shayarisms4lovers June18 240 - इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है – नशीली आँखों की शायरी

इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है – नशीली आँखों की शायरी

आँखों की बात इश्क़ करने वाले आँखों की बात समझ लेते है सपनो में यार आए तो उसे मुलाकात समझ लेते है रूठता तो आसमान भी है अपनी ज़मीन के लिए यह तो लोग ही उसे बरसात समझ लेते है Aankhon ki Baat Ishq karnewale Aankhon ki baat samajh lete hai Sapno mein yaar aaye […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 163 - हमारे दिल ने अगर हौसले किये होते – Noshi Gilani ki Shayari

हमारे दिल ने अगर हौसले किये होते – Noshi Gilani ki Shayari

मेरी सांसें यह नामुमकिन नहीं रहेगा , मुक़ाम मुमकिन नहीं रहेगा ग़रूर लहजे में आ गया तो कलाम मुमकिन नहीं रहेगा तुम अपनी साँसों से मेरी सांसें अलग तो करने लगे हो लेकिन जो काम आसान समझ रहे हो वो काम मुमकिन नहीं रहेगा Meri Saansain Yeh Nammumkin Nahi rahega, Muqaam Mumkin Nahi rahega Gharoor […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 199 - यारों की इनायत – ख्वाजा मीर दर्द की शायरी

यारों की इनायत – ख्वाजा मीर दर्द की शायरी

यारों की इनायत न कोई इलज़ाम , न कोई तंज़ , न कोई रुस्वाई मीर , दिन बहुत हो गए यारों ने कोई इनायत नहीं की Yaron ki Inayat Na koi ilzaam, Na koi tanz, Na koi ruswai Mir, din bohat hogaye yaron ne koi inayat nahi ki.. ज़ोर आशिक़ मिज़ाज है कोई जब मैंने […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 202 - ग़ज़ल – वो मेरा हमसफ़र हुआ भी तो लम्हा भर

ग़ज़ल – वो मेरा हमसफ़र हुआ भी तो लम्हा भर

हम तो अकेले रहे हमेशा रहेगा यह आलम कहाँ यह महफ़िल कहाँ और यह हमदम कहाँ सदा चोट पर चोट खाता रहा मुक़द्दर में इस दिल के मरहम कहाँ कहाँ अब्र कोई कड़ी धुप में झुलसते बयाबां में शबनम कहाँ ना मस्त आँखें होंगी ना ज़ुल्फे रसा हमेशा रहेगा यह मौसम कहाँ अकेले थे हम […]

Continue Reading