shayarisms4lovers June18 203 - Ho jau tumse door phir mohabbat kis se karu

Ho jau tumse door phir mohabbat kis se karu

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

हो जाऊ तुमसे दूर फिर मौहब्बत किससे करूं,
तुम हो जाओ नाराज फिर शिकायत किससे करूं,
इस दिल में कुछ भी नहीं तुम्हारी चाहतों के सिवा,
अगर तुम्हें ही भूला दूं तो फिर प्यार किसे करूं! 💕…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 210 - सुना है लोग उसे आँख भर के देखते है – फ़राज़ की शायरी

सुना है लोग उसे आँख भर के देखते है – फ़राज़ की शायरी

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

सुना है लोग उसे – फ़राज़ अहमद

सुना है लोग उसे आँख भर के देखते है
तो उसके शहर में कुछ दिन ठहर के देखते है

सुना है राफत है उसे खराब हालो से
तो अपने आप को बर्बाद कर के देखते है

सुना है दर्द की गाहक है चस्मे नाज़ उसकी
तो हम भी उसकी गली से गुजर के देखते है

सुना है उसको भी है शेयर -ओ -शायरी से सराफ
तो हम भी मोईझे अपने हुनर के देखते है

सुना है बोले तो बातों से फूल झड़ते है
यह बात है तो चलो बात कर के देखते है

सुना है रात उसे चाँद तकता रहता है
सितारे बामे-ऐ-फलक से उतर के देखते है

सुना है दिन को उसे तितलियाँ सताती है
सुना है रात को जुगनू ठहर के देखते है

सुना है उसके बदन की तराश ऐसी है
फूल अपनी कवाएं क़तर के देखते है

रुके तो गर्दिशयें उसका तवाफ़ करते है
चले तो उसे ज़माने ठहर के देखते है

Hindi and Urdu Shayari – हुस्न की तारीफ  (Faraz Ahmed) – सुना है लोग उसे आँख भर के देखते है

Suna hai Log use – Faraz Ahmed

suna hai log use ankh bhar ke dekhte hai
to uske shehar mein kuch din tehar ke dekhte hai

suna hai raft hai use khrab haalo se
to apne app ko barbaad kar ke dekhte hai

suna hai dard ki gaahak hai chaasme naaz uski
to hum bhi uski gali se gujar ke dekhte hai

suna hai usko bhi hai sher-o-shayari se saraaf
to hum bhi moejhe apne hunar ke dekhte hai

suna hai bole to baaton se phool jharthe hai
yeah baat hai to chaalo baat kar ke dekhte hai

suna hai raat use chand takta rehta hai
sitare bame falak se utaar ke dekhte hai

suna hai din ko use titliya satati hai
suna hai raat ko jungu ther ke dekhte hai

suna hai uske badan ki tarash aisi hai
phhol apni kawayen katar ke dekhte hai

ruke to gardishyein uska tawaf karte hai
chale to use jamane ther ke dekhte hai

Urdu and hindi shayari – Husn – Faraz ki shayari – suna hai log use ankh bhar ke dekhte hai
Continue Reading
shayarisms4lovers June18 102 - Umar bhar teri mohabbat  meri  khidmat rahi

Umar bhar teri mohabbat meri khidmat rahi

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

तेरी खिदमत के क़ाबिल

उम्र भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमत रही
मैं तेरी खिदमत के क़ाबिल जब हुआ तो तू चल बसी

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – तेरी खिदमत के क़ाबिल

Teri Khidmat Ke Qabil

Umer Bhar Teri Mohabbat Meri Khidmat Rahi
Main Teri Khidmat Ke Qabil Jab Huwa Tu Chal Basi

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki (dedicated to maa) shayari – Teri Khidmat Ke Qabil

ऐ बेखबर

सौदागरी नहीं , यह इबादत खुदा की है
ऐ बेखबर ! जज़ा की तमन्ना भी छोड़ दे

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – ऐ बे -खबर

Ae Be-Khabar

Sodagari Nahin, Ye Ibadat Khuda Ki Hai
Ae Be-Khabar! Jaza Ki Tamanna Bhi Chor De

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki shayari – Ae Be-Khaba

इश्क़ क़ातिल से

इश्क़ क़ातिल से भी मक़तूल से हमदर्दी भी
यह बता किस से मुहब्बत की जज़ा मांगेगा
सजदा ख़ालिक़ को भी इबलीस से याराना भी
हसर में किस से अक़ीदत का सिला मांगेगा

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – इश्क़ क़ातिल से भी मक़तूल से हमदर्दी भी

Ishq Qatil Se

Ishq Qatil Se Bhi Maqtool Se Hamdardi Bhi
Ye Bata Kis Se Muhabbat Ki Jaza Maangay Ga
Sajda Khaliq Ko Bhi Iblees Se Yaarana Bhi
Hashr Mein Kis Se Aqeedat Ka Sila Maangay Ga

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki shayari – Ishq Qatil Se Bhi Maqtool Se Hamdardi Bhi

इक़रार -ऐ-मुहब्बत

इक़रार -ऐ-मुहब्बत ऐहदे-ऐ.वफ़ा सब झूठी सच्ची बातें हैं “इक़बाल”
हर शख्स खुदी की मस्ती में बस अपने खातिर जीता है

हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – इक़रार -ऐ-मुहब्बत ऐहदे-ऐ.वफ़ा

Iqrar-ae-muhabbat

iqrar-ae-muhabbat Ehd-ae-wafa sub jhuti sachi batain hain “Iqbal”
Har shaks khudi ke masti main bas apne khatir jeta hai

Hindi and urdu shayari – Allama Iqbal ki shayari – iqrar-ae-muhabbat Ehd-ae-wafa
Continue Reading
shayarisms4lovers June18 236 - Bollywood Shayari in Hindi, Love Romantic SMS, Status, Messages

Bollywood Shayari in Hindi, Love Romantic SMS, Status, Messages

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Bollywood Shayari, SMS, Messages and Status in Hindi

Mujhe Tumse Pyar Ho Jayega…
Phir Se.
Aur Tumhe Nahin Hoga…
Phir Se.

मुझे तुमसे प्यार हो जायेगा…
फिर से.
और तुम्हे नहीं होगा। …
फिर से.

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

Ishq Ke Charche Bhale Hi Sari Duniya
Mein Hote Honge….
Par Dil To Khamoshi Se Hi Toot Jaata Hai

इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया
में होते होंगे….
पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूट जाता है

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

Dard Ka Saaz De Raha Hu Tumhe,
Dil Ka Har Raaz De Raha Hu Tumhe,
Ye Gazal-Geet Sab Bhanae Hai,
Main To Awaaz de Raha Hu Tumhe….

दर्द का साज़ दे रहा हूँ तुम्हे ,
दिल का हर राज़ दे रहा हूँ तुम्हे,
तुम्हे ये ग़ज़ल-गीत बहाने है,
मैं तो आवाज़ दे रहा हूँ तुम्हे। ..

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

Tumhari Aakho Mein Basa Hai Aasiyana Mera,
Ager Jinda Rakhna Chao To Kabhi Aashoo Mat Lana…

तुम्हारी आँखों में बसा है आशियाना मेरा,
अगर जिन्दा रखना चाहो तो कभी आँसू मत लाना…

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

Mana Ki Kabhi Dil Ki baat Nahi Manoge,
Par Aakho Mein Jo Hai Wo Kaise Chupaoge,
Wada Raha Ye Hamara Tumse,
Jab Bhi Dil Mein Jhakoge Hamari Tasweer Paooge…..

माना की कभी दिल की बात नहीं मानोगे,
पर आँखों में जो है वो कैसे छुपाओगे,
वादा रहा ये हमारा तुमसे,
जब भी दिल में झांकोगे हमारी तस्वीर पाओगे…..

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥

Kyu Karte Ho Mujhse,
Itani Khamoosh Muhabbat..
Log Samajhate Hai…
Is Badnasheeb Ka Koi Nahin…

क्यों करते हो मुझसे,
इतनी खामोश मुहब्बत..
लोग समझते है…
इस बदनसीब का कोई नहीं…

♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 89 - चंद नग्मे हुस्न वालो की नज़र

चंद नग्मे हुस्न वालो की नज़र

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

जख्म है गहरे और न आये मुझे उन्हें सीना
उसके जख्मो के बिन जिंदगी क्या जीना
अगर लफ्ज़ो में तेरी तारीफ करू तो
तेरे हुस्न की बेअदबी होगी
बस तू यह जान ले
चाँद भी अधूरा है तेरे बिना


हुस्न वालों के पीछे दीवाने चले आते है
शमा के पीछे परवाने चले आते है
तुम भी चली आना मेरे जनाजे के पीछे
उसमे अपने तो क्या बेगाने भी चले आते है…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 163 - हमारे दिल ने अगर हौसले किये होते – Noshi Gilani ki Shayari

हमारे दिल ने अगर हौसले किये होते – Noshi Gilani ki Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

मेरी सांसें

यह नामुमकिन नहीं रहेगा , मुक़ाम मुमकिन नहीं रहेगा
ग़रूर लहजे में आ गया तो कलाम मुमकिन नहीं रहेगा
तुम अपनी साँसों से मेरी सांसें अलग तो करने लगे हो लेकिन
जो काम आसान समझ रहे हो वो काम मुमकिन नहीं रहेगा

Meri Saansain

Yeh Nammumkin Nahi rahega, Muqaam Mumkin Nahi rahega
Gharoor Lehjay Mein Aa Gaya To Kalaam Mumkin Nahi rahega
Tum Apni Saanson Se Meri Saansain Alag To Karnay Lagay ho Laikin
Jo Kaam Aasaan Samajh Rahay ho Wo Kaam Mumkin Nahi rahega…


एहले-ऐ-इश्क़

कभी यह चुप में कभी मेरी बात बात में था
तुम्हारा अक्स मेरी सारी क़ायनात में था
हम एहले-ऐ-इश्क़ बहुत बदगुमाँ होते हैं
इसी तरह का कोई वस्फ तेरी ज़ात में था ..

Ehle-ae-ishq

Kahbi yeh chup main kabhi meri baat baat main tha,
Tumhara akss meri saari kayenaat mein tha,
Hum ehle-ae-ishq bahut bdgumaan hote hain,
isi tarah ka koi vasf teri zaat mein tha…


अगर हौसले किये होते

हमारे बस में अगर अपने फैसले होते
तो हम कभी के घरों को पलट गए होते

करीब रह के सुलगने से कितना बेहतर था
किसी मुक़ाम पर हम तुम बिछड़ गए होते

हमारे नाम पे कोई चिराग तो जलता
किसी जुबान पर हमारे भी तजकरे होते

हम अपना कोई अलग रास्ता बना लेते
हमारे दिल ने अगर हौसले किये होते

Agar Hoslay Kye Hotay

Hamaray Bas Mein Agar Apne Faislay Hotay
Tou Hum Kubhi Ke gharon Ko Palat Gaye Hotay

Qareeb Reh Ke Sulaghnay Se Kitna Behtar Tha
Kisi Muqaam Per Hum Tum Bicharr Gaye Hotay

Hamaray Naam Pe Koi Charaagh Tou Jalta
Kisi Zabaan Pe Hamaray Bhi Tazkaray Hotay

Ham Apna Koi Alag Raasta Bana Letay
Hamaray Dil Ne Agar Hoslay Kye Hotay……

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 116 - हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”

हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

प्यार की गहराइयाँ

हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”
यहाँ नहीं डूबता तो कहीं और डूबे होते

Pyar ki Gehraiya

hume to pyar ki gehraiya maaloom karni thi “FARAZ”
yahan nhi dubte to kahin aur dube hote


मेरी ख़ामोशी

वो अब हर एक बात का मतलब पूछता है मुझसे “फ़राज़”
कभी जो मेरी ख़ामोशी की तफ्सील लिखा करता था

Meri Khamoshi

woh ab har ek baat ka matlab poochta hai mujhse “FARAZ”
kbhi jo meri khamoshi ki tafseel likha karta tha…


लफ़्ज़ों की तरतीब

लफ़्ज़ों की तरतीब मुझे बांधनी नहीं आती “ग़ालिब”
हम तुम को याद करते हैं सीधी सी बात है

Lafzon ki Tarteeb

Lafzon ki tarteeb mujhe bandhni nahi aati “GHALIB”
Hum tum ko yaad karte hain sidhi si baat hai…


इंतज़ार

तेरे जाने के बाद बस इतना सा गिला रहा हमको “मोहसिन “
तू पलट कर देख जाता तो सारी ज़िन्दगी इंतज़ार में गुज़ार देते .

Intezar

Tere jane ke bad bus itna sa gila raha humko “mohsin”
tu palat kar dekh jata to sari zindagi intezar mein guzar dete…


ज़ख़्म खिल उठे

लाज़िम था गुज़ारना ज़िन्दगी से
बिन ज़हर पिये गुज़ारा कब था

कुछ पल उसे देख सकते
अश्कों को मगर गवारा कब था

हम खुद भी जुदाई का सबब थे
उस का ही क़सूर सारा कब था

अब औरों के साथ है तो क्या दुःख
पहले भी कोई हमारा कब था

एक नाम पे ज़ख़्म खिल उठे
क़ातिल की तरफ इशारा कब था

आए हो तो रौशनी हुई है
इस बाम में कोई सितारा कब था

देखा हुआ घर था हर किसी ने
दुल्हन की तरह संवारा कब था

Zakham Khil Uthe

Lazim Tha Guzarna Zindagi Se
Bin Zehar Piye Guzara Kab Tha

Kuch Pal Use Dekh Sakte
Ashkoon Ko Mager Gawara Kab Tha

Ham Khud Bhi Judai Ka Sabab The
Us Ka Hi Qasoor Sara Kab Tha

Ab Auron Ke Sath Hai To Kya Dukh
Phele Bhi Koi Hamara Kab Tha

Ek Naam Pe Zakham Khil Uthe
Qatil Ki Taraf Eshara Kab Tha

Ayee Ho To Roshni Hui Hai
Is Baam Main Koi Setara Kab Tha

Dekha Hua Ghar Tha Har Kisi Ne
Dulhan Ki Tarah Sanwara Kab Tha…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 74 - ख्याल-ऐ -इश्क़ शायरी

ख्याल-ऐ -इश्क़ शायरी

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

यह नादान दिल

यह दिल न जाने क्या कर बैठा
मुझ से बिना पूछे यह फैसला कर बैठा
इस ज़मीन पर कभी टूटा तारा भी नहीं गिरा
यह नादान चाँद से दिल लगा बैठा

Yeh Naadan Dil

Yeh dil na jane kya kar betha
Mujh se bina puche yeh fesla kar betha
Is zaamen par kabhi tutaa tara bhi nahi gera
Yeh naadan chand se dil laga betha…


मेरी तक़दीर 

आज मैंने तलाश किया उनको अपने आप में
वो मुझे हर जगह मिले एक तक़दीर के सिवा

Meri Taqdeer

Aaj maine Talaash Kiya Unko Apne Aap Mein
Wo Mujhe Har Jagah Mille Ek Taqdeer Ke Siwa…


हाल-ऐ -दिल

ख़याल था के सुनाएँ गए हाल-ऐ -दिल लेकिन
हम उस के सामने अर्ज़-ऐ-हुनर भी भूल गए

Haal-AE-Dil

Khayaal tha ke sunaayen ge haal-e-dil lekin
Hum us ke saamnay Arz-e-hunar bhi bhool gaye…


मुक़ाम ग़ज़ब का

दीवानो ने दिया है तुझे मुक़ाम ग़ज़ब का
वरना ..!!  ऐ इश्क़ तेरी “दो कौड़ी ” की औकात  नहीं ​

Muqaam Ghazab Ka

Deewanoo Ne Diya Hai Tujhe Muqaam Ghazab Ka
Warna..!!Ae Ishq Teri “Do kaudhi” Ki aukaat Nahi​…


तेरे शहर के लोग

तुझसे मिलने की सजा देंगे तेरे शहर के लोग
यह वफाओं का सिला देंगे तेरे शहर के लोग
क्या खबर थी तेरे मिलने पे क़यामत होगी
मुझको दीवाना बना देंगे तेरे शहर के लोग

Tere Shehar Ke Log

Tujhse milne ki saza denge tere shehar ke log
Ye wafaon ka sila denge tere shehar ke log
Kya khabar thee tere milne pe qayamat hogi
Mujhko deewaana bana denge tere shehar ke log…


शमा और परवाना 

परवाने को शमा पर जल कर कुछ तो मिलता होगा
यूँ ही मरने के लिए कोई मुहब्बत नही करता

Shama Aur Parwana

parwane ko shama par jal kar kuch to milata hoga
Yoon hi marne key liye koi mohabbat nahi karta…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 76 - Ishq Shayari

Ishq Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Ishq ka jisko khwaab aa jata hai,
Waqt samjho khraab aa jata hai,
Mehboob aaye ya na aaye,
Par Taare ginne ka hisaab jarur aa jata hai!

इश्क का जिसको ख्वाब आ जाता है,
समझो उसका वक़्त खराब आ जाता है,
महबूब आये या न आये,
पर तारे गिनने का तो हिसाब आ ही जाता है!

Na zid hai na koi gurur hai hume,
Bas tumhe pane ka surur hai hume,
Ishq gunah hai to galti ki humne,
Saza jo bhi ho manjur hai hume!

न जिद है न कोई गुरूर है हमे,
बस तुम्हे पाने का सुरूर है हमे,
इश्क गुनाह है तो गलती की हमने,
सजा जो भी हो मंजूर है हमे।

Mana Ki Tum Jeete Ho Zamane Ke Liye,
Ek Bar Jee Ke To Dekho Hamare Liye,
Dil Ki Kya Aukaat Apke Saamne,
Hum To Jaan Bhi De Denge Apko Pane Ke Liye.

माना की तुम जीते हो ज़माने के लिये,
एक बार जी के तो देखो हमारे लिये,
दिल की क्या औकात आपके सामने,
हम तो जान भी दे देंगे आपको पाने के लिये!

Mana aaj unhe hamara koi khayal nahi,
jawab dene ko hum razi he par koi sawal nahi,
pucho unke dil se kya hum unke yaar nahi,
kya hamse milne ko wo bekarar nahi

माना आज उन्हें हमारा कोई ख़याल नहीं,
जवाब देने को हम राज़ी है, पर कोई सवाल नहीं!
पूछो उनके दिल से क्या हम उनके यार नहीं,
क्या हमसे मिलने को वो बेकरार नहीं!

Koi kehta hai pyaar nasha ban jata hai..
Koi kehta hai pyaar saza ban jata hai..
Par pyaar karo agar sachche dil se..
To wo pyaar hi jine ka waja ban jata hai!

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है!
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है!
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से,
तो वो प्यार ही जीने की वजह बन जाता है!

Uske Sath Rehte Rehte Uski Chahat Si Ho Gayi Hai
Usse Baat Karte Karte Mujhe Uski Aadat Si Ho Gayi Hai,
Ek Pal Na Mile Toh Bechani Si Lagti Hai
Dosti Nibhate Nibhate Usse Mohabbat Si Ho Gayi Hai!

उसके साथ रहते रहते हमे चाहत सी हो गयी,
उससे बात करते करते हमे आदत सी हो गयी,
एक पल भी न मिले तो न जाने बेचैनी सी रहती है,
दोस्ती निभाते निभाते हमे मोहब्बत सी हो!

मेरी मोहब्बत है वो कोई मज़बूरी तो नही,
वो मुझे चाहे या मिल जाये, …

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 187 - Pyar Shayari

Pyar Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Jab Ho Aapka Pyara Sa Saath,
Aur Ho Haathon Mein Haath,
Tanhai Ho….Rangeen Ho Sama Jahan Koi Aur Nahi,
Sirf Aap Aur Hum Ho Wahan,
Tab Hogi Barsaat Pyar Ki,
Mere Aur Sirf Mere Pyar Ki.

Kosish Bahut Ki Dil Ko Samjhne Ki,
Aankho Ko Kasam Di So Jane Ki,
Bahut Samjhaya Phir Bhi Aankhe Nahi Soyi,
Soyi Tab Jab Maine Baat Ki Aapke Khawabo Me Aane Ki.

Dil Ki Kitaab Kaa Panna Churaa Le Gyaa Koi,
Neend Aankhon Se Udaa Le Gaya Koi,
Peene Ki Aadat Nahi Thi,
Humein Zaam Nigahoon Se Pilaa Gaya Koi.

Mann Mein Sabka Armaan Nahi Hota,
Har Koi Dil Ka Mehamaan Nahi Hota,
Par Ek Baar Dil Me Sama Jaye,
Use Bhulana Aasaan Nahi Hota.

Dekh Meri Aankho Mein Khawab Kiske Hai,
Dil Me Mere Sulagte Toofan Kis Ke Hai,
Nahi Guzra Koi Aaj Tak Is Raaste Se Ho Kar,
Phir Ye Kadmo Ke Nishaan Kiske Hai.

Humne Dekhi Hai In Aankhon Ki Mehakti Khusbu,
Haath Se Chhu Ke Ise Ishq Ka Ilzaam Na Do,
Ek Ehsaas Hai Ise Rooh Se Mahsoos Karo,
Pyar Ko Pyar Hi Rehne Do Ise Koi Dusra Naam Na Do.

Mohabbat Ki Shama Jalake To Dekho,
Zara Dil Ki Duniya Saza Kar To Dekho,
Tumhe Ho Na Jaye Mohabbat To Kehna,
Zara Humse Nazrein Milake To Dekho.

Kaun Kehta Hai Ishq Me Bas Ikraar Hota Hai
Kaun Kehta Hai Ishq Me Bas Inkaar Hota Hai,
Tanhai Ko Tum Bebasi Ka Naam Na Do,
Kyunki Ishq Ka Doosra Naam Hi Intezaar Hota Hai.

Humne Chaand Se Pooha,
Teri Chaandni Ka Raaz Kya Hai,
Chaand Ne Aapki Taraf Ishara,
Kar Ke Kaha Inhi Say Pucho Jisay,
Dekh Kar Main Chamakta Hoon.

Dil Ki Aawaz Ko Izhaar Kehte Hai,
Jhuki Nigah Ko Iqrar Kehte Hai,
Sirf Paane Ka Naam Ishq Nahi,
Kuch Khone Ko Bhi Pyar Kehte Hai.

Jaan Hai Mujhko Zindagi Se Pyari,
Jaan Ke Liye Kar Doon Kurban Yaari,
Jaan Ke Liye Todd Doon Dosti Tumhaari,
Ab Tumse Kya Chhupana,
Tum Hi To Ho Jaan Hamaari.

Tera Husn Bada Lajawaab Hai,
Ang Ang Khiltaa Gulaab Hai,
Bas Gaya Aankhon Mein Mere,
Chehra Teraa Maahataab Hai,
Ude Zulfe Teri Hawaaon Mein,
Chhaaye Ghata Bhi Hisaab Hai,
Maathe Pe Damke Jo Bindiya,
Lage Mujhe Yeh Aaftaab Hai,
Rakh Du Ungli Surkh Labon Pe,
Tamanna-E-Dil Ka Jawaab Hai,
Door Naa Baithon Itna Mujh Se,
Qareeb Rehne Ka Hisaab Hai,
Aaye Sawar Ke Paas …

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 242 - Valentine’s Day – Romantic Shayari – इज़्हार-ऐ-मोहबत

Valentine’s Day – Romantic Shayari – इज़्हार-ऐ-मोहबत

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

लहर और याद

लहर आती है किनारे से पलट जाती है ,
याद आती है दिल में समां जाती है ,
लहर और याद में फर्क सिर्फ इतना है ,
लहर बेवक़्त आती है और याद हर वक़्त आती है

Lehar Aur Yaad

Lehar aati hai kinare se palat jati hai,
Yaad aati hai dil mein sama jati hai,
Lehar aur yaad mein fark sirf itna hai,
Lehar bewaqt aati hai aur yaad har waqt aati hai


झुकी निगाह को इक़रार कहते हैं

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते हैं ,
झुकी निगाह को इक़रार कहते हैं ,
सिर्फ पाने का नाम इश्क़ नहीं ,
कुछ खोने को भी प्यार कहते हैं

Jhuki Nigaah ko Iqraar Kehte Hain

Dil ki aawaz ko izhaar kehte hain,
Jhuki nigaah ko iqrar kehte hain,
sirf paane ka naam ishq nahin,
kuch khone ko bhi pyar kehte hain


जिस ने मोहब्बत से मुझे चुना है

आज इस क़दर राह में इश्क़ बिखरा पड़ा है ,
आज हर खुशबू फीकी , और गुमनाम हर दुआ है ,
इस अनजान दुनिया मैं आप कहाँ से आ गए
कौन हो आप , जिस ने मोहब्बत से मुझे चुना है

Jisne Mohabbat Say Mujhey Chunaa Hai

Aaj is qdar raah main ishq bikhra para hai,
Aaj har khushbo phiki, aur gumnaam har dua hai,
Is anjaan duniya main aap kahan say aa gaye?
kaun ho aap, jis ne mohabbat say mujhey chuna hai


उनके कदमो को चूम लेना

ऐ खत जा उनके हाथों को चूम ले .
वो पढ़े तो उनके होठो को चूम ले .
खुदा न करे अगर वो फाड़ भी डालें ,
तो गिरते गिरते उनके कदमो को चूम लेना

Unke Kadmo ko Chum Lena.

Ae khat ja unke hathon ko chum le.
wo padhe to unke hothon ko chum le.
khudaa na kare agar wo faad bhi dale,
To girtee girtee unke kadmo ko chum lena.…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 148 - हर धड़कन में एक राज़ होता है – धड़कन उर्दू शायरी

हर धड़कन में एक राज़ होता है – धड़कन उर्दू शायरी

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

बहुत देर कर दी तुमने मेरी धड़कन महसूस करने में
वो दिल नीलाम हो गया जिस को कभी हसरत तुम्हारे दीदार की थी

हर धड़कन में एक राज़ होता है

हर धड़कन में एक राज़ होता है
हर बात कहने का एक अंदाज़ होता है
जब तक ठोकर न लगे इश्क़ में
हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है

Har Dhadkan Mein Ek Raaz Hota Hai

Har Dhadkan mein ek raaz hota hai
Har baat kehne ka ek andaaz hota hai
Jab tak thokar na lage ishq mein
Har kisiko apne mehboob pe naaz hota hai


धड़कन ज़रा थम जा

शोर न कर धड़कन ज़रा थम जा कुछ पल के लिए
बड़ी मुश्किल से मेरी आँखों में उसका खवाब आया है

Dhadkan Zara Tham Ja

Shor Na Kar Dhadkan Zara Tham Ja Kuch Pal Ke Liye
Badi Muskil Se Meri Aankhon Mein Uska Khawab Aaya hai


दिल की धड़कन को धड़का गया कोई

दिल की धड़कन को धड़का गया कोई
मेरे ख्वाबों को जगा गया कोई
हम तो अनजाने रास्तो पे यूं ही चल रहे थे
अचानक ही प्यार का मतलव भी सीखा गया कोई

Dil ki Dhadkan ko Dhadka Gaya Koi

Dil ki dhadkan ko dhadka gaya koi
Mere khawaboon ko jgaa gaya koi
Hum to anjane rasto pe yoon hi chal rahe the
Achanak hi pyar ka matlab sikha gaya koi


दिल का धड़कना माँगोगे

मेरी धड़कनो से दिल का धड़कना माँगोगे
एक दिन तुम मुझसे मेरा प्यार उधर माँगोगे
मैं वो फूल हूँ जो तेरे चमन से न खिलेगा
एक दिन तुम अपनी वीरान ज़िन्दगी के लिए बहार माँगोगे

Dil Ka Dhadknaa Mangoge

Meri Dhadkano Se Dil Ka Dhadknaa Mangoge
Ek Din Tum Mujhse Mera Pyaar Udhar Mangoge
Main Wo Phool Hoon Jo Tere Chaman Se Na khilega
Ek din tum Apni Viran Zindagi Ke Liye Bhaar Mangoge


मेरी साँसे उसकी धड़कन में बस्ती है

आज भी मेरे दिल में वो रहती है
आज भी मेरे सपनो में वो दिखती  है
क्या हुआ अब हम दूर है एक दुसरे से पर
आज भी मेरी साँसे उसकी धड़कन में बस्ती है

Meri Saanse Uski Dhadkan Mein Basti Hai

Aaj Bhi Mere Dil Mein Wo rehti Hai
Aaj Bhi Mere Sapno Me Wo Dikhti Hai
Kya Hua Ab Hum Door Hai Ek Dosre Se Par
Aaj Bhi Meri Saanse Uski Dhadkan mein basti Hai


धड़कन है मेरे दिल की

धड़कन है मेरे दिल की तू आँखों का …

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 204 - Romantic Love Shayari For Wife

Romantic Love Shayari For Wife

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Romantic Love Shayari For Wife With Image


1) Romantic Love Shayari For Wife In Hindi

Teri chhuti chhuti manmaniyo ko maan,
Bepanha me tujhe pyar karunga,
Ju tu kahe gi din ko raat
Mein raat samjh ke aitbaar karunga.

2) 2 Line Romantic Shayari For Wife In Hindi

Jo na mila tha ab tak zindagi gawa ke,
Wo sab mein paa liya ek tujhe paa kar.

3) Romantic Shayari From Husband To Wife

Tu rahe mere sath rahe,
To meri na koi or chahat rahe,
Na hi mangu me fir kuch khuda se
Agar sari zindagi mere hath me tera hath rahe.

4) Romantic Wife Ke Liye Shayari Hindi

Jeena kya hai tumne hi samjhaya,
Khamosh hamare hothon ko tumne hasaya,
Hum to tanha chalte the sukhi zindagi ki us rahon par
Jise tumne aa kar pyar ke phoolo se sajaya.

6) Best Hindi Romantic Shayari For Wife

Meri aankho ka khwab bas tum ho,
Mere dil ka armaan bas tum ho,
Jeete hai hum bas tumhare sahare
Kyoki ager mein dil ho tu meri dhadkan bas tum ho.

2) Romantic Best Shayari For Wife On Bepanaha mohabbat

Bepanaha mohabbat tum se milkar hoi,
Is mere dil ko khushi tum se mil kar hoi,
Paya sab kuch duniya mein maine
Pr jeene mein khushi tumse mile kar hoi.

3) Very Romantic Shayari For Wife From Heart

Jab se aye ho tum meri jindgi mein,
Hume khushi bepanha mili hai,
Tumse pa kar mohabbat had se jada
Hume jeene ki wajha mili hai.

4) Romantic Shayari For Wife On Tujh palkon pe beetha ke

Tujh palkon pe beetha ke rakhon mein,
kar ke had se jada pyar seene se laga ke rakhon mein,
Behad keemti ho tum mere liye
Tumhe dil mein chupa ke apni jaan bana ke rakhon mein.

5) Long Romantic Love Shayari For Wife

Jo chahi thi mohabbat,
Wo mohabbat di hai tumne.

Tham ke hath jindgi mein mera,
Bepanha khushi di hai tumne.

Mujh pe luta ke pyar apna,
Ek pyar bhari jindgi di hai tumne.

6) Sweet Short Romantic Shayari For Wife

Dhadkan meri Tumse hai,
aashiqui meri tumse hai,
bataye to kese bataye tum ko
Meri jindgi meri saanse tumse hai.…

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 282 - Kiya ishq ne mera haal kuch aisa, Shayari

Kiya ishq ne mera haal kuch aisa, Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

किया इश्क़ ने मेरा हाल कुछ ऐसा,
ना अपनी है खबर ना दिल का पता है,
कसूरवार था मेरा ये दौर-ए-जवानी,
मैं समझता रहा सनम की खता है। 💘

Kiya ishq ne mera haal kuch aisa,
na apani hai khabar na dil ka pata hai,
kasuravaar tha mera ye daur-e-javaani,
main samajhta raha sanam ki khata hai. 💘…

Continue Reading
Page 11 of 44
1 2 3 4 5 6 7 8 9 10 11 12 13 14 15 16 17 18 19 20 21 22 44