shayarisms4lovers mar18 206 - Love Shayari - Mera dil jis par fida hai

Love Shayari – Mera dil jis par fida hai

Mera dil jis par fida hai Vohi mujh se juda hai Main ne kab kaha ke tanha hoon Mere sath mera khuda hai Main kyon naa usey pyar karun Wo mere dil ki nida hai Us se bichad kar yun lagta hai Jaise yeh jeevan ik saza hai Wo jahan bhi rahe khush rahe Asghr ke dil ki yehi dua hai… – M. Asghar Mirpuri मेरा दिल जिस पर फिदा है वोही मुझ से जुड़ा है मैं ने कब कहा के तन्हा हूँ मेरे साथ मेरा खुदा है मैं क्यों ना उसे प्यार करूँ वो मेरे दिल की निदा है उस से बिछड़ कर यूँ लगता है जैसे यह जीवन इक सज़ा है वो जहाँ भी रहे खुश रहे असग़र के दिल की यही दुआ है… – म. असग़र मीरपुरी

Continue Reading
Urdu Shayari - Aik Muddat Se Rahi Hai Yeh Aarzoo Meri

Urdu Shayari – Aik Muddat Se Rahi Hai Yeh Aarzoo Meri

Aik Muddat Se Rahi Hai Yeh Aarzoo Meri Ke Kab Tujh Se Ho Gi Guftgoo Meri Aaj Duniya Humein Milne Nahi Deti Aik Din Mohabbat Ho Gi Sarkhroo Meri Mera Jeena Aur Marna Sab Tere Liye Saansoon Ki Bhi Mukhtaar Hai Tu Meri Dil Tere Hi Khyalon Mein Khoya Hai Rooh Bhatak Rahi Koobakoo Meri Main Khizaaon Ki Rahon Ka Musafir Hoon Kabhi Bhool Kar Bhi Na Karna Jastjoo Meri – M.Asghar Mirpuri ऐक मुद्दत से रही है यह आरज़ू मेरी के कब तुझ से हो गी गुफ्तगू मेरी आज दुनिया हूमें मिलने नही देती ऐक दिन मोहब्बत हो गी सरखरू मेरी मेरा जीना और मारना सब तेरे लिए साँसून की भी मुख़्तार है तू मेरी दिल तेरे ही ख्यालों में खोया है रूह भटक रही कूबकू मेरी मैं खिज़ाओं की राहों का मुसाफिर हूँ कभी भूल कर भी ना करना जस्तजू मेरी – म.अस्घर मीरपुरी

Continue Reading
Urdu Shayari - Agar Tujhey Nafrat Mere Naam Se Hai

Urdu Shayari – Agar Tujhey Nafrat Mere Naam Se Hai

Agar Tujhey Nafrat Mere Naam Se Hai Phir Kyon Mohabbat Mere Klaam Se Hai Jis Ka Mashgla Tha Auron Ko Dukh Dena Aaj Wo Udas Ghamon Ki Shaam Se Hai Mohabbat Mein Kisi Tafreeq Ke Hum Nahi Qaabil Humein To Mohabat Khaas-O-Aam Se Hai Jis Ki Deed Ko Aankhein Tarash Rahi Hain Usey Na Fursat Apne Kaam Se Hai Hum Ne Mohabbat Ka Agaaz To Kar Diya Asghar Hume Na Koi Garaz Anjaam Se Hai – M.Asghar Mirpuri अगर तुझे नफ़रत मेरे नाम से है फिर क्यों मोहब्बत मेरे क्लां से है जिस का मशगला था औरों को दुख देना आज वो उदास घामों की शाम से है मोहब्बत में किसी तफ़्रीक़ के हम नही क़ाबिल हूमें तो मोहबत ख़ास-ओ-आम से है जिस की डीड को आँखें तराश रही हैं उसे ना फ़ुर्सत अपने काम से है हम ने मोहब्बत का आगाज़ तो कर दिया अस्घर ह्यूम ना कोई गाराज़ अंजाम से है – म.अस्घर मीरपुरी

Continue Reading
Urdu Shayari - Jab Se Uske Husan Pe Padi Hai Nazar

Urdu Shayari – Jab Se Uske Husan Pe Padi Hai Nazar

Jab Se Uske Husan Pe Padi Hai Nazar Main Ho Gya Hoon Apni Hasti Se Bekhabar Meri Duaon Ka Kuch Aisa Hua Hai Asr Mujhey Mil Gya Hai Mere Khawabon Ka Pekar Uske Pyar Ne Mujhe Zare Se Aaftab Bana Diya Main Ban Gya Hoon Qatre Se Samundar Mere Jism Mein Wo Basi Hai Rooh Ki Tarah Aisa Ashyana Chhod Kar Wo Jaye Gi Kidhar Pyar Ki Raahon Mein Sambhal Kar Chalta Hoon Suna Hai Yeh Raaste Hein Bade Purkhatar – M.Asghar Mirpuri जब से उसके हुसान पे पड़ी है नज़र मैं हो गया हूँ अपनी हस्ती से बेख़बर मेरी दुआओं का कुछ ऐसा हुआ है अस्र मुझे मिल गया है मेरे खवाबों का पेकर उसके प्यार ने मुझे ज़रे से आफताब बना दिया मैं बन गया हूँ क़तरे से समुंदर मेरे जिस्म में वो बसी है रूह की तरह ऐसा अश्यना छ्चोड़ कर वो जाए गी किधर प्यार की राहों में संभाल कर चलता हूँ सुना है यह रास्ते हाइन बड़े पुरखतर – म.अस्घर मीरपुरी

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 75 - Sad Shayari - Humein to zindagi mein

Sad Shayari – Humein to zindagi mein

Humein to zindagi mein bada khsaara mila hai, Besahara reh gaye koi na sahara mila hai, Wo purani yaadein ek bar phir laut aayee, Subaho savere jo khat tumhara mila hai, Duniya mein jis se bhi hamara dil mila, Us se na muqaddar ka sitara mila hai, Aaj apne dil ki kitab jab padhi, Uske har panne pe naam tumhara mila hai, Bada mushkil hai ishq ka samundar paar karna, Har shanaawar ko na yahan kinara mila hai… – M.Asghar Mirpuri हमें तो ज़िंदगी में बड़ा ख्सारा मिला है, बेसहारा रह गये कोई ना सहारा मिला है, वो पुरानी यादें एक बार फिर लौट आई, सुबहो सवेरे जो खत तुम्हारा मिला है, दुनिया में जिस से भी हमारा दिल मिला, उस से ना मुक़द्दर का सितारा मिला है, आज अपने दिल की किताब जब पढ़ी, उसके हर पन्ने पे नाम तुम्हारा मिला है, बड़ा मुश्किल है इश्क़ का समुंदर पार करना, हर शनावर को ना यहाँ किनारा मिला है… – म. असग़र मीरपुरी

Continue Reading
shayarisms4lovers may18 79 - Sad Shayari - Aankh ashqon se khoonbaar hui jaati hai

Sad Shayari – Aankh ashqon se khoonbaar hui jaati hai

Aankh ashqon se khoonbaar hui jaati hai, Zindagi baes-e-aazaar hui jaati hai, Hamara milna bhi ab khawab lagta hai, Hamaare darmiyaan judai deewar hui jaati hai, Na jaane vasal ki shab kab aayegi, Ab to saans bhi dushwaar hui jaati hai, Main isey kaise zindagi keh doon, Jo basar tere bagair hui jaati hai… – M. Asghar Mirpuri आँख अश्क़ों से खूंबार हुई जाती है, ज़िंदगी बाएस-ए-आज़ार हुई जाती है, हमारा मिलना भी अब खवाब लगता है, हमारे दरमियाँ जुदाई दीवार हुई जाती है, ना जाने वसल की शब कब आएगी, अब तो साँस भी दुशवार हुई जाती है, मैं इसे कैसे ज़िंदगी कह दूं, जो बसर तेरे बगैर हुई जाती है… – म. असग़र मीरपुरी

Continue Reading