shayarisms4lovers June18 199 - संत कबीर अनमोल वाणी – कबीर के दोहे

संत कबीर अनमोल वाणी – कबीर के दोहे

संत कबीर वाणी कबीरा खड़ा बाजार में मांगे सब की खैर न कहु से दोस्ती न कहु से बैर —- बुरा जो देखन में चला , बुरा न मिलया कोई , जो मन खोजा अपना तो मुझ से बुरा न कोई —- चलती चक्की देख के दिया कबीरा रोए दुई पाटन के बीच में साबुत […]

Continue Reading