Hindi kahani with moral values prernadayak

Hello readers , welcome to onlinehindistory.com once again. Today we are here with fresh 3 new hindi kahani with morals for you people. So read and them and don’t forget to tell us your views in comment section.

1. एक शहीद का परिवार Emotional Hindi kahani

जीवन और मरण यही तो सच्चाई है दुनिया का. कुछ नहीं कर पाते इस जीवन का. हलचल भरा यह जीवन एकदम शांत हो जाता है. यह ना तो किसी को आने की खबर देती है न समझने का मौका. न आगे का भविष्य देखता है और ना पीछे छूटे परिवार. रोते-बिलखते बूढ़े माँ-बाप, चूड़ियाँ तोड़ती जवान बीवी और वह बच्चा जिसको अपने पापा का नाम भी नहीं पता.

जो बड़ा होकर केवल दिवाल पर लगी तस्वीर देख पायेगा.

एक चहकती हुई जिन्दगी 2 पल में एक सुनसान रेगिस्तान बन गया. जिसपर कितना ही बरसात हो जाये सुखा ही रहेगा. ना तो सावन उस पर …

Continue Reading

Fairy Tales in Hindi | कानपूर के दामाद

Fairy Tales in Hindi | कानपूर के दामाद

Untitled 1 copy - Fairy Tales in Hindi | कानपूर के दामाद

साल 1986 की बात है…

शादी के बाद, पहली बार हम अपनी श्रीमती जी को लिवाने “कानपुर धाम” पहुंचे…सूरत से ट्रेन के तीस घण्टे के लंबे सफर के बाद| ट्रेन कानपुर स्टेशन पर रुकते ही एक “कुली महाशय” हमारी सीट पर आकर बोले “पाय लागूं जीजाजी”…

इससे पहले कि हम समझ पाएं कि ये “लाल ड्रेस” वाले “साले साहब” हमारी शादी में क्यूँ नहीं दिखे, इतने में एक और नए “साले साहब” प्लेटफार्म पर उतरते ही चाय लेकर हाज़िर…

असल में हमारे “ओरिजिनल साले साहब” ने कुली से लेकर स्टॉल वाले को हमारे चेहरे मोहरे ,केबिन और सीट नंबर के साथ एक्स्ट्रा टिप दे के रक्खी थी कि “हमार जीजा आय रहे हैं , जरा ध्यान रखना समझे ???

इतने में हमारे “ओरिजिनल” साले साहब बाहें फैलाये चार पांच चेलों चपाटों के साथ प्रकट हुए , मुँह में पान मसाला दबाए लपके …

Continue Reading

Hindi Story | भगवान का सत्कार

Hindi Story | भगवान का सत्कार

Hindi Story - Hindi Story | भगवान का सत्कार

एक गाँव में दामोदर नाम के एक गरीब ब्राह्मण रहा करते थे! ब्राह्मण को लोभ और लालच बिलकुल भी न था! वे दिन भर गाँव में भिक्षा व्रती करते और जो भी रुखा सुखा मिल जाता उसे भगवन का प्रशाद समझ कर ग्रहण कर लेते|

तय समय पर भ्रम्हं का विवाह संपन्न हुआ| विवाह के उपरांत ब्राह्मण ने अपनी स्त्री से कहा की देखो अब हम गृहस्थ जीवन में प्रवेश कर रहें हैं, गृहस्थ जीवन का सबसे पहला नियम होता है अतिथि सत्कार करना, गुरु आगया का पालन करना और भजन कीर्तन करना|

में चाहे घर में रहूँ न रहूँ लेकिन घर में अगर कोई अतिथि आए तो उनका बड़े अच्छे से अतिथि सत्कार करना| चाहे हम भूखे रह जाएँ लेकिन हमारे घर से कोई भी भूखा जाने न पाएं!

ब्राह्मण की बात सुनकर ब्राह्मणी ने मुस्कुराकर कहा अच्छी बात है| में इस सब …

Continue Reading

Digital India hindi story

This is a story written in hindi based on digital india program. This is educational and motivational both  hand in hand. So read this Digital India hindi story till end and share with everyone.

Digital India hindi story motivational

Digital india aapko sochne par majbur kar dega

Motivational stories -डिजिटल इंडिया

“बापू ये डिजिटल इंडिया क्या होता है?” नन्ही सी मुन्नी ने अपने बापू से पूछी, जो की उसके पास ही बैठ कर रेडियो सुन रहे थे. और अमाचार में कोई बार-बार ‘डिजिटल इंडिया’ के बारे में बोल रहा था. मुन्नी लालटेन की टिमटिमाती लौ में पढ़ रही थी और बाल-मन ये शब्द सुन कर रोक न पाई और radio सुनते हुए बापू से पूछी.

“ये तो मुझे भी नहीं पता बिटिया, मगर सब लोग कह रहे है की अब mobile से ही सब कुछ होगा.” उसको समझाते हुए उसके बापू ने बोला- “और तुमको तो पता होगा तू तो …

Continue Reading

God stories in hindi to restore faith भगवान की कहानी

Today we are presenting in front of you god stories in hindi to restore faith. We are on a track of posting inspirational and life changing hindi stories and quotes. So remain stick to us for wonderful stories and quotes in future.

God stories in hindi – Bhagwan ki kahani

एक गांव में एक ब्राहम्ण परिवार रहता था. उस ब्राहम्ण परिवार में तिन भाई थे और खेती-बाड़ी का काम करते थे. तीनो भाइयो में नित्यानंद जी सबसे बड़े भाई थे. वह सुबह-सुबह उठते और गंगा स्नान करने जाते फिर आकर भगवान का भजन और पूजन में लग जाते. उनका ये दिनचर्या हर मौसम में चलता रहता.

न बरसात उनका रास्ता रोक पाई, न ही कड़ाके की ठण्ड और न भीषण गर्मी. हर मौसम में सुबह 4 बजे उठते और अपना कमंडल लेकर निकल पड़ते नंगे पैर. न ही पत्थर चुभने का गम, न ही विषैले जीवो का डर. उनको न …

Continue Reading

Relationship stories in hindi with moral value

Today we come here with a true story. This is based on relationship stories in hindi. In this story we will talk about how a relationship becomes a torture for someone.

Real life relationship stories in hindi

किसी-न-किसी दिन तो यह होना ही था. ऐसा बहुत दिन तक नहीं चलने वाला था. सहन भी कितना करू. एक हद होती है, एक सीमा होती है सहन करने की. और वह सीमा पार हो चूका था. अच्छा किया, बहुत अच्छा किया. ऐसे रिश्ते से बहार आकर बहुत ही अच्छा किया. और अब नहीं निभा सकता था ये रिश्ता.

शाम का समय था. मैं अभी भी पार्क में बैठ था. पार्क के एक कोने में थोड़ी सी जगह पड़ी थी. जहाँ कोई आता-जाता नहीं था. मैं वही बैठा सोच रहा था आखो से आसू निकलते और फिर खुद ही सुख जाते. मैंने अपने मन को काबू करने की कोशिश कर रहा था. मगर …

Continue Reading

Business story in hindi for getting success

We will read today business story in hindi. And will also tell you that how you can get successful in your particular business.कहते है की हर प्रॉब्लम का solve हमारे आस-पास ही रहता है. बस हमे उसे पहचने की देर होती है.

उसी कुछ लोग उसे पहचान लेते है और success होते है मगर कुछ रोने में समय निकल देते है की अब क्या कर. अब कुछ नहीं हो सकता. आपके प्रॉब्लम का solve आपके पास ही है बस आप उसे देखिये उसे इस्तेमाल कीजिए.

मैं आपलोग को एक कहानी बताता हूँ कैसे एक आदमी अपने डूबती company को बचाता है. और उसे आगे तक ले कर जाता है. Moral story in hindi -एक कहानी जो आपकी जीवन बदल देगी.

Awesome business story in hindi

जतिन जब ऑफिस घर पंहुचा तो अभी शाम हुआ था. घरवाले बैठ कर उसका कब से wait कर रहे थे. जैसे ही जतिन घर …

Continue Reading

Short hindi stories with moral values शार्ट हिंदी कहानिया मोरल

Today we bring to you short hindi stories with moral values. Which will surely help in you life. इस पोस्ट में आपको बहुत सारी छोटी छोटी कहानिया मिलेंगी | जो मानवीय मूल्यों से भरी हैं और मजेदार भी हैं | आशा है आप लोगों को पसंद आएगी |

These are some short stories written below which inspirational , motivational , emotional with moral values. Read them and give feedback in comment box.

Short hindi stories for family

सोहन 10 साल का था जब उसके माँ-बाप गुजर गये. तब वह 6th class में पढता था. माँ-बाप के मरने के बाद सारी जिम्मदारी उसके बड़े भाई दिवाकर पर आ गई.

जब दिवाकर के माता-पिता का देहांत हुआ. दिवाकर का शादी हो चूका था. दिवाकर और उसकी पत्नी ने बहुत ही सेवा किया ‘माता-पिता’ का. उनके इलाज में सारा कुछ बेच डाला. मगर नियति को कुछ और मंजूर था. माता-पिता के मरने के …

Continue Reading

Do lafzo me ye bayan na ho paye – Samir

Hello friends i am samir from jamshedpur aaj main aapko ek real life love story batane ja raha hu jo khud hi meri life par hai is waqt to mera age 16 year hai magar baat abhi ki nahi hai baat us waqt ki hai jab main 8th class me tha us time mera age 13/14 hoga to main class me tha sabse top student aur friends log mujhe bahut ijjat dete the aur main school kabhi bhi miss nahi karta tha  are dosto ke liye thodi na meri gf ke liye jo mujhse chipak ke rehti thi saali bahut kamini thi ek baar gussa agar wo ho jaye to main use mana bhi nahi pata tha magar wo

bhi thodi na mere bagair reh sakti thi us din woh mujhse jo naraz thi to main to use nahi mana paya par kuch hi der me uska gussa shant hua …

Continue Reading