Interesting Facts about Christmas in Hindi | Amazing Facts

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

क्रिसमस पर कुछ मजेदार रोचक तथ्य

Interesting Facts About Christmas In Hindi

नमस्कार दोस्तों “shayarisms4lovers.in” में आपका स्वागत है |

हम सब जानते है की लगभग संपूर्ण विश्व में 25 दिसम्बर के दिन को क्रिसमस के रूप में मनाया जाता है, यह त्यौहार ईसाई समुदाय का सबसे बड़ा त्यौहार है, आइये दोस्तों जानते है ईसाइयों (क्रिश्चंस) के इस सबसे बड़े त्यौहार से जुड़ी बहुत सी दिलचस्प बातें हैं:

क्यों मनाते हैं क्रिसमस का यह पर्व?

क्रिसमस का आरंभ करीबन चौथी सदी में हुआ था। यीशु के पैदा होने और मरने के सैकड़ों साल बाद जाकर कहीं लोगों ने 25 दिसम्बर को क्रिसमस या बड़ा दिन, ईसा मसीह या यीशु के जन्म की खुशी में मनाया जाने वाला त्यौहार है। 25 दिसम्बर के दिन लगभग संपूर्ण विश्व मे अवकाश रहता है। मगर इस तारीख को यीशु का जन्म नहीं हुआ था क्यूंकि सबूत दिखाते हैं कि वह अक्टूबर में पैदा हुए थे। दिसम्बर में नहीं। ईसाई होने का दावा करने वाले कुछ लोगों ने बाद में जाकर इस दिन को चुना था |

क्रिसमस से 12 दिन के उत्सव “Christmastide” की भी शुरुआत होती है। एन्नो डोमिनी काल प्रणाली के आधार पर यीशु का जन्म, 7 से 2 ई.पू. के बीच हुआ था। 25 दिसम्बर यीशु मसीह के जन्म की कोई ज्ञात वास्तविक जन्म तिथि नहीं है और मान्यता ये है इस दिन रोम के गैर ईसाई लोग अजेय सूर्य का जन्मदिन मनाते थे और ईसाई चाहते थे की यीशु का जन्मदिन भी इसी दिन मनाया जाए।  आधुनिक क्रिसमस की छुट्टियों मे एक दूसरे को उपहार देना, चर्च मे समारोह और विभिन्न सजावट करना शामिल है। इस सजावट के प्रदर्शन मे क्रिसमस का पेड़, रंग बिरंगी रोशनियाँ,  जन्म के झाँकी और हॉली आदि शामिल हैं। सांता क्लॉज़ (जिसे क्रिसमस का पिता भी कहा जाता है हालाँकि, दोनों का मूल भिन्न है) क्रिसमस से जुड़ी एक लोकप्रिय पौराणिक परंतु कल्पित शख्सियत है जिसे अक्सर क्रिसमस पर बच्चों के लिए तोहफे लाने के साथ जोड़ा जाता है। सांता(Santa) के आधुनिक स्वरूप के लिए मीडिया मुख्य रूप से उत्तरदायी है।

क्रिसमस को सभी ईसाई लोग मनाते हैं और आजकल कई गैर ईसाई लोग भी इसे एक धर्मनिरपेक्ष, सांस्कृतिक उत्सव के रूप मे मनाते हैं। सर्दियों के मौसम में जब सूरज की गर्मी कम हो जाती है तो गैर ईसाई इस इरादे से पूजा पाठ करते और रीति- रस्म मनाते थे कि सूरज अपनी लम्बी यात्रा से लौट आए और दोबारा उन्हें …

Continue Reading