63 Desh Bhakti Shayari in Hindi | देश भक्ति शायरी सुविचार

Desh Bhakti Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

1. Aajaadi Ki Kabhi Sham Nahi Hone Denge,
Shahidon Ki Kurbani Badnaam Nahi Hone Denge,
Bachi Ho Jo Ek Bund Bhi Lahu Ki,
Tab Tak Bharat Mata Ka Aanchal Milaam Nahi Hone Denge.

आजादी की कभी शाम नहीं होने देंगे
शहीदों की कुर्बानी बदनाम नहीं होने देंगे
बची हो जो एक बूंद भी लहू की
तब तक भारत माता का आँचल नीलाम नहीं होने देंगे

2. Mera “Hindustan” Mahan Tha,
Mahan Hai Aur Mahan Rahega,
Hoga Hausla Sab K Dilo Me Buland
To Ek Din Pak B Jai Hind Kahega.

लिख रहा हूं मैं अजांम जिसका कल आगाज आयेगा,
मेरे लहू का हर एक कतरा इकंलाब लाऐगा
मैं रहूँ या ना रहूँ पर ये वादा है तुमसे मेरा कि,
मेरे बाद वतन पर मरने वालों का सैलाब आयेगा

3. Mujhe Na Tan Chahiye, Na Dhan Chahiye,
Bas Aman Se Bhara Yah Vatan Chahiye,
Jab Tak Jinda Rahun, Is Matri – Bhumi Ke Liye,
Aur Jab Marun To Tiranga Kafan Chahiye.

मेरा “हिंदुस्तान” महान था,
महान है और महान रहेगा,
होगा हौसला बुलंद सब के ड़ों में बुलंद
तो एक दिन पाक भी जय हिन्द कहेगा.

4. Naa Poochho Jamaney Ko,
Kya Hamari Kahani Hain,
Hamari Pehchaan To Sirf Ye Hai
Ki Hum Sirf Hindustani Hain…!!!

न पूछो ज़माने को,
क्या हमारी कहानी है,
हमारी पहचान तो सिर्फ ये है,
की हम सिर्फ हिन्दुस्तानी हैं ……!!!

5. Main Bharatvarsh Ka Hardam Amit Samman Karta Hun,
Yahan Ki Chandani Mitti Ka Hi Gungan Karta Hun,
Mujhe Chinta Nahi Hai Swarg Jaakar Moksh Paane Ki,
Tiranga Ho Kafan Mera, Bas Yahi Armaan Rakhta Hun.

मैं भारतवर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ
यहाँ की चांदनी मिट्टी का ही गुणगान करता हूँ,
मुझे चिंता नहीं है स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने की,
तिरंगा हो कफ़न मेरा, बस यही अरमान रखता हूँ।

6. Shahidon Ki Chitaon Par Lagenge Har Barsh Mele,
Vatan Pe Mar Mitne Valon Ka Baki Yahi Nishan Hoga.

शहीदों की चिताओं पर लगेंगे हर बरस मेले,
वतन पे मर मिटने वालों का बाकी यही निशां होगा

7. Anekta Me Ekta Hi Is Desh Ki Shan Hai,
Isliye Mera Bharat Mahan Hai.

अनेकता में एकता ही इस देश की शान है,
इसीलिए मेरा भारत महान है

8. Hamari Pahchan To Sirf Ye Hai Ki Ham Bhartiya Hain.

हमारी पहचान तो सिर्फ ये है कि हम भारतीय हैं.

9. Khushnasib Hain Vo Jo Vatan Par Mit Jaate Hain,
Markar Bhi Vo Log Amar Ho Jaate

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 179 - दर्द भरी शायरी स्टेटस dard bhari shayari status

दर्द भरी शायरी स्टेटस dard bhari shayari status

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>
  1. हर रोज बहक जाते हैं मेरे कदम, तेरे पास आने के लिये…ना जाने कितने फासले तय करने अभी बाकी है तुमको पाने के लिये..
  2. ऐ इश्क़…तेरा वकील बन के बुरा किया मैनें, यहाँ☝🏻हर शायर तेरे खिलाफ सबूत लिए बैठा हैं…
  3. ना मेरा दिल बुरा था ना उसमें कोई बुराई थी , सब नसीब का खेल है , बस किस्मत में जुदाई थी।
  4. इरादा कतल का था तो मेरा सिर कलम कर देते , क्यों इश्क़ में डाल कर तूने मेरी हर साँस पर मौत लिखदी।
  5. मोहब्बत भी हाथों में लगी मेहँदी की तरह होती है कितनी भी गहरी क्यों ना हो फीकी पड़ ही जाती है।
  6. भुला देंगे तुमको ज़रा सब्र तो कीजिये , आपकी तरह मतलबी बनने में थोड़ा वक़्त तो लगेगा हमें।
  7. अबकी बार सुलह करले मुझसे ए दिल वादा करता हूँ की फिर नहीं दूँगा तुझे किसी ज़ालिम के हाथों में
  8. हमें तो कब से पता था कि तुम बेवफा हो बस तुझसे प्यार करते रहे कि शायद तुम्हारी फितरत बदल जाये।
  9. लिखना था की खुश हूँ तेरे बिना पर आंसू ही गिर पड़े आँखों से लिखने से पहले।
  10. चलती हुई “कहानियों” के जवाब तो बहुत है मेरे पास………..लेकिन खत्म हुए “किस्सों” की खामोशी ही बेहतर है….
  11. तेरे‬ सिवा कौन ‎समा‬ सकता है ‎मेरे‬ दिल में……‪रूह‬ भी गिरवी रख दी है मैंने तेरी‬ चाहत में !!
  12. बड़ी हिम्मत दी उसकी जुदाई ने ना अब किसी को खोने का दुःख ना किसी को पाने की चाह।
  13. मोहब्बत होने में कुछ लम्हे लगते है .. पूरी उम्र लग जाती है उसे भुलाने में …
  14. प्यार करना हर किसी के बस की बात नहीं …. जिगर चाहिए अपनी ही खुशियां बर्बाद करने के लिए।
  15. उजड़ जाते हैं सिर से पाँव तक वो लोग …. जो किसी बेपरवाह से बेइंतहा मोहब्बत करते हैं !
  16. हजारो गम है सीने मे मगर शिकवा करें किससे… इधर दिल है तो अपना है… उधर तुम हो तो अपने हो…
  17. भरोसा जितना कीमती होता है धोका उतना ही महँगा हो जाता है।
  18. बड़ी अजीब सी मोहब्बत थी तुम्हारी…… पहले पागल किया..फिर पागल कहा..फिर पागल समझ कर छोड़ दिया..
  19. खुल जाता है तेरी यादों का बाजार सुबह सुबह और हम उसी रौनक में पूरा दिन गुजार देते है..
  20. मुझे भी शामिल करो गुनहगारों की महफ़िल में , मैं भी क़ातिल हूँ अपनी हसरतों का , मैंने भी अपनी ख्वाहिशों को मारा है।
  21. कोई मिला नहीं तुम जैसा आज तक,पर ये सितम अलग है की मिले तुम भी
Continue Reading
shayarisms4lovers may18 88 - Shayari Status शायरी स्टेटस

Shayari Status शायरी स्टेटस

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>
  1. वो कहने लगी नकाब में भी पहचान लेते हो… हजारों के बीच… मेंने मुस्करा के कहा तेरी आँखों से ही शुरू हुआ था “इश्क” हज़ारों के बीच…
  2. सुनो ! तुम कर लो नजरंदाज अपने हिसाब से…हम तो मोहब्बत बेहिसाब ही करेंगे…..
  3. मरने के लिए वजह बहोत सारी हैं…जीने के लिए सिर्फ ” तू “….
  4. कौन कहता है क़ि चाँद तारे तोड़ लाना ज़रूरी है…..दिल को छू जाए प्यार से दो लफ्ज़, वही काफ़ी है…!!
  5. देख पगली👸👸…मुझे यूँ 😢😢 ‎What‬’s App😢😢 😂😂‪Instagram‬😂😂 ‪hike‬ और ‪‎Facebook‬ पर मत 😂तलाश किया करो…हम तो हमेशा 👩तुम्हारे ❤दिल में On Line रहते हैं….👉💔
  6. कुछ तो बात होगी उस पगली में 😍 जो मेरा दिल 👉💜 उसपे आ गया था 😌 वरना में तो इतना सेल्फिश हु 😜👉🏻की अपने जीने की भी दुआ नही करता..😏
  7. मैनें तो सिर्फ उसका दिल चोरी किया था लेकिन,अब तो वो पगली मेरा सरनेम चोरी करने की प्लानिंग में है !!
  8. आज‬ ☝ ‪दरगाह में‬ 🕌 ‪मन्नत‬ 😍 का ‪‎धागा नहीं‬, 😌 ‪अपना दिल‬ 👦❤ ‪‎बाँध‬ ☝ के ‪आया‬ 👦 हूँ ‪तेरे लिए‬ ।। 😘👩
  9. सुन पगले 👦 ‪‎स्टाईल‬ 😎 तो में 👩 ‪सिर्फ_शोक‬ ☝ के लिए करती हूँ, 😌 वरना ‪ज़माने‬ 👫 के लिए तो मेरी ‪‎नशीली_आँखो‬ 👀 के ‪‎इशारे‬ ☝ ही काफी है ।। 😏
  10. 👉‪तेरे‬ 👧सिवा कौन ‎समा‬💏 सकता है ‎मेरे‬ ❤दिल में,…….‪रूह‬ 🙇भी गिरवी👍 रख दी है मैंने 👨👈‎तेरी‬ 👧चाहत में !!💐
  11. उनकी चाल ही काफी थी इस दिल के होश उड़ाने के लिए, …अब तो हद हो गई जब से वो पाँव में पायल पहनने लगे…
  12. मोहब्बत किससे और कब हो जाये अदांजा नहीं होता. ये वो घर है, जिसका दरवाजा नहीं होता.
  13. धड़कनों को भी रास्ता दे दीजिये हुजूर,आप तो पूरे दिल पर कब्जा किये बैठे है
  14. कोई मुक़दमा ही कर दो हमारे सनम पर,कम से कम हर पेशी पर दीदार तो हो जायेगा
  15. मेरी ज़िन्दगी के “तालिबान” हो तुम…बेमक़सद तबाही मचा रखी है
  16. एक तो सुकुन और एक तुम,कहाँ रहते हो आजकल मिलते ही नही
  17. मैंने तो देखा था बस एक नजर के खातिर,क्या खबर थी की रग रग में समां जाओगे तुम
  18. इतनी मनमानीयां भी अच्छी नही होती,तुम सिर्फ अपने ही नहीं मेरे भी हो
  19. तेरे साथ भी तेरा था… तेरे बिन भी तेरा ही हूँ…
  20. कल ही तो तौबा की मैंने शराब से.. कम्बख्त मौसम आज फिर बेईमान हो गया।
  21. जो मैं रूठ जाऊँ तो तुम मना लेना,कुछ न कहना बस सीने से लगा लेना।
  22. सिर्फ तूने ही कभी मुझको अपना न
Continue Reading

Short Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

अजीब सी बस्ती में ठिकाना है मेरा जहाँ लोग मिलते कम झांकते ज़्यादा है

बात मुक्कदर पे आ के रुकी है वर्ना, कोई कसर तो न छोड़ी थी तुझे चाहने में !

किसी को क्या बताये की कितने मजबूर है हम.. चाहा था सिर्फ एक तुमको और अब तुम से ही दूर है हम।

वहां तक तो साथ चलो जहाँ तक साथ मुमकिन है, जहाँ हालात बदलेंगे वहां तुम भी बदल जाना.

हम ना बदलेंगे वक्त की रफ़्तार के साथ, हम जब भी मिलेंगे अंदाज पुराना होगा !! नजर चाहती है दीदार करना दिल चाहता है प्यार करना

क्या बताऊँ इस दिल का आलम नसीब में लिखा है इंतज़ार करना

अधूरी मोहब्बत मिली तो नींदें भी रूठ गयी…! गुमनाम ज़िन्दगी थी तो कितने सकून से सोया करते थे…!!

अरे कितना झुठ बोलते हो तुम खुश हो और कह रहे हो मोहब्बत भी की है

सुनो… तुम ही रख लो अपना बना कर.. औरों ने तो छोड़ दिया तुम्हारा समझकर..!!

कागज़ों पे लिख कर ज़ाया कर दूं मै वो शख़्स नही वो शायर हुँ जिसे दिलों पे लिखने का हुनर आता है

झूठ बोलने का रियाज़ करता हूँ सुबह और शाम मैं सच बोलने की अदा ने हमसे कई अजीज़ यार छीन लिये|

निकली थी बिना नकाब आज वो घर से मौसम का दिल मचला लोगोँ ने भूकम्प कह दिया

अगर तुम समझ पाते मेरी चाहत की इन्तहा तो हम तुमसे नही तुम हमसे मोहब्बत करते

अमीरों के लिए बेशक तमाशा है ये जलजला, गरीब के सर पे तो आसमान टुटा होगा.

नफरत ना करना पगली हमे बुरा लगेगा. . . बस प्यार से कह देना अब तेरी जरुरत नही है. .

कुछ इसलिये भी ख्वाइशो को मार देता हूँ माँ कहती है घर की जिम्मेदारी है तुझ पर

नफरत ना करना पगली हमे बुरा लगेगा. . . . बस प्यार से कह देना अब तेरी जरुरत नही है. .

जो मेरे बुरे वक्त में मेरे साथ है मे उन्हें वादा करती हूँ मेरा अच्छा वक्त सिर्फ उनके लिए होगा

ये जो छोटे होते है ना दुकानों पर होटलों पर और वर्कशॉप पर दरअसल ये बच्चे अपने घर के बड़े होते है

कुछ लोग आए थे मेरा दुख बाँटने मैं जब खुश हुआ तो खफा होकर चल दिये

मंदिर भी क्या गज़ब की जगह है! गरीब बाहर भीख मांगते हैं, और अमीर अन्दर.

मालुम था कुछ नही होगा हासिल लेकिन… वो इश्क ही क्या जिसमें खुद को ना गवायाँ जाए.

मैंने …

Continue Reading