shayarisms4lovers mar18 49 - Sad Hindi Shayari, Teri jholi me sirh sahanubhuti

Sad Hindi Shayari, Teri jholi me sirh sahanubhuti

Teri jholi me sirh sahanubhuti dalenge log, gam ki katha duniya waalo ko sunana chhod de. तेरी झोली मे सिर्फ सहानुभूति डालेंगे लोग, ग़म की कथा दुनिया वालो को सुनाना छोड़ दे।

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 179 - Wasi Shah - Sochta hoon ke usay neend bhi ati hogi..

Wasi Shah – Sochta hoon ke usay neend bhi ati hogi..

सोचता हूँ के उसे नींद भी आती होगी, या मेरी तरह फ़ाक़ात अश्क़ बहाती होगी, वो मेरी शकल मेरा नाम भुलाने वाली, अपनी तस्वीर से क्या आँख मिलाती होगी, इश्स ज़मीन प्र भी है सैलाब मेरे अश्कों से, मेरे मातम की सदा आर्शह हिलाती होगी, शाम होते ही वो चोखत प्र जला कर शेमेन, अपनी […]

Continue Reading