shayarisms4lovers June18 270 - Zindagi tamasha hai aur is tamashe mein

Zindagi tamasha hai aur is tamashe mein

ज़िन्दगी तमाशा है और इस तमाशे में, खेल हम बिगाड़ेंगे, खेल को बनाने में, कारवां रुके तो उनका भी कुछ ख्याल आता है, जो सफ़र में पिछड़े हैं, रास्ता बनाने में! GOOD NIGHT Zindagi tamasha hai aur is tamashe mein, khel ham bigadenge khel ko banane mein, karavan ruke to unka bhi kuchh khyal aata hai, jo safar mein pichhade hain, rasta banane mein! Good Night

Continue Reading