shayarisms4lovers mar18 202 - Impress to someone-express yourself with shayari in hindi & urdu

Impress to someone-express yourself with shayari in hindi & urdu

Hindi Shayari Ishq Shayari Love Poem Love Shayari Romantic Shayari Shayari Status Urdu Poetry Urdu Shayari Whatsapp Status Yaadein Shayari Yaar Shayari Zindagi Shayari

hi दोस्तों , Shayari SMS 4 Lovers में आपका स्वागत है ,बोहोत बार होता है की हम अपनी दिल की बात नहीं कह पते ,किसी को impress कैसे करे सोचते ही रह जाते है,गर्लफ्रेंड को impress कैसे करे ये लड़का सोचता है और boyfriend को impress कैसे करे ये लड़की सोचती है ,मेरा मानना है शायरी सब से बेहतरीन तरीका है किसी को भी आसानी से impress करने का ,तो आपके मदत क लिए एक छोटी सी कोसिस है ,उम्मीद है आप इस शायरी से किसी को impress कर पाए।

love shayari hindi & urdu

कोई है इस कदर दिल में बसा
जरा सी दुरी नींद देती है उड़ा
नहीं मालूम था कोई इस कदर रूह में बस जायेगा
देखते देखते धरकन बन जायेगा
दिल में बस कर यु तर पायेगा
एक आएसी आदत सी हो गयी तेरी
के एक पल दूर नहीं रहा जाता है
पता नहीं क्यू तू इस दिल को इतना भाता है
सोचता हु वो कौन सी तेरी बात है
जो मुझे भाति है
तेरी खूबसूरती ,तेरी आवाजे
तेरी सरारत ,तेरी मुस्कान,तेरी हांसी
सायद सबकुछ हा बोहोत प्यारा है तू
तेरी खुसबू मेरी ज़िन्दगी को महकाती है
तेरी आँखों की चमक
रोशन इस दिल को कर जाती है
सुकून है तू जूनून है तू
जो खवाब मैंने देखा था
उसकी हक़ीक़त है तू
ढूंढ़ता रहा खुसी दरबदर होके
मंज़िल की तलाश जैसे
ख़तम नहीं होती थी
तुझे पाके जाना सायद वही था जिसे मैं ढूंढता रहा
मेरा सफर वही ख़तम हुआ जहा तू मंज़िल बनके मिला
तुहि दरया तुहि किनारा था
………………………………………………………………………………………………

romantic shayari in hindi & urdu

koi q hai is kadar dil me basa
jara si duri nind deti hai ura
nahi maulum tha koi is kadar ruh me bas jayega
dekhte dekhte dharkan ban jayega
dil me bas kar u tar payega
ek ayesi adat si hogayee teri
ke ek pal dur nahi raha jata hai
pata nahi q tu is dil ko itna bhata hai
sochta hu wo kon si teri baat hai
jo mujhe bhati hai
teri khubsurti, teri awaje
teri sararat ,teri muskan ,teri haansi
sayad sab kuch ha bohot piyara hai tu
teri khusbu meri zindagi ko mehkati hai
teri aankho ki chamak
roshan is dil ko kar jati hai
sukun hai tu junoon hai tu
jo khawab maine dekhe tha
uski haqikat hai tu
dhundta raha khusi dar badar hoke
manzil ki talas jaise
khatam nahi hoti thi
tujhe pake jaana sayad wahi tha jise main dhundta raha
mera safar wahi khatam hua jaha tu manzil banke mila
tuhi darya tuhi kinara tha

अगर आपको ये कोसिस पसंद आये तो पोस्ट share करे। और कोई बात हो तो comment करके जरूर बताये।