एक उम्मीद ज़िन्दगी की – पारिवारिक ज्ञान

उम्मीद  उस   ख़ुशी  का  नाम  है  जिस  के  इंतज़ार  में  ग़म  के  अय्याम  कट  जाते  हैं  रिश्ते आजकल उंगलिया ही निभा रही है रिश्ते आजकल, जुबां से निभाने का वक़्त कहाँ है सब टच में बिजी है पर टच में कोई नहीं है एक उम्मीद ज़िन्दगी की – पारिवारिक ज्ञान – उंगलिया ही निभा […]

Continue Reading
18ffe00ac1b80278d933771f7350413a - पैगाम-ऐ-मोहब्बत शायरी

पैगाम-ऐ-मोहब्बत शायरी

यूँ मिले के मुलाकात न हो सकी यूँ मिले के मुलाकात न हो सकी होंट खुले मगर कोई बात न हो सकी मेरी खामोश निगाहें हर बात कह गई और उनको शिकायत है के बात न हो सकी Yun Mile ke Mulakaat Na Ho Saki Yun mile ke Mulakaat na ho Saki Hont khulay Magar koi […]

Continue Reading