shayarisms4lovers mar18 92 - तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे

तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे

तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे तुझे ऐ बेवफा हम ज़िंदगी का आसरा समझे बड़े नादान थे हम हाय समझे भी तो क्या समझे मुहब्बत में हमें तक़दीर ने धोखे दिए क्या क्या जो दिल का दर्द था इस दर्द को दिल की दवा समझे हमारी बेबसी ये कह रही है हाय रो रो के डूबोया उसने कश्ती को जिसे हम नाखुदा समझे कहाँ जाएं की इस दुनिया में कोई भी नहीं अपना उसी ने बेवफाई की जिसे जान -ऐ -वफ़ा समझे Tujhe ae bewafa hum zindagi ka aasra samjhe tujhe ae bewafa hum zindagi ka aasra samjhe bade naadaan the hum haaye samjhe bhi to kyaa samjhe muhabbat mein hamein taqdeer ne dhoke diye kyaa kyaa jo dil kaa dard tha is dard ko dil ki davaa samjhe hamari bebasi yeh keh rahi hai haaye ro ro ke duboyaa usne kashti ko jise hum naKhudaa samjhe kidhar jaayein ki is duniyaa mein koi bhi nahiin apnaa usi ne bewafai ki jise jaan-ae-wafa samjhe

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 42 - किस ने की थी वफ़ा जो हम करते – Faraz Ahmed Shayari

किस ने की थी वफ़ा जो हम करते – Faraz Ahmed Shayari

नाकामी अपनी नाकामी का एक यह भी सबब है ” फ़राज़ ” चीज़ जो भी मांगते हैं सब से जुदा मांगते हैं Naakami Apni Naakami Ka Ek Yeh Bhi Sabab Hai “Faraz” Cheez Jo Maangte Hain Sub Se Juda Maangte Hain बरसो के प्यासे बस इतना ही कहा था हम बरसो के प्यासे हैं ” फ़राज़ “ होंटो को उस ने चूम कर खामोश कर दिया . Barso ke pyase bus itna hi kaha tha hum barso ke pyase hain “Faraz” honto ko us ne choom kar khamosh kar diya. बिछडने का सलीका उस को तो बिछडने का सलीका भी नहीं आया ” फ़राज़ “ जाते हुए वो खुद को यहीं छोड़ गया Bicharne ka Saleeka Us ko to Bicharne ka Saleeka bhi nahi ayaa “Faraz” Jate hue Khud ko yahin Chor gaya. तेरे जाने के बाद अकेले तो हम पहले भी जी रहे थे ” फ़राज़ “ क्यों तन्हा से हो गए है तेरे जाने के बाद Tere Jane Ke Baad Akele To Hum Pehle Bhi Ji Rahe The “Faraz” Kyon Tanha Se Ho Gaye Hai Tere Jane Ke Baad दो गज़ कफ़न ऐ इंसान इब्न-ऐ -आदम से नंगा आया है तू ” फ़राज़ ” कितना सफर किया है […]

Continue Reading
IMG 01802 - कोई तो जलवा खुदा के बास्ते

कोई तो जलवा खुदा के बास्ते

अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो – फ़िल्मी शायरी  दीदार के काबिल कोई तो जलवा खुदा के बास्ते दीदार के काबिल दिखाई तो दे संगदिल तो मिल चुके है हजारो कोई एहले दिल तो दिखाई दे Didar Ke Kabil Koi to jalwaa khudaa ke bastee didar ke kabil dikhaee to de Sangdil to mil chuke hai hajaro koi ehle dil to dikhai de… इश्क़ आसमानो से कहो अगर हमारी उड़ान देखनी हो तो अपना कद और ऊँचा कर ले हुसन वालो से कहो अगर इश्क़ देखना हो तो हम से आके मिलें Ishq Asmanoo se kahoo agar hamari udan dekhni ho To apna kad aur unchaa kar le Husaan walo se kaho agar ishq dekhana ho to hum se ake mile… दिललगी हमने बहुत देखे हैं इश्क़ में जान देने वाले पर क्या करे हजूर आशक़ी दिललगी नहीं होती Dillagi Humne bahut dekhe hain ishq mein jaan dene wale Par kya kare hajoor ashqi dillagi nahi hoti… शमा और परवाना हूँ मैं परवाना मगर कोई शमा तो हो रात तो हो जान देने को हूँ हाजिर मगर कोई बात तो हो Shama Aur Parwana Hoon main parwana magar koi shama to ho raat to ho Jaan dene ko hoon hajir magar koi baat […]

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 33 - आज फिर दर्द -ओ -गम के चिराग जले

आज फिर दर्द -ओ -गम के चिराग जले

आज फिर दर्द -ओ -गम के चिराग जले आज फिर दौर -ऐ -महफ़िल रात भर चले आज फिर नज़र -ऐ तराना पेश कर चले आज फिर तेरी महफ़िल से बे -आबरू हो चले aaj phir dard-o-gam ke chirag jale aaj phir daur-ae-mehfil raat bhar chale aaj phir nazar-ae tarana pesh kar chale aaj phir teri mehfil se be-abru ho chale मिट गई हस्ती पर गुमाँ -ऐ – बयान न गया हर कोई छू के गया पर दर्द -ऐ -दिल न गया कोशिश -ऐ-नाकाम की हमने पर सूरत -ऐ -यार भुलाया न गया mit gaye hasti par guman-ae-byaan na gaya har koi chuu ke gaya par dard-ae-dil na gaya kosish-ae-nakaam ki humne par surat-ae-yaar bhulaya na gaya

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 210 - Enjoy कर पागल , ज़िन्दगी क़ीमती है

Enjoy कर पागल , ज़िन्दगी क़ीमती है

कॉकरोच पीछा नहीं छोड़ते एक लड़की परफ्यूम लगा कर बस पर चढ़ी… लड़के ने comment pass किया… “आज कल फिनायल का use कुछ ज्यादा  ही हो रहा है ..” लड़की बोली :  फिर भी कॉकरोच पीछा नहीं छोड़ते एक लम्बी रस्सी लो अगर ज़िन्दगी में बहुत परेशान हो जाओ तो   एक  लम्बी रस्सी लो और एक  पेड पर बाँध के…. . . . झूला झूलो Enjoy कर पागल , ज़िन्दगी क़ीमती है …  ? काश  ये  मेरी  माँ  होती एक दिन सरदार ने एक बहुत ही सुन्दर लड़की देखी और सोचा बहुत सोचा क्या सोचा ?? . . . काश ये मेरी माँ होती , तो में भी इतना सुन्दर होता … पंगा लेनी वाली हरकत है मैं तुम्हें भूल जाऊूँ , ये हो ही नहीं सकता …! और तुम मुझे भूल जाओ … . . (“,)/ <)( _//_ ये तो फिर पंगा लेनी वाली हरकत है न … शादी के बाद बीवी और माशूका में फर्क माशूक  :  बीवी और माशूका में शादी के बाद क्या फर्क होता है ? Santa  :  बड़ा सिंपल है माशूक़  :   क्या ? Santa  :  बीवी के बच्चे पापा कहके बुलाते हैं और माशूक़ के बच्चे मामा कह के बुलाते हैं .

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 248 - ऐ दिल है मुश्किल शायरी – आज जाने की जिद न करो

ऐ दिल है मुश्किल शायरी – आज जाने की जिद न करो

ऐ दिल है मुश्किल जब प्यार में प्यार न हो जब दर्द में यार न हो जब आँसूओ में मुस्कान न हो जब लफ़्ज़ों में जुबान न हो जब साँसे बस यूं ही चले जब हर दिन में रात ढले जब इंतज़ार सिर्फ वक़्त का हो जब याद उस कमबख्त की हो क्यों वो हो राही जो हो किसी और की मंजिल जब धड़कनों ने साथ छोड़ दिया ऐ दिल है मुश्किल , ऐ दिल है मुश्किल AE Dil Hai Muskil jab pyar mein pyar na ho jab dard mein yaar na ho jab anssooao mein muskan na ho jab lafzzo main jubaan na ho jab sanse bas yoon hi chale jab har din main raat dhale jab intezaar sirf waqt ka ho jab yaad us kambaqat ki ho kyon wo ho raahi jo ho kisi aur ki manjil jab dhadkno ne sath chod diya AE dil hai muskil , AE dil hai muskil जनून हद से बढ़ चला है बात बस से निकल चली है दिल की हालत संभल चली है अब जनून हद से बढ़ चला है अब तबियत निहाल हो चली है Janoon Haad se Bhad Chala Hai Baat bas se nikal chali hai Dil ki halat […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 236 - Bollywood Shayari in Hindi, Love Romantic SMS, Status, Messages

Bollywood Shayari in Hindi, Love Romantic SMS, Status, Messages

Bollywood Shayari, SMS, Messages and Status in Hindi Mujhe Tumse Pyar Ho Jayega… Phir Se. Aur Tumhe Nahin Hoga… Phir Se. मुझे तुमसे प्यार हो जायेगा… फिर से. और तुम्हे नहीं होगा। … फिर से. ♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥ Ishq Ke Charche Bhale Hi Sari Duniya Mein Hote Honge…. Par Dil To Khamoshi Se Hi Toot Jaata Hai इश्क़ के चर्चे भले ही सारी दुनिया में होते होंगे…. पर दिल तो ख़ामोशी से ही टूट जाता है ♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥ Dard Ka Saaz De Raha Hu Tumhe, Dil Ka Har Raaz De Raha Hu Tumhe, Ye Gazal-Geet Sab Bhanae Hai, Main To Awaaz de Raha Hu Tumhe…. दर्द का साज़ दे रहा हूँ तुम्हे , दिल का हर राज़ दे रहा हूँ तुम्हे, तुम्हे ये ग़ज़ल-गीत बहाने है, मैं तो आवाज़ दे रहा हूँ तुम्हे। .. ♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥ Tumhari Aakho Mein Basa Hai Aasiyana Mera, Ager Jinda Rakhna Chao To Kabhi Aashoo Mat Lana… तुम्हारी आँखों में बसा है आशियाना मेरा, अगर जिन्दा रखना चाहो तो कभी आँसू मत लाना… ♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥♥ Mana Ki Kabhi Dil Ki baat Nahi Manoge, Par Aakho Mein Jo Hai Wo Kaise Chupaoge, Wada Raha Ye Hamara Tumse, Jab Bhi Dil Mein Jhakoge Hamari Tasweer Paooge….. माना की कभी दिल की बात […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 260 - कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं – Bollywood Shayari

कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं – Bollywood Shayari

कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता हैं कि ज़िंदगी तेरी जुल्फों कि नर्म छांव मैं गुजरने पाती तो शादाब हो भी सकती थी। यह रंज-ओ-ग़म कि सियाही जो दिल पे छाई हैं तेरी नज़र कि शुआओं मैं खो भी सकती थी। मगर यह हो न सका और अब ये आलम हैं कि तू नहीं, तेरा ग़म तेरी जुस्तजू भी नहीं। गुज़र रही हैं कुछ इस तरह ज़िंदगी जैसे, इससे किसी के सहारे कि आरझु भी नहीं. न कोई राह, न मंजिल, न रौशनी का सुराग भटक रहीं है अंधेरों मैं ज़िंदगी मेरी. इन्ही अंधेरों मैं रह जाऊँगा कभी खो कर मैं जानता हूँ मेरी हम-नफस, मगर यूंही कभी कभी मेरे दिल मैं ख्याल आता है… जब लोग वाह वाह करते है दिल के छालों को कोई शायरी कहे तो दर्द नहीं होता दर्द तो तब होता है जब लोग वाह वाह करते है… तेरा मुजरिम हूँ अपनी आँखों के समंदर में उतर जाने दे तेरा मुजरिम हूँ , मुझे ड़ूब के मर जाने दे ज़ख्म कितने तेरी चाहत से मिले है मुझको सोचता हूँ कहूँ तुझे , मगर जाने दे… ऐसे मौसम में ही तो प्यार जवां होता है फूल खिलते […]

Continue Reading

Funny and hilarious  Santa and Banta Joke’s

एक सवाल Santa –  एक सवाल का जवाब तो दे वो कौन सी ऊँगली है जिसमे हड्डी नहीं होती ? Banta –  पता नहीं Santa –   दस्ताने की….   ? ये काम की है Santa ने माचिस ली और तीली जलाई पर न जली दूसरी जलाई न जली…. तीसरी तीली जलाई ,वो जल गई,,,, तो Santa ने जल्दी से बुझा दी ,ये काम की है ,रख लेता हूँ ….  ? लाटरी की Ticket Banta –  “हे वाहे गुरु” मेरी लाटरी लगादे ….. After 11 Yrs वाहेगुरु Angrily Appears & Says.. ओए उल्लू दे पठ्ठे लाटरी की Ticket तो ले ले….  ? Shooting Judge :  Why did u shoot your wife instead of shooting her lover?   Santa :   Your honor, it’s easier to shoot a woman once, than shooting one man every week.  ? Judge and Santa Judge  :  Why you have stolen the money from this man? Santa   :  My lord! I have not stolen the money. He just gave it to me. Judge  :  When he gave you the money? Santa   :  When I showed him my gun  ? मुसीबत जितनी निक्की होवे Banta  : ने एक छोटे कद की लड़की से शादी की किसी ने पुछा तुम […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 69 - थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे – चूड़ियाँ

थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे – चूड़ियाँ

यादों का इक झोंखा यादों का इक झोंखा आया मुद्द्तों बाद पहले इतना रोये नहीं जितना रोये बरसों बाद लम्हां लम्हां गुजरा तो  हमे अहसास हुआ पत्थर फैंके बरसों पहले , शीशे टूटे बरसों बाद दस्तक ही उमीद लगाये कब से बैठे हैं हम कल का वादा करने वाले , मिलने आए बरसों बाद.. गुजरे हुए वक़्त की यादें सजा बन जाती है गुजरे हुए वक़्त की यादें न जाने क्यों छोड़ जाने के लिए मोहबत करते है लोग.. टूटी थी चूड़ियाँ थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे टूटी थी चूड़ियाँ , टूटे अब मेरी बला से.. तुझे सोचना कोई और काम दे दो मुझे अब तुम यह क्या तुझे सोचना और सोचते ही रहना..

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 82 - वो कातिल नहीं

वो कातिल नहीं

सुना है सुना है आज कल वो परेशान रहती है उससे कहना बे -फ़िक्र मैं भी नहीं हूँ सुना है वो गुमसुम रहती है उससे कहना हाज़िर जहाँ मैं भी नहीं हूँ सुना है वो रातों को जागा करती है उससे कहना सोते हम भी नहीं है सुना है वो चुप चुप के रोती है उससे कहना हँसता मैं भी नहीं हूँ सुना है वो मुझे याद बुहत करती है उससे कहना भूला मैं भी नहीं हूँ.. वो कातिल नहीं है या रब वो कातिल नहीं है फिर भी लगता है जान ले गया.. निगाहे बोलती हैं निगाहे बोलती हैं बेतिहाशा यह मोहब्बत पागलो की गुफ्तुगू है.. दिल के टुकड़े अभी से मिलना छोड़ दिया है जानम इब्तिदा में ऐसा करोगे तो साथ क्या निभाओगे दिल के टुकड़े दिल से जुदा नहीं होते अगर दुनिया बेवफा है तो बेवक़फ़ा नहीं होते गरीब समझ  कर उठा दिया उसने अपनी महफ़िल से क्या चाँद की महफ़िल में सितारे नहीं होते.. मेरे हाथों की लकीरों में मेरे हाथों की लकीरों में ये ऐब छुपा है में जिस शख्श को छु लू वो मेरा नहीं रहता.. तेरा ही दर्द कैद था दिल में तेरा ही दर्द ता-उम्र के लिए मर रही थी हर आरज़ू दर्द […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 149 - कली का फूल बनना और बिखर जाना मुक़दर है

कली का फूल बनना और बिखर जाना मुक़दर है

तुम ही को चाहते है तुम ही से प्यार करते है यही बरसो से आदत है और आदत कब बदलती है तुम को जो याद रखा है यही अपनी इबादत है इबादत जिस तरह की हो इबादत कब बदलती है कली का फूल बनना और बिखर जाना मुक़दर है यही कानून-ऐ-फितरत है और फितरत कब बदलती है जो दिल ही नक़्श कर जाये निगाहों में सिमट आये अलामत है यह चाहत की तो चाहत कब बदलती है पुराने ज़ख़्म को अक्सर भुला देना ही अच्छा है न चाहे आप ही कोई तो क़िस्मत कब बदलती है

Continue Reading

शायरी-ऐ-मोहब्बत – उर्दू पाकिस्तानी शायरी

मुझे तुम से मुहब्बत है मैं आज भी रखती हूँ अपने दोनों हाथो का ख्याल न जाने उसने कौन सा हाथ पकड़ कर कहा होगा मुझे तुम से मुहब्बत है ..!! हो सकती है मोहब्बत हो सकती है मोहब्बत ज़िन्दगी में दोबारा भी बस हौसला हो एक दफा फिर बर्बाद होने का.. हर एक लफ्ज़ आसान नहीं है हमसे यूँ शायरी में जीत पाना ….. हम हर एक लफ्ज़ मोहब्बत में हार कर लिखते हैं … शहर-ऐ -मोहब्बत का पता इतना आसान नहीं शहर-ऐ -मोहब्बत का पता खुद भटकते हैं यहां राह बताने वाले … मोहब्बत की नज़र यादें उन्ही की आती हैं जिन से कुछ तालुक हो हर शख्स मोहब्बत की नज़र से देखा नहीं जाता …

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 88 - जो बोल ज़ुबानों निकल गया – Punjabi Shayari and Kalaam

जो बोल ज़ुबानों निकल गया – Punjabi Shayari and Kalaam

जो बोल ज़ुबानों निकल गया जो बोल ज़ुबानों निकल गया ओ तीर कमानों निकल गया .. मैं दिल विच ओहनूं लभणां वां ओ दुर आसमानों निकल गया .. ओहनूं मेरीया गलां याद रेह्याँ पर मैं पहचानों निकल गया .. हूण हाल फकीरा दा की पुछदे ओ जद्ओ दर्द बयानों निकल गया .. मैं घर दी अग्ग लुकाऊँदा सी धुआं रोशन -दानों निकल गया ..   असां पानी बनके रूढ़ जाना  बरसात विच असां पानी बनके रूढ़ जाना . पतझड़ विच असां सूखे फूल बनके झड़ जाना . की होया ये आज असां तेनु तंग करदे आँ . इक दिन असां तेनु दसे बिना ही टूर जाना .   कुछ शौक सी यार फ़क़ीरी दा कुछ शौक सी यार फ़क़ीरी दा कुछ इश्क ने दर दर रौल दिता कुछ सजना कसर न रखी सी कुछ जहर रक़ीबा घोल दिता कुछ हिज्र फ़िराक दा रंग चढ़िआ कुछ दर्द माही अनमोल दिता कुछ उँज भी राहवाँ औखियाँ सी कुछ गल विच गम दा तौख भी सी कुछ शहर दे लोक भी जालिम सी कुछ सानू मरन शौक भी सी

Continue Reading