कहानी उस महिला किसान की जो आर्गेनिक खेती से लाखों कमा रही है!

Lalita Mukati Organic Farming in Madhya Pradesh

हमारे देश में जब किसान की बात आती है तो हम पुरुष के बारे में ही सोचते है और हमें महिलाओं का ध्यान नहीं आता है। दरअसल महिला किसान हमारे समाज में होती ही नहीं। वो पति के साथ खेतों में तो जाती है लेकिन किसान पति ही होता है। लेकिन कुछ महिलाएं होती है जो अपनी अलग पहचान बनाती है और ऐसा ही एक नाम है ललिता मुकाटी – Lalita Mukati का जो मध्यप्रदेश के बड़वानी जिले के बोड़लई में रहती है। ललिता आर्गेनिक तरीके से खेती – Organic Farming कर रही है और महीने के लाखो रुपये कमा रही है। ललिता को राज्य और केंद्र सरकार से कई सारे सम्मान भी मिल चुके है।

कहानी उस महिला किसान की जो आर्गेनिक खेती से लाखों कमा रही है – Lalita Mukati Organic Farming in Madhya Pradesh

1 16 - कहानी उस महिला किसान की जो आर्गेनिक खेती से लाखों कमा रही है!

ललिता ने अपनी कहानी बताते हुए कहा की “मेरे पति के पास लगभग 36 एकड़ की जमीन है और वो कृषि में स्तानक है। मैं उन्हें खेतो में काम करते हुए देखती थी तो खुद भी उनके साथ जाने लगी और काम करने लगी”।

ललिता ने कहा की शुरुआत में मेरे पति ही खेती करते थे लेकिन धीरे धीरे मैंने सारी तकनीक सीख ली और पूरा साथ देने लगी। इसके बाद मैंने देखा की खेती में केवल कीटनाशको का इस्तेमाल किया जाता है और यह पूरी तरह से गलत है।

यह मंहगे भी होते है और इनसे कोई उत्पाद सही भी नहीं मिलता है। ललिता ने यही से फैसला किया की वो अब कीटनाशको का इस्तेमाल नहीं करेगी। इसके बाद उन्होंने आर्गेनिक तरीके से खेती करने का विचार बनाया।

साल 2015 में आर्गेनिक खेती –

पचास साल की ललिता आज खेती से महीने के लगभग अस्सी हजार रुपये कमा रही है और इसकी शुरुआत उन्होंने साल 2015 में की थी। उन्होंने सभी कीटनाशको का इस्तेमाल करना बंद कर दिया और गोबर, गौमूत्र और रसोई से निकलने वाले कचरे का इस्तेमाल किया।

इसके बाद ललिता ने अपने खेतो में शीताफल, नीम्बू, केला और आंवला लगाना शुरू किया। इन्हें वो पूरी तरह से कीटनाशको से दूर रखती थी। शुरुआत में पैदावार कम हुई लेकिन कीटनाशको में पैसा नहीं लगाने से उन्हें फायदा होने लगा।

ललिता कहती है की पहले खाद और कीटनाशक में ही इतने पैसे लग जाते थे की केवल दो से तीन हजार का एक रबी में फायदा होता था। ललिता ने अपनी फसल को जब …

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 222 - नीति के दोहे अर्थ समेत – Niti ke Dohe with Meaning

नीति के दोहे अर्थ समेत – Niti ke Dohe with Meaning

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Niti ke Dohe

दोहों में ज्ञान की अनमोल धारा समाहित होती है। सुखमय जीवन जीने का संदेश छिपा रहता है और यह सफलता पाने का अचूक मंत्र होता है। यही वजह है कि हिन्दी साहित्य के महान कवियों ने अपने दोहे के माध्यम से लोगों को काफी बड़ी सीख दी है, जिस पर चलकर कई लोगों ने न सिर्फ अपने जीवन में बदलाव किया है बल्कि वे लोग सफलता के पथ पर भी अग्रसर हुए हैं।

कवियों ने अपने दोहों के माध्यम से जीवन की सच्चाई को उजागर किया है और लोगों को सच्चाई के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित किया है। कई बार हम अपने अहं भाव की वजह से कई चीजों को निष्पक्ष रुप से नहीं देख पाते हैं जो हमारे इन महान कवियों एवं समाज सुधारकों ने देखा हैं।

आज हम आपको अपने इस लेख में हिन्दी साहित्य के महान कवि कबीरदास जी, रहीम दास जी और तुलसीदास जी के नीति के दोहों – Niti ke Dohe को अर्थ समेत बताएंगे जिसमें कवियों ने लोगों को बड़ी सीख दी है।

नीति के दोहे अर्थ समेत – Niti ke Dohe with Meaning

 

कबीर दास जी के नीति के दोहे अर्थ समेत – Kabir ke Niti ke Dohe

कबीर दास जी का नीति का दोहा नंबर 1- Kabir ke Niti ke Dohe 1

आज की दुनिया में लोगों के अंदर प्रेम भावना कम होती जा रही है तो वहीं कुछ लोग ऐसे भी है जो अपने घमंड में इतने चूर रहते हैं कि उन्हें लगता है कि वह प्यार भी बाजार में खरीद लेंगे ऐसे लोगों के लिए कवि ने इस दोहे में बड़ी सीख दी है –

दोहा:

प्रेम न बाड़ी ऊपजै, प्रेम न हाट बिकाय।
राजा परजा जेहि रूचै, सीस देइ ले जाय।।

दोहे का अर्थ:

इस दोहे में कवि कहते हैं कि प्रेम खेत में नहीं पैदा होता है और न ही प्रेम बाज़ार में बिकता है। चाहे कोई राजा हो या फिर कोई साधारण आदमी सभी को प्यार आत्म बलिदान से ही मिलता है, क्योंकि त्याग और बलिदान के बिना प्रेम को नहीं पाया जा सकता है। प्रेम गहन- सघन भावना है – खरीदी बेचे जाने वाली वस्तु नहीं है!

क्या सीख मिलती है:

कवि के इस दोहे से हमें यह सीख मिलती है कि हमें प्यार पाने के लिए लोगों के भरोसे को जीतने की कोशिश करनी चाहिए और आत्म बलिदान करना चाहिए तभी हम सच में किसी का प्यार पा सकते हैं …

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 267 - Sad Quotes in Hindi | हिंदी कोट्स

Sad Quotes in Hindi | हिंदी कोट्स

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

साथियों नमस्कार, स्वागत है आपका हमारे आज के इस खास आर्टिकल “Sad Quotes in Hindi”  में जिसमें हम आपके लिए कुछ चुनिन्दा Two Liners Hindi Quotes लेकर आएं हैं जिन्हें आप अपने watsapp या instagram पर शेयर कर सकते हैं! पढ़िए हमारा खास आर्टिकल…


Sad Quotes in Hindi | हिंदी कोट्स

मैने हजारो आशिकों की किताब पड़ी है,
किसी ने अपनी कामयाब मोहब्बत के बारे मे जिक्र नही किया!!


किस्मत बुरी या मैं बुरा, फैसला हो ना सका…
मैं सबका होता गया, कोई मेरा हो न सका!!


क्यूँ करते हो, मुझसे इतनी खामोश मोहब्बत,
लोग समझते हैं, इस बदनसीब का कोई नहीं!!


में कुछ इस तरह हरूँगा,
तुम जीत कर भी पछताओगे!!


मिजाज़ उसके अलग-अलग हर बार होते हैं,
ख़ैर, हम ही हैं जो भूल जाते हैं कि मौसम चार होते हैं!!


मोहब्बत का कोई क़ुसूर नहीं, उसे तो मुझसे रूठना ही था,
दिल मेरा शीशे सा साफ़ और शीशे का अंजाम तो टूटना ही था!!


कुछ तो कमी सी रह गई कहीं, मेरी बन्दगी में जरूर…
इतना इबादत के बाद भी खुदा रुठ जाए, ये मुमकिन नहीं!!


जो कहते थे तुझसे बिछड़ने के बाद वीरान हो जाएगी ज़िंदगी…
आज पूरे शहर में उन्हीं का घर सबसे रोशन मिला!!


आंखों को रख के दर पे तेरे इंतजार में…
रह रह के घर की चीज़ों से टकरा रहे है हम!!


कितनी कम लब्जो में जिंदगी बयां करू,
लो तुमारा नाम लू ओर बात खत्म करू!!


अल्फ़ाज़ के दिवाने तो बहुत है मेरे
तलाश तो खामोशी पढ़ने वाले की है!!


इस बेगानी दुनिया में तेरी उम्मीदों का सहारा लेकर,
हम तुम्हें फिर से चाहेंगे एक उम्र दुबारा लेकर!!


किसी की कहाँ मजाल की हमसे बेवफाई करे,
हमें तो हमारी वफाएं मर डालेगी!!


बेवजह बिछड़ तो गए हो,
अब ये बताओ सुकूं मिला के नहीं!!


साँस रूक जाये भले ही तेरा इन्तज़ार करते-करते,
तेरे दीदार की आरज़ू हरगिज कम ना होगी!!


मुहब्बत से भरी कोई गजल पसंद ही नहीं उन्हें,
बेवफाई के हर शेर पर मगर दाद दिया करते हैं!!


आशियाना बनाए तो भी कहाँ बनाए जनाब,
जमीने महँगी हो गई और दिल में कोई जगह देता ही नहीं!!


छु जाते हो कितनी दफा तुम यूँ ही ख्वाब बन के,
कौन कहता है की दूर रहकर मुलाकात नहीं होती!!


समझौता करना सीखिए..क्योंकि थोड़ा सा झुक जाना,
किसी रिश्ते को हमेशा के लिए तोड़ देने से बहुत बेहतर है!!


किसी के साथ हँसते-हँसते, उतने ही हक से रूठना भी आना चाहिए,
अपनो की …

Continue Reading

मुंशी प्रेमचंद की जीवनी Munshi Premchand Biography in Hindi

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Munshi Premchand Biography in Hindi

मुंशी प्रेमचंद (Hindi Writer Munshi Premchand) को आधुनिक हिंदी का पितामह कहा जाता है| आसमान में जो स्थान ध्रुव तारे का है वही स्थान हिन्दी साहित्य में मुंशी प्रेमचंद का है| मुंशी जी हिन्दी के प्रमुख लेखकों में से एक हैं| खासकर हिन्दी और उर्दू में प्रेमचंद जी का विशेष लगाव रहा है| मुंशी जी को उपन्यास सम्राट भी कहा जाता है| आज भी स्कूल और विद्यालयों में मुंशी जी की कहानियां बच्चों को पढ़ाई जाती हैं| प्रेमचंद जी हिंदी के सबसे लोकप्रिय और जाने माने लेखक हैं|

 

मुंशी प्रेमचंद का जन्म 31 जुलाई 1880 को बनारस से थोड़ी दूर लमही नामक गाँव में हुआ था| मुंशी जी के पिता अजायब राय जी एक डाकखाने में छोटी नौकरी करते थे| मुंशी जी उस समय मात्र 8 वर्ष के रहे होंगे जब इनकी माँ का देहांत हो गया| बाल्यावस्था में ही इनके ऊपर जिम्मेदारियों का बोझ आ पड़ा| इनके पिता ने घर की देखभाल के लिए दूसरी शादी कर ली लेकिन सौतेली माँ की आँखों में मुंशी जी के लिए कोई प्रेम नहीं था| बचपन में ही गरीबी और बड़ी विषम परिस्थितियों का सामना करना पड़ा|

उस समय बहुत कम उम्र में ही लोगों की शादियाँ हो जाया करती थीं सो प्रेमचंद जी का विवाह भी मात्र 15 वर्ष की आयु में ही हो गया| मुंशी जी ने खुद अपनी पत्नी के बारे में लिखा है कि वो उम्र में मुंशी जी से बड़ी और कुरूप थीं|

 

विवाह के एक वर्ष बाद ही पिता का देहांत हो गया| प्रेमचंद जी पर मानो मुसीबतों का पहाड़ टूट पड़ा| सौतेली माँ के 2 बच्चे, अपनी पत्नी और एक खुद – इस तरह 4 लोगों जिम्मेदारी मुंशी जी के कंधों पर ही आ पड़ी|

मुंशी जी ने परिवार का खर्चा चलाने के लिए अपने कपड़े और किताबें तक बेच दीं| लेकिन पढ़ाई का शौक मुंशी जी को शुरुआत से ही था इसी बीच उन्होंने एक स्कूल में अध्यापक की नौकरी कर ली|

 

मुंशी जी जब छोटे थे तो अपने गाँव से बहुत दूर बनारस में पैदल ही पढ़ने जाते थे| बचपन से ही एक बड़ा वकील बनना चाहते थे| पढ़ाई का शौक भी था लेकिन गरीबी की वजह से सारे सपने दम तोड़ते नजर आ रहे थे| मुंशी जी बच्चों को ट्यूशन पढ़ाकर अपनी स्कूल की फीस देते थे| किसी तरह मुश्किल ने मैट्रिक पास किया|

परिस्थितियां कठिन जरूर थीं लेकिन साहित्य के प्रति उनका लगाव लगातार बढ़ता ही …

Continue Reading

Beti Bachao Beti Padhao Essay | बेटी बचाओ बेटी पढाओ


साथियों नमस्कार, आज के इस विषय “Beti Bachao Beti Padhao Essay | बेटी बचाओ बेटी पढाओ” में हम आपके साथ इस विषय पर कई गहन जानकारियों के साथ-साथ एक भाषण (Speech) साझा करने जा रहें हैं| यह विषय अत्यंत ही संवेदनशील विषय है इसलिए मंच पर इस विषय के बारे में बोलने से पहले एक बार विषय के बारे में पूरी जानकारी लेना बहुत आवश्यक है|


Beti Bachao Beti Padhao Essay | बेटी बचाओ बेटी पढाओ

(हमारा हमेशा से मानना रहा है की अपने भाषण की शुरुआत हमेशा किसी कहानी, कविता या किस्से से करें! अक्सर देखा जाता है की हमसे पहले आए हुए वक्ता के शब्द कई बार दर्शकों के दिलों में रह जाते हैं|

भाषण ख़त्म होने के बाद भी वक्ता की बातें दिमाग में चलती रहती है| ऐसी स्थती में कई बार श्रोता आपकी बात को नहीं सुन पाते| इस स्तथी में कोई भी कहानी, कविता या शायरी सबसे आसन तरीका होता है श्रोताओं का ध्यान खींचने का| इसीलिए अपने भाषण की शुरुआत हमेशा कहानी, कविता या किस्से से करें)

जैसे

1. जरूरी नहीं रौशनी चिरागों से ही हो
बेटियाँ भी घर में उजाला करती हैं

2.  चहकते विहान का आफ़ताब है बेटी,
महकते शाम का महताब है बेटी!
ज़िन्दगी के छंदों का अलंकर है बेटी,
कविता के पन्नों का संस्कार है बेटी!
वत्सल के श्रंगार का रस है बेटी,
कल के संसार का यश है बेटी!!

३. ओस की एक बूंद होती हैं बेटियां,
पुरे परिवार की गूंज होती है बेटियां!
रोशन करेगा बीटा तो बस एक ही कुल को,
दो-दो कुलों की लाज होती है बेटियां!!

दोस्तों, आज एक बहुत ही गहन मुद्दे पर में अपने विचार आपसे साझा करने वाला  हूँ| लेकिन यकीं मानिये में इस मुद्दे पर आपसे बात करने के लोए बिलकुल भी खुश नहीं हूँ| आखिर क्यों प्रकृति की इस अनमोल देन को बचने के लिए हमें यह मुहीम चलाना पड़ रहा है|

हमारे समाज में बेटियों को बोझ समझा जाता है , आज के समय में भले ही लडकियाँ लडकों के साथ कंधे से कंधा मिला कर चलने की हिम्मत रखती हो लेकिन फिर भी भारत के कई छोटे इलाकें और पिछड़ी सोच के परिवार ऐसे भी हैं जहाँ बेटी के जन्म लेने पर कोई जश्न नहीं मनाया जाता है. यहाँ तक की बेटी को गर्भ में ही मार दिया जाता है.

साथियों, बेटी! प्रकृति की दी हुई एक ऐसी देन  जो जीवन को निरंतर गतिमान बनाएं रखने के प्रकृति …

Continue Reading

Places to Visit in Amritsar | मेरी अमृतसर की यात्रा

0a - Places to Visit in Amritsar | मेरी अमृतसर की यात्रा

Places to Visit in Amritsar | मेरी अमृतसर की यात्रा


अमृतसर भ्रमण मेरे मन में काफी समय से था| जैसे ही तारीख तय हुई मैं अपनी एकल यात्रा का खाका तैयार करने में लग गया| मैंने दो दिवसीय “मेरी अमृतसर की यात्रा | Places to Visit in Amritsar” निर्धारित की थी|

जाने से पूर्व ही मैंने अपने दोनों दिनों को ध्यानपूर्वक योजनाबद्ध किया| कहाँ निवास करना है, किन जगहों पर किस दिन किस क्रम में जाना है और किन स्थानों पर अमृतसर के प्रसिद्ध व्यंजनों का लुत्फ़ उठाना है इन पहलुओं पर विचार कर निर्धारण किया|

किस जगह पर कितना समय व्यतीत होना चाहिए इसका भी पूर्वानुमान लगा लिया था| जिन वस्तुओं की जरुरत पड़ सकती थी इसकी भी एक सूची तैयार की थी और सभी सामन अपने साथ रख लियेथे|

अवधि कम थी इसलिए दिल्ली से अमृतसर आवागमन के लिए हवाई यात्रा के माध्यम का चुनाव किया था| पूर्व निर्धारण करना आवश्यक था ताकि यात्रा के दौरान मैं अपने समय का पूर्ण उपयोग कर सकूँ और सभी महत्वपूर्ण जगहों को भी देख सकूँ|

परिणामस्वरूप अमृतसर में मुझे कुछ भी सोचने की जरुरत नहीं पड़ी क्योंकि एक कागज़ पर मेरे पास सभी निर्देश विद्यमान थे| मुझे इस बात का संतोष है कि यात्रा को जिस प्रकार सोचा था उसी प्रकार क्रियान्वित किया|


Places to Visit in Amritsar | दिल्ली से अमृतसर

इंदिरा गांधी अंतराष्ट्रीय हवाईअड्डे से मेरे विमान के प्रस्थान का समय सुबह 05:30 बजे था| हवाईअड्डे के पूरे परिसर में अंतराष्ट्रीय मानको के अनुरूप सुविधाएँ, भव्यता और सुरक्षा देखकर मै पूर्णत: भाव-विभोर हो गया| भारत के इस प्रवेश द्वार की आभा देखकर मुझे बहुत ख़ुशी हुई|

वहाँ खड़े नाना प्रकार के भीमकाय हवाई जहाजों को देखना रोचक था| हवाईअड्डे का अंदरूनी भाग किसी शहर जैसा लग रहा था| मेरा सेवा प्रदाता ‘एयर इंडिया’ था| मुझे यह बात विदित थी की छोटे सामान को मैं अपने साथ लेकर बैठ सकता था और किसी कतार में भी नहीं लगना पड़ता|

इसी कारण मैंने अपने साथ एक लघु बस्ता ही रखा था जिसके परिणामस्वरूप मुझे सुरक्षा जाँच में ज्यादा समय नहीं लगा| विमान में चढ़ने में कुछ समय था इसलिए मैं पतीक्षालय में बैठ गया| हवाई जहाज़ मुझे सदा ही प्रभावित करते हैं | इनका आकार, उड़ान इत्यादी| इसी कौतूहल में मैं झरोखों से हवाई पट्टी और विमानों को निहारता रहा|

सूचना मिलने पर मैं विमान की ओर चल पड़ा| अपने विमान में प्रवेश करते ही विमान परिचारिका ने ‘नमष्कार’ कहकर मेरा …

Continue Reading

Mahesh Babu wiki | साऊथ सुपरस्टार महेश बाबु

साथियों नमस्कार, आज हम आपको साऊथ के एक ऐसे सुपरस्टार “Mahesh Babu wiki | साऊथ सुपरस्टार महेश बाबु” के बारे में बताने जा रहें हैं जिनके बारे में यह खास बाते आपने पहले ना तो कभी पढ़ी होंगी और ना ही पहले कभी सुनी होंगी|


Mahesh Babu wiki | साऊथ सुपरस्टार महेश बाबु

महेश बाबू कौन है इसको जानने के लिए बस इतना जान लीजिए कि 10 साल पहले वॉलीवुड के सबसे कमाऊ स्टार सलमान खान लगभग फ्लॉप फिल्मों के स्टार हो चुके थे तब उन्होंने साउथ की तेलगू सिनेमा की एक फ़िल्म की रीमेक की जो हूबहू इस फ़िल्म से कॉपी की गई थी यह फ़िल्म थी ,वॉन्टेड जिसके बाद सलमान के दिन ही बदल गए ।

लेकिन जिसने भी महेश बाबू की फ़िल्म देखी है वह जानता है कि सलमान ने नकल तो करने की कोशिश की लेकिन बराबरी से कोसों दूर रह गए । साउथ में इसी फ़िल्म के अभिनेता थे महेश बाबू जिनकी अदाकारी के किस्से आज भी बॉलीवुड से लेकर हॉलीवुड में कायम है|

Mahesh Babu Real Name – Ghattamaneni Mahesh Babu (महेश बाबु)

Ghattamaneni Mahesh Babu

Mahesh Babu Age – 40 yr

Mahesh Babu Wife – Namrata Shirodkar

Namrata Shirodkar

Mahesh Babu Mother – Indira Devi 

Mahesh Babu Mother

Mahesh Babu Father – Krishna

SAUTH SUPERSTAR KRISHNA

Mahesh Babu Son – Gautham Ghattamaneni

Mahesh Babu Son - Gautham Ghattamaneni


9 अगस्त 1995 को जन्मे महेश बाबु तेलगु फिल्म जगत के एक जाने मने अभिनेता हैं! महेश बाबु ने अपने एक्टिंग करिअर की शुरुआत बहुत ही कम उम्र में कर दी थी|

महेश बाबु को सबसे ज्यादा प्रसिद्धि अपने ब्लॉग बस्टर फिल्म (Mahesh babu Blockbuster Movie) “ओक्काडू” से मिले जिसमें महेश बाबु ने एक कबड्डी खिलाडी की भूमिका निभाई थी| यह फिम कई भारतीय भाषाओँ में रिलीज़ रुई और इस फिल्म ने रिकार्ड कमाई की|

महेश बाबु फिल्मों में एक्टिंग करने के साथ-साथ अपना प्रोडक्शन हाउस “महेश बाबु एंटरटेनमेंट लिमिटेड” भी चलाते हैं| महेश बाबु के पिता “कृष्णा” तेलुगु सिनेमा जगत के एक जाने माने अभिनेता रहें हैं|

महेश बाबु ने 1979 में आई फिल्म “निडा” में एक चाइल्ड आर्टिस्ट के रूप में कम किया था|


महेश बाबु के बारे में कुछ खास बातें (Interesting fact about Mahesh Babu)

● महेश बाबु तेलेगु अभिनेता कृष्णा और इंदिरा के पञ्च बच्चों में चौथे हैं|

● 44 वर्ष का यह कलाकार साधारण से कपड़े पहन कर भी यह किसी भी अन्य भारतीय कलाकारों पर भारी पड़ने की क्षमता है ।

● यू तो महेश बाबू का परिवार पहले से ही तेलगू सिनेमा …

Continue Reading

Happy Teachers Day Sms Wishes Quotes In Hindi

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Happy Teachers Day Sms Wishes Quotes And Shayari In Hindi


1) Happy Teachers Day Sms Wishes In Hindi

Guru gyan roop hai…Guru bagwan roop hai,
Guru hi shishye ka samman hai,
Guru ka har shabd hai khajana
Guru hi shiksha ke sagar ka roop hai…

Wishing You A Very Happy Teachers Day!

2) Happy Teachers Day Shayari For Teacher In Hindi

Jab girne ko hua mein… mujh uthaya aapne,
Meri raah meri manzil ki or… mujh badaya aapne,
Anjana tha mein khud ki kabiliyat se
Mujh khud se vakit karaya aapne..

Thank u & Happy Teachers Day

3) Latest Happy Teachers Day Shayari In Hindi

Hum ko Sab sikhata guru hai,
Ek acha insan banata guru hai.

Ham hote hai usar ki tarha,
Hum mein kabiliyat ka bij lagata guru hai.

Jab hota nhi hame manzil ka pata koi,
Tab safalta ki raaha dikhatai guru hai.

Very Very Happy Teachers Day !

4) Hindi Teachers Day Wishes Quote

Gyan ka roop guru hai,
Shiksha ke bhagwan ka roop guru hai,
Raah dikhayne wala guru hai
Manzil tak phuchane wala guru hai.

Happy Teachers Day

5) Lovely Teachers Day Sms Wishes For Mother In Hindi

Bachpan mein jeena sikhaya mujh ko,
Ungli pakad chalna seekhaya mujh ko,
Meri maa mera sab kuch hai
Jisne acha insan banaya mujh ko.

Happy Teachers Day Maa

6) Happy Teachers Day Sms Wishes For Father In Hindi

Meri har raah pe sath nibahate hai,
Duniya kya hai mujh pal pal batate hai,
Thode gusse mein hi sahi
Per papa hi mujh sab sikhate hai…

Happy Teachers Day Papa

7) Teachers Day Shayari In Hindi Font

जीवन की राह दिखाई आपने
मंजिल तक पहुंचाया आपने
देकर आपने हमे अनमोल ज्ञान
एक सफल इंसान बनाया आपने.

शिक्षक दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं

8) Best Teachers Day Shayari In Hindi

Vyarth jivan ke rahi hote,
Aap na hote to hum na hote,
Is duniya mein hum kuch na hote
Ager apke diye sabak na hote.

Happy Teachers Day Sir

9) Special Teachers Day Shayari In Hindi

Pada likha kar hamara maan banaaya,
Apne humko ek utam insaan banaya,
Khushnaseeb bane aap jaisa shikshak pa kar
Jisne hume itna kabil banaya.

Happy Teachers Day Madam…

Continue Reading

Late Lal Bahadur Shastri Quotes In Hindi | स्व. लाल बहादुर शास्त्री  के अनमोल विचार

Lal Bahadur Shastri Quotes In Hindi : स्व. लाल बहादुर शास्त्री भारत के द्वितीय प्रधानमंत्री थे. एक साधारण परिवार में जन्में शास्त्री जी अपनी सादगी, देशभक्ति और ईमानदारी के लिए जाने जाते थे. उनका प्रधानमंत्रित्व कार्यकाल ९ जून १९६४ से ११ जनवरी १९६६ (मृत्यु) तक लगभग १८ माह का रहा. ‘गुदड़ी के लाल’ नाम से लोकप्रिय जाने वाले शास्त्री जी का प्रधानमंत्रित्व कार्यकाल चुनौतीपूर्ण किंतु शानदार रहा. ’जय जवान जय किसान का नारा देते हुए उन्होंने किसानों के उत्थान की दिशा में कार्य किया. १९६५ के भारत-पाक युद्ध में पाक को करारी शिकस्त भी उनके कुशल और सशक्त नेतृत्व की छाया में ही संभव हो सकी. उन्हें मृत्युपरांत ‘भारतरत्न’ से नवाज़ा गया.

Lal Bahadur Shastri Short Bio

522297 - Late Lal Bahadur Shastri Quotes In Hindi | स्व. लाल बहादुर शास्त्री  के अनमोल विचार

NameLal Bahadur Shastri
Date Of Birth02/10/1904
Place Of BirthMughalsarai, Uttar Pradesh (India)
Father’s NameShri Sharad Prasad Srivastava
Mother’s NameRam Dulari Srivastava
SpouseLalita Shastri
Death11/01/1966
Achivement2nd Prime Misiter Of India, Bharat Ratna

Lal Bahadur Shastri Quotes In Hindi


1. Jai Jawan Jai Kisan

Lal Bahadur Shastri

जय जवान, जय किसान

लाल बहादुर शास्त्री


2. Every work has its own dignity and one gets satisfaction in doing every task to its full potential.

Lal Bahadur Shastri

हर कार्य की अपनी एक गरिमा है और हर कार्य को अपनी पूरी क्षमता से करने में ही संतोष प्राप्त होता है.

लाल बहादुर शास्त्री


3. The preservation of freedom, is not the task of soldiers alone. The whole nation has to be strong.

Lal Bahadur Shastri

 स्वतंत्रता का संरक्षण, केवल सैनिकों का कार्य नहीं है. पूरे देश को मजबूत होना होगा.

लाल बहादुर शास्त्री


4. True democracy or the swaraj of the masses can never come through untruthful and violent means.

Lal Bahadur Shastri

सच्चा लोकतंत्र या जन स्वराज कभी भी असत्य और हिंसक माध्यम से प्राप्त नहीं किया जा सकता है.

लाल बहादुर शास्त्री


5. The rule of law should be respected so that the basic structure of our democracy is maintained and further strengthened.

Lal Bahadur Shastri

विधि-शासन का सम्मान किया जाना चाहिए, ताकि हमारे लोकतंत्र की बुनियादी संरचना बरकरार तथा और भी मजबूत रहे.

लाल बहादुर शास्त्री


6. Those who govern must see how the people react to administration. Ultimately, the people are the final arbiters.

Lal Bahadur Shastri

जो शासन करते हैं, उन्हें यह अवश्य देखना चाहिए कि शासन के प्रति जनता की प्रतिक्रिया कैसी है. अंततः, जनता ही अंतिम निर्णायक हैं.

लाल बहादुर शास्त्री


7. That

Continue Reading

Free Movies for JioFiber Customers: Now, Watch movies at your home the same day they released

Free Movies for JioFiber Customers: Mukesh Ambani on Monday unveiled the plans for his fibre-to-the-home (FTTH) broadband service, JioFiber, wrapped with a host of goodies like lifetime-free voice calls and plans that offer free high-end TV sets and set-top boxes. He shared the ideas at the 42nd annual general meeting of Reliance Industries. He has bundled JioFiber with subscriptions to leading premium video streaming services and intends to introduce a disruptive concept for watching new movies.

“Premium JioFiber customers will be able to watch movies in their living rooms the same day these movies are released in theatres,” he announced. 

The commercial launch of the service is set for September 5 and the monthly plans start from Rs 700 and go up to Rs 10,000. While JioFiber has shown a promising proposition, experts feel it will not disrupt the media industry the way Jio had disrupted the telecom sector.

Jio Fiber is currently not commercially available and is only live on a preview basis in major cities like Mumbai, Delhi-NCR, Ahmedabad, Jamnagar, Surat, and Vadodara, etc. As per Jio, the telecom operator had received over 15 million registrations from 1,600 towns during the beta phase and now, the company claims that it will be reaching out to 20 million residents within these towns commercially in the next 12 months. 

Free Movies for JioFiber Customers: Now, Watch movies at your home the same day they released

First-day-first-show movie release seems too ambitious as theatres demand an eight-week exclusive window. We will have to see how Jio will circumvent this issue. So, sentimentally, the announcement is negative for PVR and Inox Leisure, but we are not worried yet,” Dokania said. “Pricing (of JioFiber) is attractive but not jaw-dropping and hence, all other broadband players will not have to shut shop tomorrow,” said Rohit Dokania, senior vice-president for research at IDFC Securities.

He, however, added that one has to wait and see what is being offered in the Rs 700 plan.

At the meeting, Reliance Jio also announced that the landline service with Jio Fiber will be offered to customers with free voice calling benefits for life. This could phone service would be bundled with all plans, starting with the most basic Jio Fiber plan that starts at 100MBPS speed and priced at Rs 700. 

The company has also announced Free Movies for JioFiber customers. Premium JioFiber Customers can watch new movies at home the same day they are released in theaters. This service will be launched in the middle of 2020.

Another Big announcement made at …

Continue Reading

Free ATM Transactions: Banks cannot charge for these ATM transactions – Check Details here

7DCF5EFF 0B57 4CEA 9176 3FD15273C54C - Free ATM Transactions: Banks cannot charge for these ATM transactions – Check Details here
Continue Reading

WhatsApp Fingerprint Activation: How to activate WhatsApp’s ‘fingerprint authentication’ feature

Webp.net resizeimage 36 - WhatsApp Fingerprint Activation: How to activate WhatsApp’s ‘fingerprint authentication’ feature

WhatsApp Fingerprint Activation: WhatsApp has rolled out a new feature for its Android beta users. According to a report, the Facebook-owned messaging app has finally released the Fingerprint Lock feature in the latest Beta version of the Android app. The feature has reached the beta users after it was spotted as a hidden feature few weeks back. It is being reported that there are many other features along with this that WhatsApp is working on currently.

However, it’s important to note that WhatsApp has already released this update for its iOS beta users and launch for all iPhone users may be under progress.This new feature of Whatsapp Fingerprint Activation not only adds an extra layer of security for the users of the world’s most popular messaging app but will also make the popular third party locking apps redundant. This new development comes six months after biometric authentication was introduced in the WhatsApp iOS app.

The feature is available for all Android beta users who are currently using version 2.19.221 of the app.

It further add that beta users can double-check the version by clicking App info which can be found under “Help” which will be available in the settings icon. Android users who are not using this version of the app will have to upgrade their app by going to the Google Play Store. But if you still are unable to find the feature then it is suggested that you delete your app and reinstall it. After that, you will have to go to the “Privacy” section where you will see the “Account” option and then you will be able to activate the feature.

You can then select how often you would like to authenticate your identity to use the app. The available choices are to “automatically lock” you out of WhatsApp “Immediately”, “after 1 minute” or “after 30 minutes” of inactivity. For instance, if you chose the first option, the app will ask for your fingerprint every time you open it. While this is ideal if you are big on privacy, it could get annoying for those who use it frequently. However, you can still answer WhatsApp calls without this authentication.

Once users activate the fingerprint feature then they will have to authenticate it by putting their finger on the scanner. Another important feature about this upgrade is that it will users will be able to hide the text of …

Continue Reading

Swiggy Daily: Swiggy launches “Swiggy Daily” app for Homestyle meals

Swiggy Daily: Homegrown food delivery startup Swiggy launched “Swiggy Daily”, an app to give consumers access to a variety of simple homestyle meals prepared by home chefs, tiffin service providers and organised vendors. 

Swiggy Daily will allow users to schedule their meals in advance or opt for a daily, weekly or monthly subscription, Swiggy said in a statement. This Swiggy app is available on Google Play Store and its services are currently available in Gurugram. Swiggy says Daily will soon expand to Bengaluru and Mumbai in the coming months.

Swiggy Daily: Swiggy launches “Swiggy Daily” app for Homestyle meals

Swiggy Daily: HIGHLIGHTS

  • The app allows users to schedule their meals in advance or opt for a daily, weekly or monthly subscription.
  • Swiggy said the app will list over 30 options for every meal.

“There is a growing demand for quality and affordable everyday meals. With a mix of organised vendors and home chefs, “Daily” will cater to this latent demand for homestyle meals that are an affordable, long-term solution for our daily food needs,” said Sriharsha Majety, CEO, Swiggy.

Users can schedule their meals in advance, or choose a 3-day, 7-day or 30-day subscription. If going for subscription, consumers also have the option to pause, skip, cancel or change a meal. The cost per meal has been set in the range of Rs 50-150.

The Daily app provides the consumers a daily-changing menu for lunch and dinner across vegetarian and non-vegetarian options. It currently offers 30 meal options for every meal covering wide range of cuisines – Gujarati, Rajasthani, Tamil, Punjabi among others. It also plans to include snacks, beverages and cut fruits in the menu going ahead.

Swiggy Daily: Swiggy launches “Swiggy Daily” app for Homestyle meals

The platform will include meal options from a mix of organised vendors like Homely, Lunchly, Fig, iDabba and Caloriesmart, popular tiffin services like Dial a Meal and Dailymeals.in that specialise in food fit for daily consumption and expert home chefs like Sumita’s Food Planet, Mrs. Ahmed’s Kitchen and Shachi Jain.

 “The daily meal subscription market in India is highly unorganised with multiple tiffin services and home chefs operating independently with the help of local chat groups and word of mouth. Daily is the first home-style hyperlocal food subscription service in the country that will offer a world-class platform to these food service providers and help solve the key issues of discovery, flexibility and taste fatigue.” said Alok Jain, Entrepreneur in Residence at Swiggy.

Continue Reading

Free Rides for Women: Free rides for women in DTC, cluster buses – Arvind Kejriwal

C460112E DBEE 48A8 AEB5 BDAE10EC8239 - Free Rides for Women: Free rides for women in DTC, cluster buses – Arvind Kejriwal

Free Rides for Women: Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal announced on Thursday that rides on DTC and cluster buses will be free for women from October 29 on the occasion of Bhaiya Dooj.

Delivering the last Independence Day speech of his term at Chhatrasal Stadium, Kejriwal said his government is also working on its decision to provide rides which will be free for Women in the Delhi Metro.

Speaking at the Delhi government’s Independence Day event at Chhatrasal Stadium, Kejriwal said: “On the day of Raksha Bandhan, I want to give gift to our sisters that there will be free rides for women on all DTC (Delhi Transport Corporation) and cluster buses from October 29, which will ensure their safety.”

Free Rides for Women: HIGHLIGHTS

  • Arvind Kejriwal had announced rides for women in public transport buses and Delhi Metro in June which will be free of cost.
  • Arvind Kejriwal also said the scheme will strengthen the economy which is going through a slowdown as women will travel more for shopping.

Kejriwal had announced rides for women which are free of cost in public transport buses and Delhi Metro in June.

The announcement comes after the Delhi Chief Minister in June said he planned to provide the rides to women which will be free on Delhi Metro Addressing reporters then, Kejriwal had said: “Women security is of utmost importance for AAP. We have taken two important decisions — first is installing CCTV cameras across Delhi, while the other is free public transport for women.”

There are 5,500 buses, including of 3,800 of the Delhi Transport Corporation and over 1,600 cluster (orange) buses operated by the Delhi Integrated Multi-Modal Transit System.

With this move, our sisters will be able to fulfil their dreams because they have to travel long distances for their studies and work,” Kejriwal said.

Speaking about those opposing his government’s free ride scheme, the chief minister said, “Their first point was that everything is being made free. I want to say to them that I am not splurging or stealing money.”

Kejriwal also said the scheme will strengthen the economy which is going through a slowdown as women will travel more for shopping.

A government official said the proposal of free rides in DTC and cluster buses will soon be tabled before the Cabinet for approval.…

Continue Reading

India Head Coach: BCCI shortlists six candidates for India head coach position

India Head Coach: The Kapil Dev-led Cricket Advisory Committee (CAC) will interview six short-listed candidates for India’s Head Coach Position at the BCCI Headquarters.The BCCI have shortlisted six candidates, including current men’s senior team head coach Ravi Shastri, who will be interviewed for the position of the next coach of the Indian cricket team in Mumbai on Friday (August 16).

The six candidates are former New Zealand coach Mike Hesson, former Australia all-rounder and Sri Lanka coach Tom Moody, former West Indies all-rounder and Afghanistan coach Phil Simmons, former India team manager Lalchand Rajput, former India fielding coach Robin Singh and of course Shastri.

India Head Coach: HIGHLIGHTS

  • BCCI shortlisted 6 candidates for India head coach position, according to PTI.
  • The candidates will give a presentation to the Cricket Advisory Committee (CAC) headed by Kapil Dev
  • Mike Hesson, Tom Moody, Robin Singh, Lalchand Rajput, Phil Simmons and Ravi Shastri are the six short-listed candidates.
  • Virat Kohli had said that he is in favour of Shastri continuing as the head coach of the Indian team.
  • BCCI informed all the six shortlisted candidates about the date and time of the interviews.

India Head Coach: BCCI shortlists six candidates for India head coach position

the board has reportedly received around 2,000 applications for various coaching positions like batting, bowling and fielding coaches, only a few big names had applied for the position of head coach. The support staff of the team (batting, bowling and fielding coaches) will be picked up by Chief Selector MSK Prasad.

“The board have finalised a list of six names based on their experience and qualifications for the post. All the six interviews will be held in Mumbai with different time slots for all the six candidates. The interviews will begin in morning and will go on till 5:30pm in the evening on August 16,” a senior BCCI official informed CricketNext on Monday (August 12).

“Shastri is the automatic entry into this process like the rest of the support staff. The CAC will probably rank all the candidates, so BCCI can choose the final candidate on the basis of availability and other conditions. The final decision on how many names will finally be offered to BCCI will be decided by the CAC on the day of the interview,” the official added.

Friday will decide if Shastri will continue hold on to the coveted position as India’s coach or a new face will join Indian cricket. Shastri and all three foreign candidates will be …

Continue Reading
Page 1 of 50
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 50