Manushi Chhillar Biography in Hindi (Miss World 2017 from India) मानुषी छिल्लर का जीवन परिचय

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

नमस्कार दोस्तों “shayarisms4lovers.in” में आपका स्वागत है |

दोस्तों आज हम बात करने जा रहे है एक ऐसी सुंदरी के बारे में जिन्होंने 118 देश की सुंदरियों को हरा के Miss World 2017 का ख़िताब अपने नाम किया | जी हा दोस्तों हम बात कर रहे है मिस वर्ल्ड 2017 मानुषी छिल्लर (Manushi Chhillar) के बारे में, जिन्होंने 17 साल बाद ये ख़िताब जीत कर पूरी दुनिया में अपने देश भारत का नाम रोशन किया | यह हमारे सारे भारत देश के वाशियों के लिए बहुत ज्यादा ही गर्व की बात है| मानुषी भारत के हरियाणा स्टेट से ताल्लुक रखती हैं, और यहाँ की लड़कियों को अपनी पढाई आदि को लेकर कई बाधाओं का सामना करना पड़ता है, लेकिन इन सारी बाधाओं को पीछे छोड़ते हुए आज देश की छठवी मिस वर्ल्ड के रूप मे अपना नाम इतिहास के पन्नो पर दर्ज कराया |

  मानुषी छिल्लर का जन्म 14 मई 1997 को हरियाणा में हुआ था, यह एक बहुत प्रतिभाशाली माता पिता की संतान हैं, इनके माता-पिता चिकित्सक हैं, पिता डॉ. मित्र बासु छिल्लर ने मेडिसीन में एमडी की उपाधि हासिल की है। और मानुषी की मां डॉ. नीलम छिल्लर बायो केमिस्ट्री में एमडी हैं। माता-पिता मानुषी को प्यार से मानु कहकर बुलाते हैं। मानुषी की बड़ी बहन दिवांगना छिल्लर एलएलबी की पढ़ाई कर रही है, उनका छोटा भाई अभी 9वीं क्लास में पढ़ता है। मानुषी महज बीस वर्ष की हैं, और वह फिलहाल सोनीपत के मेडिकल कॉलेज में एमबीबीएस (MBBS) सेकंड ईयर की स्टूडेंट हैं और साथ ही मानुषी ने मॉडलिंग की और वह एक कुशल डांसर भी हैं, इन्होंने कूचीपूड़ी नृत्य की तालिम हासिल की हैं, यह तालिम इन्हे प्रसिद्ध राजा रेड्डी, कौशल्या रेड्डी से प्राप्त हुई |

वास्तव में, सौंदर्य प्रतियोगिता में भाग लेने के लिए मानुषी की प्रेरणास्त्रोत रही रीता फारीया जिन्होंने 1966 में मिस वर्ल्ड का ख़िताब अपने नाम किया और साथ ही रीता फारीया एक डॉक्टर भी थी उन्ही की वजह से मानुषी ने इस फील्ड में जाने का निर्णय लिया |  मानुषी ने जापान में आयोजित एक सांस्कृतिक विनिमय कार्यक्रम में भी हमारे देश का प्रतिनिधित्व किया है।

   18 नवंबर 2017 को चीन के सन्या मे मिस वर्ल्ड 2017 का आयोजन किया गया, इस कॉमपिटीशन के आखरी चरण में पाँच देशो की सुंदरियों ने अपनी जगह बनाई, जिनमे से एक मानुषी थी, अंतिम चरण के वह पांच देश थे भारत, इंग्लैंड, फ्रांस, केन्या और मैक्सिको| इस अंतिम पड़ाव पर, पहली रनर …

Continue Reading