shayarisms4lovers may18 88 - Shayari Status शायरी स्टेटस

Shayari Status शायरी स्टेटस

Hindi Shayari Shayari SMS Whatsapp Status
  1. वो कहने लगी नकाब में भी पहचान लेते हो… हजारों के बीच… मेंने मुस्करा के कहा तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था “इश्क” हज़ारों के बीच…
  2. सुनो ! तुम कर लो नजरंदाज अपने हिसाब से…हम तो मोहब्बत बेहिसाब ही करेंगे…..
  3. मरने के लिए वजह बहोत सारी हैं…जीने के लिए सिर्फ ” तू “….
  4. कौन कहता है क़ि चाँद तारे तोड़ लाना ज़रूरी है…..दिल को छू जाए प्यार से दो लफ्ज़, वही काफ़ी है…!!
  5. देख पगली👸👸…मुझे यूँ 😢😢 ‎What‬’s App😢😢 😂😂‪Instagram‬😂😂 ‪hike‬ और ‪‎Facebook‬ पर मत 😂तलाश किया करो…हम तो हमेशा 👩तुम्हारे ❤दिल में On Line रहते हैं….👉💔
  6. कुछ तो बात होगी उस पगली में 😍 जो मेरा दिल 👉💜 उसपे आ गया था 😌 वरना में तो इतना सेल्फिश हु 😜👉🏻की अपने जीने की भी दुआ नही करता..😏
  7. मैनें तो सिर्फ उसका दिल चोरी किया था लेकिन,अब तो वो पगली मेरा सरनेम चोरी करने की प्लानिंग में है !!
  8. आज‬ ☝ ‪दरगाह में‬ 🕌 ‪मन्नत‬ 😍 का ‪‎धागा नहीं‬, 😌 ‪अपना दिल‬ 👦❤ ‪‎बाँध‬ ☝ के ‪आया‬ 👦 हूँ ‪तेरे लिए‬ ।। 😘👩
  9. सुन पगले 👦 ‪‎स्टाईल‬ 😎 तो में 👩 ‪सिर्फ_शोक‬ ☝ के लिए करती हूँ, 😌 वरना ‪ज़माने‬ 👫 के लिए तो मेरी ‪‎नशीली_आँखो‬ 👀 के ‪‎इशारे‬ ☝ ही काफी है ।। 😏
  10. 👉‪तेरे‬ 👧सिवा कौन ‎समा‬💏 सकता है ‎मेरे‬ ❤दिल में,…….‪रूह‬ 🙇भी गिरवी👍 रख दी है मैंने 👨👈‎तेरी‬ 👧चाहत में !!💐
  11. उनकी चाल ही काफी थी इस दिल के होश उड़ाने के लिए, …अब तो हद हो गई जब से वो पाँव में पायल पहनने लगे…
  12. मोहब्बत किससे और कब हो जाये अदांजा नहीं होता. ये वो घर है, जिसका दरवाजा नहीं होता.
  13. धड़कनों को भी रास्ता दे दीजिये हुजूर,आप तो पूरे दिल पर कब्जा किये बैठे है
  14. कोई मुक़दमा ही कर दो हमारे सनम पर,कम से कम हर पेशी पर दीदार तो हो जायेगा
  15. मेरी ज़िन्दगी के “तालिबान” हो तुम…बेमक़सद तबाही मचा रखी है
  16. एक तो सुकुन और एक तुम,कहाँ रहते हो आजकल मिलते ही नही
  17. मैंने तो देखा था बस एक नजर के खातिर,क्या खबर थी की रग रग में समां जाओगे तुम
  18. इतनी मनमानीयां भी अच्छी नही होती,तुम सिर्फ अपने ही नहीं मेरे भी हो
  19. तेरे साथ भी तेरा था… तेरे बिन भी तेरा ही हूँ…
  20. कल ही तो तौबा की मैंने शराब से.. कम्बख्त मौसम आज फिर बेईमान हो गया।
  21. जो मैं रूठ जाऊँ तो तुम मना लेना,कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना।
  22. सिर्फ तूने ही कभी मुझको अपना न समझा,जमाना तो आज भी मुझे तेरा दीवाना कहता है!
  23. दिल का मौसम कभी तो खुशगवार हो जाये,एक पल को सही तुझे भी मुझसे प्यार हो जाये…
  24. तुम्हारी दुनिया में हमारी चाहे कोई किमत ना हो ,मगर हमने हमारी दुनिया में तुम्हे रानी का दर्जा दे रखा है ..😊😊
  25. ये जो हलकी सी फ़िक्र करते हो न हमारी बस इसलिए हम बेफिक्र रहने लगे हैं।
  26. मेरी ज़िन्दगी में खुशियाँ तेरे बहाने से हैं .. आधी तुझे सताने से हैं … आधी तुझे मनाने से हैं …
  27. ये तो इश्क़ का कोई लोकतंत्र नहीं होता,वरना रिश्वत दे के तुझे अपना बना लेते !!
  28. मै दौड़-दौड़ के खुद को पकड़ के लाता हूँ…तुम्हारे इश्क ने बच्चा बना दिया है मुझे…
  29. वो जो दो पल थे तुम्हारी और मेरी मुस्कान के बीच … बस वहीँ कहीं इश्क़ ने जगह बना ली..
  30. सुना 👂 है आजकल तेरी 👉👸…☺‪ ‎मुस्कुराहट‬ गायब हो गयी है 😒 तू कहे तो फिर से तेरे क़रीब 💏 आ जाऊँ 😊
  31. ‪सुन‬👂पगली 👰 तेरा दिल ❤भी धड़केगा… तेरी आँख 👀 भी फड़केगी..अपनी ऐसी ‪आदत डालूँगा ‬…के हर पल ‪‎मुझसे मिलने‬ के लिये ‪तड़पेगी‬..
  32. जाने क्या कशिश है उसकी मदहोंश आँखों में, नजर अंदाज जितना करो … नज़र उस पे ही पड़ती है….
  33. लेकर के मेरा नाम मुझे कोसती तो है … नफरत में ही सही पर मुझे सोचती तो है…
  34. तुम्हारे हँसने की वजह बनना चाहता हूँ , बस इतना हैं तुमसे कहना………।
  35. ज़िन्दगी प्यारी और बहुत प्यारी है पर सिर्फ तब तक जब तक मैं तेरा और तूँ सिर्फ मेरी है।
  36. तू नाराज न रहा कर तुझे वास्ता है खुदा का…एक तेरा ही चेहरा खुश देख कर तो मैं अपना गम भुलाता हूँ।
  37. उनकी चाहत में हम कुछ यूँ बंधे हैं कि वो साथ भी नहीं और हम अकेले भी नहीं…!
  38. दुनियाँ में इतनी रस्में क्यों हैं, प्यार अगर ज़िंदगी है तो इसमें कसमें क्यों हैं, हमें बताता क्यों नहीं ये राज़ कोई, दिल अगर अपना है तो किसी और के बस में क्यों है
  39. मेरी दिल की दिवार पर तस्वीर हो तेरी.. और तेरे हाथों में हो तकदीर मेरी।
  40. दिल मे छूपा रखी.. है मुहब्बत काले धन की तरह… खुलासा नही करता हू कि कही हंगामा ना हो जाये.
  41. वो शाम का दायरा मिटने नहीं देते , हमसे सुबहे का इंतज़ार होता नहीं है ।
  42. एक हसरत थी की कभी वो भी हमे मनाये..पर ये कम्ब्खत दिल कभी उनसे रूठा ही नही।
  43. पहले तो यूं ही गुज़र जाती थीं , मोहोब्बत हुई… तो रातों का एहसास हुआ..।।
  44. लोग हर बार यही पूछते हैं तुमने उसमें क्या देखा , मैं हर बार यही कहता हूँ , बेवजह होती है मोहब्बत।
  45. क्या ऐसा नहीं हो सकता हम प्यार मांगे… और तुम गले लगा के कहो, “और कुछ?”
  46. काश…!! एक खवाहिश पूरी हो इबादत के बगैर…!!! वो आ कर गले लगा ले…..मेरी इजाजत के बगैर!!!!!
  47. तुम मुझे अच्छे या बुरे नहीं लगते बस अपने लगते हो।
  48. प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता न वक़्त के साथ न हलात के साथ
  49. कहतें हैं कि मोहबत एक बार होती है..पर मैं जब जब उसे देखता हूँ..मुझे हर बार होती है॥
  50. यूँ तो आदत नहीं मुझे मुड़ के देखने की..तुम्हें देखा तो लगा..एक बार और देख लूँ
  51. इतना किसी को सताया नहीं करते…हद से ज़्यादा किसी को तड़पाया नहीं करते…जिनकी साँसें चल्ती हों आपके लफ़्हज़ों से…उन्हे अपनी आवाज़ के लिये तरसाया नहीं करते…
  52. आप से मिलकर हम कुछ बदल से गये शेर पडने लगे गुनगुनाने लगे पहले मशूहर थी अपनी संजिदगी अब तो लोगो से मिलने मिलाने लगे
  53. मेरे इस दिल को तुम ही रख लो,बड़ी फ़िक्र रहती है इसे तुम्हारी..!
  54. उसे बारिश‬ ☂ मे भीगना अच्छा लगता है ओर ‪‎मुझे‬ सिर्फ़ बारिश मे भीगती हुयी ‪‎वो‬
  55. जान लेने पे तुले हे दोनो मेरी..इश्क हार नही मानता..दिल बात नही मानता
  56. धडकनों को कुछ तो काबू में कर ऐ दिल, अभी तो पलके झुकाई है, मुस्कुराना बाकी है उनका ।।
  57. होती नहीं है मोहब्बत सूरत से;मोहब्बत तो दिल से होती है;सूरत उनकी खुद-ब-खुद लगती है प्यारी;कदर जिनकी दिल में होती है।
  58. क्यो ना गुरूर करू मै अपने आप पे….मुझे उसने चाहा जिसके चाहने वाले हजारो थे!
  59. कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूं, मै वो शख़्स नही..वो शायर हुँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है..
  60. बाज़ार के रंगों से रंगने की मुझे जरुरत नही, किसी की याद आते ही ये चेहरा गुलाबी हो जाता है..
  61. तरस गए हैं तेरे लब से कुछ सुनने को हम…… प्यार की बात न सही कोई शिकायत ही कर दे…
  62. पगली तू बात करने का मौका तो दे, कसम से कहता हु, रूला देंगे तुझे तेरे ही सितम गिनाते गिनाते
  63. सारा बदन अजीब से खुशबु से भर गया शायद तेरा ख्याल हदों से गुजर गया..
  64. वो जो सर झुकाए बैठे हैं, हमारा दिल चुराए बैठे हैं… हमने कहा हमारा दिल लौटा दो,वो बोली- हम तो हाथो में मेहँदी लगाये बैठे हैं….
  65. तेरे इश्क से मिली है मेरे वजूद को ये शौहरत ,मेरा ज़िक्र ही कहाँ था तेरी दास्ताँ से पहले।
  66. लम्हा भर मिल कर रूठने वाले,ज़िंदगी भर की दास्तान है तू !
  67. हर कोई पूछता है, करते क्या हो तुम ???जेसे मोहब्बत कोई काम ही नहीं…
  68. न जाने क्या मासूमियत है तेरे चेहरे पर… तेरे सामने आने से ज़्यादा तुझे छुपकर देखना अच्छा लगता है …!!!
  69. अपनी मौत भी क्या मौत होगी, यू ही मर जायेंगे एक दिन तुम पर मरते-मरते !
  70. ना जाने कैसा रिश्ता है इस दिल का तुझसे..धड़कना भूल सकता है पर तेरा नाम नही..😘 👫
  71. मेरी बाकी उँगलियाँ भी उस ऊँगली से जलती है जिस ऊँगली को पकड़ कर मेरी जान चलती है …..
  72. नाम तेरा ऐसे लिख चुके है अपने वजूद पर..कि तेरे नाम का भी कोई मिल जाए….तो भी दिल धड़क जाता है….
  73. आँखों के अंदाज़ बदल जाते हैं जब कभी हम उनके सामने जाते हैं 🙂🙂🙂
  74. हम समझदार भी इतने है की उनका झूठ😋 पकड़ लेते है,पर उनके दीवाने 😍भी इतने है की फिर भी सच मान 🙂लेते है !!
  75. मिलने का दौर और बढ़ाइए मोहब्बत में … अब यादों से गुज़ारा नहीं होता।
  76. अच्छा लगता है तुम्हारे लफ्जों में खुद को ढूँढना ….इतराती हूँ , मुस्कुराती हूँ और तुममें ढल सी जाती हूँ..
  77. मोहब्बत इतनी ख़ामोशी से करो कि तुम्हारी शादी शोर मचा दे…😘♥
  78. मुझे ज्यादा कुछ नहीं … बस मेरी शादी के card पर तेरा नाम अपने नाम के साथ चाहिए 😇 😘😇😘
  79. बहुत ही ​खूबसूरत ​लम्हा​ था वो …जब उसने कहा था ​मुझे​ ​तुमसे​ ​मोहब्बत​ ​है​ ​और​ ​तुमसे​ ​ही​ ​रहेगी​ 😘♥
  80. तुझे जब धड़कनों में बसाया तो … धड़कने भी बोल उठी.. 😇 अब मज़ा आ रहा हैं धक-धक करने में ….
  81. कितना प्यार है इस दिल में तेरे लिए, अगर बयां कर दिया तो ……तू नहीं ये दुनिया मेरी दिवानी हो जायेगी 😘😘
  82. ​इन आँखों को जब तेरा दीदार😍 हो जाता है …. दिन कोई भी हो लेकिन त्यौहार हो जाता है💕
  83. मैं तेरे नसीब की बारिश नहीं जो तुझ पर बरस जाऊँ …… तुझे तकदीर बदलनी होगी मुझे पाने के लिए…..
  84. वो मेरी पसन्द के बारे में पूछती है ….. अब क्या कहूँ उस नासमझ को जो अपने बारे में ही पूछती है
  85. अगर शायरी में इश्क लिखता हूँ तो चाहत साँस लेती है…हमारी धड़कनो में खुद तेरी मोहब्बत साँस लेती है…
  86. मिलना है तुझसे बिछड़ने से पहले , पाना है तुझे खोने से पहले , और जीना है तेरे साथ मारने से पहले…😍😍😍
  87. एक धागे के प्रेम में,जैसे मोमबत्ती कतरा-कतरा जलती है,बस ऐसा ही प्यार… वो पगला मुझसे करता है… ☺️
  88. शिकायतों 😡 की पाई-पाई जोड़कर रखी थी मैंने, उसने गले लगाकर सारा हिसाब बिगाड़ दिया 😍😍😍
  89. तुम्हें कितनी मोहब्बत है… मालूम नहीं …. मुझे लोग आज भी तेरी क़सम दे कर मना लेते है 😊😊😊
  90. वो मौत भी बडी हसीन होगी जो तेरी बाहो👰 मे आनी होगी… वादा रहा तुझसे, पहले हम मर जायेंगे क्योंकि तेरे लिये जऩ्नत भी सजानी होगी 😍
  91. तेरे हुस्न को नकाब 😌 की जरुरत ही क्या है 😘 न जाने कौन रहता होगा होश 😌 में तुझे देखने के बाद 😘
  92. चाहता हूँ 👸 तुझे अपने ❤ दिल में 💏 छुपाना…क्योकि बहुत 😁 बुरा है ये 😭 ज़माना…
  93. मेरे लफ्ज़ फ़ीके पड़ गए 😌 तेरी एक अदा 😍 के सामने, मैं तुझे 👩 ख़ुदा 👤 कह गया अपने ख़ुदा के सामने ।। 😘👩
  94. सीने से लगा के सुन वो धड़कन जो तुझसे मिलने के इंतजार में है
  95. बड़े प्यारे होते है न ऐसे रिश्ते …….जिन पर कोई हक़ भी न हो और शक भी न हो।
  96. मुझे👧देख कर आसमान 🌌के तारे 🌟 भी .मेरी तरफ गुस्से😈 से देख रहे है….और पूछ रहे है “हमारा एक तारा🌟 तुम्हारे पास कैसे..?👫💑
  97. छुपे छुपे से रहते हैं सरेआम नहीं हुआ करते, कुछ रिश्ते बस एहसास होते हैं उनके नाम नहीं हुआ करते..
  98. ना हीरों की तमन्ना है और ना परियों पे मरता हूँ.. वो एक “भोली” सी लडकी हे जिसे मैं मोहब्बत करता हूँ !!
  99. हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की, और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है, क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !!
  100. एक वो हैं, जो हमारी बात समझते नहीं…और यहाँ जमाना हमारे स्टेटस पढ़कर, दीवाना हुआ जा रहा है.
  101. हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की, और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है, क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !!
  102. एक वो हैं, जो हमारी बात समझते नहीं…और यहाँ जमाना हमारे स्टेटस पढ़कर, दीवाना हुआ जा रहा है.
  103. अगर यूँ ही कमियाँ निकालते रहे आप … तो एक दिन सिर्फ खूबियाँ रह जाएँगी मुझमें….
  104. बड़ी मुद्दत से चाहा है तुझे… बड़ी दुआओं से पाया है तुझे… तुझे भुलाने की सोचूं भी तो कैसे… किस्मत की लकीरों से चुराया है तुझे!
  105. आज तो हम खूब रुलायेंगे उन्हें, सुना है उसे रोते हुए लिपट जाने की आदत है!
  106. पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ, पंडित भया न कोय । ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय ।
  107. सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से….या तो दोनों आते हैं …. या कोई नहीं आता !!
  108. सिर्फ दो ही वक़्त पर उसका साथ चाहिए, एक तो अभी और एक हमेशा के लिये..
  109. करीब आओ ज़रा के तुम्हारे बिन जीना है मुश्किल,दिल को तुमसे नही..तुम्हारी हर अदा से मोहब्बत है
  110. हो जा मेरी कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे,लोग हसरत करेंगे तेरे जैसा नसीब पाने के लिए..!!
  111. मैं अपनी मोहब्बत में- बच्चो की तरह हूँ, जो मेरा हैं बस मेरा है किसी और को क्यो दुँ
  112. तन्हाई मैं मुस्कुराना भी इश्क़ है, इस बात को सब से छुपाना भी इश्क़ है, यूँ तो रातों को नींद नही आती, पर रातों को सो कर भी जाग जाना इश्क़ है।
  113. बादलों से कह दो अब इतना भी ना बरसे…. अगर मुझे उनकी याद आ गई, तो मुकाबला बराबरी का होगा….
  114. तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,हम ‘जान’ दे देते हैं मगर ‘जाने’ नहीं देते !!
  115. ना pimple वाली के लिये, ना dimple वाली के लिये, ये photo है सिर्फ अपनी simple वाली के लिये
  116. हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की, बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..
  117. मुहब्बत में झुकना कोई अजीब बात नहीं; चमकता सूरज भी तो ढल जाता है चाँद के लिए।
  118. सोचते हैं जान अपनी उसे मुफ्त ही दे दें, इतने मासूम खरीदार से क्या लेना देना।
  119. तू मिले या ना मिले ये तो और बात है, मैं कोशिश भी ना करूँ, ये तो गलत बात है॥
  120. गर्मी तो बोहत पढ़ रही है। फिर भी उनका दिल पिघलने का नाम ही नहीं ले रहा ।
  121. हसरत है सिर्फ तुम्हें पाने की, और कोई ख्वाहिश नहीं इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नहीं खुदा से है, क्या ज़रूरत थी, तुम्हें इतना खूबसूरत बनाने की !!
  122. ये आशिको का ग्रुप है जनाब..!! यहाँ दिन सुरज से नही, दीदार से हुआ करते है !!!
  123. तस्वीर बना कर तेरी आस्मां पे टांग आया हूँ और लोग पूछते हैं आज चाँद इतना बेदाग़ कैसे है ।
  124. जब तू दाँतो मे क्लिप दबा कर, खुले बाल बांधती है…!!! कसम से एक बार तो जिंदगी, वही रुक जाती हैं..☺
  125. सुना है तुम ज़िद्दी बहुत हो,मुझे भी अपनी जिद्द बना लो !!
  126. हुज़ूर एक हुक्म हम पे भी फ़रमाइये , आ जाइये खुद या फिर हमें बुलाइये !
  127. क़दर करलो उनकी जो तुमसे बिना मतलब की चाहत करते हैं.. दुनिया में ख्याल रखने वाले कम और तकलीफ देने वाले ज़्यादा होते है..!
  128. तड़प के देखो किसी की चाहत में, तो पता चलेगा, कि इंतजार क्या होता है, यूं ही मिल जाए, कोई बिना चाहे, तो कैसे पता चलेगा कि प्यार क्या होता है.
  129. जरा देखो तो ये दरवाजे पर दस्तक किसने दी है, अगर ‘इश्क’ हो तो कहना, अब दिल यहाँ नही रहता..
  130. उसकी हर एक शिकायत देती है मुहब्बत की गवाही.. अजनबी से वर्ना कौन हर बात पर तकरार करता है ?
  131. दोस्ती इन्सान की ज़रुरत है! दिलों पर दोस्ती की हुकुमत है! आपके प्यार की वजह से जिंदा हूँ! वरना खुदा को भी हमारी ज़रुरत है!
  132. अगर हम सुधर गए तो उनका क्या होगा जिनको हमारे पागलपन से प्यार है
  133. लोग कहते हैं किसी एक के चले जाने से जिन्दगी अधूरी नहीं होती,लेकिन लाखों के मिल जाने से उस एक की कमी पूरी नहीं होती है……
  134. सोचता हु हर कागज पे तेरी तारीफ करु, फिर खयाल आया कहीँ पढ़ने वाला भी तेरा दीवाना ना हो जाए।
  135. तुम्हारे हर सवाल का जवाब मेरी आँखों में था और तुम मेरी जुबान खुलने का इंतज़ार करते रहे।
  136. बस ज़रा स्वाद में कड़वा है , नहीं तो सच का कोई जवाब नहीं।
  137. सिर्फ ख़ुशी में आना तुम,अभी दूर रहो थोड़ा परेशान हूँ मैं
  138. अपना 👦तो कोई दोस्त नही 😌 है, सब साले 👫 कलेजे ❤ के टुकडे है ।। 😘👫
  139. ना❌ gaadi🚘 ना❌ bullet🏍 ना ❌ ही रखे हथियार 🔫 एक है सीने मै जीगरा😈 और दुसरे ✌ जिगरी 😉yaar 👬
  140. कुछ मीठी सी ठंडक है आज इन हवाओं में, शायद दोस्तो की यादों का कमरा खुला रह गया है…!😍❤✨💫🍫🌹
  141. अच्छे दोस्त को रूठने पर हमेशा मनाना चाहिए क्योंकि…… वो कमीना हमारे सारे राज़ जानता होता है।
  142. दोस्तो से टूट कर रहोगे तो कुत्ते भी सतायेंगे, और दोस्तो से जुड़ कर रहोगे तो शेर भी घबरायेंगे …
  143. इतिहास के हर पन्ने पर लिखा है,दोस्ती कभी बड़ी नहीं होती, निभाने वाले हमेशा बड़े होते हैं
  144. अनजान की तरह मिले और उल्फत हो गयी…अजनबी दोस्त ऐसे मिले की दोस्ती हो गयी…सच्ची दोस्ती का इरादा था उनसे…पर हमे उनसे सच्ची मोहब्बत हो गयी।
  145. राह चलते बुधु बनते हैं दोस्त ..cold drink बोल के दारु पिलाते हैं दोस्त… girlfriend बोल कर auntiyo से मिलवाते है दोस्त .. कितने भी कमीने हो पर याद बहुत आते हैं दोस्त
  146. हम आज भी शतरंज़ का खेल अकेले ही खेलते हैं, क्योंकि दोस्तों के खिलाफ चाल चलना हमे आता नही…
  147. मोहब्बत तो फ़िर भी दिल से हो जाती है, “जिगर” चाहिए दोस्ती के लिए
  148. सच्चे दोस्त हमे कभी गिरने नहीं देते … ना किसी कि नजरों मे, ना किसी के कदमों मे…
  149. Life में कभी हमारी दोस्ती के बारे में कोई ग़लतफहमी हो तो सिक्का उछालना… अगर heads आये तो we are friends … अगर tail आये तो… सिक्का पलट देना दोस्त …
  150. कौन होता है दोस्त? दोस्त वो जो बिन बुलाये आये, बेवजह सर खाए, जेब खाली करवाए, कभी सताए, कभी रुलाये, मगर हमेशा साथ निभाए..
  151. सच्चा दोस्त वही है ….. जो सब लड़कियों को अपनी भाभी माने …
  152. मुसीबत का syrup हो तुम … Tension का capsule हो तुम … आफत की tablet हो तुम… पर क्या करें… कहना पड़ता है क्योंकि … दोस्ती का injection हो तुम
  153. लिखा था राशि में आज खजाना मिल सकता है, कि अचानक गली में दोस्त पुराना दिख गया 🙂 🙂
  154. सच्चा ‪दोस्त‬ मिलना बहुत ही ‪‎मुश्किल‬ है, मैं खुद ‪‎हैरान‬ हूँ कि तुम लोगों ने मुझे ‪‎ढूढ़‬ कैसे लिया….
  155. तेरी दोस्ती में खुद को महफूज़ मानते हैं , हम दोस्तों में तुम्हे सबसे अज़ीज़ मानते हैं , तेरी दोस्ती की साये में ज़िंदा हैं ,हम तो तुझे खुदा का दिया हुआ ताबीज़ मानते हैं।
  156. Friendship के असूल simple है … No Drama No Excuse No Sorry No Thanks कभी मत कहो … मेरे पास time नहीं है…. हमेशा कहो …. यार हुकम कर तेरे लिए जान भी हाज़िर है … देनी नहीं वो अलग बात है …
  157. दिल तुझको दिया है पगली, जान‬ तो अभी भी ‪‎Friends‬ के नाम पर है….
  158. हमारी दोस्ती की उम्र हम से भी ज़्यादा होगी ,तुम्हारी हर आवाज़ हमारे लिए वादा होगी , तुम भी सुन लो कान खोल के , जिसने दोस्ती पहले तोड़ी उसकी पिटाई भी सबसे याद होगी।
  159. शायद फिर वो तक़दीर मिल जाये जीवन के वो हसीं पल मिल जाये चल फिर से बैठें वो क्लास कि लास्ट बैंच पे शायद फिर से वो पुराने दोस्त मिल जाएँ ।
  160. आसमान से उतारी हैं , तारों से सजाई है , चाँद की चांदनी से नहलायी हैं , ऐ दोस्त ! संभल के रखना ये दोस्ती , यही तो हमारी ज़िन्दगी भर की कमाई है।
  161. जल जाते हैं मेरे अंदाज़ से मेरे दुश्मन क्यूंकि एक मुद्दत से मैंने न मोहब्बत बदली और न दोस्त बदले….
  162. दोस्ती में ना कोई दिन , ना कोई वार होता हैं,ये तो वो एहसास है जिसमे बस यार होता हैं
  163. उड़ने में बुराई नहीं है , लेकिन उतना ही ऊँचा उड़े जहाँ से ज़मीन साफ़ दिखाई दे
  164. जो व्यक्ति अपने बारे में नहीं सोचता , वो सोचता ही नहीं है
  165. रिश्ते मोतियों की तरह होते होते हैं… कोई गिर भी जाये तो झुख कर उठा लेना चाहिए
  166. आप भले अपनी जिंदगी से खुश नहीं हो पर कुछ लोग ऐसे भी है जो आप जैसी जिंदगी जीने के लिए तरसते है
  167. शतरंज मे वज़ीर…और ज़िंदगी मे ज़मीर…अगर मर जाए तो खेल ख़त्म समझिए
  168. ज़िन्दगी इतनी मुश्किल इसलिए है,क्यूंकि लोग आसानी से मिली चीज की कीमत नहीं जानते !!
  169. पर्दा गिरते ही खत्म हो जाते हैं तमाशे सारे ….खूब रोते हैं फिर औरों को हँसाने वाले..
  170. दिल के रिश्ते कभी नहीं टूटते .. बस खामोश हो जाते है…
  171. जिसे ” मैं ” की हवा लगी…उसे फिर ना दवा लगी न दुआ लगी।
  172. दुनियादारी सिखा देती है ” मक्कारियां ” वरना पैदा तो हर कोई साफ दिल का होता है।
  173. इस कदर बँट गए हैं ज़माने में सभी …. अगर “भगवान”भी आकर कहे कि मैं भगवान् हूँ … तो लोग पूछ बैठेंगे किसके ?
  174. नाज़ुक लगते थे जो हसीन लोग … वास्ता पड़ा तो पत्थर के निकले।
  175. जज़्बात अपने हो तभी जज़्बात है , दुसरे के जज़्बात तो खिलौना है।
  176. ना जाने कौन से गुनाह कर बैठे हैं। … जो तमन्नाओं की उम्र में तज़ुर्बे मिल रहे हैं।
  177. ज़रा मुस्कराना भी सिखा दे ज़िन्दगी …. रोना तो पैदा होते ही सीख लिया था।
  178. कमाल का ताना दिया आज मंदिर में भगवान ने, मांगने ही आते हो कभी मिलने भी आया करो
  179. कितनी अजीब बात है हमारी आँखें है तो black & white पर ख्वाब रंगीन देखती हैं
  180. आपके पास जितना समय है वो अभी है इससे अधिक समय कभी नहीं होगा।
  181. वफ़ा सबसे करो मगर वफ़ा की उम्मीद किसी से ना करो।
  182. गलत होकर भी खुद को सही साबित करना, उतना मुश्किल नहीं होता, जितना कि, सही होकर खुद को सही साबित करना
  183. लफ्ज़ इन्सान के गुलाम होते हैं , मगर बोलने से पहले … और बोलने के बाद इन्सान अपने लफ़्ज़ों का गुलाम बन जाता है
  184. कुछ लोग मुझे अपना कहते थे … सच में सिर्फ कहते ही थे
  185. बातें तो हर कोई समझ लेता है पर वो इंसान चाहिए जो मेरी ख़ामोशी को समझे
  186. इंसान की ख़ामोशी का मतलब ये है कि वो टूट चूका है
  187. कुछ बातें तब तक समझ नहीं आती जब तक खुद पर न गुजरे
  188. अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है 😢
  189. मेरी माँ ने मुझे माफ़ करना सिखाया है… बदला लेना नहीं…
  190. यूँ गुमसुम मत बैठो ..पराये लगते हो,,,मीठी बातें नहीं है तो चलो झगड़ा ही कर लो…..
  191. आदमी को अमीर नहीं होना चाहिए, बल्कि आदमी 😌 का जमीर होना चाहिए ।। 😌😌
  192. अपने खिलाफ बातों को अक्सर मैं ख़ामोशी से सुनता हूँ क्योकि जवाब देने का हक़.. मैंने वक़्त को दे रखा है
  193. कदर करने वाले लोगों को …. हमेशा बेकदर लोग ही मिलते हैं। 😪 😪
  194. जो आपकी ख़ुशी के लिए हार मान ले … आप उसे से कभी जीत नहीं सकते 😊😊
  195. असफलता की इमारत बहाने की नींव पर बनती है
  196. हम खुद को इतना बदल देंगे एक दिन.. कि लोग तरस जायेंगे 😊 हमें पहले की तरह देखने के लिए.!
  197. वक्त निकाल कर अपनों से मिल लिया करो, अगर अपने ही ना होंगे तो, क्या करोगे वक्त का ???
  198. ज़िंदगी चाहे एक दिन की हो या चाहे चार दिन की, उसे ऐसे जियो 😉 जैसे कि ज़िंदगी तुम्हें नहीं मिली ….. ज़िंदगी को तुम मिले हो ।।
  199. चेहरे बदल-बदल कर मिलते है लोग मुझसे…. इतना बुरा सुलूक क्यूँ मेरी सादगी के साथ
  200. मेरी ‪खामोशियों‬ में भी ‪फसाना‬ ‪‎ढूँढ‬ लेती है,बड़ी ‪शातिर‬ है ‪‎दुनिया‬ ‪मजा‬ लेने का ‪बहाना‬ ढ़ूँढ ‪लेती‬ है
  201. मुझे हमदर्दी नहीं, थोडा सा अपनापन चाहिए दरसल खो सा गया हूँ …. अपनो की ही भीड में 😑😑😢😢
  202. आशियाने बनें भी तो कहाँ जनाब,जमीनें महँगी 💵 हो चली हैं और दिल ❤ में लोग जगह नहीं देते
  203. मिले 👰तो… BEST👌 …नहीं 😶तो…. NEXT😎 ….LIFE ..मे ये Formula रखोगे तो कभी भी Feeling Sad😪 वाले Status नहीं रखने पड़ेंगे…
  204. अब अपनी शख्सियत की भला मैं क्या मिसाल दूँ यारों, ना जाने कितने लोग मशहूर हो गये, मुझे बदनाम करते करते…..!!
  205. लोग भी बड़े अजीब होते है, गलत साबित होने से पहले माफ़ी नहीं मांगते, बल्कि तालुक तोड़ देते है…
  206. मै 👨फिर याद 😭आऊंगा उस👆 दिन📝 जब तेरे ही बच्चे👶 कहेंगे-मम्मी 👩आपने कभी किसी 👤से प्यार 👫किया ???
  207. चूक जाये वो वार कैसा…जीत कर हार जाये वो खिलाडी कैसा …और अपनी बात लोगो तक ना पहुँचा सके वो शायर कैसा
  208. ताश में जोकर 😛 ओर चाहत 😘 की ठोकर, अकसर बाजी घूमा देते हैं 😎😎😎
  209. लोग बदलते नहीं है जनाब !!! ” बेनक़ाब ” होते हैं।
  210. दो चार नहीं…मुझे सिर्फ एक दिखा दो…😐 वो शख्स…जो अन्दर भी बाहर जैसा हो… !😏😏
  211. निगाहों में मंज़िल थी… गिरे और गिर कर संभलते रहे… हवाओं ने तो बहुत कोशिश की… मगर चिराग आँधियों में भी जलते रहे😇😇
  212. जलो वहाँ जहाँ जरूरत हो ….. उजालों में चिरागों के कोई मायने नहीं होते।
  213. चेहरे 👩पर जो अपने दोहरी नकाब रखता हैं, खुदा उसकी चलाकियों का हिसाब रखता हैं
  214. गुनहगारों की आँखों में झूठे ग़ुरूर होते हैं, 👿👿 यहाँ शर्मिन्दा तो सिर्फ़ बेक़सूर होते हैं..!😫😫
  215. अब कहां दुआओं में वो बरक्कतें,…वो नसीहतें …वो हिदायतें, अब तो बस जरूरतों का जलूस हैं …मतलबों के सलाम हैं
  216. ये दुनिया अक्सर उन्हें सस्ते में लूट लेती है, खुद की क़ीमत का जिन्हें अंदाजा नहीं होता !!
  217. कुछ मीठी सी ठंडक है आज इन हवाओं में, शायद दोस्तो की यादों का कमरा खुला रह गया है…!😍❤✨💫🍫🌹
  218. फलक की भी जिद है जहाँ बिजली गिराने की , हमारी भी जिद है वहीं आशियां बनाने की . . . ! !
  219. बस इतना ही चाहिये तुजसे ऐ जिंदगी … कि जम़ीन पर बैठूँ तो लोग उसे मेरा बडप्पन कहें, औकात नहीं …..
  220. मैं हिंदी बोलता हूँ, इसलिए आप “आप” हैं, वरना कब के “you” हो गए होते..
  221. न जाने इतनी ‪मोहब्बत‬ कहाँ से आ गयी उस ‪अजनबी‬ के लिए..!! की मेरा ‪दिल‬ भी उसकी खातिर अक्सर मुझसे रूठ जाया करता हे ..!!
  222. अकल आयी थी मशवरा देने , मोहब्बत ने मुस्करा कर टाल दिया।
  223. तयशुदा मुलाक़ातों में वो बात नहीं बनती…… क्या ख़ूब था राहों में अचानक सामने से आना तेरा…..
  224. कुछ लोग इतने ढीठ होते हैं कि जितना मर्जी उनको भाड़ में भेज दो वापिस आ ही जाते हैं।
  225. ज़िन्दगी भी कितनी अजीब है.. मुस्कुराओ तो लोग जलते है, तन्हा रहो तो सवाल करते है…
  226. कमाल करता है, ऐ दिल ❤ तू भी… उसे फुरसत नहीं और तुझे चैन नहीं..!!
  227. उम्र भर उठाया बोझ उस कील ने.. और लोग तारीफ़ तस्वीर की करते रहे…
  228. उड़ा भी दो रंजिशें, इन हवाओं में यारो…. छोटी सी जिंदगी हे, नफ़रत कब तक करोगे !
  229. रिश्ते चाहे कितने भी बुरे हो लेकिन कभी भी उन्हें मत तोड़ना क्योंकि पानी चाहे कितना भी गंदा हो, प्यास नहीं तो आग तो बुझा ही देता है।
  230. कोई सुलह करा दे जिदंगी की उलझनों 😌 से…बड़ी तलब लगी है आज मुस्कुराने 😊 की 😊😊
  231. बिकती है ना ख़ुशी कहीं, ना कहीं गम बिकता है. लोग गलतफहमी में हैं, कि शायद कहीं मरहम बिकता है..
  232. आसमान में घनघोर घटायें छायीं है, दिल की बात जुबान पर फिर से आयी है
  233. लोग मुझसे पूछते है…. क्या लेकर आये थे क्या लेकर जाओगे? … मैं कहता हूँ एक दिल लेकर आया था .. लाखों दिलों में जगह बनाकर जाऊंगा।
  234. 🙇मैंने अपने आप को हमेशा बादशाह समझा…पर 👸 तुझे खुदा से माँगा अकसर फकीरों की तरह 😎
  235. सुना है कि मौत से पहले एक और मौत होती है और उसे प्यार से लोग मोहब्बत कहते हैं
  236. एक Station‬ 🚧🚦 जैसी है ‪जिन्दगी मेरी‬, 😌 यहाँ ‪लोग‬ 👫 तो ‪बहुत है‬ ☝ पर ‪‎अपना कोई‬ 😌 ‪‎नहीं‬ ।। 😌
  237. जब ख्वाबों‬ 😌 के ‪रास्ते‬ ☝ ‪ज़रूरतों‬ 😌 की ओर ‪‎मुड़ जाते‬ ☝ हैं,तब ‪‎असल ज़िन्दगी‬ 😌 के ‪मायने‬ ☝ ‪समझ‬ में ‪आते हैं‬ ।। 😌😌
  238. आँसू निकल पडे ‪ख्वाब‬ मे ‪उसको‬ दूर जाते ‪‎देखकर‬, आँख ‪‎खुली‬ तो ‪एहसास‬ हुआ ‪इश्क‬ सोते ‪‎हुए‬ भी ‪‎रुलाता‬ है
  239. ना जाने ‪‎कैसे‬ ‪ ‎इम्तेहान‬ ले रही है ‪‎जिदगी‬, आजकल‬, ‪‎मुक्दर‬, ‪मोहब्बत‬ और ‪दोस्त‬ तीनो ‎नाराज‬ रहते है
  240. कुछ इस तरह मैंने ज़िन्दगी को आसान बना दिया ” किसी से माफ़ी मांग ली ” ” किसी को माफ़ कर दिया ”
  241. पत्थर को लोग इसलिए पूजते हैं क्योंकि विश्वास करने लायक इंसान नहीं मिलता।
  242. जहाँ जहाँ खबर पहुँची… हर एक ने एक ही सवाल किया… तुम्हें कैसे मुहब्बत हो गयी, तुम तो समझदार थे…
  243. बुरा वक़्त सबसे बड़ा जादूगर है , एक ही पल में सारे चाहने वालों के चेहरे से पर्दा हटा देता है।
  244. वक़्त और प्यार दोनों ज़िन्दगी में ख़ास होते हैं .. वक़्त किसे का नहीं होता और प्यार हर किसी से नहीं होता।
  245. कोई नहीं है दुश्मन अपना फिर भी परेशान हूँ मैं, अपने ही क्यूँ दे रहे है जख्म इस बात से हैरान हूँ मैं !!
  246. आज महफिल खामोश कैसे है, दोस्तों..जख्म भर गये ??? या … मोहब्बत फिर से मिल गयी..??
  247. वफ़ा उनसे ना पूँछो जो आंसू बहाते हैं … वफ़ा उनसे पूँछो जो उन्हें पी जातें हैं
  248. कौन कहता है आईना झूठ नहीं बोलता, वह सिर्फ होठो की मुस्कान देखता है, दिल का दर्द नहीं..
  249. बहुत सोचा, बहुत समझा, बहुत देर तक परखा,तन्हा हो के जी लेना मोहब्बत से बेहतर है
  250. चढते सूरज के पुजारी तो लाखों हैं …..डूबते वक़्त हमने सूरज को भी तन्हा देखा ….!!
  251. पुराना ज़हर नए नाम से मिला है मुझे… वो आस्तीन नहीं केंचुली बदल रहा था…
  252. मेरा “मैं” हरपल “हम” में बदलता रहा…और तुम बे-परवाह “तुम” में ही रही…
  253. कभी भूल कर भी मत जाना मोहब्बत के जंगल में……..यहाँ साँप नहीं हमसफ़र डसा करते हैं।
  254. बचा ही मुझमें क्या??? दिल महबूब ले गया… और दर्द में लिखे अल्फ़ाज़….. लोग चुरा ले गये.….
  255. एक नफरत ही है जिसे दुनिया लम्हों में जान लेती है ..वरना चाहत का पता लगने में तो ज़माने बीत जाते हैं…
  256. ज़िन्दगी की हकीकत को बस इतना ही जाना है !.दर्द में अकेले हैं और खुशियों में सारा जमाना है…!
  257. अपनाने के लिए हजार खूबियाॅ भी कम है और छोडने के लिए एक कमी ही काफी है।
  258. बिन मांगे ही मिल जाती हैं मोहब्बत किसी को, कोई खाली हाथ रह जाता है हजारों दुआओं के बाद !!
  259. ‎छोटे थे‬ 👦 तो ‪‎सब‬ 👫 ‪‎नाम‬ 😌 से ‪‎बुलाते थे‬, ☝‪ ‎बड़े हुए‬ 👱 तो बस ‪काम‬ 😎 से ‪‎बुलाते है‬ 😏😎
  260. अपनी कमजोरी‬ 😌 को कभी ‪दुनिया‬ 👫 के ‪सामने‬ मत ‪‎लाओ‬, ☝‪‎लोग‬ 👫 ‪‎कटी पतंग‬ ☝ को ‪‎बडी जमकर‬ 😏 ‪लूटते‬ हैं ।। 😌😌
  261. ‎लोग‬ 👫 ‪कहते है‬ ☝ की ‪‎सच्चे प्यार‬ 💑 की ‪हंमेशा जीत‬ 😌 ‪‎होती‬ है, परंतु ‪‎होती कब‬ ☝ है ये भी ‪‎बता देते‬ ।। 😒😜😂
  262. गलत लोग👉👽….. सभी के 👆 ‪जीवन‬ में आते हैं.. -_- लेकिन ☝ ‪सीख‬ हमेशा 👌 सही ही देकर जाते हैं ^_^ 😊
  263. क्या पता तुम कब भूल जाओ ये मोहब्बत….जिसे हम ज़िन्दगी और तुम एक लफ्ज़ कहते हो….
  264. दूसरों को सुनाने के लिऐ अपनी आवाज ऊँची मत करिऐ, बल्कि अपना व्यक्तित्व इतना ऊँचा बनाऐं कि आपको सुनने की लोग मिन्नत करें
  265. शतरंज’ का एक नियम – बहुत ही ‘उम्दा’ है . . .’चाल’ कोई भी चलो पर ….. अपनों को नहीं ‘मार’ सकते !
  266. चलिए जिंदगी का जश्न कुछ इस तरह मनाते है,कुछ अच्छा याद रखते है और कुछ बुरा भूल जाते है !!
  267. मानो तो रूह का रिश्ता है वरना कौन किसी का क्या लगता है
  268. न जाने जिंदगी का, ये कैसा दौर है, इंसान खामोश हैं और ऑनलाइन कितना शोर है…
  269. किसी को इतना महत्व नहीं देना चाहिए कि वो हमारे चहरे से मुस्कराहट ही छीन ले
  270. बिना लिबास आए थे इस जहां में, बस एक कफ़न की खातिर, इतना सफर करना पड़ा
  271. हर इंसान दिल का बुरा नहीं होता .. बुझ जाता है दीपक अक्सर तेल की कमी के कारण .. हर बार कसूर हवा का नहीं होता…
  272. देर से बोला गया सच कभी-कभी झूठ के बराबर हो जाता है।
  273. हालात ने तोड़ दिया हमें कच्चे धागे की तरह … वरना हमारे वादे भी कभी ज़ंजीर हुआ करते थे..
  274. वक़्त‬ होता ही है ‎बदलने‬ के लिए ‪ठहरते‬ तो बस ‪लम्हें‬ है..
  275. फिल्म ही तो है ज़िंदगी.. हर कुछ देर बाद सीन बदल जाता है…
  276. ये मँज़िले बड़ी जिद्दी होती हैँ… हासिल कहाँ नसीब से होती हैं… मगर वहाँ तूफान भी हार जाते है… जहाँ कश्तियाँ ज़िद पर होती हैँ…!!
  277. बूंदें कुछ यूँ गिरी, कि कुछ ख्याल भीग गयें..!
  278. ‎कुछ‬ 👆हसरतें ✍‪ ‎अधूरी‬ ही रह जायें तो ‪‎अच्छा 👌🏻 है … पूरी‬ ✔ हो जाने पर ‪दिल‬ 💖 खाली सा हो जाता है…
  279. जो लिबासों को बदलने का शौंक रखते थे … आखिरी वक़्त ये भी न कह पाए कफ़न ठीक नहीं….
  280. ” मौन ” रहकर जो कहा जा सकता है वो ” शब्दों ” से नहीं और जो ” दिल ” से दिया जा सकता है वो ” हाथों ” से नहीं
  281. लम्बी ज़ुबान और लम्बा धागा हमेशा उलझ ही जाते हैं … समस्या से निपटने के लिए धागे को लपेट कर और ज़ुबान को काबू में रखें।
  282. दीवानगी‬💕 के लिए ➟तेरी गली 🚶 🏼मे आते हैं ऐ दोस्त ➟वरना 🚴🏻 ‪‎आवारगी‬ के लिए सारा शहर⇨ पड़ा है।
  283. हमारे कर्मों की आवाज़ हमारे शब्दों से ज्यादा ऊँची होती है
  284. ज़िन्दगी कभी आसान नहीं होती .. उसे आसान बनाना पड़ता है… कुछ नज़रअंदाज़ करके कुछ बर्दाश्त करके
  285. इस दुनिया के सभी लोग आपके लिए अच्छे हैं बस शर्त ये है कि ” आपके दिन अच्छे होने चाहिए ”
  286. ज़्यादा कुछ नहीं बदला ” उसके और मेरे ” बीच में पहले नफरत नहीं थी और अब ” प्यार ” नहीं है।
  287. खुश रहने के लिए सबसे पहला काम ये करो कि. …. लोग आपके बारे में क्या सोचेंगे ये सोचना छोड़ दो
  288. पैसे वालों का आधा पैसा तो ये जताने में चला जाता है कि वो भी पैसे वाले है
  289. एक कब्रिस्तान के बाहर लिखा था – सैकड़ों दफ़न है यहाँ … जो सोचते थे कि दुनिया उनके बिना नहीं चल सकती।
  290. जो इंसान हमेशा आपका भला चाहे उसका उदास होना आपके लिए फ़िक्र की बात है।
  291. बेटी को चांद जैसा मत बनाओ कि हर कोई घूर घूरकर देखे…. किंतु बेटी को सूरज जैसा बनाओ ताकि घूरने से पहले सबकी नज़रें झुकजाएं….
  292. सो जाऊ के तेरी याद में खो जाऊ… ये फैसला भी नहीं होता और सुबह हो जाती है….
  293. सब्र एक ऐसी सवारी है जो अपने सवार को कभी भी गिरने नहीं देती न किसी के क़दमों में और न किसी की नजरों सें
  294. कौन कहता है हम उसके बिना मर जायेंगे…हम तो दरिया है समंदर में उतर जायेंगे … वो तरस जायेंगे प्यार की एक बून्द के लिए … हम तो बादल है प्यार के … किसी और पर बरस जायेंगे
  295. जिंदगी एक सफर है आराम से चलते चलो … उतार चढ़ाव तो आते रहेगे..बस गियर बदलते रहो…
  296. गिनती ठीक से सीखा नही,मगर … इतना मालूम हैं खुशियाँ बांटने से बढती हैं !
  297. हस के चल दूँ मैं कांच के टुकडो पर,अगर दोस्त कह दे की ये तो मेरे बिछाए हुए फूल हैं…
  298. जिस घाव से खून नहीं निकलता, समझ लेना वो ज़ख्म किसी अपने ने ही दिया है..
  299. सरकार को पाकिस्तान के आतंकवाद का जवाब देना अनिवार्य नहीं है।। लेकिन.. सेटअप बॉक्स लगाना अनिवार्य हैं..!!
  300. शत्रु की दुर्बलता जानने तक उसे मित्र बनाए रखिये।
  301. वादा हमने किया था निभाने के लिए…एक दिल दिया था एक दिल को पाने के लिए… उन्होंने मोहब्बत सिखा दी और कहा कि तुमसे प्यार किया था किसी और को जलाने के लिए….
  302. तमन्नाओ की महफ़िल तो हर कोई सजाता है, पूरी उसकी होती है जो तकदीर लेकर आता है..!!
  303. बेशक तू बदल ले अपने आपको लेकिन ये याद रखना.. तेरे हर झूठ को सच मेरे सिवा कोई नही समझ सकता…!
  304. ज़िन्दगी की हकीकत को बस इतना ही जाना है !.दर्द में अकेले हैं और खुशियों में सारा जमाना है…!
  305. वक़्त और प्यार दोनों ज़िन्दगी में ख़ास होते हैं .. वक़्त किसे का नहीं होता और प्यार हर किसी से नहीं होता।
  306. जहाँ “अहंकार” होता है,वहाँ “ज्ञान” लुप्त हो जाता है।
  307. रिश्ते खून के नहीं होते विश्वास के होते हैं… अगर विश्वास हो तो पराये भी अपने हो जाते हैं और अगर विश्वास ना हो तो अपने भी पराए हो जाते हैं।
  308. ॥ यकीन और दुआ नजर नही आते मगर, नामुमकिन को मुमकिन बना देते है॥
  309. कभी किसी के जज्बातों का मजाक ना बनाना…. ना जाने कौन सा दर्द लेकर कोई जी रहा होगा..
  310. कौन कहता है खामोशियां खामोश होती है जरूर इनमे कोई न कोई बात होती है इन्हें कभी गौर से सुन कर देखना क्या पता ये वह कह दे जिनकी आपको लफ्जों में तलाश होती है
  311. माता पिता से बढ़कर जग में मेरा कोई भगवान नहीं , चूका पाऊँ जो उनका ऋण इतना मैं धनवान नहीं।
  312. अच्छा दिल और अच्छा स्वभाव दोनो आवश्यक है, अच्छे दिल से कई रिश्ते बनेंगे और अच्छे स्वभाव से वो जीवन भर टिकेगे..
  313. फूल कभी दो बार नहीं खिलते , जनम कभी दो बार नहीं मिलता , मिलने को तो हज़ारों लोग मिल जाते हैं पर हजारों गलतियां माफ़ करने वाले माँ बाप नहीं मिलते..
  314. बुरे वक़त में ही सबके असली रंग दिखते हैं … दिन के उजाले में तो पानी भी चांदी लगता है।
  315. मैं “किसी से” बेहतर करुं…क्या फर्क पड़ता है..!मै “किसी का” बेहतर करूं…बहुत फर्क पड़ता है..!!
  316. दुनिया में जितनी अच्छी बातें हैं…सब कही जा चुकी हैं…बस उन पर अमल करना बाकी रह गया है॥
  317. आप जिस पर आँख बंद करके भरोसा करते हैं, अक्सर वही आप की आँखें खोल जाता है।
  318. उसके होंठों पे कभी बददुआ नहीं होती , बस इक माँ है जो मुझसे कभी खफा नहीं होती.
  319. आशाएं ऐसी हो जो- मंज़िल तक ले जाएँ,मंज़िल ऐसी हो जो-जीवन जीना सीखा दे,जीवन ऐसा हो जो-संबंधों की कदर करे,और संबंध ऐसे हो जो-याद करने को मजबूर करदे
  320. पराया धन होकर भी कभी पराई नही होती। शायद इसीलिए किसी बाप से हंसकर बेटी की, विदाई नही होती।।
  321. छीन कर ‎हाथो‬ से ‪सिगरेट‬ वो कुछ इस ‪अंदाज़‬ से बोली … ‪कमी‬ क्या है इन ‎होठों‬ में जो तुम Gold_Flake पे मरते हो।
  322. इतनी शिकायत , इतनी शर्तें , इतनी पाबन्दी, तुम मोहब्बत कर रहे हो या सौदा कोई !!
  323. महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं
  324. कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र; खुदा ने मरना हराम किया, लोगों ने जीना!
  325. पराया धन होकर भी कभी पराई नही होती। शायद इसीलिए किसी बाप से हंसकर बेटी की, विदाई नही होती।।
  326. करेगा ज़माना भी हमारी कदर एक दिन , बस ये वफादारी की आदत छूट जाने दो
  327. जैसे ही भय आपके करीब आये , उसपर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिये
  328. बचपन में भरी दुपहरी नाप आते थे पूरा महोल्ला, जब से डिग्रियाँ समझ में आई, पाँव जलने लगे 🙁
  329. मेरे बहुत अच्छे दोस्त है ज़माने में.. बस थोड़ी जिंदगी उलझी पड़ी है 2 वक़्त की रोटी कमाने में..।
  330. मुझे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग… पर किसी ने मेरे पैरों के छाले नहीं देखे…!
  331. खामोशियाँ ही बेहतर हैं, शब्दों से लोग रूठते बहुत हैं…!!
  332. आज कल शरीफ केवल वही लोग हैं जिनके मोबाईल में password नही होता हैं।
  333. बहुत अज़ीब होती है ये यादें भी मोहब्बत की..जिन पलों में हम रोए थे,उन्हें याद करके हमें हसीं आती है…और जिन पलों में हसें थे ..उन्हें याद करके रोना आता है॥
  334. दूसरों को छोटा कर के खुद बड़ा बनने की कोशिश न करें।
  335. हमारी सही सोच एक नकारात्मक विचार को सकारात्मक विचार में बदल कटी हैं!!
  336. जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की
  337. दावे दोस्ती के मुझे नहीं आते यारो,एक जान है जब दिल चाहें मांग लेना..
  338. तीन चीजें जादा देर तक नहीं छुप सकती, सूरज चंद्रमा और सत्य
  339. तुम कहो या ना कहो…तकाज़े सब बयां कर देते हैं…फिर चाहें बेरुखी हो या मोहब्बत !!
  340. प्रसन्नता पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है..ये आप ही के कर्मों से आती है
  341. ये दुनिया है तेज़ धूप, पर वो तो बस छाँव होती हैं | स्नेह से सजी, ममता से भरी, माँ तो बस माँ होती हैं ||
  342. भूखा पेट, खाली जेब, और झूठा प्रेम – इंसान को जीवन में बहुत कुछ सिखा जाता है॥
  343. रोज स्टेटस बदलने से जिंन्दगी नहीं बदलती,जिंदगी को बदलने के लिये एक स्टेटस काफी है..!!
  344. क्या ओकात है तेरी ए जिन्दगी …चार दिन की मोहब्बत तुझे बरबाद कर देती है..
  345. चलता रहूँगा मै पथ पर, चलने में माहिर बन जाउंगा,या तो मंज़िल मिल जायेगी, या मुसाफिर बन जाउंगा !
  346. दीवाने लोग मेरी कलम चूम रहे है..तुम मेरी शायरी में वो असर छोड़ गई हो
  347. बुरा वक्त तो सबका आता है, इसमें कोई बिखर जाता है और कोई निखर जाता है .
  348. अब हैरान नही होता अगर किसी का दिल टुटजाये.. अब तो चौक जाता हुँ किसी के प्यार कि कामयाबी पर…
  349. रिश्ते बर्फ के गोले की तरह होते हैं,जिन्हे बनाना तो सरल है लेकिन बनाए रखना काफी कठिन होता है
  350. ऐ जिंदगी तू हँस ले मेरे जीने के अंदाज़ पे,वो दिन भी आएगा जब तू संवारेगी मुझे ।।
  351. लाख समझाया उसको की दुनिया शक करती है..मगर उसकी आदत नहीं गयी मुस्कुरा कर गुजरने की.!♪♥♪
  352. बड़ी मुस्किल से सीखा है खुश रहना उन के बगैर अब सुना है ये बात भी उन्हे परेशांन करती है॥
  353. सब पूछते है मुझसे मौहब्बत है क्या ? मुस्करा देता हूँ मैं और याद आ जाती है माँ ।
  354. रेत पर नाम कभी लिखते नहीं,रेत पर नाम कभी टिकते नहीं,लोग कहते है कि हम पत्थर दिल हैं,लेकिन पत्थरों पर लिखे नाम कभी मिटते नहीं।
  355. हम तो बेज़ान चीज़ों से भी वफ़ा करते हैं,तुझमे तो फिर भी मेरी जान बसी है…
  356. लोगो से कह दो हमारी तकदीर से जलना छोड़ दे। हम घर से दवा नही ‘माँ की दुआ’ लेकर निकलते है।
  357. “क्या लिखूँ , अपनी जिंदगी के बारे में दोस्तों , वो लोग ही बिछड़ गए , जो जिंदगी हुआ करते थे” !!
  358. बंद कर दिया सांपों को सपेरे ने यह कहकर,अब इंसान ही इंसान को डसने के काम आएगा।
  359. दर्द जब मीठा लगने लगे तो समझ जाइये आपने जीना सीख लिया।
  360. करो कुछ ऐसा दोस्ती में की ‘Thanks & Sorry’ words बे-ईमान लगे..निभाओ यारी ऐसे के ‘यार को छोड़ना मुश्किल’ और दुनिया छोड़ना आसान लगे…
  361. गलत कहते है लोग कि संगत का असर होता है,वो बरसो मेरे साथ रही, मगर फिर भी बेवफा निकली..!!
  362. मुस्कुराने के बहाने जल्दी खोजो वरना,जिन्दगी रुलाने के मौके तलाश लेगी
  363. कितना मुश्किल हे मोहबत की कहानी लिखना,जेसे पानी से पानी पर पानी लिखना ।
  364. किसी को गीता में ज्ञान न मिला, किसी को कुरान में ईमान न मिला। उस बंदे को आसमान में क्या रब मिलेगा जिसे इंसान में इंसान न मिला।
  365. “लफ्ज् दिल से निकलते हैं दिमाग से तो मतलब निकलते है.”
  366. तेरे इश्क से मिली है मेरे वजूद को ये शौहरत ,मेरा ज़िक्र ही कहाँ था तेरी दास्ताँ से पहले।
  367. गिद्ध भी कहीं चले गए लगता है उन्होंने देख लिया कि,इंसान हमसे अच्छा नोंचता है।
  368. एक सपने के टूटकर चकनाचूर हो जाने के बाद , दूसरा सपना देखने के हौसले को ‘ज़िंदगी’ कहते हैं॥
  369. गलती सुधरने का मौका तो उसी दिन से मिलना बंद हो गया था ,जिस दिन हाथ में पेंसिल की जगह पेन थमा दिया गया था |
  370. अब शिकायतेँ तुम से नहीँ खुद से है.. माना के सारे झूठ तेरे थे.. लेकिन उन पर यकिन तो मेरा था!!
  371. पोथी पढ़ पढ़ जग मुआ, पंडित भया न कोय । ढाई आखर प्रेम का, पढ़े सो पंडित होय ।
  372. सौदा कुछ ऐसा किया है तेरे ख़्वाबों ने मेरी नींदों से….या तो दोनों आते हैं …. या कोई नहीं आता !!
  373. फुर्सत नहीं है इन्सान को घर से मन्दिर तक जाने की..!ख्वाहिश रखता है श्मशान से सीधे स्वर्ग जाने की…!!!!
  374. अन्धकार समस्या नही है, दीपक जलाने के हमारे प्रयासों का अभाव ही समस्या है ।
  375. यूँ तो हम दुश्मनों के काफिलों से भी सर उठा के गुजर जाते थे,खौफ तो अक्सर अपनों की गलियों से गुजरने में लगता है…!
  376. स्वार्थ से रिश्ते बनाने की कितनी भी कोशिश करो यह बनेगा नहीं, और प्यार से बने रिश्ते को तोड़ने की कितनी भी कोशिश करो यह टूटेगा नहीं।
  377. कमाल का ताना देती है वो अक्सर मुझे, कि लिखते तो खूब हो.. समझा भी दिया करो !!!!
  378. दूध का सार है मलाई मे और जिंदगी का सार है भलाई में 🙂
  379. खोने की दहशत और पाने की चाहत न होती, तो ना ख़ुदा होता कोई और न इबादत होती
  380. सोया तो था में जिंदगी को अलविदा कह कर दोस्तों,किसी की बे-पनाह दुआओ ने मुझे फिर से जगा दिया..
  381. बेटी को जिसने मरवा दिया था पत्नी के कोख में,मोहल्ले में लडकिया ढूँढ रहा है नवरात्रे के कन्या भोज में।।।
  382. ना चाहते हुए भी आ जाता है, लबो पर नाम तेरा..!कभी तेरी तारीफों में…. तो कभी तेरी शिकायत मे…
  383. अगर लोग केवल जरुरत पर ही आपको याद करते है तो बुरा मत मानिये बल्कि गर्व कीजिये क्योंकि “मोमबत्ती की याद तभी आती है, जब अंधकार होता है।”
  384. इतना खुश रहो के साला गम बी कहे गलती से मे यहा कहा आ गया।….
  385. “इश्क” का धंधा ही बंघ कर दिया साहेब।…. मुनाफे में “जेब” जले.. और घाटे में “दिल”..
  386. अगर जींदगी मे कुछ पाना हो तो तरीके बदलो, ईरादे नही..
  387. करोड़ों में नीलाम होता है एक नेता का उतारा हुआ सूट,कचरे में फेक देते हैं शहीदों की वर्दी और बूट
  388. न जाने कब खर्च हो गये , पता ही न चला….वो लम्हे, जो छुपाकर रखे थे जीने के लिए…
  389. बड़ा आदमी वो होता है जिस से मिलने के बाद आदमी खुद को छोटा ना समझे।
  390. सदैव अपनी छोटी छोटी गलतियों से बचने की कोशिश करें क्योंकि मनुष्य पहाड़ों से नहीं बल्कि छोटे पत्थरों से ठोकर खाता है…!!!
  391. जब तक किस्मत का सिक्का हवा में है, तब खुद के बारे में फैसला कर लो क्योंकि जब वो नीचे आएगा तब अपना फैसला खुद सुनाएगा
  392. दोस्ती हर चहरे की मीठी मुस्कान होती है,दोस्ती ही सुख दुख की पहचान होती है,रूठ भी गऐ हम तो दिल पर मत लेना,क्योकी दोस्ती जरा सी नादान होती है..
  393. इतना भी मत घुमा ऐ जिन्दगी मै शहर का शायर हु कोई MRF का टायर नही
  394. जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों,यहाँ से ज़िंदा बचकर कोई नही जायेगा!
  395. कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त; वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते!
  396. ना तेरे आने कि खुशी ना तेरे जाने का गम,वो जमाना गया जब तेरे दीवाने थे हम।
  397. मंजिल चाहे कितनी भी उंची क्यो ना हो दोस्तो..!! रास्ते हमेशा पेरो के नीचे होते हे..!! ✌️
  398. कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त; वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते!
  399. ना तेरे आने कि खुशी ना तेरे जाने का गम,वो जमाना गया जब तेरे दीवाने थे हम।
  400. मंजिल चाहे कितनी भी उंची क्यो ना हो दोस्तो..!! रास्ते हमेशा पेरो के नीचे होते हे..!! ✌️
  401. अपने वजूद पर इतना न इतरा ए ज़िन्दगी…! वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है…!!
  402. हम जैसे सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं !समझदार तो केवल इतिहास पढ़ते हैं !!
  403. तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,हम ‘जान’ दे देते हैं मगर ‘जाने’ नहीं देते !!
  404. रिश्ता हो तो रूह से रूह का हो, दिल तो अक्सर एक दूसरे से भर जाया करते हैं….
  405. तुम अपने ज़ुल्म की इन्तेहाँ कर दो, फिर कोई हम सा बेजुबां मिले ना मिले…
  406. जिस नगर भी जाओ.. किस्से हैं कमबख्त बीवी के.. कोई ला के रो रहा है.. तो कोई लाने के लिए रो रहा है…
  407. भूख रिश्तों को भी लगती है.. प्यार परोस कर तो देखिये..!
  408. खूबसूरती से धोका, न खाइये जनाब, तलवार कितनी भी खूबसूरत क्यों न हो. मांगती तो खून ही है….!!
  409. न कहा करो हर बार की हम छोड़ देंगे तुमको, न हम इतने आम हैं, न ये तेरे बस की बात है…!!
  410. दोस्त को दौलत की निगाह से मत देखो ,वफा करने वाले दोस्त अक्सर गरीब हुआ करते हैं….!!
  411. दुश्मन बनाने के लिए ज़रूरी नही लड़ा जाए! आप थोड़े कामयाब हो जाओ तो वो ख़ैरात में मिलेंगे …
  412. ना सलाम याद रखना ना पैगाम याद रखना।छोटी सी तमन्ना है ऐ दोस्त मेरा नाम याद रखना।
  413. तज़ुर्बा है मेरा…. मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,संगमरमर पर तो हमने …..पाँव फिसलते देखे हैं…!
  414. हम शतरंज नही खेलते, क्योंकि दुश्मनों की हमारे सामने बैठने कि औकात नही और दोस्तो के खिलाफ़ हम चाल नही चलते
  415. इक महेबूब लापरवाह इक महोबत बेपनाह दोनो काफी हे सूकून बरबाद करने को!!
  416. कितनी छोटी सी दुनिया है मेरी, एक मै हूँ और एक दोस्ती तेरी…
  417. कुछ अलग करना है तो जरा भीड़ से हटकर चलो.. भीड़ साहस तो देती है, लेकिन पहचान छीन लेती है ।
  418. मसरूफ़ थे सब अपनी ज़िन्दगी की उलझनों में.. जरा सी ज़मीन हिली, सबको खुदा याद आने लगा.. 🙁
  419. तेरी याद से ही शुरू होती है मेरी हर सुबह..
  420. वक़्त भी लेता है करवटे कैसी कैसी.. इतनी तो उम्र भी नहीं थी जितने हमने सबक सीख लिए…
  421. हर फैसले होते नहीं, सिक्के उछाल कर.. यह दिल के मामले है.. जरा संभल कर!!
  422. बुरी आदतें अगर वक़्त पे ना बदलीं जायें, तो वो आदतें आपका वक़्त बदल देती हैं
  423. परिसथिति एक ऐसी चीज है जो इऩसान को सबकुछ सीखा देती है, बचपन मे ही बड़ा बना देती है।
  424. कर्मो से ही पहचान होती है इंसानों की.. अच्छे कपड़े तो बेजान पुतलो को भी पहनाये जाते है..।।
  425. नर्म लफ़्ज़ों से भी लग जाती है चोटें अक्सर, रिश्ते निभाना बड़ा नाज़ुक सा हुनर होता है…
  426. आज रोटी के पीछे भागता हूँ तो याद आता है, मुझेरोटी खिलाने के लिए कभी माँ मेरे पीछे भागती थी 🙁
  427. दिल बहलाने के लिये ही गुफ्तुगू कर लिया करो जनाब, मालूम तो मुझे भी है के हम आपको अच्छे नही लगते…
  428. इंसान को बोलना सीखने में दो साल लग जाते हैं लेकिन, क्या बोलना है, यह सीखने में पूरी ज़िन्दगी निकल जाती है..
  429. बुरी आदतें अगर वक़्त पे ना बदलीं जायें, तो वो आदतें आपका वक़्त बदल देती हैं
  430. परिसथिति एक ऐसी चीज है जो इऩसान को सबकुछ सीखा देती है, बचपन मे ही बड़ा बना देती है।
  431. तेरी दुआओ का दस्तुर भी अजब है मेरे मौला.. मुहबबत उन्ही को मिलती है जिन्हे निभानी नही आती..
  432. जीवन मैं एक बार जो फैसला कर लो तो फिर पीछे मुड़कर मत देखना क्योंकि पलट कर देखने वाले इतिहास नहीं बनाते।
  433. एक उड़ते हुए गुब्बारे पे क्या खूब लिखा था, “वो जो बाहर है वह नहीं, वह जो भीतर है वही आपको ऊपर ले जाता है!”
  434. फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में; फर्क होता है किस्मत और लकीर में; अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना; कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।
  435. इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया ए-ज़िन्दगी, चलने का न सही सम्भलने का हुनर तो आ गया ।
  436. लोग कहते है दुःख बुरा होता हे जब आता है रूलाता है, हम कहते है दुःख अच्छा होता है, जब आता है कुछ नया सिखाता जाता है
  437. ये मत कहो ख़ुदा से मेरी मुश्किले बड़ी हैं, ये मुश्किलों से कह दो मेरा ख़ुदा बड़ा है।।।।
  438. किसी रोज़ याद न कर पाऊँ तो खुदग़रज़ ना समझ लेना दोस्तों, छोटी सी इस उम्र मैं परेशानियां बहुत हैं..!!
  439. मौत को देखा तो नहीं, पर शायद वो बहुत खूबसूरत होगी, कम्बख़त जो भी उस से मिलता है, उसी का हो जाता है ।
  440. कईं रोज से कोई नया जखम न दिया पता करो सनम ठीक तो है न !!
  441. आत्महत्या कर ली गिरगिट ने सुसाइड नोट छोडकर……अब इंसान से ज्यादा मैं रंग नहीं बदल सकता।
  442. चेहरे “अजनबी” हो जाये तो कोई बात नही, लेकिन रवैये “अजनबी” हो जाये तो बडी “तकलीफ” देते हैं !
  443. दुआ कभी खाली नही जाती, बस लोग इंतजार नही करते..
  444. कर्मो से ही पहचान होती है इंसानों की.. अच्छे कपड़े तो बेजान पुतलो को भी पहनाये जाते है..।।
  445. नर्म लफ़्ज़ों से भी लग जाती है चोटें अक्सर, रिश्ते निभाना बड़ा नाज़ुक सा हुनर होता है…
  446. मुस्कुराहट, तबस्सुम, हँसी, कहकहे , सब के सब खो गए, हम बड़े हो गए ! 🙁
  447. बेजुबां पत्थरों पर लदे पड़े हैं करोड़ो के गहने मंदिरों में। उस देहलीज़ पे 1 रुपये के लिए नन्हे हाथों को तरसते देखा है।
  448. कैसे कह दूं की महंगाई बहुत है। मेरे शहर के चौराहे पर आज भी एक रूपये मे कई दुआएँ मिलती है।।
  449. कुछ अजीब सा रिश्ता है उसके और मेरे दरमियां, ना नफरत की वजह मिल रही है, ना मोहब्बत का सिला.
  450. दुनिया है छोटी, हम है मुसाफ़िर, कहीं न कहीं तो फिर से मुलाकात होगी.:)
  451. लफ्ज मेरी पहचान बने तो बेहतर है, चेहरे का क्या वो तो साथ चला जाएगा..
  452. तूँ देख या ना देख , तेरे ना देखने का गम नहीं , पर तेरी ये देख कर ना देखने की अदा भी देखने से कम नहीं।
  453. हर वक़्त ज़िन्दगी से गिले -शिकवे ठीक नहीं … कभी तो किश्ती को लहरों के सहारे छोड़ो
  454. जिसकी जितनी औकात होती है वो उतने ही बड़े फैसले लेता है,कांग्रेस ने चवन्नी बन्द की थी। 😂😂😂
  455. कुछ लोगों को अब ये टेंशन हो रही है कि मोदी जी कहीं ” सोने ” को “लोहा ” न घोषित कर दें। 😛😂
  456. पाकिस्तान साला कन्फ्यूज़ है …..खर्चा जंग पे करे…या नोट की नयी डाई बनवाने पे 😜😜
  457. Surgical strike at home— जो -जो पैसा पत्नियों ने छुपाया था अब सब बाहर निकलेगा 😅😅 — #500 #1000 banned
  458. ये तो सरासर चीटिंग है😇😇😇— काला धन बाहर से लाने का कहा था- ये अंदर का निकाल रहे है😜😜
  459. नरेंद्र मोदी जी ने hospital में 500 -100 के नोट इसलिए चलते रहने दिए क्योंकि उन्हें पता था की बहुतों को heart attack आएगा।
  460. अकेले मोदी ने पूरे देश पे एक साथ income tax की raid डाल दी — #500 #1000 banned
  461. मैं धारक को 5सौ व 1हज़ार रूपये अदा करने का वचन वापस लेता हूँ!– *मोदी* 💰😁😁💰😁😁
  462. आज रात जिस घर की लाइट जलती हुइ दिखे समझलो नोटो की गिनती चल रही हैं💰😁😁 #500 #1000 banned
  463. सबसे ज्यादा problem तो Big Boss के contestants को होने वाली है , किसी को पता नहीं बाहर क्या चल रहा है और जब तक बाहर आएंगे सब खत्म 😂😜😝 #500 #1000 banned
  464. 500 का change कोई देता नहीं था। ….. 2000 का change कौन देगा अब 😅😅😅
  465. जिन रिश्तों में हर बात का मतलब समझाना पड़े और हर बात की सफाई देनी पड़े वो रिश्ते , रिश्ते ना होकर बोझ बन जाते हैं।
  466. नाज़ुक लगते थे जो हसीन लोग … वास्ता पड़ा तो पत्थर के निकले।
  467. दीवार में चुनवा दिया है सब ख्वाइशों को….. अनारकली बन कर बहुत नाच रही थी मेरे सीने पर
  468. ये मेरा दिल ❤ है, कोई whαtѕαpp का ग्रुप नही, 😒 जो तू जब चाहे Left कर ले 😏😡…..
  469. कदर होती है इंसान की जरुरत पड़ने पर ही, बिना जरुरत के तो हीरे भी तिजोरी में रहते है…!!
  470. ये तो हद्द ही हो गयी अब terrorist पाकिस्तान में भी safe नहीं 😂😂
  471. surgical operation के नाम पर पोस्टमार्टम कर दिया 😂😂😂 ये है इंडियन आर्मी… वन्दे मातरम…..Salute to Indian Army
  472. भारत में श्राद्ध ख़त्म😵 …. पकिस्तान में शुरू…😂😂😂
  473. आतंकवादियों अब तुम्हे जन्नत जाने के लिए हिंदुस्तान आने की ज़रूरत नहीं …. भारतीय सेना ने home delivery शुरू कर दी है। जय हिन्द
  474. हर मर्ज़ का इलाज नहीं दवाख़ाने में, कुछ दर्द😵 चले जाते है सिर्फ़ मुस्कुराने में 😊!!
  475. किसी के लिए जीना पड़ता है ,तो किसी के लिए मरना पड़ता है !! दिल ना चाहे भी तो क्या करें , सबकी ख़ुशी के लिए हँसना पड़ता है !!
  476. आज़मा ले मुझको थोडा और ए खुदा,😘 तेरा बंदा 👦बस बिखरा 😓 हैं अब तक टूटा नही 😏😏
  477. अब अपनी शख्सियत की भला मैं क्या मिसाल दूँ यारों, ना जाने कितने लोग मशहूर हो गये, मुझे बदनाम करते करते…..!!
  478. चूक जाये वो वार कैसा…जीत कर हार जाये वो खिलाडी कैसा …और अपनी बात लोगो तक ना पहुँचा सके वो शायर कैसा
  479. दुनिया 🌍 में सबसे 😌 ज्यादा वजनदार ☝खाली जेब ☹ होती है, चलना मुश्किल 🏃हो जाता है
  480. दुआ तो दिल से मांगी जाती है … जुबां से नहीं , क़बूल तो उसकी भी होती है , जिसकी ज़ुबान नहीं होती।
  481. ये दुनिया अक्सर उन्हें सस्ते में लूट लेती है, खुद की क़ीमत का जिन्हें अंदाजा नहीं होता !!
  482. अब कहां दुआओं में वो बरक्कतें,…वो नसीहतें …वो हिदायतें, अब तो बस जरूरतों का जलूस हैं …मतलबों के सलाम हैं
  483. जिन्दगी के सफर से, बस इतना ही सबक सीखा है , सहारा कोई कोई ही देता है, धक्का देने को हर शख्स तैयार बैठा है…!!
  484. मिली थी जिन्दगी,किसी के ‘काम’ आने के लिए पर वक्त बित रहा है,कागज के टुकड़े कमाने के लिए ।
  485. दुनिया का सबसे मुश्किल काम करने लगा हूँ अपने काम से काम रखने लगा हूँ
  486. खुद को बिखरने मत देना कभी किसी हाल में , लोग गिरे हुए मकान की इंटे तक ले जाते है…..!!!
  487. उसकी मोहब्बत भी बादलो की तरह निकली … छायी मुझ पर और बरस किसी और पर गयी
  488. वो लफ्ज़ कहा से लाऊँ,जो तेरे दिल को मोम कर दे ….मेरा वजूद पिघल रहा है,तेरी बेरुखी से..!!
  489. देखकर दर्द किसी का जो आह निकल जाती है,बस इतनी सी बात आदमी को इन्सान बनाती है!
  490. जब इत्मीनान से, खंगाला खुद को…थोडा मै मिला और बहुत सारे तुम…!
  491. पुराना ज़हर नए नाम से मिला है मुझे… वो आस्तीन नहीं केंचुली बदल रहा था…
  492. घड़ी डिटर्जेंट से भी जयादा ख़राब हो गयी है, ज़िन्दगी..लोग इस्तेमाल तो करते हैं, पर विश्वास नहीं करते….
  493. इस तरह मिली वो मुझे सालों के बाद, जैसे हक़ीक़त मिली हो ख़यालों के बाद, मैं पूछता रहा उस से ख़तायें अपनी, बहुत रोई वो मेरे सवालों के बाद
  494. छोटे थे‬ 👦 तो ‪‎सब‬ 👫 ‪‎नाम‬ 😌 से ‪‎बुलाते थे‬, ☝‪ ‎बड़े हुए‬ 👱 तो बस ‪काम‬ 😎 से ‪‎बुलाते है‬ 😏😎
  495. सुना था मोहब्बत मिलती है मोहब्बत के बदले,हमारी बारी आई तो, रिवाज ही बदल गया
  496. मोबाइल‬📱 की गैलरी और ‪‎दिल‬💖 इतने साफ 👌रखो कि……‎अगर‬👆 कोई खोल✍ कर देखे तो ‪शर्मिंदगी‬😌 न हो….
  497. परछाई से कभी मत डरिए क्यूंकि परछाई होने का मतलब रौशनी कहीं आस पास ही है।
  498. हर इंसान दिल का बुरा नहीं होता .. बुझ जाता है दीपक अक्सर तेल की कमी के कारण .. हर बार कसूर हवा का नहीं होता…
  499. सारी उम्र ये सोचते रहते हैं कि चार लोग क्या कहेंगे और चार लोग अंत में बस यही कहते हैं ” राम नाम सत्य है “
  500. जरुरत तोड देती है इन्सान के घमंड को…, न होती मजबुरी तो हर बंदा खुदा होता…!!
  501. फुर्सत मिले तो दोस्तो का हाल भी पूछलिया करो दोस्तों … जिसके सीने मे दिलकी जगह तुम लोग धड़कते हो
  502. मौत से इसलिए भी डरता हूँ कि उस ऊपरवाले को क्या मुँह दिखाऊंगा … क्योकि यहाँ मैँने खुदा किसी और को माना था !!
  503. मोतियों को तो बिखर जाने की आदत है … लेकिन धागे की ज़िद होती है उन्हें पिरोए रखने की…!!
  504. ज़िन्दगी से आप जो भी बेहतर से बेहतर ले सकते हो ले लो क्यूंकि जब ज़िन्दगी लेने पर आती है तो साँसे तक भी ले जाती है
  505. आज आई है मेरी याद उसे ! ज़रूर किसी ने ठुकराया होगा !!
  506. दो हाथ से हम पचास लोगों को नही मार सकते, पर दो हाथ जोङ कर हम करोङो लोगों का दिल जीत सकते है..
  507. देश में 1000 लड़कों पर 940 लड़कियां है.. ये जो 60लड़के बच जाते हैं ना.. यही आगे चल के मोदी, वाजपेयी, कलाम या रतन टाटा बन के देश का नाम रोशन करेंगे..!!
  508. बात मुक्कदर पे आ के रुकी है वर्ना, कोई कसर तो न छोड़ी थी तुझे चाहने में !
  509. किस बात पर मिजाज बदला बदला सा है.. शिकायत है हमसे.. या ये असर किसी और का है..
  510. हजारों गम मेरी फितरत नही बदल सकते … क्यौकिं मेरी आदत हे हर समय मुस्कुराने की |
  511. दुआओ को भी अजीब इश्क है मुझसे… वो कबूल तक नहीं होती मुझसे जुदा होने के डर से!!!!!
  512. वाह वाह कहने की आदत डाल लो दोस्तों, मैं मोहब्बत में अपनी बर्बादीयाँ लिखने वाला हूँ।
  513. एक दिन हमने उनसे युही पूछ लिया मरते तो मुझ पर हो, तो फिर जीते किसके लिए हो।
  514. मोहब्बत दिल में कुछ ऐसी होनी चाहिए कि वो हासिल भले दूसरे को हो… पर कमी उसको ज़िन्दगी भर हमारी होनी चाहिए..
  515. तजुर्बे ने एक ही बात सिखाई है , नया दर्द ही पुराने दर्द की दवाई है . . . . . ! ! ! !
  516. गलत फ़हमियों से भी ख़त्म हो जाते है रिश्ते… हमेशा कसूर गलतियों का नहीं होता !!!
  517. बड़े ही अजब कायेदे हैं मेरे मुल्क के… यहाँ भूख से ज्यादा धर्म पर बेहस होती है॥
  518. अच्छे होते हैं बुरे लोग…जो अच्छा होने का नाटक तो नहीं करते॥
  519. मनाने की कोशिश तो बहुत की हमनें…पर जब वो हमारे लफ़्ज ना समझ सके.. तो हमारी खामोशियों को क्या समझेंगे
  520. सुनो… तुम ही रख लो अपना बना कर.. औरों ने तो छोड़ दिया तुम्हारा समझकर..!!
  521. कुछ लोग आए थे मेरा दुख बाँटने मैं जब खुश हुआ तो खफा होकर चल दिये
  522. डूबे हुओं को हमने बिठाया था अपनी कश्ती में यारो, और फिर कश्ती का बोझ कहकर, हमें ही उतारा गया।
  523. जिन्दगी का बस एक ही उसूल है यहाँ, तुझे गिरना भी खुद है और संभलना भी खुद है..
  524. गलतफहिमयों के सिलसिले आज इतने दिलचस्प हैं..कि हर ईंट सोचती है दीवार मुझ पर टिकी है।
  525. इतिहास गवाह है कि खबर हो या कबर खोदते अपने ही है॥
  526. इतना किसी को सताया नहीं करते…हद से ज़्यादा किसी को तड़पाया नहीं करते…जिनकी साँसें चल्ती हों आपके लफ़्हज़ों से…उन्हे अपनी आवाज़ के लिये तरसाया नहीं करते…
  527. मुझे हल्की सी फ़िकर है तुम्हारी,मैं नहीं जानती प्यार क्या होता है॥
  528. Ðekh ßhai..जिंदगी अगर एक ‪जंग‬ है तो तुम्हारा भाई भी एक ‪‎दबंग‬ है..!!
  529. इतनी शिकायत , इतनी शर्तें , इतनी पाबन्दी, तुम मोहब्बत कर रहे हो या सौदा कोई !!
  530. जब से परीक्षा वाली जिंदगी पूरी हुई है, तब से जिंदगी की परीक्षा शुरु हो गई है !!
  531. दिल‬ के अरमान को दिल मे सुला ना देना,अपनी खूबसूरत आँखो‬ को रुला ना देना, कल‬ किसने देखा है आख़िर, ‎हम‬ ना रहे तो हमे भुला ना ‪देना‬ !!
  532. लिख देना ये अल्फाज मेरी कबर पे…!! मोत अछी है मगर दिल का लगाना अच्छा नहीं…!!
  533. पसंद है मुझे उन लोगों से हारना…..!! जो मेरे हारने की वजह से पहली बार जीते हों…..!!!
  534. जिन्हें सपने देखना अच्छा लगता है, उन्हें रात छोटी लगती है और जिन्हें सपने पूरे करना अच्छा लगता है, उन्हें दिन छोटा लगता है।
  535. टूटता हुआ तारा सबकी दुआ पूरी करता है, क्योंकि उसे टूटने का दर्द मालूम होता है।
  536. वो अपनी मर्जी से बात करते हैँ और हम कितने पागल हैँ जो उनकी मर्जी का इंतजार करते हैं..!!!
  537. हद से बढ़ जाये तालुक तो गम मिलते हैं… हम इसी वास्ते अब हर शख्स से कम मिलते हँ…!
  538. काश..! कि वो लौट आयें मुझसे यह कहने, कि तुम कौन होते हो मुझसे बिछड़ने वाले..!
  539. आज आई है मेरी याद उसे ! ज़रूर किसी ने ठुकराया होगा !!
  540. दो हाथ से हम पचास लोगों को नही मार सकते, पर दो हाथ जोङ कर हम करोङो लोगों का दिल जीत सकते है..
  541. पगली मैं तो तुजे तब से चाहता हूँ जब Goldflake दो रूपये में आती थी ।
  542. शब्द ही ऐसी चीज़ है जिसकी वजह से इंसान या तो दिल में उतर जाता है या दिल से उतर जाता है।
  543. प्यार अगर सच्चा हो तो कभी नहीं बदलता न वक़्त के साथ न हलात के साथ
  544. मैं “किसी से” बेहतर करुं…क्या फर्क पड़ता है..!मै “किसी का” बेहतर करूं…बहुत फर्क पड़ता है..!!
  545. किसी को चाहो तो इस अंदाज़ से चाहो, कि वो तुम्हे मिले या ना मिले.. मगर उसे जब भी प्यार मिले, तो तुम याद आओ…।।
  546. वो अक्सर मुझसे पूछा करती थी, तुम मुझे कभी छोड़ कर तो नहीं जाओगे, काश मैंने भी पूछ लिया होता..
  547. आज कल शरीफ केवल वही लोग हैं जिनके मोबाईल में password नही होता हैं।
  548. कुछ अधूरा सा कहा है…तुम पूरा समझ लेना…. … .. .
  549. मुश्किल परिस्थितियों मैं मनुषय को “सहारे” की आवश्यकता होती है… “सलाह” की नहीं॥
  550. इंसान तो हर घर में पैदा होता है पर इंसानियत कहीं -कहीं ही जनम लेती है।
  551. ना जाने कौन से गुनाह कर बैठे हैं। … जो तमन्नाओं की उम्र में तज़ुर्बे मिल रहे हैं।
  552. दीवार में चुनवा दिया है सब ख्वाइशों को….. अनारकली बन कर बहुत नाच रही थी मेरे सीने पर
  553. लफ्ज़ बीमार से पड़ गये है आज कल…..एक खुराक तेरे दीदार की चाहिए
  554. नाज़ुक लगते थे जो हसीन लोग … वास्ता पड़ा तो पत्थर के निकले।
  555. इंसान की ख़ामोशी का मतलब ये है कि वो टूट चूका है
  556. अकेले रहने में और अकेले होने में फर्क होता है 😢
  557. कहाँ पूरी होती है दिल की सारी ख्वाइशें —- कि बारिश भी हो , यार भी हो … और पास भी हो
  558. ना जाने क्यों कोसते हैं लोग बदसूरती को…बर्बाद करने वाले तो हसीन चेहरे होते हैं….!!
  559. हर एक चीज़ में खूबसूरती होती है , लेकिन हर कोई उसे देख नहीं पाता।
  560. कदर होती है इंसान की जरुरत पड़ने पर ही, बिना जरुरत के तो हीरे भी तिजोरी में रहते है…!!
  561. अकेले ही गुजरती है ज़िन्दगी …. लोग तसल्लियाँ तो देते हैं पर साथ नहीं।
  562. चेहरे बदल-बदल कर मिलते है लोग मुझसे…. इतना बुरा सुलूक क्यूँ मेरी सादगी के साथ
  563. अपना 👦तो कोई दोस्त नही 😌 है, सब साले 👫 कलेजे ❤ के टुकडे है ।। 😘👫
  564. लोग भी बड़े अजीब होते है, गलत साबित होने से पहले माफ़ी नहीं मांगते, बल्कि तालुक तोड़ देते है.
  565. दुनिया 🌍 में सबसे 😌 ज्यादा वजनदार ☝खाली जेब ☹ होती है, चलना मुश्किल 🏃हो जाता है
  566. सालो बाद मिले थे, हम एक दूसरे से,उसकी गाडी बड़ी थी और मेरी दाढ़ी..
  567. कहाँ मिलता है कोई समझने वाला , सब समझा कर चले जाते हैं।
  568. आत्महत्या कर ली गिरगिट ने सुसाइड नोट छोडकर……अब इंसान से ज्यादा मैं रंग नहीं बदल सकता।
  569. झुको उतना ही जितना सही हो, बेवजह झुकना दुसरे के एहम को केवल बढ़ावा देता है।
  570. ज्यादा कुछ नहीं बदला उम्र बढ़ने के साथ , बचपन की ज़िद समझौतों में बदल जाती है।
  571. सादगी अगर हो लफ़्हज़ों में तो “इज़्ज़त ” बेपनाह और “बेमिसाल ” दोस्त मिल ही जाते हैं।
  572. ज़ख़्म तो बहुत है बिना दाग के , जो ज़ख़्म दिल पर हो उसका दाग कैसा
  573. बहुत ख़ास थे कभी हम किसी की नज़रों में … मगर नज़रों के तकाज़े बदलने में देर ही कितनी लगती है।
  574. तेरी याद से ही शुरू होती है मेरी हर सुबह..
  575. तज़ुर्बा है मेरा…. मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,संगमरमर पर तो हमने …..पाँव फिसलते देखे हैं…!
  576. ये मत कहो ख़ुदा से मेरी मुश्किले बड़ी हैं, ये मुश्किलों से कह दो मेरा ख़ुदा बड़ा है।।।।
  577. “लफ्ज् दिल से निकलते हैं दिमाग से तो मतलब निकलते है.”
  578. मुस्कुराने के बहाने जल्दी खोजो वरना,जिन्दगी रुलाने के मौके तलाश लेगी
  579. भूखा पेट, खाली जेब, और झूठा प्रेम – इंसान को जीवन में बहुत कुछ सिखा जाता है॥
  580. हम समंदर हैं, हमें खामोश ही रहने दो…. ज़रा मचल गये, तो शहर ले डूबेंगे…
  581. होठों की हँसी को ना समझ हक़ीक़त-ए-जिंदगी,दिल में उतर के देख हम कितने उदास है..
  582. गज़ब की बात है — पुरुष समझदारी की चक्की में पिस्ते रहे और स्त्रियाँ समझौते की चक्की में….
  583. आपका अपना कौन है ?
  584. उत्तर : जो किसी और के लिए तुम्हे नज़रअंदाज़ ना करे
  585. जीवन में विपत्ति आना “पार्ट ऑफ़ लाइफ” है … विपत्ति में भी मुस्करा कर शांति से बहार निकलना “आर्ट ऑफ़ लाइफ” है
  586. जरुरत तोड देती है इन्सान के घमंड को…, न होती मजबुरी तो हर बंदा खुदा होता…!!
  587. अंत में लिखी है दोनों की बर्बादी,आशिक़ हो या हो आतंकवादी
  588. मिले तो हजारो लोग थे, ज़िन्दगी में… पर वो सब से अलग थी, जो किस्मत में नहीं थी!
  589. मैं संभलने लगा जब..वह हद से गिरने लगी…
  590. छोटे छोटे कदम मीलों का सफर तय कर सकते हैं। छोटी छोटी बातें भी किसी के जीवन के दुखों को खुशियों में बदल सकती हैं।
  591. ज़िन्दगी की हकीकत को बस इतना ही जाना है !दर्द में अकेले हैं और खुशियों में सारा जमाना है…!
  592. उन्होंने जाते जाते बड़े गुरुर से कहाँ..चल जा तुझ जैसे बहुत मिलेंगे..हमने भी हंस के पूछा मुझ जैसा ही क्यू चाहिए !!
  593. जहाँ “अहंकार” होता है,वहाँ “ज्ञान” लुप्त हो जाता है।
  594. याद में नशा करता हूँ…. और नशे में याद करता हूँ….।।
  595. ॥ यकीन और दुआ नजर नही आते मगर, नामुमकिन को मुमकिन बना देते है॥
  596. हम जैसे सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं !समझदार तो केवल इतिहास पढ़ते हैं !!
  597. है दफ़न मुझमे कितनी रौनके मत पूछ ऐ दोस्त…..हर बार उजड़ के भी बस्ता रहा वो शहर हूँ मैं!!
  598. बदनाम क्यों करते हो तुम इश्क़ को , ए दुनिया वालो…मेहबूब तुम्हारा बेवफा है ,तो इश्क़ का क्या कसूर..!! 🙁
  599. करेगा ज़माना भी हमारी कदर एक दिन , बस ये वफादारी की आदत छूट जाने दो
  600. हम जैसे सिरफिरे ही इतिहास रचते हैं !समझदार तो केवल इतिहास पढ़ते हैं !!
  601. कैसे कह दूं की महंगाई बहुत है। मेरे शहर के चौराहे पर आज भी एक रूपये मे कई दुआएँ मिलती है।।
  602. इतना भी मत घुमा ऐ जिन्दगी मै शहर का शायर हु कोई MRF का टायर नही
  603. अपने वजूद पर इतना न इतरा ए ज़िन्दगी…! वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है…!!
  604. मंजिल चाहे कितनी भी उंची क्यो ना हो दोस्तो..!! रास्ते हमेशा पेरो के नीचे होते हे..!! ✌️
  605. हज़ार बार ली है तुमने तलाशी मेरे दिल की, बताओ कभी कुछ मिला है इसमें प्यार के सिवा..।
  606. तुम अपने ज़ुल्म की इन्तेहाँ कर दो, फिर कोई हम सा बेजुबां मिले ना मिले…
  607. भूख रिश्तों को भी लगती है.. प्यार परोस कर तो देखिये..!
  608. खूबसूरती से धोका, न खाइये जनाब, तलवार कितनी भी खूबसूरत क्यों न हो. मांगती तो खून ही है….!!
  609. न कहा करो हर बार की हम छोड़ देंगे तुमको, न हम इतने आम हैं, न ये तेरे बस की बात है…!!
  610. आज अपनी फालतू चीजें बेच रहा हूँ मैं..!है कोई ऐसा जिसे मेरी शराफत चाहिए..।।
  611. पगली तू बात करने का मौका तो दे, कसम से कहता हु, रूला देंगे तुझे तेरे ही सितम गिनाते गिनाते.
  612. “लफ्ज् दिल से निकलते हैं दिमाग से तो मतलब निकलते है”
  613. तू मांग तो सही अपनी दुआओ मे बददुआ मेरे लिए मै हंसकर खुदा से आमीन कह दूंगा!
  614. अपनी दोस्ती का बस इतना सा असूल है, जो तू कुबूल है…. तो तेरा सब कुछ कुबूल है…
  615. जाता हुआ मौसम लौटकर आया है..काश वो भी कोशिश करके देखे…!!
  616. अपनी मौत भी क्या मौत होगी, यू ही मर जायेंगे एक दिन तुम पर मरते-मरते !
  617. हारने वालो का भी अपना रुतबा होता हैं …मलाल वो करे जो दौड़ में शामिल नही थे..
  618. ये तेरा वहम है के हम तुम्हे ‪भूल‬ जायेगे..वो ‪शहर‬ तेरा होगा, जहाँ बेवफा लोग बसा करते है..
  619. अन्धकार समस्या नही है, दीपक जलाने के हमारे प्रयासों का अभाव ही समस्या है ।
  620. बेशक खूबसूरत तो वो आज भी है,लेकिन चेहरे पर वो मुस्कान नहीं,जो हम लाया करते थे…!
  621. काश !! OLX पे उदासी और अकेलापन भी बेचा जा सकता
  622. करीब आओ ज़रा के तुम्हारे बिन जीना है मुश्किल,दिल को तुमसे नही..तुम्हारी हर अदा से मोहब्बत है
  623. हो जा मेरी कि इतनी मोहब्बत दूँगा तुझे,लोग हसरत करेंगे तेरे जैसा नसीब पाने के लिए..!!
  624. मैं अपनी मोहब्बत में- बच्चो की तरह हूँ, जो मेरा हैं बस मेरा है किसी और को क्यो दुँ
  625. आज सोचा जिंन्दा हुँ, तो घूम लूँ, मरने के बाद तो भटकना ही है…!
  626. युं ही हम दिल को साफ़ रखा करते थे…पता नही था की, ‘किमत चेहरों की होती है’ !
  627. अंग्रेजी की किताब बन गई हो तुम | पसंद तो आती हो पर समझ् मे नही ||
  628. माफ़ी गल्तियों की होती है ..धोखे की नहीं
  629. दुनिया में जितनी अच्छी बातें हैं…सब कही जा चुकी हैं…बस उन पर अमल करना बाकी रह गया है॥
  630. बड़े ही अजब कायेदे हैं मेरे मुल्क के… यहाँ भूख से ज्यादा धर्म पर बेहस होती है॥
  631. महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं
  632. जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की
  633. आँख के बदले में आँख पूरे विश्व को अँधा बना देगी
  634. गन्दगी में तो हम सभी हैं, पर कुछ ऐसे भी हैं जो केवल सितारों को ही देखते हैं।
  635. मैं जिससे भी मिला हूँ, उससे प्रभावित हुआ हूँ
  636. गलत कहते है लोग की सफेद रंग मै वफा होती है यारो,अगर ऐसा होता तो आज “नमक”, जख्मो की दवा होती!
  637. सब पूछते है मुझसे मौहब्बत है क्या ? मुस्करा देता हूँ मैं और याद आ जाती है माँ॥
  638. हमसे भुलाया ही नहीं जाता, एक मुखलिस का प्यार;लोग जिगर वाले हैं, जो रोज नया महबूब बना लेते हैं!”
  639. अपून के गली मेँ संभाल के आना पगली ..! अगर पैर फिसल गया तो सिधे मोहोब्बत मेँ गिरेगी।
  640. ना किसी से ईर्ष्या!..ना किसी से कोई होड़,मेरी अपनी मंजिलें,मेरी अपनी दौड़…
  641. “क्या लिखूँ , अपनी जिंदगी के बारे में दोस्तों , वो लोग ही बिछड़ गए , जो जिंदगी हुआ करते थे” !!
  642. कितना मुश्किल हे मोहबत की कहानी लिखना,जेसे पानी से पानी पर पानी लिखना ।
  643. दुश्मन बनाने के लिए ज़रूरी नही लड़ा जाए! आप थोड़े कामयाब हो जाओ तो वो ख़ैरात में मिलेंगे …
  644. तज़ुर्बा है मेरा…. मिट्टी की पकड़ मजबुत होती है,संगमरमर पर तो हमने …..पाँव फिसलते देखे हैं…!
  645. आदत नई हमे पीठ पीछे वार करने की !!दो शब्द काम बोलते है पर सामने बोलते है !!
  646. हम शतरंज नही खेलते, क्योंकि दुश्मनों की हमारे सामने बैठने कि औकात नही और दोस्तो के खिलाफ़ हम चाल नही चलते
  647. चलो माना तुम्हारी आदत हैं तडपाना, मगर जरा सोचो अगर कोई मर गया तो…
  648. अगर “बेवफाओं” की अलग ही दुनिया होती तो मेरी वाली वहाँ की “रानी” होती..!!
  649. इक महेबूब लापरवाह इक महोबत बेपनाह दोनो काफी हे सूकून बरबाद करने को!!
  650. वो जो हमसे नफरत करते हैं,हम तो आज भी सिर्फ उन पर मरते हैं,नफरत है तो क्या हुआ यारो,कुछ तो है जो वो सिर्फ हमसे करते हैं।
  651. तेरी याद से ही शुरू होती है मेरी हर सुबह..
  652. हर फैसले होते नहीं, सिक्के उछाल कर.. यह दिल के मामले है.. जरा संभल कर!!
  653. बुरी आदतें अगर वक़्त पे ना बदलीं जायें, तो वो आदतें आपका वक़्त बदल देती हैं
  654. दिल बहलाने के लिये ही गुफ्तुगू कर लिया करो जनाब, मालूम तो मुझे भी है के हम आपको अच्छे नही लगते…
  655. इंसान को बोलना सीखने में दो साल लग जाते हैं लेकिन, क्या बोलना है, यह सीखने में पूरी ज़िन्दगी निकल जाती है..
  656. दूध का सार है मलाई मे और जिंदगी का सार है भलाई में 🙂
  657. कोई इल्जाम रह गया हो तो वो भी दे दो.. पहले भी हम बुरे थे, अब थोड़े और सही…!!
  658. तेरी दुआओ का दस्तुर भी अजब है मेरे मौला.. मुहबबत उन्ही को मिलती है जिन्हे निभानी नही आती..
  659. जीवन मैं एक बार जो फैसला कर लो तो फिर पीछे मुड़कर मत देखना क्योंकि पलट कर देखने वाले इतिहास नहीं बनाते।
  660. आख़िर तुम भी उस आइने की तरह ही निकले…जो भी सामने आया तुम उसी के हो गए.!!
  661. बचपन में भरी दुपहरी नाप आते थे पूरा महोल्ला, जब से डिग्रियाँ समझ में आई, पाँव जलने लगे 🙁
  662. तुझे जैसे चलना है वैसे चल ए ज़िंदगी मेरी… मैने तो तुझसे हर उम्मीद छोड रखी है.. !!!!
  663. इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया ए-ज़िन्दगी, चलने का न सही सम्भलने का हुनर तो आ गया ।
  664. ये मत कहो ख़ुदा से मेरी मुश्किले बड़ी हैं, ये मुश्किलों से कह दो मेरा ख़ुदा बड़ा है।।।।
  665. किसी रोज़ याद न कर पाऊँ तो खुदग़रज़ ना समझ लेना दोस्तों, छोटी सी इस उम्र मैं परेशानियां बहुत हैं..!!
  666. मौत को देखा तो नहीं, पर शायद वो बहुत खूबसूरत होगी, कम्बख़त जो भी उस से मिलता है, उसी का हो जाता है ।
  667. प्यार करता हु इसलिए फ़िक्र करता हूँ, नफरत करुगा तो जिक्र भी नही करुगा
  668. कईं रोज से कोई नया जखम न दिया पता करो सनम ठीक तो है न !!
  669. आत्महत्या कर ली गिरगिट ने सुसाइड नोट छोडकर……अब इंसान से ज्यादा मैं रंग नहीं बदल सकता।
  670. चेहरे “अजनबी” हो जाये तो कोई बात नही, लेकिन रवैये “अजनबी” हो जाये तो बडी “तकलीफ” देते हैं !
  671. तकलीफें तो हज़ारों हैं इस ज़माने में, बस कोई अपना नज़र अंदाज़ करे तो बर्दाश्त नहीं होता !!
  672. लो..बदल गया मिजाज-ऎ-मौसम…. हुबहू तुम्हारी तरह..!!!।
  673. जरा देखो तो ये दरवाजे पर दस्तक किसने दी है, अगर ‘इश्क’ हो तो कहना, अब दिल यहाँ नही रहता..
  674. बचपन से बादाम खा रहा हू । तुझे भूलाना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है।।
  675. दुआ कभी खाली नही जाती, बस लोग इंतजार नही करते..
  676. दुख तो अपने ही देते हैं वरना गैरों को कैसे पता की हमें तकलीफ किस बात से होती है…..
  677. दुनिया है छोटी, हम है मुसाफ़िर, कहीं न कहीं तो फिर से मुलाकात होगी.:)
  678. मेरे मिज़ाज को समझने के लिए, बस इतना ही काफी है, मैं उसका हरगिज़ नहीं होता….. जो हर एक का हो जाये।
  679. कुछ अजीब सा रिश्ता है उसके और मेरे दरमियां, ना नफरत की वजह मिल रही है, ना मोहब्बत का सिला
  680. लगता है बारिश को भी… कब्ज़ हो गयी है… मौसम बनता है पर आती नहीं…
  681. लफ्ज मेरी पहचान बने तो बेहतर है, चेहरे का क्या वो तो साथ चला जाएगा..
  682. घर वालो चिन्ता है इसको कोन मिलेगी, ओर दोस्तो चिन्ता है इसको ओर कितनी मिलेगी 😀
  683. उसे बारिश‬ ☂ मे भीगना अच्छा लगता है ओर ‪‎मुझे‬ सिर्फ़ बारिश मे भीगती हुयी ‪‎वो‬
  684. सुबह से दौड रही है चाकू लेकर पगली मेरे पीछे.. मैँने तो मजाक में कहा था “दिल चीर के देख, तेरा ही नाम होगा”
  685. लहरों का सुकून तो सभी को पसंद है, लेकिन तुफानो में कश्ती निकालने का मजा ही कुछ और है
  686. ये NDA सरकार है यहाँ घोटाला राष्ट्रहित के लिए होता है ।
  687. बाबा रामदेव के पतंजलि की ओर से एक नया बयान जारी.. Google Maps इस्तेमाल ना करें।। स्वदेशी बनें, चाय वाले से रास्ता पूछें !!
  688. खोने की दहशत और पाने की चाहत न होती, तो ना ख़ुदा होता कोई और न इबादत होती
  689. माना की दूरियाँ कुछ बढ़ सी गयीं हैं.. लेकिन.. तेरे हिस्से का वक़्त आज भी तन्हा गुजरता है..
  690. I know I am gold but I am not your jewellery.
  691. तुम भी समझ रहे हो…हम भी समझ रहे हैं… फिर दिल के सवालों में क्यों हम उलझ रहे हैं…!!!
  692. I could conquer the world with just one hand as long as you are holding the other.
  693. तेरे बाद किसी को प्यार से ना देखा हमने. हमे इश्क का शौक है, आवारगी का नही ..
  694. The person who once topped the inbox, now flashes in “people you may know.”.!!
  695. न ज़िद है न कोई ग़ुरूर है हमें, बस तुम्हें पाने का सुरूर है हमें, इश्क गुनाह है तो ग़लती की हमने, सज़ा जो भी हो मंज़ूर है हमें…..
  696. Dear phone, thanks for being there when I feel alone.
  697. Na sazza na maafi.. Boyz ke liye toh hamari selfie hi kaafi..
  698. Best business is to mind your own business.
  699. जो कहे मेरे पास वक्त नही, असल में वो व्यस्त नही अस्त-व्यस्त हैं..
  700. Say it to my face, nt through ur status
  701. माफ़ी गल्तियों की होती है ..धोखे की नहीं
  702. If I delete your number, you’re basically deleted from my life.
  703. तेरी गली में आकर खो गये हैं दोंनो, मैं दिल को ढ़ूँढ़ता हुँ दिल तुमको ढ़ूँढ़ता है..
  704. Sometimes sorry just isn’t enough. Even if you mean it with all your heart.
  705. मैंने बस “तुमसे” बेइन्तहां मोहब्बत की है. . . ना तुम्हें ‘पाने’ के बारे में सोचा… ना ही ‘खोने’ के बारे में
  706. Sees the character of a person in the strength of their apology.
  707. वो रिश्ता भी बहुत Cute है जिस मे एक Tom की तरह ज़िद्दी, और दूसरा Jerry की तरह शरारती हो…
  708. After a while, I eventually fell in love and there was nobody to pick me up.
  709. Mountain can fly, Oceans can dry, you forget me, but how can I
  710. वक़्त ने ज़रा सी करवट क्या ली, गैरो की लाइन में सबसे आगे पाया अपनों को !!
  711. There is only one happiness in life…. to love and to be loved
  712. हो गई थी दिल को कुछ उम्मीद सी, खैर तुमने जो किया अच्छा किया !
  713. Sometimes I’m not angry, I’m hurt and there’s a big difference
  714. दो हिस्सो में बंट गये मेरे तमाम अरमान.. कुछ तुझे पाने निकले, कुछ मुझे समझाने निकले।
  715. The world is full of nice people, if you can’t find one… Be one.
  716. Oh buddy…go n buy personality b4 talkng to me
  717. कदर होती है इंसान की जरुरत पड़ने पर ही, बिना जरुरत के तो हीरे भी तिजोरी में रहते है…!!
  718. Be positive nd Be practical….but both can’t work at the same time
  719. आज़मा ले मुझको थोडा और ए खुदा,😘 तेरा बंदा 👦बस बिखरा 😓 हैं अब तक टूटा नही 😏😏
  720. Motivation gets you moving and determination keeps you going. 😉
  721. पसंद है मुझे उन लोगों से हारना…..!! जो मेरे हारने की वजह से पहली बार जीते हों…..!!!
  722. A girl is so simple that even a TEDDY BEAR can make her happy 🙂
  723. अंग्रेजी की किताब बन गई हो तुम | पसंद तो आती हो पर समझ् मे नही ||
  724. A negative mind will never give u a positive life
  725. दोस्ती में ना कोई दिन , ना कोई वार होता हैं,ये तो वो एहसास है जिसमे बस यार होता हैं
  726. When you talk to god, its prayer, but when god talks to you, it’s schizophrenia.
  727. नाज़ुक लगते थे जो हसीन लोग … वास्ता पड़ा तो पत्थर के निकले।
  728. I’m fat. But you’re ugly. At least I can diet.
  729. हर एक चीज़ में खूबसूरती होती है , लेकिन हर कोई उसे देख नहीं पाता।
  730. किसी का हाथ थाम कर छोरना नहीं,वादा किसी से करो तो तोरना नहीं,कोई अगर तोर दे दिल आप का,तो बिना हाथ पैर तोडे उसे छोरना नहीं…
  731. मेरी यादो की शुरुआत ही तुमसे होती है दोस्तों … तूम ये न कहा करो की मुझे दुआओ में याद रखना…
  732. ना मिलना , ना कॉल , ना SMS मुझे तुम्हारी चिंता हो रही है . क्या हुआ ? चिड़ियाघर वालों ने दुबारा पकड़ लिया क्या ?.
  733. देश के सारे बाप जो आज तक अपने बच्चों को सलाह देते थे कि कुछ बनना है तो पढ़ो लिखो… वो सब आज शर्मिंदा है और अपने बच्चो से आँखें नहीं मिला पा रहे … क्यूंकि लालू से सिद्ध कर दिया अगर बाप में दम है तो कोई बच्चा नालायक नहीं होता।
  734. महान सपने देखने वालों के महान सपने हमेशा पूरे होते हैं
  735. कितना मुश्किल है ज़िन्दगी का ये सफ़र; खुदा ने मरना हराम किया, लोगों ने जीना!
  736. पराया धन होकर भी कभी पराई नही होती। शायद इसीलिए किसी बाप से हंसकर बेटी की, विदाई नही होती।।
  737. जिस व्यक्ति ने कभी गलती नहीं कि उसने कभी कुछ नया करने की कोशिश नहीं की
  738. दावे दोस्ती के मुझे नहीं आते यारो,एक जान है जब दिल चाहें मांग लेना..
  739. करेगा ज़माना भी हमारी कदर एक दिन , बस ये वफादारी की आदत छूट जाने दो
  740. जैसे ही भय आपके करीब आये , उसपर आक्रमण कर उसे नष्ट कर दीजिये
  741. बुरा वक्त तो सबका आता है, इसमें कोई बिखर जाता है और कोई निखर जाता है .
  742. प्रसन्नता पहले से निर्मित कोई चीज नहीं है..ये आप ही के कर्मों से आती है
  743. अब हैरान नही होता अगर किसी का दिल टुटजाये.. अब तो चौक जाता हुँ किसी के प्यार कि कामयाबी पर…
  744. तीन चीजें जादा देर तक नहीं छुप सकती, सूरज चंद्रमा और सत्य
  745. बचपन में भरी दुपहरी नाप आते थे पूरा महोल्ला, जब से डिग्रियाँ समझ में आई, पाँव जलने लगे 🙁
  746. मेरे बहुत अच्छे दोस्त है ज़माने में.. बस थोड़ी जिंदगी उलझी पड़ी है 2 वक़्त की रोटी कमाने में..
  747. मुझे ऊंचाइयों पर देखकर हैरान है बहुत लोग… पर किसी ने मेरे पैरों के छाले नहीं देखे…!
  748. दूसरों को छोटा कर के खुद बड़ा बनने की कोशिश न करें।
  749. हमारी सही सोच एक नकारात्मक विचार को सकारात्मक विचार में बदल कटी हैं!!
  750. ये दुनिया है तेज़ धूप, पर वो तो बस छाँव होती हैं | स्नेह से सजी, ममता से भरी, माँ तो बस माँ होती हैं ||
  751. करोड़ों में नीलाम होता है एक नेता का उतारा हुआ सूट,कचरे में फेक देते हैं शहीदों की वर्दी और बूट
  752. न जाने कब खर्च हो गये , पता ही न चला….वो लम्हे, जो छुपाकर रखे थे जीने के लिए…
  753. बड़ा आदमी वो होता है जिस से मिलने के बाद आदमी खुद को छोटा ना समझे।
  754. सदैव अपनी छोटी छोटी गलतियों से बचने की कोशिश करें क्योंकि मनुष्य पहाड़ों से नहीं बल्कि छोटे पत्थरों से ठोकर खाता है…!!!
  755. जब तक किस्मत का सिक्का हवा में है, तब खुद के बारे में फैसला कर लो क्योंकि जब वो नीचे आएगा तब अपना फैसला खुद सुनाएगा
  756. दोस्ती हर चहरे की मीठी मुस्कान होती है,दोस्ती ही सुख दुख की पहचान होती है,रूठ भी गऐ हम तो दिल पर मत लेना,क्योकी दोस्ती जरा सी नादान होती है..
  757. इतना भी मत घुमा ऐ जिन्दगी मै शहर का शायर हु कोई MRF का टायर नही
  758. जिंदगी को इतना सिरियस लेने की जरूरत नही यारों,यहाँ से ज़िंदा बचकर कोई नही जायेगा!
  759. कुछ तो बात है तेरी फितरत में ऐ दोस्त; वरना तुझ को याद करने की खता हम बार-बार न करते!
  760. ना तेरे आने कि खुशी ना तेरे जाने का गम,वो जमाना गया जब तेरे दीवाने थे हम।
  761. मंजिल चाहे कितनी भी उंची क्यो ना हो दोस्तो..!! रास्ते हमेशा पेरो के नीचे होते हे..!! ✌️
  762. अपने वजूद पर इतना न इतरा ए ज़िन्दगी…! वो तो मौत है जो तुझे मोहलत देती जा रही है…!!
  763. हर फैसले होते नहीं, सिक्के उछाल कर.. यह दिल के मामले है.. जरा संभल कर!!
  764. बुरी आदतें अगर वक़्त पे ना बदलीं जायें, तो वो आदतें आपका वक़्त बदल देती हैं
  765. परिसथिति एक ऐसी चीज है जो इऩसान को सबकुछ सीखा देती है, बचपन मे ही बड़ा बना देती है।
  766. कर्मो से ही पहचान होती है इंसानों की.. अच्छे कपड़े तो बेजान पुतलो को भी पहनाये जाते है..।।
  767. नर्म लफ़्ज़ों से भी लग जाती है चोटें अक्सर, रिश्ते निभाना बड़ा नाज़ुक सा हुनर होता है…
  768. आज रोटी के पीछे भागता हूँ तो याद आता है, मुझेरोटी खिलाने के लिए कभी माँ मेरे पीछे भागती थी 🙁
  769. दिल बहलाने के लिये ही गुफ्तुगू कर लिया करो जनाब, मालूम तो मुझे भी है के हम आपको अच्छे नही लगते…
  770. इंसान को बोलना सीखने में दो साल लग जाते हैं लेकिन, क्या बोलना है, यह सीखने में पूरी ज़िन्दगी निकल जाती है..
  771. मुस्कुराहट, तबस्सुम, हँसी, कहकहे , सब के सब खो गए, हम बड़े हो गए ! 🙁
  772. बेजुबां पत्थरों पर लदे पड़े हैं करोड़ो के गहने मंदिरों में। उस देहलीज़ पे 1 रुपये के लिए नन्हे हाथों को तरसते देखा है।
  773. तेरी दुआओ का दस्तुर भी अजब है मेरे मौला.. मुहबबत उन्ही को मिलती है जिन्हे निभानी नही आती..
  774. जीवन मैं एक बार जो फैसला कर लो तो फिर पीछे मुड़कर मत देखना क्योंकि पलट कर देखने वाले इतिहास नहीं बनाते।
  775. एक उड़ते हुए गुब्बारे पे क्या खूब लिखा था, “वो जो बाहर है वह नहीं, वह जो भीतर है वही आपको ऊपर ले जाता है!”
  776. फर्क होता है खुदा और फ़क़ीर में; फर्क होता है किस्मत और लकीर में; अगर कुछ चाहो और न मिले तो समझ लेना; कि कुछ और अच्छा लिखा है तक़दीर में।
  777. इतनी ठोकरे देने के लिए शुक्रिया ए-ज़िन्दगी, चलने का न सही सम्भलने का हुनर तो आ गया ।
  778. लोग कहते है दुःख बुरा होता हे जब आता है रूलाता है, हम कहते है दुःख अच्छा होता है, जब आता है कुछ नया सिखाता जाता है
  779. ये मत कहो ख़ुदा से मेरी मुश्किले बड़ी हैं, ये मुश्किलों से कह दो मेरा ख़ुदा बड़ा है।।।।
  780. किसी रोज़ याद न कर पाऊँ तो खुदग़रज़ ना समझ लेना दोस्तों, छोटी सी इस उम्र मैं परेशानियां बहुत हैं..!!
  781. मौत को देखा तो नहीं, पर शायद वो बहुत खूबसूरत होगी, कम्बख़त जो भी उस से मिलता है, उसी का हो जाता है ।
  782. कईं रोज से कोई नया जखम न दिया पता करो सनम ठीक तो है न !!