shayarisms4lovers June18 148 - तेरा रंग-ऐ-हिना – उर्दू हिना शायरी

तेरा रंग-ऐ-हिना – उर्दू हिना शायरी

हाथों की हिना चंद मासूम से पतों का लहू है ‘फाखिर’ जिस को महबूब के हाथों की हिना कहते हैं Haathon Ki Hina Chand Maasoom Se Patton Ka Lahoo Hai ‘Faakhir’ Jis Ko Mahaboob Ke Haathon Ki Hina Kahte Hain… मोहताज-ऐ-हिना खून है दिल ख़ाक में अहवाल-ऐ-बुतान पर यानी उन के नाखून हुए मोहताज -ऐ […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 248 - पंजाबी और उर्दू शायरी – हीर राँझा शायरी

पंजाबी और उर्दू शायरी – हीर राँझा शायरी

जेल बिच बंद ग़ुलाम रह जाँदै न किताबां बिच लिखे पैग़ाम रह जाँदै न पहली मुलाकात किसी नु याद रवे न रवे याद सब नू आखरी सलाम रह जाँदै न ​ jailaan ch band ghulaam reh janday ne kitaabaan ch likhay paighaam reh janday ne pehli mulakaat kissi nu yaad raway na raway yaad sab […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 01 - हीर शायरी – वारिस शाह

हीर शायरी – वारिस शाह

लिखी रांझे नाम ये हीर हुंदी की मुक जाना सी वारिस शाह दा, लिखी रांझे नाम ये हीर हुंदी . वख रूह नालो रूह न हो सकदी , न दिल चो वख तस्वीर हुंदी . नशा अख दा इक वारी चढ़ जावे , पूरी इश्क़ दी फिर तासीर हुंदी . झूठा रब्ब नू तुस्सी केहन […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 190 - शायरी – एक मुसाफिर अजनबी

शायरी – एक मुसाफिर अजनबी

मुसाफिर के रास्ते बदलते रहे मुसाफिर के रास्ते बदलते रहे , मुक़द्दर में चलना था चलते रहे मेरे रास्तों में उजाला रहा , दीये उसकी आँखों में जलते रहे कोई फूल सा हाथ कंधे पे था , मेरे पाओं शोलों पे चलते रहे सुना है उन्हें भी हवा लग गयी , हवाओं के जो रुख […]

Continue Reading

किसी के हिजर में नींदें गवां कर कुछ नहीं मिलता – Wasi Shah

हाल-ऐ-दिल न कर बयाँ उन से हाल-ऐ-दिल “वासी” मगरूर सा शख्स है कहीं साथ न छोड़ दे Haal-ae-Dil Na Kar Byaan Un Se Haal-ae-Dil “WASI” Magror Sa Shakhs Hai Kahin Sath Na Chor De जान -ऐ-मन कौन कहता है शरारत से तुम्हें देखते हैं जान -ऐ-मन हम तो मोहब्बत से तुम्हें देखते है Jaan-ae-maan kon […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 204 - Best Collection of Pakistani Two Lines urdu Shayari

Best Collection of Pakistani Two Lines urdu Shayari

कोई ऐसा शख्स जो पुकारता था हर घड़ी , जो जुड़ा था मुझसे लड़ी लड़ी कोई ऐसा शख्स अगर कभी , मुझे भूल जाये तो क्या करूं Koi Aisa Shakhs Jo Pukarta Tha Har Ghadi, Jo Juda Tha Mujhse Ladi Ladi Koi Aisa Shakhs Agar Kabhi, Mujhe Bhool Jaye To Kya Krun जान देने की […]

Continue Reading