shayarisms4lovers mar18 60 - फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत उर्दू शायरी

फ़राज़ और मोहसिन नक़वी की खूबसूरत उर्दू शायरी

तन्हाई और महफ़िल – फ़राज़ तन्हाई में जो चूमता है मेरे नाम के हरूफ फ़राज़ महफ़िल में  वो शख्स मेरी तरफ देखता भी नहीं ​ Tanhai Aur Mehfil – Faraz Tanhai main jo chomta hai mere naam ke haroof  “Faraz” Mehfil mein wo shakhas meri taraf dekhta bhi nahi​ जिंदगी और मौत – फ़राज़ कोई न आएगा तेरे सिवा मेरी जिंदगी में  “फ़राज़” एक मौत ही है जिस का हम वादा नही करती ​ Zindgi Aur Maut – Faraz Koi na ayega tere siwa meri zindgi main “Faraz” Ek maut hi hai jiss ka hum wada nahi karte मिज़ाज़ और धड़कन – फ़राज़ कितना नाज़ुक मिज़ाज़ है  उसका  कुछ न पूछिये  “फ़राज़” नींद नही आती उन्हें धड़कन के शोर से ​ Mizaz Aur Dhadkan – Faraz Kitna nazuk mizaz hai uska kuch na puchiay “Faraz” Neend nhi ati unhe Dhadkan ke shor se​ खुश और उदास – फ़राज़ वो मुझ से बिछड़ कर खुश है तो उसे खुश रहने दो “फ़राज़ “ मुझ से मिल कर उस का उदास होना मुझे अच्छा नहीं लगता Khush Aur Udaas – Faraz Wo mujh se bichad kar khush hai to usse khush rehne do “Faraz” Mujh se mil kar us ka udass hona muje […]

Continue Reading

फेसबुक चुनिंदा शायरी – अरज़ किया है

   मुझे ज़रा खुदा से हमकलाम होने दो …    तुम्हारा ज़िकर भी इसी गुफ्तगू में है मेरी शामें खुद को खुद से हमकलाम कर के देखना कितना मुश्किल है यह सफर तय कर के देखना किस क़दर उदास गुज़रती हैं मेरी शामें याद किसी को किसी शाम कर के देखना कफ़न अगर तुम्हारा होगा आँखें अगर तुम्हारी होगी तो आंसू हमारे होंगे दिल अगर तुम्हारा होगा तो धड़कन हमारी होगी ख्वाहिश है ..कफ़न अगर तुम्हारा होगा तो मयत हमारी होगी कफ़न न डालो मेरी मयत पर कफ़न न डालो मेरे चेहरे पे मुझे आदत है मुस्कुराने की कफ़न न डालो मेरी मयत पर मुझे इंतज़ार है उसके आने का उनके सदके जान है मेरी शिकायत ये नहीं के वो नाराज़ है हमसे शिकायत इस बात की है वो आज भी अनजान है हमसे दिल तोडा , जज़्बात बिखेरे , फिर भी वो दिलजान है मेरे मांग ले वो कभी जान भी मेरी , उनके सदके जान है मेरी अश्क आँख से ढल गए कभी आह लब पे मचल गई कभी अश्क आँख से ढल गए वो तुम्हारे ग़म के चिराग़ हैं कभी बुझ गए कभी जल गए जो फना हुए ग़म-ऐ -इश्क़ में , उन्हें ज़िंदगी का न ग़म […]

Continue Reading