shayarisms4lovers mar18 38 - जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है

जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है

जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है हम उस वक़्त खुदा का शुक्रगुजार करते है पाया था तुझे इबादत में खुदा की रहमतों से न कर सके मुकमल उस फ़रियाद को याद करते है Jab Bhi Tere Rukhsar ki Tamir Hum Karte Hai Jab […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - यादों का इक झोंका – तेरी यादें शायरी

यादों का इक झोंका – तेरी यादें शायरी

सजा बन जाती है गुज़रे हुए वक़्त की यादें न जाने क्यों छोड़ जाने के लिए मेहरबान होते हैं लोग यादों का इक झोंका यादों का इक झोंका आया हम से मिलने बरसों बाद पहले इतना रोये न थे जितना रोये बरसों बाद लम्हा लम्हा उजड़ा तो ही हम को एहसास हुआ पत्थर आये बरसों […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - इश्क़ में यह दूरियां – दूरियाँ शायरी

इश्क़ में यह दूरियां – दूरियाँ शायरी

इन राहों की दूरियां निगाहों की दूरियां हम राहों की दूरियां फनाह हो सभी दूरियां तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे हम दूर फ़िज़ाओं में कहीं खो जायेंगे हम हमारी यादों से लिपट कर रोते रहोगे जब ज़मीन की मट्टी में सो जायेंगे हम Teri Nazron Se Ozhal Ho […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 215 - जिंदगी की रंग-ओ-बू – Shayari of Life

जिंदगी की रंग-ओ-बू – Shayari of Life

मंजूर कब थी हमको वतन से दूरियां आईना-ऐ-ख़ुलूस-ऐ-वफ़ा चूर हो गए जितने चिराग-ऐ-नूर थे बे नूर हो गए मालूम यह हुआ की वो रास्ते का साथ था मंज़िल करीब आई और हम दूर हो गए मंजूर कब थी हमको वतन से यह दूरियां हालात की जफ़ाओं से मजबूर हो गए कुछ आ गयी हमे एहले-ऐ-वफ़ा […]

Continue Reading