दिलीप कुमार के जीवन की एक घटना – आप जो भी हैं लेकिन कभी घमंड मत करिये

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

दोस्तों कभी खुद पे घमंड या गुरुर नहीं करना चाहिए। आप जो भी हैं – सफल या असफल, गरीब या अमीर कभी खुद के ऊपर घमंड मत करिये और दूसरों को कम मत आंकिए।

अंग्रेजी में ये कहावत है – “There is always someone bigger” मतलब “शेर पर सवा शेर” तो कभी खुद को बहुत ऊँचा मत आँकिए क्यूंकि आप से भी ज्यादा ऊँचे लोग दुनिया में मौजूद हैं।

एक ऐसी ही सच्ची घटना आज मैं आप लोगों के साथ शेयर करने जा रहा हूँ। जो बॉलीवुड के जाने माने कलाकार “दिलीप कुमार” के जीवन की सच्ची घटना है और खुद उन्होंने ये कहानी अपने ट्विटर पर शेयर की है –

Dilip Kumar left with JRD Tata

बात उन दिनों की है जब मैं अपने करियर के शिखर पे था। उस समय लोगों में मेरी बहुत अच्छी पहचान थी और बॉलीवुड का एक प्रसिद्ध एक्टर था। एक बार मैं हवाई जहाज से सफर कर रहा था। मेरी बगल में बैठा हुआ व्यक्ति थोड़ा बुजुर्ग मालूम होता था। उसने सादा सिंपल पैंट शर्ट पहने थे और सामान्य परिवार का व्यक्ति प्रतीत होता था।

वहाँ बैठे सारे लोगों की नजर मुझपे थी लेकिन वो व्यक्ति मेरी तरफ देख भी नहीं रहा था। वह आराम से अख़बार पढ़ रहा था और बार बार खिड़की से झाँक कर देख रहा था। जब चाय का समय हुआ तो उसने चाय भी बहुत जल्दी पी ली। मुझे बड़ा आश्चर्य हुआ कि ये व्यक्ति मेरी तरफ देख भी नहीं रहा है। मैं उसकी तरफ देखकर थोड़ा हँसा, फिर वो भी हँसा, धीरे धीरे दोनों में बात शुरू हुई।

मैंने उस व्यक्ति – ” क्या आप फ़िल्में देखते हैं?” वो व्यक्ति बोला – हाँ, पर कभी कभी, बहुत सालों पहले देखी थी फिल्म। मैंने बताया कि मैं फिल्मों में ही काम करता हूँ। वह व्यक्ति बोला – ओह, बहुत अच्छा, आप क्या करते हैं फिल्मों में? मैंने कहा – मैं फिल्मों में एक्टर हूँ। वाह क्या बात है- उस व्यक्ति ने कहा।

मैंने उसे अभी तक अपना नाम नहीं बताया था, लेकिन वो व्यक्ति अभी भी दूसरे लोगों की तरह मुझे नहीं देख रहा था।

जब यात्रा समाप्त हुई तो मैंने उस व्यक्ति वो अपने बारे में बताने के उद्देश्य से हाथ मिलाया और कहा – My name is Dilip Kumar। उस व्यक्ति ने हँसते हुए मुझसे हाथ मिलाया और बोला -धन्यवाद, I am “J. R. D. Tata”

मैं सन्न रह गया। उस दिन अहसास हुआ कि आप …

Continue Reading