shayarisms4lovers June18 274 - Happy rakhsa bandhan – Kaali

Happy rakhsa bandhan – Kaali

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

सुबह बहन जल्दी उठती है और घर के सारे कामों को खत्म कर अपने भैया को जगाती है

बहन –  भैया उठो ना,जल्दी से उठो ना,  आज  आज रक्षाबन्धन  है ।
आप जल्दी से तैयार हो जाओ, मै सबसे पहले आपको राखी बांधुगी ।

भाई – ठीक है ।

भाई तैयार हो जाता है और बहन पूजा की थाली, मिठाई और राखी लेकर आती है

बहन –  भैया अपना दाहिना हाथ आगे बढाओ ।

भाई अपना हाथ आगे करके राखी बंधवा लेता है और जेब से निकालकर उसको एक खूबसूरत घड़ी देता है ।

( जो उसने बहन के लिए एक दिन पहले ही खरीदी थी )

लेकिन बहन मना कर देती है फिर भाई अपने पर्स से कुछ पैसे निकाल कर देता है लेकिन बहन फिर वापस कर देती है

तब भाई पुछता है कि बताओ तुम्हे क्या चाहिए ?

बहन –  जो मागुंगी वो दोगे ?

भाई – हां दुंगा ।

बहन – पहले मुझसे वादा करो ?

भाई – हां मैं पक्का वादा करता हूँ कि जो तू मांगेंगी वो मैं दुंगा ।

अब बोल तुझे क्या चाहिए ?

बहन –  भैया आज रक्षाबन्धन के दिन आप मुझसे ये वादा करो कि आप आज से  मां की बहन की गालियां नहीं दोगे । इतना कहकर उसकी आंखों में आसूं आ जाते हैं ।

(बहन रोते हुए )  भैया हम लोगों ने आप लोगों का क्या बिगाड़ रखा है जो हमेशा मां की बहन की गालियां देते हो हमें सरेआम बदनाम करते हो ।

बोलो   भैया   बोलो

भाई –  ( सिर नीचे किये हुए चुप है)

बहन – आज रक्षाबंधन पर आप मुझसे वादा करते हो कि नहीं ?

भाई –  ( आत्मग्लानि से रोते हुए )  हां बहन मैं आज तुमसे ये वादा करता हूं कि मैं जीवन में  कभी मां की बहन की गाली नहीं दुंगा और ना ही किसी को देने दुंगा ।
फिर अपने आप को सम्हाल कर बहन को भी चुप कराता है ।
और कहता है कि……

मिठाई देखकर मुंह में पानी आ रहा है
चल अब जल्दी से मिठाई खिला…….

बहन थोड़ा हंसने लगती है  उसकी आंखों में अभी भी आंसू थे लेकिन ये आंसू खुशी के थे,  भाई पर आत्मविश्वास के थे ।

मै चाहता हूँ कि हर लड़की रक्षाबन्धन पर अपने भाई से यही मांगे ।…

Continue Reading