3962724 flowers hd wallpaper - तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब – उर्दू शायरी फूल गुलाब का

तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब – उर्दू शायरी फूल गुलाब का

तुझे पल भर को भी भूल जाने की कोशिश कभी कामयाब न हुई तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब थी जो हवा चली तो महक उठी बन के गुलाब बन के गुलाब कांटे चुभा गया एक शख्स हुआ चिराग तो घर ही जला गया एक शख्स तमाम रंग मेरे और सारे ख्वाब  मेरे फ़साना था के अफसाना बना गया एक शख्स मैं किस हवा में उड़ूँ किस फ़िज़ा में लहराऊँ दुखों के जाल हर जगह बिछा गया एक शख्स इश्क़ में किसी के भुला रखा था इसे मिले वो ज़ख़्म के फिर याद आ गया एक शख्स खुला यह राज़ की आईना जहाँ है दुनिया और इस जहाँ में मुझे तमाशा बना गया एक शख्स Ban Ke Gulab Ban ke Gulab kante chubha gaya ek shakhs Hua Chirag to ghar hi jalaa gaya ek shakhs Tamam rang mere aur sare khawab mere Fasana tha ke afasana bana gaya ek shakhs Main kis hawa mein udoon kis fiza mein lehraoon Dukhon ke jaal har jagah bicha gaya ek shakhs ishq mein kisi ke bhula rakha tha isse Mille wo zakham ke phir yaad aa gaya ek shakhs Khula yeh raaz ki ainaa jahan hai duniya Aur is mein mujhe tamasha bana gaya ek shakhs […]

Continue Reading