shayarisms4lovers June18 218 - Ek tara bole adhuri prem khani – Mohan rulaniya

Ek tara bole adhuri prem khani – Mohan rulaniya

< ?xml encoding="utf8mb4" ?>

कुछ दिनो पहले कि बात है ।
जो  मेरे जान से प्यारे भाई के साथ हुआ उसे मै आज बया करने जा रहा हुँ ।
ये कहानी एक प्यार ओर दोस्ती की जंग को बया करती है ।
एक ऐसा शक्स जो अपनी सारी जींवन सच्चे प्यार कि तलास में गुजार देता है ।
और जब भी उसे किसी लड़की से प्यार होता तब वह दोस्ती के मुकाबले प्यार को ज्यादा हैमियत देता था परन्तु अंत मैं उस के साथ जो होता उसे जब भी बया करने की कौशिस करता हुँ आँखे नम हो जाती है लेंकिन अब मैं और सहन नहीं कर सकता आज सबर का बांध टुट गया हैं इसलिए आज मैं इस शक्स के लिए कुछ पंक्ति व्यक्त करने जा रहा हुँ यदि कही भुल -चुक हो तो माफ करना ।।।।।।
प्यार की एक झलक
जब सोनू पहली बार अपने प्यार से मिला उसका नजरीया कुछ ऐसा था जो में आपके सामने पेस करता हुँ        जब सोनू की पहली मुलाकात जिस लड़की से हुई उसका नाम अंकिता था वह सोनू की क्लासमेंट थीं
जब उस  लड़की से सोनू पहली बार मिला तो उसे पहली नजर में प्यार हो गया । वो थी ही इतनी खुबसुरत की प्यार होना स्वाभाविक था ।
उसे देखकर ऐसा लगता था जेसे आसमान से परी उतरकर आई हो  जब से देखा था तब से सोनू का दिल बेकरार सा हो गया
वह हर वक्त उसी के ख्यालो मे खोया रहता था व मन ही मन उससे बाते करता रहता था लेकिन वह अंकिता हमेंशा क्लास में नीचा दिखाने की कोशिश करती थी सोनू भी उसे निचा दिखाने की कोशिश करता था और अपने-अपने दोस्तो के सामने एक दुसरे पर कमेंट कसते थें

धीरे -धीरे वह एक- दुसरे  के करीब आते गये , हंसकर एक -दुसरे के साथ बाते शेयर करने लगे,
ऐसे चलते- चलते वो खुबसुरत पल गुजरते चले, और एक दुसरे को दिल से चहाने लगे ।
एक पल ऐसा आया वो एक दुसरे से बगेर मिले खाना हजम नही होता था  एक बार की बात है सोनू और अंकिता play ground में बैठें थें सोनू के हाथ में बेट था कुछ बच्चे दोड़ते हुए बेट लेने के लिए आ रहें थें तो उनमें सें एक बच्चे नें क्हा चलो पहलें सोनू को कौन टच करता है सभी बच्चे दोड़ते हुए सोनू को हाथ टच करने के लिए लपकते है एक बच्चा अंकिता से टक्करा गया और अंकिता सोनू के उपर …

Continue Reading