shayarisms4lovers June18 92 - रोज तुमसे सपनो में मुलाकात करते है – मुलाकात शायरी

रोज तुमसे सपनो में मुलाकात करते है – मुलाकात शायरी

मुलाकात का इंतज़ार हर एक मुलाकात को याद हम करते है कभी मोहब्बत कभी जुदाई की आह भरते है यूँ तो रोज तुमसे सपनो में मुलाकात करते है मगर फिर भी अगली मुलाकात का इंतज़ार करते है . Mulakat Ka Intzar Har ek mulakat ko yaad hum karte hai Kabhi mohabbat kabhi judai ki aah […]

Continue Reading