shayarisms4lovers June18 239 - हम ने एक इंसान को चाहा और गुनहगार हो गए – Hindi Shayari

हम ने एक इंसान को चाहा और गुनहगार हो गए – Hindi Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

मैं अश्क़ हूँ

मैं अश्क़ हूँ मेरी आँख तुम हो
मैं दिल हूँ मेरी धडकन तुम हो
मैं जिस्म हूँ मेरी रूह तुम हो
मैं जिंदा हूँ मेरी ज़िन्दगी तुम हो
मैं साया हूँ मेरी हक़ीक़त तुम हो
मैं आइना हूँ मेरी सूरत तुम हो
मैं सोच हूँ मेरी बात तुम हो
मैं मुकमल हूँ जब मेरे साथ तुम हो
मैं तुम मैं हूँ अब तुम ही हो , अब तुम ही हो

Main ashq Hoon

Main ashq Hoon Meri ankh Tum Ho
Main Dil Hoon Meri Dharkan Tum Ho
Main jism Hoon Meri Rooh Tum Ho
Main Jinda Hoon Meri Zindagi Tum Ho
Main saya Hoon Meri Haqiqat Tum Ho
Main Aena Hun Meri Surat Tum Ho
Main soch Hoon Meri Baat Tum Ho
Main Mukmal hoon Jab Mere Sath Tum Ho
Main Tum main hoon Ab Tum hi ho , Ab Tum Hi Ho…


वादा

वादा निभाना हमारी आदत हो गयी
हमें भूलने की उनकी आदत है
उन्हें याद करने की हमारी आदत हो गयी

Wada

Wada Nibhana Humari Aadat Ho Gayi
Humein Bhulane Ki Unki Aadat Hai
Unhe Yaad Karne Ki Humari Aadat Ho Gayi…


गुनहगार

लोग पत्थर के बूतों को पूज कर भी मासूम रहे “फ़राज़”
हम ने एक इंसान को चाहा और गुनहगार हो गए

Ghunegar

Log Pathar Ke Bhuton Ko Poojh Ker Bhi Masoom Rahay “Faraz”
Hum Ne Ek Insan Ko Chaaha Aur Ghunegar Ho Gaye…


तन्हाई

तन्हाई मेरे दिल में समाती चली गयी
किस्मत भी अपना खेल दिखाती चली गयी
महकती फ़िज़ा की खुशबू में जो देखा तुम को
बस याद उनकी आई और रुलाती चली गयी..

Tanhayi

Tanhayi mere dil mein samati chali gayi
Kismat bhi apna khel dikhati chali gayi
Mehkti fiza ki khusbu me jo deka tum ko
Bas yaad unki aayi aur rulati chali gayi…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 210 - Zindagi Shayari in Hindi on Ek Galati

Zindagi Shayari in Hindi on Ek Galati

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

एक पहचान हज़ारो दोस्त बना देती हैं,
एक मुस्कान हज़ारो गम भुला देती हैं,
ज़िंदगी के सफ़र मे संभाल कर चलना,
एक ग़लती हज़ारो सपने जला कर राख देती है..…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 270 - Zindagi tamasha hai aur is tamashe mein

Zindagi tamasha hai aur is tamashe mein

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

ज़िन्दगी तमाशा है और इस तमाशे में,
खेल हम बिगाड़ेंगे, खेल को बनाने में,
कारवां रुके तो उनका भी कुछ ख्याल आता है,
जो सफ़र में पिछड़े हैं, रास्ता बनाने में!
GOOD NIGHT

Zindagi tamasha hai aur is tamashe mein,
khel ham bigadenge khel ko banane mein,
karavan ruke to unka bhi kuchh khyal aata hai,
jo safar mein pichhade hain, rasta banane mein!
Good Night…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 20 - Life Shayari in Hindi, Kuchh guzari kuchh guzar di

Life Shayari in Hindi, Kuchh guzari kuchh guzar di

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

कुछ गुज़री कुछ गुज़ार दी,
कुछ निखरी कुछ निखार दी,
कुछ बिगड़ी कुछ बिगाड़ दी,
कुछ अपनी रही कुछ अपनों पर वार दी,
कुछ इश्क में डूबी कुछ इश्क ने तार दी,
कुछ दोस्त साथ रहे कुछ कसर दुश्मनो ने उतार दी,
बस ज़िन्दगी मिली मुझे.. ज़िन्दगी जैसी ही गुज़ार दी!…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 16 - Urdu Shayari - Gham hotein hain jahaan zannat hoti hai

Urdu Shayari – Gham hotein hain jahaan zannat hoti hai

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Gham hotein hain jahaan zannat hoti hai,
Duniya mein har shay ki keemat hoti hai,

Aksar vo kehte hain voh bas mere hain,
Aksar kyun kehte hain hairat hoti hai,

Tab hum dono waqt chura kar laate the,
Ab milte hain jab bhi fursat hoti hai,

Apni mehbooba mein apni maa dekhein,
Bin maa ke ladkon ki fitrat hoti hai,

Ik kashti mein ek kadam hi rakhtein hain,
Kuch logon ki aisi aadat hoti hai…

– Javed Akhtar

ग़म होतें हैं जहाँ ज़न्नत होती है,
दुनिया में हर शे की कीमत होती है,

अक्सर वो कहते हैं वो बस मेरे हैं,
अक्सर क्यूँ कहते हैं हैरत होती है,

तब हम दोनो वक़्त चुरा कर लाते थे,
अब मिलते हैं जब भी फ़ुर्सत होती है,

अपनी महबूबा में अपनी माँ देखें,
बिन माँ के लड़कों की फ़ितरत होती है,

इक कश्ती में एक कदम ही रखतें हैं,
कुछ लोगों की ऐसी आदत होती है…

– जावेद अख़्तर

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 179 - Life Shayari - Mera saya hai mere sath jahan jaaoon main

Life Shayari – Mera saya hai mere sath jahan jaaoon main

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Mera saya hai mere sath jahan jaaoon main,
Bebasi tu hi bata khud ko kahan paaoon main!
– Sulaiman Areeb

मेरा साया है मेरे साथ जहाँ जाऊँ मैं,
बेबसी तू ही बता खुद को कहाँ पाऊँ मैं!
– सुलेयिमन अरीब


Zindagi hai ya koi tufaan hai,
Hum to is jeene ke haathon mar chale …
– Khwaaza Meer ‘Dard’

ज़िंदगी है या कोई तूफान है,
हम तो इस जीने के हाथों मार चले …
– ख्वाज़ा मीर ‘दर्द’


Na so saka hun na shab jaag kar guzaari hai,
Ajeeb din hain sukun hai na be-karaari hai
– Juhu Nazar

न सो सका हूँ न शब जाग कर गुज़ारी है,
अजीब दिन हैं सुकूँ है न बे-क़रारी है

– ज़ुहूर नज़र
Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 152 - Usaki yaaden hi ab is dil mein, Shayari

Usaki yaaden hi ab is dil mein, Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Miss you SHayari on Missing from Heart

Meri khamoshi thi jo sab kuchh sah gayi,
usaki yaaden hi ab is dil mein rah gayi,
thi shayad usaki bhi koi majboori,
jo meri zindagi ki kahani adhoori hi rah gayi!!

मेरी खामोशी थी जो सबकुछ सह गयी,
उसकी यादें ही अब इस दिल में रह गयी,
थी शायद उसकी भी कोई मज़बूरी,
जो मेरी जिंदगी की कहानी अधूरी ही रह गयी!!…

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 79 - ज़िन्दगी पर दुःख भरी शायरी

ज़िन्दगी पर दुःख भरी शायरी

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

राहे रूकती हैं जब, ज़िन्दगी झुकती हैं तब
सर झुकता है जब, वक़्त रुकता हैं तब

जमाना हसंता हैं जब, सांसें रूकती हैं तब
बाहे दुखती हैं जब, हिम्मत रूकती हैं तब

शरीर खंजर सा हो जाता हैं, आत्मा बंजर सी हो जाती हैं
ना जाने क्यों ये ज़िन्दगी सिमट कर रह जाती हैं |

~ Suraj Yadav…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 170 - इश्क़ और जनून – शायरी

इश्क़ और जनून – शायरी

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

इश्क़ और जनून

दौर था इश्क़ का और हम बह गए
भरोसा हम गैरों पर कर गए
न फ़िक्र अंजाम की हम दुश्मन जमाना कर गए
होश तब आया जब भरी महफ़िल में तन्हां हम रह गए


जो अँधेरे मैं गुम है वो साया कौन है

तेरी आँख मैं वो शख़्श कौन है
तेरे चेहरे का यह रंग कौन है
जो अँधेरे मैं गुम है वो साया कौन है..


मैं तो दीवाना हूँ उस की रूह -ओ -रुख़्सार का

न जाने यह लोग क्या ढूंढ रहे है
बहुत जाना पर न जाने क्या ढूंढ रहे है
मैं तो दीवाना हूँ उस की रूह -ओ -रुख़्सार का
न जाने यह लोग मुझमे क्या ढूंढ रहे है..

Meri Diwangi

na jane yeah log kya doodnd rahe hai
bahut jana par na jane kya doond rahe hai
main to diwana hoon us ki rooh-he-ruksar ka
na jane yeah log mujme kya doond rahe hai..


Wo Shaksh Kaun Hai

Teri ankh main wo shaksh kaun hai
tere chehre ka yeah rang kaun hai
jo andhre main gum hai wo saya kaun hai..


Ishq Ka Daur

daur tha ishq ka aur hum beh gaye
bharosa hum gairon par kar gaye
Naa fikar anjam ki hum dusman jamana kar gaye
hosh tab aya jab bhari mehfil mai tanha hum reh gaye…

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 82 - वो कातिल नहीं

वो कातिल नहीं

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

सुना है

सुना है आज कल वो परेशान रहती है
उससे कहना बे -फ़िक्र मैं भी नहीं हूँ
सुना है वो गुमसुम रहती है
उससे कहना हाज़िर जहाँ मैं भी नहीं हूँ
सुना है वो रातों को जागा करती है
उससे कहना सोते हम भी नहीं है
सुना है वो चुप चुप के रोती है
उससे कहना हँसता मैं भी नहीं हूँ
सुना है वो मुझे याद बुहत करती है
उससे कहना भूला मैं भी नहीं हूँ..


वो कातिल नहीं है

या रब वो कातिल नहीं है
फिर भी लगता है जान ले गया..


निगाहे बोलती हैं

निगाहे बोलती हैं बेतिहाशा
यह मोहब्बत पागलो की गुफ्तुगू है..


दिल के टुकड़े

अभी से मिलना छोड़ दिया है जानम
इब्तिदा में ऐसा करोगे तो साथ क्या निभाओगे
दिल के टुकड़े दिल से जुदा नहीं होते
अगर दुनिया बेवफा है तो बेवक़फ़ा नहीं होते
गरीब समझ  कर उठा दिया उसने अपनी महफ़िल से
क्या चाँद की महफ़िल में सितारे नहीं होते..


मेरे हाथों की लकीरों में

मेरे हाथों की लकीरों में ये ऐब छुपा है
में जिस शख्श को छु लू वो मेरा नहीं रहता..


तेरा ही दर्द

कैद था दिल में तेरा ही दर्द ता-उम्र के लिए
मर रही थी हर आरज़ू दर्द के इस सफर में..


पहली मुलाकात

पहली मुलाकात थी और दोनों ही बेबस थे
वो अपनी जुल्फों को न संभाल  पाये और हम खुद को..


इक निगाह से कत्ल 

तुम्हारी इक निगाह से कत्ल  होते है लोग
एक नज़र हम को भी देख लो तुम बिन जिंदगी अच्छी नहीं लगती..…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 202 - Sikha diya duniya ne mujhe apno par bhi shak karna

Sikha diya duniya ne mujhe apno par bhi shak karna

 

सिखा दिया दुनिया ने मुझे अपनो पर भी शक करना
मेरी फितरत में तो गैरों पर भी भरोसा करना था! 😔

Sikha diya duniya ne mujhe apno par bhi shak karna
Meri fitrat mein to gairon par bhi bharosa karna tha! 😔

Continue Reading

Heart Touching Shayari in Hindi on Duniya Kyun Ishq Se Khafa

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

जबसे तुम हमसे आकर मिलने लगी- दुश्मनी हर किसी से अब होने लगी,
दोनों को देखकर लोग हैं जल रहे बस्ती में हर तरफ आग लगने लगी,
इतने खतरे उठा दोनों करते हैं प्यार मौत से भी मुहब्बत सी होने लगी,
दुनिया होती है क्यूं इश्क से यूं खफा मैंने जब ये कहा तो तू हंसने लगी..…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 36 - तुम्हारे ही ख्यालो में खोए रहते हैं – Romantic shayari

तुम्हारे ही ख्यालो में खोए रहते हैं – Romantic shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

दिल जब भी तुम्हारा धड़का है

तुम लाख छुपाओ सीने में एहसास हमारी चाहत का
दिल जब भी तुम्हारा धड़का है आवाज़ यहाँ तक आई है

Dil jab bhi tumhara dhadka hai

Tum laakh chupao seeney main Ehsaas hamari chaaht ka
Dil jab bhi tumhara dhadka hai awaaz Yahan tak aai hai..


जीना भी मुझे दुस्बार लगे

एहसास न कर इन जज़्बातों का नज़रों से गिरा दे बेशाक लेकिन
जीना भी मुझे दुस्बार लगे , इतना तो नज़र -अंदाज़ न कर

Jeena Bhi Mujhe Dushwaar Lage

Ehsaas Na Kar In jazbaton Ka Nazron Se gira de Beshaak Lekin !!!
Jeena Bhi Mujhe Dushwaar Lage, Itna To Nazar-Andaaz na Kar ..


अपनी धडकनें भी रोक ली

कहा सिर्फ उस ने इतना के ख़ामोशी है मुझे बहुत पसंद
इतना सुनना था के हम ने अपनी धडकनें भी रोक ली

Apni Dharkanen bhi rok lee..


तुम्हारे ही ख्यालो में

जब खामोश आँखों से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की सुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख्यालो में खोए रहते हैं
पता नहीं कब दिन कब रात होती है

Tumhare Hi Khayalo Mein

Jub Khamosh Aankho Se Baat Hoti Hai
Aise Hi Mohabbat Ki Suruwat Hoti Hai
Tumhare Hi Khayalo Mein Khoye Rehte Hain
Pata Nahi Kab Din Kab Raat Hoti Hai..


एक पल

कोई पल हो तेरे साथ का मेरी उम्र भर को समेट ले
मैं फ़ना बकाक सारे सफर उसी एक पल में गुज़ार दूँ

Ek Pal

koi pal ho tere sath ka meri umar bhar ko samait le
main fanaa baqaak sabhi safar usi ek pal mein guzaar doon…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 09 - Shayad Main isliye piche hu, Shayari

Shayad Main isliye piche hu, Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Shayad Main isliye piche hu,
Mujhe Hoshyari nahi aati,
Beshak log na Samjhe meri Wafadaari,
Magar Sahab Mujhe Gaddari nhi

शायद मैं इसीलिए पीछे हूं,
मुझे होशियारी नही आती,
बेशक लोग ना समझे मेरी वफादारी,
मगर यारो मुझे गद्दारी नही आती।…

Continue Reading
Page 7 of 10
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10