shayarisms4lovers mar18 47 - उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां

प्यार , इनकार और इकरार इनकार वो करते है इकरार के लिए नफरत भी करते है तो प्यार के लिए उलटे ही चलते है यह इश्क़ के कारवां आँखों को बंद  करते है  दीदार के लिए Pyar , Inkaar Aur  Ikraar Inkaar woh karte hai ikraar ke liye, Nafrat bhi karte hai to pyar ke liye, Ulte hi […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 28 - गम-ऐ-मुहब्बत शायरी

गम-ऐ-मुहब्बत शायरी

दिल का आलम सिर्फ चेहरे की उदासी से भर आए आँसू दिल का आलम तो अभी आप ने देखा ही नहीं … Dil ka Alam Sirf chehray ki Udasi say bhar aye Ansoo Dil ka alam tu Abhi ap nay Dekha hi nahi… गम-ऐ-मुहब्बत वो जो बिछड़ा तो मैंने जाना लोग मर मर कर भी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 02 - मुहब्बत की जुबान

मुहब्बत की जुबान

मुहब्बत की जुबान यहां तक आये हो कुछ ज़ुबान से कह दो लफ्ज़ मुहब्बत नहीं कह सकते सलाम तो कह दो पलकें तो उठाओ अपनी इतनी भी हया कैसी ज़ुबान से नहीं कुछ कहते निगाह से ही कह दो दिल को यकीन आये कहदो आप हमारे हो अपने लिखे खतों का जवाब साथ लाए हो […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 161 - तुम ने तो कह दिया के मोहब्बत नहीं मिली

तुम ने तो कह दिया के मोहब्बत नहीं मिली

तुम ने तो कह दिया के मोहब्बत नहीं मिली तुम ने तो कह दिया के मोहब्बत नहीं मिली मुझ को तो यह भी कहने की मोहलत नहीं मिली नींदों के देश जाते कोई खुवाब देखते लेकिन दिया जलाने से फुर्सत नहीं मिली तुझे खैर शहर के लोगों का खौफ था और मुझ को अपने घर […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 198 - मुहब्बत भी तिजारत हो गयी है इस ज़माने में – Sahir Ludhianvi

मुहब्बत भी तिजारत हो गयी है इस ज़माने में – Sahir Ludhianvi

कोई इलज़ाम यह हुस्न तेरा यह इश्क़ मेरा रंगीन तो है बदनाम सही मुझ पर तो कई इलज़ाम लगे तुझ पर भी कोई इलज़ाम सही Koi ilzaam yeh husn teraa yeh ishq mera rangeen to hai badnaam sahi mujh par to kai ilzaam lage tujh par bhi koi ilzaam sahi.. फ़िज़ायों के इशारे नज़रें भी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 114 - मुहब्बत का एहसास – Romantic Shayari

मुहब्बत का एहसास – Romantic Shayari

प्यार का अंजाम कौन सोचता है , चाहने से पहले नियत कौन देखता है . मुहब्बत है एक अँधा एहसास , करते हैं सब पर मुकाम कौन जानता है हिंदी और उर्दू शायरी – मुहब्बत का एहसास की शायरी – प्यार का अंजाम कौन सोचता है Pyar ka anjam kaun sochta hai, Chahne se pahle […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 141 - इश्क़ की कीमत पूछ लो मुझ से – Passionate Shayari

इश्क़ की कीमत पूछ लो मुझ से – Passionate Shayari

तुम्हारा साथ जी चाहता है तुम से प्यारी सी बात हो हसीं चाँद तारे हो , लम्बी सी रात हो एहसास हो , बात हो और तुम्हारा साथ हो यही सिलसिला तमाम रात हो , तुम्हारा साथ हो तुम मेरी ज़िन्दगी हो , तुम मेरी कायनात हो . Tumhara Sath Jee Chahta Hai Tum Se […]

Continue Reading
18ffe00ac1b80278d933771f7350413a - पैगाम-ऐ-मोहब्बत शायरी

पैगाम-ऐ-मोहब्बत शायरी

यूँ मिले के मुलाकात न हो सकी यूँ मिले के मुलाकात न हो सकी होंट खुले मगर कोई बात न हो सकी मेरी खामोश निगाहें हर बात कह गई और उनको शिकायत है के बात न हो सकी Yun Mile ke Mulakaat Na Ho Saki Yun mile ke Mulakaat na ho Saki Hont khulay Magar koi […]

Continue Reading