shayarisms4lovers June18 199 - अभी कुछ शेयर बाकी है – By Jaun Elia Shayari

अभी कुछ शेयर बाकी है – By Jaun Elia Shayari

इरादा रोज़ करता हूँ , मगर कुछ कर नहीं सकता मैं पेशेवर फरेबी हूँ , मोहब्बत कर नहीं सकता यहाँ हर एक चेहरे पर अलग तहरीर लिखी है मेरी आँखों में ऑंसू हैं , अभी कुछ पढ़ नहीं सकता मैं उस घर का मुक़ीमी हूँ , जिसे औक़ात कहतें है मैं अपनी हद में रहता […]

Continue Reading