shayarisms4lovers June18 131 - मैं हूँ इक ख्वाब मगर जागती आँखों का – Ameer Qazalbash Shayari

मैं हूँ इक ख्वाब मगर जागती आँखों का – Ameer Qazalbash Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

आरज़ू-ऐ-साहिल

उनकी बेरुखी में भी इल्तेफ़ात शामिल है
आज कल मेरी हालत देखने के काबिल है

क़त्ल हो तो मेरा सा मौत हो तो मेरी सी
मेरे सोगवारों में आज मेरा क़ातिल है

मुजतरीब हैं मौजें क्यों उठ रही हैं तूफ़ान क्यों
क्या किसी सफ़ीने को आरज़ू-ऐ-साहिल है

सिर्फ राहजन ही से क्यों “अमीर ” शिकवा हो
मंज़िलों की राहों में राहबर भी शामिल है

Aarazuu-ae-saahil

unki berukhi mein bhi iltefaat shaamil hai
aaj kal meri haalat dekhne ke kabil hai

 

Qatal ho to mera sa maut ho to meri si
mere sog vaaron mein aaj meraa qaatil hai

muztarib hain maujen kyun uth rahe hain tuufaan kyun
kya kisi safine ko aarazuu-ae-saahil hai

sirf rahzan hi se kyon “Ameer” shikva ho
manzilon ki raahon mein raahbar bhi shaamil hai


कभी सोचा न था

जगमगाते शहर की रंगीनियों में क्या न था
ढूंढने निकला था जिस को मैं , वही चेहरा न था

रेत पर लिखे हुए नामों को पढ़ कर देख लो
आज तनहा रह गया हूँ कल मगर ऐसा न था

हम वही तुम भी वही मौसम वही मंज़र वही
फासला बढ़ जाएगा इतना कभी सोचा न था

Kabhi Socha na Tha

Jagmagaate shehar ki ranginiyon mein kya na tha
dhundhane nikala tha jis ko main wahi chehara na tha

ret pe likhe huye naamon ko padh kar dekh lo
aaj tanhaa reh gayaa hoon kal magar aisa na tha

hum wahi tum bhi wahi mausam wahi manzar wahi
fasla bad jaayega itana kabhi socha na tha


तू एक दरिया

आज की रात भी गुज़री है मेरी कल की तरह
हाथ आये न सितारे तेरे आँचल की तरह

रात जलती हुई इक ऐसी चिता है जिस पर
तेरी यादें हैं सुलगते हुए संदल की तरह

तू एक दरिया है मगर मेरी तरह प्यासा है
मैं तेरे पास चला आऊंगा बादल की तरह

मैं हूँ इक ख्वाब मगर जागती आँखों का “अमीर ”
आज भी लोग छोड़ दे न मुझे कल की तरह

To Ek Dariya Hai

Aaj ki raat bhi guzari hai meri kal ki tarah
haath aaye na sitaare tere aanchal ki tarah

raat jalti hui ik aisi chitaa hai jis par
teri yaadein hain sulagate huye sandal ki tarah

to ek dariyaa hai magar meri tarah pyaasa hai
main tere paas chalaa aaunga baadal ki tarah

main hoon ik khwab magar jaagati ankhon ka “Ameer”
aaj bhi log chod de na mujhe kal ki tarah…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 36 - तुम्हारे ही ख्यालो में खोए रहते हैं – Romantic shayari

तुम्हारे ही ख्यालो में खोए रहते हैं – Romantic shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

दिल जब भी तुम्हारा धड़का है

तुम लाख छुपाओ सीने में एहसास हमारी चाहत का
दिल जब भी तुम्हारा धड़का है आवाज़ यहाँ तक आई है

Dil jab bhi tumhara dhadka hai

Tum laakh chupao seeney main Ehsaas hamari chaaht ka
Dil jab bhi tumhara dhadka hai awaaz Yahan tak aai hai..


जीना भी मुझे दुस्बार लगे

एहसास न कर इन जज़्बातों का नज़रों से गिरा दे बेशाक लेकिन
जीना भी मुझे दुस्बार लगे , इतना तो नज़र -अंदाज़ न कर

Jeena Bhi Mujhe Dushwaar Lage

Ehsaas Na Kar In jazbaton Ka Nazron Se gira de Beshaak Lekin !!!
Jeena Bhi Mujhe Dushwaar Lage, Itna To Nazar-Andaaz na Kar ..


अपनी धडकनें भी रोक ली

कहा सिर्फ उस ने इतना के ख़ामोशी है मुझे बहुत पसंद
इतना सुनना था के हम ने अपनी धडकनें भी रोक ली

Apni Dharkanen bhi rok lee..


तुम्हारे ही ख्यालो में

जब खामोश आँखों से बात होती है
ऐसे ही मोहब्बत की सुरुआत होती है
तुम्हारे ही ख्यालो में खोए रहते हैं
पता नहीं कब दिन कब रात होती है

Tumhare Hi Khayalo Mein

Jub Khamosh Aankho Se Baat Hoti Hai
Aise Hi Mohabbat Ki Suruwat Hoti Hai
Tumhare Hi Khayalo Mein Khoye Rehte Hain
Pata Nahi Kab Din Kab Raat Hoti Hai..


एक पल

कोई पल हो तेरे साथ का मेरी उम्र भर को समेट ले
मैं फ़ना बकाक सारे सफर उसी एक पल में गुज़ार दूँ

Ek Pal

koi pal ho tere sath ka meri umar bhar ko samait le
main fanaa baqaak sabhi safar usi ek pal mein guzaar doon…

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 209 - प्यार का इज़हार शायरी – Valentine’s Romantic Shayari

प्यार का इज़हार शायरी – Valentine’s Romantic Shayari

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

“उन्हें ये ख्वाहिश के हम ज़ुबाँ से इज़हार करे
हमें यह आरज़ू के वो दिल की ज़ुबाँ समझ लें“

प्यार का इज़हार

उन को चाहना मेरी मोहब्बत है
उन्हें कह न पाना मेरी मजबूरी है
वो खुद क्यों नही समझता मेरे दिल की बात को
क्या प्यार का इज़हार करना ज़रूरी है

Pyar Ka Izhaar

Un ko chahna meri mohabbat hai
Unhe keh na pana meri majboori hai
Wo khud kyon nhi samjhta mere dil ki baat ko
Kya pyar ka izhaar karna zaroori hai


मोहब्बत का इज़हार

दिल यह मेरा तुमसे प्यार करना चाहता हैं
अपनी मोहब्बत का इज़हार करना चाहता है
देखा हैं जब से तुम्हे ऐ मेरे हमदम
सिर्फ तुम्हारा ही दीदार करना चाहता है

Mohabbat Ka Izhaar

Dil yeh mera Tumse Pyar karna chahta hain
Apni Mohabbat ka izhaar karna chahta hai
Dekha hain jab se Tumhe ae mere humdam
Sirf tumhara hi Dedaar karna chahta hai..


दिल की आवाज़

दिल की आवाज़ को इज़हार कहते है
झुकी निगाह को इकरार कहते है
सिर्फ पाने का नाम मोहब्बत नहीं है यारो
कुछ खो कर पाने को भी प्यार कहते है

Dil Ki Awaaz

Dil ki awaaz ko izhaar kehte hai
Jhuki nigaah ko ikarar kehte hai
Sirf paane ka naam mohabbat nahi hai
Kuch kho kar pane ko bhi pyaar kehte hai..


तुझसे इज़हार किया

हर घडी तेरा दीदार किया करते हैं
हर ख्वाब में तुझसे इज़हार किया करते हैं
दीवाने हैं तेरे हम यह इक़रार करते हैं
जो हर वक़्त तुझसे मिलने की दुआ किया करते हैं

Tujse Izhaar Kiya

Har Ghadi Tera Dedaar Kiya Karte Hain
Har Khwaab Mein tujse izhaar Kiya Karte Hain
Diwaane hain Tere Hum Yeh Iqraar Karte Hain
Jo Har Waqat Tujse Milne Ki Dua Kiya Karte Hain..


इज़हार-ऐ-इश्क़

इश्क़ वही है जो हो एकतरफा हो
इज़हार-ऐ-इश्क़ तो ख्वाहिश बन जाती है
है अगर मोहब्बत तो आँखों में पढ़ लो
ज़ुबान से इज़हार तो नुमाइश बन जाती है

Izhaar-Ae-Ishq

Ishq wahi hai jo ho ektarfa ho
Izhaar-ae-Ishq to khwahish ban jaati hai
Hai agar mohabbat to aankho mein pad lo
Zuban se izhaar to numaish ban jaati hai..


इज़हार-ऐ-मोहब्बत

दिल की आवाज़ को इज़हार-ऐ-इश्क़ कहते हैं
झुकी निगाहों को इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं
सिर्फ ज़ुबान से कहना ही इज़हार-ऐ-मोहब्बत नहीं होता
दबे होंटों की मुस्कराहट को भी इक़रार-ऐ-इश्क़ कहते हैं

Izhaar-Ae-Mohabbat

Dil Ki Aawaz Ko Izhaar-ae-Ishq Kahte Hain
Jhuki Nighahon Ko Iqraar-ae-Ishq Kahte Hain
Sirf zuban se kahna hi IZHAR-ae-Mohabbat Nahi …

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 184 - ऐ बारिश ज़रा थम के बरस – Romantic बारिश शायरी

ऐ बारिश ज़रा थम के बरस – Romantic बारिश शायरी

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

ऐ बारिश

ऐ बारिश ज़रा थम के बरस
जब मेरा यार आ जाये तो जम के बरस
पहले न बरस की वो आ न सकें
फिर इतना बरस की वो जा न सकें

AE Barish

Ae barish zara tham ke baras
Jab mera yaar aa jaye to jam ke baras
Pehle na baras ki woh aa na sake
Phir itna baras ki wo ja na sake..


बारिश की बूँद

मत पूछ कितनी “मोहब्बत ” है मुझे उस से ,
बारिश की बूँद भी अगर उसे छु ले तो दिल में आग लग जाती है

Baarish Ki Boond

Mat Pooch Kitni “Mohabbat” Hai Mujhe Us Se,
Baarish Ki Boond Bhi Agar Use Chu Le To Dil Mein Aag Lag Jati Hai..


बरसात का मौसम

जब जब आता है यह बरसात का मौसम
तेरी याद होती है साथ हरदम
इस मौसम में नहीं करेंगे याद तुझे यह सोचा है हमने
पर फिर सोचा की बारिश को कैसे रोक पाएंगे हम

Barsaat Ka Mausam

Jab Jab Aata Hai Ye Barsaat Ka Mausam
Teri Yaad Hoti Hai Saath Hardam
Is Mausam Mein Nahi Karege Yaad Tujhe Ye Socha Hai Humne
Par Fir Socha Ki Barish Ko Kaise Rok Payege Hum..


ज़रा ठहरो के बारिश है

ज़रा ठहरो के बारिश है यह थम जाए तो फिर जाना
किसी का तुझ को छु लेना मुझे अच्छ नहीं लगता

Zara Thehro Ke Baarish Hai

Zara Thehro K Baarish Hai Yeh Tham Jaey To Phir Jana…
Kisi Ka Tujh Ko Choo Laina Mujhe Acha Nahi Lagta…


पहली बारिश

जब भी होगी पहली बारिश तुमको सामने पाएंगे
वो बूंदों से भरा चेहरा तुम्हारा हम कैसे देख पाएंगे

Pehli Baarish

Jab Bhi Hogi Pehli Baarish Tumko Samne Payenge
Woh Bundo Se Bhara Chehra Tumhara Hum Kaise Dekh Payenge…

Continue Reading

तुम जीयो हज़ारो साल – सालगिरह शायरी और सन्देश

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

बार बार दिन यह आये , बार बार दिल यह गाए
तुम जीयो हज़ारों साल , यह मेरी है आरज़ू
Happy Birthday To You
Happy Birthday To You

दिल से

ज़रूर तुमको किसी ने दिल से पुकारा होगा
एक बार तो चाँद ने भी तुमको निहारा होगा
मायूस हुए होंगे सितारे भी उस दिन
उपरवाले ने जब ज़मीं पर तुमको उतारा होगा

जन्मदिन मुबारक

 


जन्मदिन है तुम्हारा

बहुत दूर हूँ तुमसे पर दिल तुम्हारे पास है
जिस्म पड़ा है यहाँ पर रूह तुम्हारे पास है
जन्मदिन है तुम्हारा पर जश्न हमारे पास है
दूर है एक – दूसरे से हम पर फिर भी
तुम हमारे पास हो और हम तुम्हारे पास है

जन्मदिन मुबारक

 


जन्मदिन मनाऊं मैं फूलों से

मैं लिख दूँ तुम्हारी उम्र चाँद सितारों से
जन्मदिन मनाऊं मैं फूलों से बहारो से
हर एक ख़ूबसूरती मैं दुनिया से चुराऊँ
महफ़िल मैं तेरी हँसीं नजरो से सजाऊँ

जन्मदिन मुबारक

 


HAPPY BIRTHDAY​

Some People Like Sunday
Some People Like Monday​
However I Just Like Only One Day​
It’s Your Birthday, HAPPY BIRTHDAY​

BirthDay SMS and Shayari – HAPPY BIRTHDAY

 


जन्मदिन का तोहफा

तोहफा-ऐ-दिल दे दूं , या दे दूं चाँद तारे
जन्मदिन पर तूझे क्या दूँ यह पूछे मुझसे सारे
दिल चाहता दामन भर दूँ खुशियों से तुम्हारा
या ज़िन्दगी तेरे नाम कर दूँ तो भी कम हैं

जन्मदिन मुबारक

 


सालगिरह की ख़ुशी

बेखुदी लब्बों की हँसी मुबारक हो
तुम्हें यह सालगिरह की ख़ुशी मुबारक हो
कभी न आये कोई गम क़रीब आपके
जहाँ में सब से अच्छे हों नसीब तुम्हारे
खलूस और प्यार भरी दोस्ती मुबारक हो
तुम्हें यह सालगिरह की ख़ुशी मुबारक हो

जन्मदिन मुबारक

 


दिल से दुआ

फूल खिलते रहे ज़िन्दगी की राह में
हंसी खिलखिलाती रहे आपकी आवाज़ में
कदम कदम पर मिले खुशियों की बहार आपको
दिल देता है यही दुआ बार -बार आपको .

जन्मदिन मुबारक

 


खुशियों से भरा जन्मदिन मुबारक

आपकी हर राह आसान हो
आपकी हर राह पर खुशियों का बसेरा हो
आपका हर दिन ख़ूबसूरत हो
ऐसी ही ख़ूबसूरत हो दुनिया आपकी
ऐसी मेरी दुआ है , खुशियों से भरा जन्मदिन मुबारक हो आपको

जन्मदिन मुबारक

 


खुशियों से सजा जन्मदिन

फूलों ने अमृत का जाम भेजा है
सूरज ने आसमान से सलाम भेजा है
मुबारक हो खुशियों से सजा जन्मदिन आपको
तहे-दिल से हमने यह पैगाम भेजा है

जन्मदिन मुबारक

 


May Stars Shine

May Stars Shine This Day​
May Flowers Bloom This …

Continue Reading
Wasi Shah - Sochta hoon ke usay neend bhi ati hogi..

प्यार, मोहबत और चाहत शायरी – Shayari of Love and Romance

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>
चाहत की महफ़िल

ग़म न कर ज़िन्दगी बहुत बड़ी है
चाहत की महफ़िल तेरे लिए सजी है
बस एक बार मुस्कुरा कर तो देख
तक़दीर खुद तुझसे मिलने बाहर खड़ी है

 

Chahat Ki Mehfil

Gham Na Kar Zindagi Bahut Badi Hai,
Chahat Ki Mehfil Tere Liye Saji Hai,
Bas Ek Baar Muskura Kar Tho Dekh,
Taqdeer Khud Tujhse Milne Bahar Khadi Hai

 


आप के नाम

मंज़िलों की हर राह आप के नाम ,
मोहब्बत की हर अदा आप के नाम
प्यार भरी हर निगाह आप के नाम
और आज लबों पर आने वाली हर दुआ आपके नाम

Aap Ke Naam

Manzilo ki har sadak aap ke naam
Mohabbat ki har adda aap ke naam
Pyaar bhari har nigah aap ke naam
Aur aaj labon par aaane wali har dua aapke naam

 


प्यार की तड़प

प्यार की तड़प को दिखाया नहीं जाता
दिल में लगी आग को बुझाया नहीं जाता
कितनी भी दूरी हो प्यार में मगर
आप जैसे दोस्त को भुलाया नहीं जाता

 

Pyaar ki Tadap

pyaar ki tadap ko dikhaya nahi jata
dil mein lagi aag ko bhujaya nahi jata
kitni bhi doori ho pyaar mein magar
aap jaise dost ko bholaya nahi jata

 


तेरी  तस्वीर

न दिल को “बहलाने” के लिए .
न घर मैं “सजाने” के लिए .
बस आपकी एक “तस्वीर” चाहिए हमें .
अपने सूने घर को “बसाने” के लिए

 

Teri Tasveer

Na Dil Ko “BEHLANEY” Ke Liye.
Na Ghar Main “SAJANEY” Ke Liye.
Bus Aapki Ek “TASVEER” Chahiye Humain.
Apne Sune Ghar ko “BASANE” ke Liye…

Continue Reading