आज भी भारत के एक रेलवे ट्रैक को साल की पूरी कमाई ब्रिटेन को क्यों देनी पड़ती हैं?

What Royalties does India still pay after Independence from Britain भारत आज दुनिया के सबसे विकासशील देशों में से एक है लेकिन हम सभी जानते हैं की भारत 200 साल ब्रिटिश हुकुमत का गुलाम रहा है जिसे भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली थी। और हुकुमत के 200 साल जो ब्रिटिश ने नुकसान किया उसकी भरपाई भारत आज भी कर रहा है हालांकि अंग्रेज तो देश छोड़कर चले गए। लेकिन उनकी बहुत सी चीजें ऐसी है जो आज भी भारत में है भारत में रेल भी अंग्रजों ने ही शुरु की थी। लेकिन आजादी के बाद रेलवे पर भारत सरकार का अधिकार हो गया। और भारत सरकार ने रेलवे का विकास किया। य़ही वजह है कि बजट सत्र में रेलवे का अलग बजट पेश किया जाता है। क्योंकि रेलवे भारत में यातयात का साधन है जिस पर सभी वर्ग के लोग सफर करते हैं। रेलवे हर साल भारत सरकार करोड़ो का पैसा भी कमाती है जिसे रेलवे स्टेशन की मरम्मत और जनकल्याण के कार्यों में लगाया जाता है। लेकिन क्या आप जानते है कि भारतीय रेल के एक रेलवे ट्रैक की पूरी सालाना कमाई हर साल ब्रिटेन को जाती है। आज भी भारत के एक रेलवे ट्रैक को […]

Continue Reading

क्या आप जानते हैं टेलीफोन का अविष्कार किसने किया? | Who Invented the Telephone

Who Invented the Telephone आज के टाइम में शायद ही कोई ऐसा व्यक्ति होगा जिसके पास मोबाइल फोन यानी स्मार्टफोन नहीं होगा या वो इसके बारे में नहीं जानता होगा। आधुनिकता के कारण आज हर किसी की जिंदगी इतनी सिमिट कर रह गई जिसकी शायद कभी किसी ने कल्पना तक नहीं की होगी। आज हम मोबाइल फोन्स के जरिए न केवल बात कर सकते हैं बल्कि वीडियो कॉल, ऑडियो रिकॉर्डिंग, मैसेज भेजना, गेम खेलना, डक्यूमेंट बनाना, गाने सुनना, फिल्में देखना ओर भी बहुत कुछ कर सकते है, जिन सब के लिए एक जमाने में अलग – अलग डिवाइज हुआ करते थे। और हम सब जानते है कि मोबाइल फोन्स के बाजार में आने से पहले लोग टेलीफोन के जरिए बात किया करते थे। और इन टेलीफोन्स में भी समय – समय पर अलग – अलग तरह के बदलाव देखने को मिले। आमतौर पर घरों में इसे लैंडलाइन फोन भी कहा जाता है जो अब केवल ऑफिस और कुछ घरों में देखने को मिलता है। लेकिन ये हम सब जानते है कि टेलीफोन के बिना मोबाइल फोन का अस्तित्व नहीं है टेलीफोन की टेक्नॉलोजी में ही बदलाव करके मोबाइल फोन का अविष्कार हुआ। लेकिन क्या आप जानते टेलीफोन का अविष्कार किसने […]

Continue Reading

वर्कलोड की टेंशन को इस तरह के करें बाय-बाय..

वर्कलोड की टेंशन को इस तरह के करें बाय-बाय – Workload Management जाहिर है कि जमाने के साथ कदम से कदम मिलाकर चलने के लिए जरूरी है कि जमाने की प्रतिस्पर्धा को समझें। क्योंकि हर क्षेत्र में इतना कॉम्पिटिशन बढ़ गया है कि मानो हर कोई खुद को सफलता के लिए तैयार कर रहा है, और अपनी जिंदगी को बेहतर बनाने में लगा हुआ है। यही वजह है कि अपने बिजनेस में अच्छा मुनाफा कमाने को लेकर ज्यादातर बिजनेसमैन अधिकतम काम करते हैं कई बार तो वे अपनी क्षमता से ज्यादा काम कर लेते हैं। जिससे कई बार तनाव की स्थिति तक पैदा हो जाती है। वहीं हाल ही में आई एक रिपोर्ट के मुताबिक, ज्यादातर बिजनेसमैन एक हफ्ते में 60 घंटे ( या फिर एक दिन में 12 घंटे से ज्यादा ) अपने बिजनेस के लिए काम करते हैं। वहीं अपने काम के दौरान वे इतने व्यस्त रहते हैं कि, न तो वो लोग अपने परिवार के साथ वक्त गुजार पाते हैं और न ही अपने मनोरंजन के लिए सोशल मीडिया साइट्स पर एक्टिव रह पाते हैं यहां तक कि अपने काम दौरान न ही वो यू-ट्यूब में कोई मजेदार वीडियो ही देख पाते हैं यानि कि हफ्ते में […]

Continue Reading

जाने क्या हैं इंटरपोल रेड कॉर्नर नोटिस | What is Red Corner Notice

Red Corner Notice हम जिस समाज में रहते है उसमें हर तरह के लोग होते है अच्छे बुरे, आप किसी के चेहरे से ये नहीं बता सकते कि वो समाज या देश के लिए कितना खतरनाक साबित हो सकता है। लेकिन ये भी सच है कि अपराधी भी हमारे बीच ही पनपते है और उनकी पहचान हम तब करते है जब तक बहुत देर हो चुकी होती है। देश में किसी व्यवस्था बनी रहे इसलिए कानून बनाए जाते है लेकिन कई अपराधी इतने शातिर होते है कि वो किसी की पकड़ में नहीं आते और आजकल तो ग्लोबलाइजेशन के कारण दूसरे देशों में जाना सरल हो गया है जिसका फायदा अपराधी उठाते है। और अपराध करने के बाद दूसरे देश में जाकर बस जाते है। क्योंकि दूसरे देश के नियम कानून और संविधान अपने देश से अलग होता है इसलिए अपराधी वहां पर खुद को सुरक्षित महसूस करता है। भारत के भी कई अपराधी देश को लूटने के बाद विदेशों में चैन की जिंदगी बिता रहे है जिनमें 13 हजार करोड़ के पीएनबी घोटाले के अपराधी नीरव मोदी, मेहलु चौकसी, वही भारतीय बैंको के साथ 9 हजार करोड़ का घोटाला करने वाले किंगफिशर के मालिक विजय माल्या,आईपीएल में घोटाला करने […]

Continue Reading