shayarisms4lovers June18 227 - हमारी उल्फ़त का यूँ न लो इम्तिहान की दुनिया हँसे हम पे

हमारी उल्फ़त का यूँ न लो इम्तिहान की दुनिया हँसे हम पे

इश्क़ का मुक़दमा हमने किया है दाखिल इश्क़ का मुक़दमा तेरे हुस्न के दरबार में अब हर रोज़ आते है यह फ़रियाद लिए की कोई आवाज़ तो देगा हमारी उल्फ़त का यूँ  न लो इम्तिहान की दुनिया हँसे हम पे एक दिन तो तुम्हे होना है मेरा यह यक़ीन है मुझे मेरे इश्क़ पर Ishq […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 220 - बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया

बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया

बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया बरसों के इंतज़ार का अंजाम लिख दिया काग़ज़ पे शाम काट के फिर शाम लिख दिया बिखरी पड़ी थी टूट के कलियाँ ज़मीन पर तरतीब दे के मैंने तेरा नाम लिख दिया आसान नहीं थी तर्क -ऐ -मुहब्बत की दास्ताँ दो आंसूओं ने आखरी पैग़ाम लिख दिया अल्लाह […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 248 - ऐ दिल है मुश्किल शायरी – आज जाने की जिद न करो

ऐ दिल है मुश्किल शायरी – आज जाने की जिद न करो

ऐ दिल है मुश्किल जब प्यार में प्यार न हो जब दर्द में यार न हो जब आँसूओ में मुस्कान न हो जब लफ़्ज़ों में जुबान न हो जब साँसे बस यूं ही चले जब हर दिन में रात ढले जब इंतज़ार सिर्फ वक़्त का हो जब याद उस कमबख्त की हो क्यों वो हो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 205 - शायरी – अदब-ऐ-वफ़ा

शायरी – अदब-ऐ-वफ़ा

रूह हम अपनी रूह तेरे जिस्म में छोड़ आये है तुझे गले से लगाना तो एक बहाना था Hindi and Urdu Shayari , Shayari , शायरी , mohabbat ki Shayari , wafa ki Shayari , Rooh (रूह) वो नज़र तो आया है यही बहुत है की दिल उसे ढूंढ लाया है किसी के साथ ही सही […]

Continue Reading

सब को दुआओं में याद रखना आदत है मेरी

रिवायत माना के मरने वालों को भुला देती है यह दुनिया मुझे जीते जी को भुला कर तुम ने रिवायत ही बदल डाली Riwayat Maana ke Marnay Walon Ko Bhula Daiti hai yeah Dunya Mujhe Jite ji Ko Bhula Kar Tum Ne Riwayat Hi Badal Dali.. मोहब्बत भूल जाना भुला देना फ़क़त एक वेहम् ही […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 101 - ऑंखें तो प्यार में दिल की ज़ुबान होती है – इश्क़ बेवफा

ऑंखें तो प्यार में दिल की ज़ुबान होती है – इश्क़ बेवफा

बड़े शौक़ से मर जाएँगे आओ किसी रोज़ मुझे टूट के बिखरता देखो मेरी रगो में ज़हर जुदाई का उतरता देखो किस किस तरह से तुझे माँगा है खुद से हमने आओ कभी मुझे सजदों में सिसकता देखो तेरी तलाश में हम ने खुद को खो दिया है मत आओ सामने मगर कहीं छुप के […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 184 - ज़ख़्म-ऐ -जिगर तुमको दिखाएगें किसी रोज़ – परवीन शाकिर उर्दू शायरी

ज़ख़्म-ऐ -जिगर तुमको दिखाएगें किसी रोज़ – परवीन शाकिर उर्दू शायरी

इश्क़ में सच्चा चाँद पूरा दुःख और आधा चाँद हिजर की शब और ऐसा चाँद इतने घने बादल के पीछे कितना तनहा होगा चाँद मेरी करवट पर जाग उठे नींद का कितना कच्चा चाँद सेहरा सेहरा भटक रहा है अपने इश्क़ में सच्चा चाँद Ishq mein Sachcha chaand Pura dukh aur Aadha Chaand Hijr ki […]

Continue Reading

फिर एक बेवफा की कहानी याद आई – Love Break up Shayari

बेवफा की कहानी बरसात की भीगी रातों में फिर उनकी याद आई कुछ अपने जमाना याद आया कुछ उनकी जवानी याद आई फिर यादों के दौर चले फिर एक बेवफा की कहानी याद आई Bewafa Ki Kahani Barsaat ki bheegi raaton mein phir unki yaad aayi Kuch apne jamana yaad aaya kuch unki jawani yaad […]

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 77 - शायरी जो दिल में उतर जाये – लफ़्ज़ों की दास्ताँ

शायरी जो दिल में उतर जाये – लफ़्ज़ों की दास्ताँ

न किया कर अपने दर्द-ऐ-दिल को शायरी में बयान “मोहसिन” लोग और टूट जाते हैं हर लफ़ज़ को अपनी दास्ताँ समझ कर तुम नहीं , गम नहीं , शराब नहीं तुम नहीं , गम नहीं , शराब नहीं ऐसी तन्हाई का जवाब नहीं कभी कभी इसे पढ़ा कीजिये दिल से बेहतर कोई किताब नहीं जाने […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 141 - इश्क़ की कीमत पूछ लो मुझ से – Passionate Shayari

इश्क़ की कीमत पूछ लो मुझ से – Passionate Shayari

तुम्हारा साथ जी चाहता है तुम से प्यारी सी बात हो हसीं चाँद तारे हो , लम्बी सी रात हो एहसास हो , बात हो और तुम्हारा साथ हो यही सिलसिला तमाम रात हो , तुम्हारा साथ हो तुम मेरी ज़िन्दगी हो , तुम मेरी कायनात हो . Tumhara Sath Jee Chahta Hai Tum Se […]

Continue Reading