Funny and hilarious  Santa and Banta Joke’s

एक सवाल Santa –  एक सवाल का जवाब तो दे वो कौन सी ऊँगली है जिसमे हड्डी नहीं होती ? Banta –  पता नहीं Santa –   दस्ताने की….   ? ये काम की है Santa ने माचिस ली और तीली जलाई पर न जली दूसरी जलाई न जली…. तीसरी तीली जलाई ,वो जल गई,,,, तो Santa ने जल्दी से बुझा दी ,ये काम की है ,रख लेता हूँ ….  ? लाटरी की Ticket Banta –  “हे वाहे गुरु” मेरी लाटरी लगादे ….. After 11 Yrs वाहेगुरु Angrily Appears & Says.. ओए उल्लू दे पठ्ठे लाटरी की Ticket तो ले ले….  ? Shooting Judge :  Why did u shoot your wife instead of shooting her lover?   Santa :   Your honor, it’s easier to shoot a woman once, than shooting one man every week.  ? Judge and Santa Judge  :  Why you have stolen the money from this man? Santa   :  My lord! I have not stolen the money. He just gave it to me. Judge  :  When he gave you the money? Santa   :  When I showed him my gun  ? मुसीबत जितनी निक्की होवे Banta  : ने एक छोटे कद की लड़की से शादी की किसी ने पुछा तुम […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 69 - थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे – चूड़ियाँ

थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे – चूड़ियाँ

यादों का इक झोंखा यादों का इक झोंखा आया मुद्द्तों बाद पहले इतना रोये नहीं जितना रोये बरसों बाद लम्हां लम्हां गुजरा तो  हमे अहसास हुआ पत्थर फैंके बरसों पहले , शीशे टूटे बरसों बाद दस्तक ही उमीद लगाये कब से बैठे हैं हम कल का वादा करने वाले , मिलने आए बरसों बाद.. गुजरे हुए वक़्त की यादें सजा बन जाती है गुजरे हुए वक़्त की यादें न जाने क्यों छोड़ जाने के लिए मोहबत करते है लोग.. टूटी थी चूड़ियाँ थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे टूटी थी चूड़ियाँ , टूटे अब मेरी बला से.. तुझे सोचना कोई और काम दे दो मुझे अब तुम यह क्या तुझे सोचना और सोचते ही रहना..

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 88 - जो बोल ज़ुबानों निकल गया – Punjabi Shayari and Kalaam

जो बोल ज़ुबानों निकल गया – Punjabi Shayari and Kalaam

जो बोल ज़ुबानों निकल गया जो बोल ज़ुबानों निकल गया ओ तीर कमानों निकल गया .. मैं दिल विच ओहनूं लभणां वां ओ दुर आसमानों निकल गया .. ओहनूं मेरीया गलां याद रेह्याँ पर मैं पहचानों निकल गया .. हूण हाल फकीरा दा की पुछदे ओ जद्ओ दर्द बयानों निकल गया .. मैं घर दी अग्ग लुकाऊँदा सी धुआं रोशन -दानों निकल गया ..   असां पानी बनके रूढ़ जाना  बरसात विच असां पानी बनके रूढ़ जाना . पतझड़ विच असां सूखे फूल बनके झड़ जाना . की होया ये आज असां तेनु तंग करदे आँ . इक दिन असां तेनु दसे बिना ही टूर जाना .   कुछ शौक सी यार फ़क़ीरी दा कुछ शौक सी यार फ़क़ीरी दा कुछ इश्क ने दर दर रौल दिता कुछ सजना कसर न रखी सी कुछ जहर रक़ीबा घोल दिता कुछ हिज्र फ़िराक दा रंग चढ़िआ कुछ दर्द माही अनमोल दिता कुछ उँज भी राहवाँ औखियाँ सी कुछ गल विच गम दा तौख भी सी कुछ शहर दे लोक भी जालिम सी कुछ सानू मरन शौक भी सी

Continue Reading

Yes, I am Relaxing – Funny Banta

  Banta was enjoying sun on a beach. A lady came and asked him, “Are you relaxing?”. Banta answered, “No I am Banta Singh” Another guy came and asked the same question. Banta Answered, “No No Me Banta Singh” Third one came and asked the same question. Banta got totally annoyed and decided to shift his place. While walking he saw a sardar Ji enjoying the beach. He went and asked him “Are you relaxing?”   Sardar Ji was much educated and replied  “Yes I am relaxing “ The Banta slapped him on his face and said ” ओ Idiot सब तेरे को वहा ढूंढ रहे है और तू जहा आराम कर रहा है.”

Continue Reading