shayarisms4lovers mar18 80 - Ab Kyun Takleef Hoti Hai Tumhien Iss Berukhi Se

Ab Kyun Takleef Hoti Hai Tumhien Iss Berukhi Se

वो चाँदनी का बदन खुशबुओं का साया है, बहुत अजीज़ हमें है मगर पराया है, उसे किसी की मोहब्बत का ऐतबार नहीं, उसे ज़माने ने शायद बहुत सताया है। Woh Chaandni Ka Badan Khushbuon Ka Saaya Hai, Bahut Ajeez Humein Hai Magar Paraya Hai, Usey Kisi Ki Mohabbat Ka Aitbaar Nahi, Usey Zamane Ne Shayad […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 160 - Ab to gham sehne ki aadat si ho gai hai

Ab to gham sehne ki aadat si ho gai hai

काँच का तोहफा ना देना कभी, रूठ कर लोग तोड दिया करते हैं, जो बहुत अच्छे हो उनसे प्यार मत करना, अकसर अच्छे लोग ही दिल तोड दिया करते है। वाकिफ है हम इस दुनिया के रिवाज़ो से जब, दिल भर जाता है तो हर कोई भुला देता है। दर्द का एहसास जानना है तो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 193 - Life Shayari, Zindagi hamari yu sitam ho gayi

Life Shayari, Zindagi hamari yu sitam ho gayi

Zindagi hamari yu sitam ho gayi, Khushi na jane kha dafan ho gayi, Likhi khuda ne mohabbat sabki takdeer mein, Hamari bari aayi to shyahi khatam ho gayi. जिंदगी हमारी युं सितम हो गई खुशी ना जानें कहा दफन हो गई, लिखी खुदा ने मुहब्बत सबकी तकदीर में, हमारी बारी आई तो स्याही खत्म हो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 72 - Dard Bhari Shayari in Hindi on Teri Kahani Likh Di

Dard Bhari Shayari in Hindi on Teri Kahani Likh Di

कोरे कागज पर हमने अपनी कहानी लिख दी, मिला जाे दुनिया से हमें, उससे हमने शायरी लिख दी, फिर क्यों अाखों के आसुओं में तेरी कमी है दिखती, अाैर मेरे जिंदगी की किताब पर तेरे एहसास की निशानी दिखती..

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 239 - Hum Bhi Kabhi Muskuraya Karte The, Shayari

Hum Bhi Kabhi Muskuraya Karte The, Shayari

Hum Bhi Kabhi Muskuraya Karte The, Ujale Me Bhi Shor Machaya Karte The, Usi Diye Ne Jala Diya Mere Hatho Ko, Jis Diye Ko Hum Hawa Se Bachaya Karte The! हम भी कभी मुस्कुराया करते थे, उजाले मे भी शोर मचाया करते थे, उसी दिए ने जला दिया मेरे हाथो को, जिस दिए को हम […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 278 - Aaj phir e tanhai lag ja gale, Shayari

Aaj phir e tanhai lag ja gale, Shayari

Aaj phir e tanhai lag ja gale, ke tujhse lipat ke rone ka bahut dil hai, ek too hee to hai hamsaya zindagi ka meri.. varna yahan to har rishta, meri rooh ka katil hai! आज फिर ए तन्हाई लग जा गले, के तुझसे लिपट के रोने का बहुत दिल है, एक तू ही तो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 20 - दर्द-ए-दिल की दास्तान, फिर भी वाह-वाह

दर्द-ए-दिल की दास्तान, फिर भी वाह-वाह

यह ग़ज़लों की दुनिया भी अजीब है; यहाँ आँसुओं का भी जाम बनाया जाता है; कह भी देते हैं अगर दर्द-ए-दिल की दास्तान; फिर भी वाह-वाह ही पुकारा जाता है।

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 70 - Bahut udas hai koi tere jane se, Shayari

Bahut udas hai koi tere jane se, Shayari

Bahut udas hai koi tere jane se, Ho sake to laut aa kisi bahane se, Tu lakh khafa sahi magar ek baar to dekh, Koi toot gaya hai TERE rooth jane se. बहुत उदास है कोई तेरे जाने से, हो सके तो लौट आ किसी बहाने से, तू लाख खफा सही मगर एक बार तो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 271 - Zara Si Baat Der Tak Rulati Rahi, Shayari

Zara Si Baat Der Tak Rulati Rahi, Shayari

Zara Si Baat Der Tak Rulati Rahi, Khushi Mein Bhi Aankhein Aansu Bahati Rahi, Jise Chaha Wo Mil Kar Bhi Na Mila, Zindagi Bas Hum Ko Yuhi Azmati Rahi! ज़रा सी बात देर तक रूलाती रही, खुशी में भी आँखें आँसू बहाती रही.. कोई खो के मिल गया तो कोई मिल के खो गया, ज़िंदगी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 55 - Heart Touching Aansu Bhari Yaadein Shayari

Heart Touching Aansu Bhari Yaadein Shayari

Yaad Aate Hai To Zara Kho Lete Hain Aansu Aankho Me Utar Aaye To Zara Ro Lete Hain Neend Aankhon Me Aati Nahi Lekin Aap Khwabo Me Aaye Yahi Soch Kar So Lete Hain याद आते है तो ज़रा खो लेते हैं आंसू आँखों में उतर आये तो ज़रा रो लेते हैं नींद आँखों में […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 15 - Bewafa shayari in hindi

Bewafa shayari in hindi

Bewafa shayari in hindi रूठ कर जो हमसे यूं मुँह मोड़ लेते हो, खुद ही गमों से रिश्ता जोड़ लेते हो ! कभी करके गुफ्तगू बांट लिया करो गम, क्यों गमों का दामन खुद पे ओढ़ लेते हो !! वक़्त चल रहा था, लोग भी ठहरे नहीं थे, खुली रहती थीं किबाड़, तब उतने पहरे […]

Continue Reading