shayarisms4lovers mar18 52 - तेरी खुशबू का एहसास – अक्स-ऐ-खुशबू हूँ उर्दू शायरी

तेरी खुशबू का एहसास – अक्स-ऐ-खुशबू हूँ उर्दू शायरी

अक्स -ऐ -खुशबू हूँ अक्स -ऐ -खुशबू हूँ बिखरने से न रोके कोई और बिखर जाऊं तो मुझे न समेटे कोई काँप उठती हूँ मैं इस तन्हाई में मेरे चेहरे पे तेरा नाम न पढ़ ले कोई जिस तरह ख्वाब मेरे हो गए रेज़ा-रेज़ा इस तरह से न कभी टूट के बिखरे कोई मैं तो […]

Continue Reading
3962724 flowers hd wallpaper - तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब – उर्दू शायरी फूल गुलाब का

तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब – उर्दू शायरी फूल गुलाब का

तुझे पल भर को भी भूल जाने की कोशिश कभी कामयाब न हुई तेरी याद शाख-ऐ-गुलाब थी जो हवा चली तो महक उठी बन के गुलाब बन के गुलाब कांटे चुभा गया एक शख्स हुआ चिराग तो घर ही जला गया एक शख्स तमाम रंग मेरे और सारे ख्वाब  मेरे फ़साना था के अफसाना बना […]

Continue Reading