shayarisms4lovers may18 46 - इंतज़ार शायरी Intezaar Shayari in Hindi

इंतज़ार शायरी Intezaar Shayari in Hindi

आज हम आपके लिए लाये है इंतज़ार शायरी खास आपके लिए… कविता लिखने बैठी तो खिड़की से झांकती पेड़ों की फुनगियो पर बैठी अलसाई धूप ने पूछा क्या सवेरे की नर्म धूप का उजाला है तुम्हारी कविता में … Intezaar Shayari in Hindi कविता लिखने बैठी तो खिड़की से झांकती पेड़ों की फुनगियो पर बैठी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 265 - Hindi Shayari, Kuch uljhe sawalo se darta hai

Hindi Shayari, Kuch uljhe sawalo se darta hai

Kuch uljhe sawalo se darta hai dil, Naa jane kyu tanhai mai bhkhadta hai dil, Kisi ko pana koi badi baat nahi hai, Par kisi ko khone se darta hai ye dil. कुछ उलझे सवालो से डरता हे दिल, जाने क्यों तन्हाई में बिखरता हे दिल, किसी को पाने कि अब कोई चाहत न रही, […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 12 - जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं

जब कभी हँसते है तो आंखें छलक पड़ती हैं

याद -ऐ -माझी यूं ही आज याद -ऐ -माझी ने रुला दिया है मुझे मौत से भी पहले ज़िन्दगी ने सुला दिया है मुझे पास रह के भी मेरे दोस्त क्यों हैं दूर इसी सोच ने अंदर तक हिला दिया है मुझे बिछड़े हुए यारों की याद आई है इतनी इन यादों की तपीश ने […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 98 - तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है

तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है

तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है ऐतबार नहीं है मुझे अपनी किस्मत पे एक धोखा सा लगता है जब भी तुझे करीब पता हूँ एक सकून सा लगता है फिर न जाने क्यों एक डर सा लगता है तुझे पाकर जहाँ […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 47 - उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

प्यार , इनकार और इकरार इनकार वो करते है इकरार के लिए नफरत भी करते है तो प्यार के लिए उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां आँखों को बंद  करते है  दीदार के लिए Pyar , Inkaar Aur  Ikraar Inkaar woh karte hai ikraar ke liye, Nafrat bhi karte hai to pyar ke liye, Ulte hi […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 279 - हम कभी मिल सकें मगर – फ़राज़ की शायरी

हम कभी मिल सकें मगर – फ़राज़ की शायरी

हम कभी मिल सकें मगर , शायद जिनके हम मुन्तज़र रहे, उनको मिल गए और हमसफ़र शायद जान पहचान से भी क्या होगा फिर भी ऐ दोस्त , गौर कर शायद, अजनबीयत की धुंध छट जाए चमक उठे तेरी नज़र शायद ज़िन्दगी भर लहू रुलाएगी याद -ऐ -यारां -ऐ -बेखबर शायद जो भी बिछड़े वो कब मिले […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 133 - 55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन - Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari

55+ खुशबू Shayari का बेहतरीन कलेक्शन – Khushboo Shayari दोस्तों आज के हिंदी शायरी के इस आर्टिकल में पढ़ सकते हैं खुशबू shayari का मजेदार कलेक्शन साथ ही पढ़ सकते हैं Khushboo Shayari 2 lines, Khushabu Status, khushboo Whatsapp Status तो देर कैसी आईये पढ़ते Khushboo Shayari 2 lines के इस पोस्ट को और शेयर […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 245 - शानदार 55 महफ़िल पर शायरी - Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी – Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी  – Mahafil Status, Shayari In Hindi आज की पोस्ट 2 Line महफ़िल Status Hindi की हैं जिसमे पढ़ सकते हैं, “महफ़िल पर शायरी Facebook”, महफ़िल पर शायरी 4 Line और महफ़िल पर शायरी One Line शायरी के “Mahafl Status In Hindi” आईये दोस्तों अब पढ़ते हैं महफ़िल शायरी के इस लाज़वाब कलेक्शन को जिसे अगल अलग सोशल मिडिया […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 04 - शानदार 55 महफ़िल पर शायरी - Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी – Mahafil Status, Shayari In Hindi

शानदार 55 महफ़िल पर शायरी  – Mahafil Status, Shayari In Hindi आज की पोस्ट 2 Line महफ़िल Status Hindi की हैं जिसमे पढ़ सकते हैं, “महफ़िल पर शायरी Facebook”, महफ़िल पर शायरी 4 Line और महफ़िल पर शायरी One Line शायरी के “Mahafl Status In Hindi” आईये दोस्तों अब पढ़ते हैं महफ़िल शायरी के इस लाज़वाब कलेक्शन को जिसे अगल अलग सोशल मिडिया […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 127 - हिंदी और उर्दू शायरी – दो लाइन शायरी – Daag , Perveen , Naqvi Shayari

हिंदी और उर्दू शायरी – दो लाइन शायरी – Daag , Perveen , Naqvi Shayari

न जाने कौन न जाने कौन सा आसब दिल में बसता है के जो भी ठहरा वो आखिर मकान छोड़ गया … Na jane kaun Na jane kaun sa aasaab dil mein basta hai Ke jo bhi thehra wo aakhir makaan chod gaya तुझी को पूछता रहा बिछड़ के मुझ से , हलक़ को अज़ीज़ […]

Continue Reading