shayarisms4lovers mar18 196 - मुझसे मुहब्बत की है तो वफ़ा का वादा भी कर

मुझसे मुहब्बत की है तो वफ़ा का वादा भी कर

तेरी राहगुज़र यह अजब क़यामते हैं तेरी राहगुज़र में गुजरी न हो के मर मिटे हम , न हो के जी उठें हम .. Teri Rahguzaar Yeh ajab qayamaten hain teri rahguzar main guzaari, Na ho ke mar mittain hum, na ho ke jee uthain hum… कोई शिद्दत से याद आता है इक अजीब सी […]

Continue Reading