shayarisms4lovers June18 199 - इस रहस्यमयी झील में जो भी गया बन जाता है पत्थर | Lake Mystery

इस रहस्यमयी झील में जो भी गया बन जाता है पत्थर | Lake Mystery

Public Post

Deadly Lake Turns Animals Into Stones, Hindi

राजा मिडास की कहानी तो आपने ज़रूर सुनी होगी, जो जिस चीज़ को भी छूता था वो सोने की बन जाती थी लेकिन क्या आपने ऐसी झील के बारे में सुना है जिसके पानी को छूते ही हर कोई पत्थर बन जाता है? उत्तरी तंजानिया में ऐसी ही झील मौजूद है जिसे नेट्रान लेक कहा जाता है।

फोटोग्राफर निक ब्रांड्ट ने इस बात का खुलासा अपनी किताब ‘Across the Ravaged Land’ में किया। ब्रांड्ट ने बताया कि जब उत्तरी तंजानिया की नेट्रान लेक की तटरेखा पर पहुंचे तो वहां के दृश्य ने उन्हें चौंका दिया। झील के किनारे जगह-जगह पशु-पक्षियों के स्टैच्यू नजर आए। वे स्टैच्यू असली मृत पक्षियों के थे।

कोई भी नहीं जानता है की ये पशु-पक्षी कैसे मरे। लेकिन वहीं लेक की अत्यधिक रिफ्लेक्टिव नेचर ने उन्हें भ्रमित किया जिसके कारण वे सब पानी में गिर गए। दरअसल झील के पानी में जाने वाले जानवर और पशु-पक्षी कुछ ही देर में कैल्सिफाइड होकर पत्थर बन जाते हैं। पानी में नमक और सोडा की मात्रा बहुत ही ज्यादा है, इतनी ज्यादा कि इसने मेरी कोडक फिल्म बॉक्स की स्याही को कुछ ही सेकंड में जमा दिया। पानी में सोडा और नमक की ज्यादा मात्रा इन पक्षियों के मृत शरीर को सुरक्षित रखती है।

कृपया अगले पेज पर क्लिक करे–>>

Deadly Lake Turns Animals Into Stones, Hindi

सारे प्राणी calcification के कारण चट्टान की तरह मजबूत हो चुके थे इसलिए बेहतर फोटो लेने के लिए हम उनमे किसी भी तरह का बदलाव नहीं कर सकते थे इसलिए फोटो लेने के लिए हमने उन्हें वैसी ही अवस्था में पेड़ों और चट्टानों पर रख दिया। इन पक्षियों के फोटो का कलेक्शन ब्रांड्ट ने अपनी नई किताब ‘Across the Ravaged Land’ में पेश किया है। यह किताब उस फोटोग्राफी डाक्यूमेंट का तीसरा वॉल्यूम है, जिसे निक ने पूर्वी अफ्रीका में जानवरों के गायब होने पर लिखा है।

पानी में अल्कलाइन का स्तर पीएच9 से पीएच 10.5 है, यानी अमोनिया जितना अल्कलाइन। लेक का तापमान भी 60 डिग्री तक पहुंच जाता है। पानी में वह तत्व भी पाया गया जो ज्वालामुखी की राख में होता है। इस तत्व का प्रयोग मिस्रवासी ममियों को सुरक्षित करने के लिए रखते थे।