shayarisms4lovers June18 202 - Chori Karne Wale Bhoot Ki Pitai

Chori Karne Wale Bhoot Ki Pitai

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

Mera name sumit hai aur aaj mein apko ek real bhoot ki kahani bataunga jo mujhe mere dadaji ne bataya thaa.Mere dadaji ke sath yeh ghatna real mein ghatit ho chuka hai toh unhone mujhe bataya thaa islie mein aap sab ko yeh darawni kahani batayunga.

Yeh kahani tab ki hai jab mere dadadji 24 saal ke huya karte thee.Ek raat jab mere dadaji apne room mein soye huye thee.Uss time humare area mein electricity nahi thee isliye room mein ek lamp jalaya huya thaa jisse bahut hi dheemi rosni aah rahi thee.Tabhi mere dadji ko laga ki koi unke kamre mein ghus kar koi kuch chori kar raha hai.

Mere dadaji ko laga ko koi chor hai unhone apna ankh khola aur chupke se dekha toh unhone dekha ki ek chotta sa bacha ek bada sa chawal ka bag utha kar le ja raha hai.Yeh dekh unko hairaani huyi fir woh samajh gaye ki yeh koi chor ya bacha nahi yeh ek bhoot hai jo kisi ka paltu hai,yeh dekh mere dadaji aag babula ho gaye aur waha padi ek laathi lekar uss bhoot ko khoob pitne lage.Pitai ke kuch der baad wo bhoot dadaji ko dhakel kar bhaag gaya.Par mere dadaji ko bahut gussa ah raha thaa.

Woh chup-chaap so gaye,fir dusri raat dadaji purii taiyaari ke sath soye thee yaani laati aur machli pakadne ka jaali lekar soye thee.Uss raat toh wo bhoot toh nahi aaya par 2 din baad woh bhoot apne 4 bhoot lekar aaya.Dadaji ne samajhdari se faisala liya aur unko pehle machli pakadne wali jaal ko unke upar fek kar pakada fir unn 4 bhoot ki laathi se pitai karne lage.Bhoot toh chilla rahe thee aur dadaji unn bhooto par laathi barsane lage.Inn awaaz se baaki ghar wale bhi aah gaye.

Ghar ke logo ne bhi unn bhooto ki pitai ki aur woh bhoot jaali tod kar bhaag gaye.Fir kuch der baad sab so gaye.Kuch din tak sahi raha fir kuch time baad mere dadaji ko bazar jana pada woh apna cycle lekar nikal pade.Raste par ek ghar ke paas unhone uss bhoot ko fir dekha aur woh ek aadmi se baat kar raha thaa ki uss ghar mein aaj fir se jao lekin aaj tumhare sath ek aatma bhi jaygi jisse tumlog aaj usko khatm kar dena.

Mere dadaji ne yeh sab dekha aur bazar gaye waha par unhone apne 8 dosto …

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 83 - मेरे और मेरे बहन के साथ Paranormal Activity घटित हुआ

मेरे और मेरे बहन के साथ Paranormal Activity घटित हुआ

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

क्या आपके साथ कभी Paranormal Activities हुई है पर मेरे साथ तो Paranormal घटनाए घट चुकी है जिसका वर्णन मैं आप सभी के साथ करूँगा तो आप इस भूतिया घटना को पढ़ कर आनन्द लीजिए तो मैं अपनी कहानी शूरु करता हूं।

मेरा नाम मनोज है और मेरी एक छोटी बहन है जिसका नाम रंजना है तो आज से कुछ साल पहले मेरे पिताजी का अपने जॉब के सिलसिले में एक नए जगह पर ट्रांसफर हो गया तो हम दोनों भाई-बहन अपने माता-पिता के साथ उस नए घर पर शिफ्ट हो गए जहाँ पर मेरे पिताजी का ट्रांसफर हुआ था।

शूरूवात के दिन वहाँ पर मन तो नहीँ लग रहा था पर हमारा मन कुछ ही दिनों में उस नए जगह पर लग गया। आस पड़ोस के लोगो से हमारी दोस्तो हो चुकी थी। अब एक रात हम सब सो रहे थे तो मेरी बहन रोते हुए उठी फिर मैं उठने ही वाला था कि मम्मी उठी और बहन से पूछी क्या हुआ तो वह कुछ बोली नहीं फिर सो गई।

मैंने अपनी बहन से उस रात कुछ भी नहीं पूछा फिर दूसरे दिन मैंने अपनी बहन से पूछा कि तुम उस रात क्यों रो रही थी तो उसने बताया कि मैंने सपनें में देखा कि कोई मुझे खिंचते हुए घर के किचन में ले जा रहा था और मैं चिल्ला रही थी तो मेरी कोई मदद भी नही कर रहा था तो मैं रोने लगी फिर मैं जाग गई।

मैंने अपनी बहन को कहा इन सब के बारे में ज्यादा मत सोचो यह सब बस सपने है ऐसा कुछ नहीं होगा तो मैं अब इन सब सोच में पड़ गया आखिर मेरी बहन को ऐसा सपना क्यों आया और उसी रात मैंने देखा कि कोई मेरे भी पैर खिंचते हुए किचन में ले जा रहा है और मैं नींद से जाग गया।

मुझे और मेरे बहन को ऐसा ही सपना कैसे आया इसके बारे में मैं सोच रहा था की तभी मैंने अपनी मम्मी को इन सब के बारे में बताया और इसके कुछ दिनों बाद हम सब पूरा परिवार मेरे नानी के पास छुट्टियां मनाने गए तो मम्मी ने मुझे और मेरी बहन को एक ज्योतिष के पास ले गए और उस ज्योतिष ने कहा कि उस घर में एक आत्मा भटकती है जो आप सबको हकीकत में नुकसान तो नहीं पहुँचाएगी पर सपने में डराएगी जरूर तो उस ज्योतिष ने मेरे पूरे परिवार को एक-एक ताविज दिया …

Continue Reading

दो सच्ची Bhoot Ki Kahani – Ghost Story In Hindi

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

मेरा नाम रमेश है और आज मैं आप सब के सामने दो Bhoot Ki Kahani पेश करने जा रहा हुँ। यह Ghost Story In Hindi पूरा तरह सच है क्योंकि यह भूतिया घटना मेरे साथ घटित हुआ था तो मैं आप सबको दो कहानी बताता हूं।

1. दिवाली की रात की Bhoot Ki Kahani

मैं दिवाली मनाने अपने गाँव गया हुआ था। दिवाली के रात मैने गाँव के दोस्तो के साथ फटाके फोड़े और मस्ती किए। कुछ देर बाद मैं एक पेड़ के पास अकेला बैठा हुआ था तभी मेरे पास एक लड़की मेरे पास दौड़ते हुए आई। वह लड़की पूरी तरह से डरी हुई थी। मैंने उसको कहा क्या हुआ तुम इतनी डरी हुई क्यों हो।

वो मुझसे कहने लगी तुम मेरे साथ चलो मेरे घर मे आग लगी हुई है। मेरे परिवार को कृप्या बचा लो। मैं उस लड़की के साथ दौड़ते हुए चला गया। जब उसके घर के पास पहुँचा तो सच मे पूरा घर आग से जल रहा था और तभी मेरा एक दोस्त आ गया और मैने कहा देखो इस घर मे आग लगी हुई है। यहा पर मदद करो। मेरा दोस्त कहने लगा कहा, किधर आग लगा हुआ है। तभी मेने देखा कि आग और लड़की गायब हो चुकी है। वह घर पूरा टूटा हुआ था। मैंने भी ज्यादा कुछ नही बोला और घर आ गया।

इस घटना से मुझे एक बात का जरूर पता चला कि वह लड़की कोई आत्मा ही थीं जो उसने मुझे अपनी बीती हुई दुर्घटना दिखाई।

2. मुझे पीछे से आत्मा ने बुलाया Bhoot Ki Kahani

दीवाली की घटना के दो दिन के बाद मैं अपने दोस्त के घर गया हुया था तब शाम के 6 बज रहे थे। वहा पर मेरे चार दोस्त थे और वो tv पर भूत की मूवी देख रहे थे और मैं भी उनके साथ वह मूवी देखने लगा। मूवी बहुत ही डरावनी थी। मूवी खत्म होते-होते शाम के 7:30 बज रहे थे और मैं घर जाने लगा तभी रास्ते में मुझे पीछे से कोई आवाज देकर बुलाने लगा।

मुझे लगा कि पीछे मुड़कर देखना चाहिए पर मैने यह भी सुना था कि अगर कोई आत्मा पीछे से बुलाए और पीछे मुड़कर देखने से जान भी जा सकती है। मैंने बहुत ही हिम्मत जुटा कर घर की तरफ दौड़ लगा दिया और मै घर पहुच गया। मुझे यह नही पता कि कौन मुझे पीछे से बुला रहा था पर जो भी बुला रहा था …

Continue Reading