसे बाज़ार मत बना।

कोशिश तो बहुत करता हूँ,
पर अब किसी से तुम्हारे जैसी मोहब्बत नही होती। 💔

मुस्कुराने के मकसद न ढूंढ वर्ना जिन्दगी यूँही कट जायेगी,
कभी बेवजह भी मुस्कुरा के देख, तेरे साथ जिन्दगी भी मुस्कुरायेगी।…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 39 - Life Shayari in Hindi, Zindagi hai thoda aahista chal

Life Shayari in Hindi, Zindagi hai thoda aahista chal

ज़िंदगी है थोड़ा आहिस्ता चल,
कट ही जाएगा सफ़र आहिस्ता चल,
एक अंधी दौड़ है किस को ख़बर,
कौन है किस राह पर आहिस्ता चल! 🚶

Zindagi hai thoda aahista chal,
kat hi jaega safar aahista chal,
ek andhi daud hai kis ko khabar,
kaun hai kis raah par aahista chal! 🚶…

Continue Reading
Page 4 of 10
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10