shayarisms4lovers June18 263 - आज फिर दिल है कुछ उदास उदास – जावेद अख्तर

आज फिर दिल है कुछ उदास उदास – जावेद अख्तर

दर्द अपनाता है पराये कौन कौन सुनता है और सुनाए कौन कौन दोहराए वो पुरानी बात गम अभी सोया है जगाए कौन वो जो अपने हैं क्या वो अपने हैं कौन दुःख झेले आज़माए कौन अब सुकून है तो भूलने में है लेकिन उस शख्स को भुलाए कौन आज फिर दिल है कुछ उदास उदास […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 129 - जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया – Javed Akhtar Shayari

जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया – Javed Akhtar Shayari

जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया जाते जाते वो मुझे अच्छी निशानी दे गया उम्र भर दोहराएंगे ऐसी कहानी दे गया उस से मैं कुछ पा सकू ऐसी कहाँ उम्मीद थी ग़म भी शायद बराए मेहरबानी दे गया खैर मैं प्यासा रहा पर उसने इतना तो किया मेरी पलकों की कितरों को वो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 87 - जो सुनाई अंजुमन में शब-ऐ-ग़म की आपबीती

जो सुनाई अंजुमन में शब-ऐ-ग़म की आपबीती

पहली नज़र उस से कहो इक बार और देख कर आज़ाद कर दे मुझे के मैं आज भी उस की पहली नज़र की क़ैद में हूँ Pehli Nazar Us se kaho ik baar aur dekh kar AAZAAD kar de mujhe Ke main aaj bhi us ki pehli nazar ki qaid main hoon.. तेरी बेवफ़ाइयों पर […]

Continue Reading