shayarisms4lovers mar18 28 - लफ़्ज़ों की शरारत – शरारत उर्दू शायरी

लफ़्ज़ों की शरारत – शरारत उर्दू शायरी

वो शरारत भी तेरी थी वो मोहब्बत भी तेरी थी , वो शरारत भी तेरी थी अगर कुछ बेवफाई थी , तो वो बेवफाई भी तेरी थी हम छोड़ गए तेरा शहर , तो वो हिदायत भी तेरी थी आखिर करते तो किस से करते तुम्हारी शिकायत वो शहर भी तेरा था और वो अदालत […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 127 - हिंदी और उर्दू शायरी – दो लाइन शायरी – Daag , Perveen , Naqvi Shayari

हिंदी और उर्दू शायरी – दो लाइन शायरी – Daag , Perveen , Naqvi Shayari

न जाने कौन न जाने कौन सा आसब दिल में बसता है के जो भी ठहरा वो आखिर मकान छोड़ गया … Na jane kaun Na jane kaun sa aasaab dil mein basta hai Ke jo bhi thehra wo aakhir makaan chod gaya तुझी को पूछता रहा बिछड़ के मुझ से , हलक़ को अज़ीज़ […]

Continue Reading
IMG 01802 - कोई तो जलवा खुदा के बास्ते

कोई तो जलवा खुदा के बास्ते

अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो – फ़िल्मी शायरी  दीदार के काबिल कोई तो जलवा खुदा के बास्ते दीदार के काबिल दिखाई तो दे संगदिल तो मिल चुके है हजारो कोई एहले दिल तो दिखाई दे Didar Ke Kabil Koi to jalwaa khudaa ke bastee didar ke kabil dikhaee to de Sangdil to mil chuke hai […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 116 - हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”

हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़”

प्यार की गहराइयाँ हमे तो प्यार की गहराइयाँ मालूम करनी थी “फ़राज़” यहाँ नहीं डूबता तो कहीं और डूबे होते Pyar ki Gehraiya hume to pyar ki gehraiya maaloom karni thi “FARAZ” yahan nhi dubte to kahin aur dube hote मेरी ख़ामोशी वो अब हर एक बात का मतलब पूछता है मुझसे “फ़राज़” कभी जो […]

Continue Reading
yellow natural flower - कभी याद आओ तो इस तरहं – Shayari

कभी याद आओ तो इस तरहं – Shayari

एक ग़ैर के पहलु में हमारा प्यार होगा दिल डूबता है यह सोच कर की फिर न उनका दीदार होगा जिस दिन वो रुखसत किसी और के साथ होगा नींद टूट जाती है अक्सर यह सोचकर . एक ग़ैर के पहलु में हमारा प्यार होगा . Ek Ghair Ki pehlu mein hamara yaar hoga dil […]

Continue Reading