shayarisms4lovers June18 211 - LOUT AAO JAAN -RUTHE HUYE KO MANANE KI SHAYARI IN HINDI & URDU

LOUT AAO JAAN -RUTHE HUYE KO MANANE KI SHAYARI IN HINDI & URDU

Hindi Shayari Shayari Whatsapp Status

HI दोस्तों ,MERI SHAYARI-HINDI SHAYARI KA KHAZANA में आपका स्वागत है,कुछ दिनों से पोस्ट नहीं कर पारहा था ,पर अब रेगुलर पोस्ट करूँगा ,और आप के SUPPORT और प्यार के लिए सुक्रिया। ये शायरी उस वक़्त आपको मदद करेगी जब आपका अपना कोई रूठ बैठा हो या दूर जाने की बात कर रहा हो ,उम्मीद है आपको ये शायरी पसंद आये। dard shayariयारा तेरी याद बोहोत आती है

लौट आओ जान
किया ठोकार है किसी से किया कहु
कैसी आग है किसी से किया कहु

खाबोको जलाया है जिसने
मेरी खुबीओ को बताया भी उसीने

अफ़सोस बस इतना है
तेरी काबिल हम नहीं थे
मेरी खुबीओ पर हावी
मेरी कमिया रही

यारा तेरी याद बोहोत आती है
लौट आओ जान

पल में बासा आसिया था मेरा
सपनो का था जहा

पल में ही बिखरा खाबो का जहा
पता ही नहीं चला ये कैसे हुआ

चुप के से दिल के कोने में
बसा रक्खा था उसे

पता नहीं था कभी वो
ज़िन्दगी में भी आएगी

मेरे दिन और रातो में बस बस जाएगी

वो हसीन लम्हे देके
अपना सारा प्यार देके
एक दिन बस याद बानके रह जाएगी

यारा तेरी याद बोहोत आती है
लौट आओ जान

कैसे जिउ तेरे बिना कह दे तुहि जाने वफ़ा
खाबे जो दिल में मैंने बसाई कैसे दू उनको मिटा

तेरे बिन नहीं जी सकते है हम
कैसे मनाये तुझको बता
तू जरुरी है जीने क लिए
सांसे भी ले पाए नहीं
क्यू जिए बता किया हो वजा
इंतेजार मेरा बस एक रहा
कभी तू जो आवाज दे
बस यही है जिस के लिए मैंने
खुद को सम्भाला यहाँ

इंतेजार तेरा रहेगा सदा
जब भी चाहे तू बुला लेना मुझे

यारा तेरी याद बोहोत आती है
लौट आओ जान

——————————————————–
लौट आओ जान……. तेरे बिना……. रहना सकू ……..
कैसे कहु …….. कैसे है हम ………….

………………………………………………………………………………………………
yaara teri yaad bohot ati hai
lout aao jaan

kiya thokar hai kisi se kiya kahu

kaisi aag hai kisi se kiya kahu

khabo ko jalaya hai jis ne
meri khubiyo ko bataya v usine

afsos bas itna hai
tere kabil ham nahi the
meri khubio per hawi
meri kamiya rahi

yaara teri yaad bohot aati hai
lout aao jaan

pal me basa aasiya tha mera
sapno ka tha jaha

pal me hi bikhra khabo ka jaha
pata hi nahi chala ye kaise hua

chup ke se dil k kone me
basa rakha tha use
pata nahi tha kabhi wo
zindagi me v aayegi

mere din aur rato me bas jayegi
wo haasin lamhe deke
apna sara piyaar deke
ek din bas yaad banke reh jayegi

yaara teri yaad bohot aati hai
lout aao jaan

kaise jiu tere bina keh de tuhi jane wafa
khabe jo dil me maine basai kase du unko mita

tere bin nahi ji sakte hai ham
kaise manaye tujhko bata
tu jaruri hai jine k liye
saase v le paye nahi
q jiye bata kiya ho waja
intejar mera bas ek raha
kabhi tu jo awaj de
bas yahi hai jis k liye mainne
khud ko sambhala yaha

intejar tera rahega sada
jab v chahe tu bula lena mujhe

yaara teri yaad bohot aati hai
lout aao jaan

………………………………………………………………………………………………

lout aao jaaaa… tere binaaaa….. rehna saku……
kaise khahu…..kaise hai ham……

अगर आपको ये शायरी पसंद आये तो please अपने दोस्तों के साथ करे share और कोई सुझाव हो तो comment कर के बताये।