shayarisms4lovers June18 98 - तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है

तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है

तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है तेरा आना मेरी जिंदगी में एक ख्वाब सा लगता है ऐतबार नहीं है मुझे अपनी किस्मत पे एक धोखा सा लगता है जब भी तुझे करीब पता हूँ एक सकून सा लगता है फिर न जाने क्यों एक डर सा लगता है तुझे पाकर जहाँ […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 202 - पहले पहले का इश्क़ अभी भी याद है – फ़राज़

पहले पहले का इश्क़ अभी भी याद है – फ़राज़

खुश और उदास – फ़राज़ वो मुझ से बिछड़ कर खुश है तो उसे खुश रहने दो “फ़राज़ “ मुझ से मिल कर उस का उदास होना मुझे अच्छा नहीं लगता …. पहले पहले का इश्क़ अभी याद है “फ़राज़” दिल भी बुझा हो शाम की परछाइयाँ भी हों मर जाए जो ऐसे में तन्हाइयाँ […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 263 - आज फिर दिल है कुछ उदास उदास – जावेद अख्तर

आज फिर दिल है कुछ उदास उदास – जावेद अख्तर

दर्द अपनाता है पराये कौन कौन सुनता है और सुनाए कौन कौन दोहराए वो पुरानी बात गम अभी सोया है जगाए कौन वो जो अपने हैं क्या वो अपने हैं कौन दुःख झेले आज़माए कौन अब सुकून है तो भूलने में है लेकिन उस शख्स को भुलाए कौन आज फिर दिल है कुछ उदास उदास […]

Continue Reading

दुःख दे कर सवाल करते हो – उर्दू शायरी

दुःख दे कर सवाल करते हो , तुम भी ग़ालिब ! कमाल करते हो .. Dukh Day Kar Sawaal Kartay ho, Tum Bhe GHAALiB ! Kamaal Kartay ho.. यह हम ही जानते हैं जुदाई के मोड़ पर , इस दिल का जो भी हाल तुझे देख कर हुआ .. Yeah hum hi jantey hain judaai […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 102 - Umar bhar teri mohabbat  meri  khidmat rahi

Umar bhar teri mohabbat meri khidmat rahi

तेरी खिदमत के क़ाबिल उम्र भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमत रही मैं तेरी खिदमत के क़ाबिल जब हुआ तो तू चल बसी हिंदी और उर्दू शायरी – अल्लम इक़बाल शायरी – तेरी खिदमत के क़ाबिल Teri Khidmat Ke Qabil Umer Bhar Teri Mohabbat Meri Khidmat Rahi Main Teri Khidmat Ke Qabil Jab Huwa Tu Chal […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 89 - चंद नग्मे हुस्न वालो की नज़र

चंद नग्मे हुस्न वालो की नज़र

जख्म है गहरे और न आये मुझे उन्हें सीना उसके जख्मो के बिन जिंदगी क्या जीना अगर लफ्ज़ो में तेरी तारीफ करू तो तेरे हुस्न की बेअदबी होगी बस तू यह जान ले चाँद भी अधूरा है तेरे बिना हुस्न वालों के पीछे दीवाने चले आते है शमा के पीछे परवाने चले आते है तुम […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 129 - जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया – Javed Akhtar Shayari

जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया – Javed Akhtar Shayari

जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया उम्र भर दोहराएंगे ऐसी कहानी दे गया उस से मैं कुछ पा सकू ऐसी कहाँ उम्मीद थी ग़म भी शायद बराए मेहरबानी दे गया खैर मैं प्यासा रहा पर उसने इतना तो किया मेरी पलकों की कितरों को वो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 69 - थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे – चूड़ियाँ

थामी है कलाई अब न छुटेगी मुझसे – चूड़ियाँ

यादों का इक झोंखा यादों का इक झोंखा आया मुद्द्तों बाद पहले इतना रोये नहीं जितना रोये बरसों बाद लम्हां लम्हां गुजरा तो  हमे अहसास हुआ पत्थर फैंके बरसों पहले , शीशे टूटे बरसों बाद दस्तक ही उमीद लगाये कब से बैठे हैं हम कल का वादा करने वाले , मिलने आए बरसों बाद.. गुजरे […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 125 - नए कवियों की शायरी पढ़िए

नए कवियों की शायरी पढ़िए

Poet – Kautilya Gaurav कहती सुनती बातों सी… जैसे गहरी मेरी रातों सी… ख़ामोशी से भरी भरी… ख़ाली मेरे हाथों सी… कभी कभी कहीं जो मिलती थी… ख़ामोशी सी रातों में… जाने कहाँ मुझसे गुम हुई… कुछ बातें तेरी बातों सी… Poet – Kautilya Gaurav दरिया सा एक सब्र का… बहता रहा मुझमें कहीं… बहोत […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 39 - आज की रात

आज की रात

आज की रात वो कह के चले इतनी मुलाक़ात बहुत है मैंने कहा रुक जाओ अभी रात बहुत है आँसू मेरे थम जाएं तो फिर शौक से जाना ऐसे मैं कहाँ जाओगे बरसात बहुत है वो कहने लगे जाना मेरा बहुत ज़रूरी है नहीं चाहता दिल तोडू तेरा पर मजबूरी है गर हुई हो कोई […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 27 1 - यह इश्क़ नहीं आसां – Jigar Moradabadi – Urdu Shayar

यह इश्क़ नहीं आसां – Jigar Moradabadi – Urdu Shayar

यूं ही दिल के तड़पने का कुछ तो है सबब आखिर या दर्द ने करवट ली है या तुमने इधर देखा माथे पे पसीना क्यों आँखों में नमी सी क्यों कुछ खैर तो है , तुमने जो हाल -ऐ -जिगर देखा                             […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 149 - कली का फूल बनना और बिखर जाना मुक़दर है

कली का फूल बनना और बिखर जाना मुक़दर है

तुम ही को चाहते है तुम ही से प्यार करते है यही बरसो से आदत है और आदत कब बदलती है तुम को जो याद रखा है यही अपनी इबादत है इबादत जिस तरह की हो इबादत कब बदलती है कली का फूल बनना और बिखर जाना मुक़दर है यही कानून-ऐ-फितरत है और फितरत कब […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 108 - यह जरूरी तो नहीं – इश्क़-ऐ-गम

यह जरूरी तो नहीं – इश्क़-ऐ-गम

उम्र जलवो में बसर हो यह जरूरी तो नहीं हर शबे-ऐ-गम की सेहर हो यह जरूरी तो नहीं नींद तो दर्द के बिस्तर पर भी आ जाती है उसके आगोश में सर हो यह जरूरी तो नहीं आग को खेल पतंगों ने समझ रखा है सब को अंजाम का डर  हो यह जरूरी तो नहीं वो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 129 - छोड़ दिए हम ने ऐतबार किस्मत की लकीरों पे – Aitbar Shayari

छोड़ दिए हम ने ऐतबार किस्मत की लकीरों पे – Aitbar Shayari

कोई तो बरसात ऐसी हो कोई तो बरसात ऐसी हो जो तेरे संग बरसे … तनहा तो मेरी आँखें हर रोज़ बरसती हैं … Koi To Barsat Aisi Ho Koi To Barsat Aisi Ho Jo Tere Sang Barsy… Tanha To Meri Aankhen Har Roz Barasti Hain… ऐतबार छोड़ दिए हम ने ऐतबार किस्मत की लकीरों […]

Continue Reading
garden rose red pink 56866 - याद-ऐ-गम

याद-ऐ-गम

एक अजनबी चले आओ फिर से एक अजनबी हो कर मिलने तुम मेरा नाम पूछो में तुम्हारा हाल पुछू तेरी एक झलक तेरी एक झलक को दिल तरस जाता है मेरा किस्मत वाले है वो लोग जो रोज़ तेरा दीदार करते है , तुझसे बात करते है उससे इतना कहना वो लड़की नज़र आये कभी […]

Continue Reading