shayarisms4lovers mar18 38 - जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है

जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है

जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है जब भी तेरे रुखसार की तामीर हम करते है हम उस वक़्त खुदा का शुक्रगुजार करते है पाया था तुझे इबादत में खुदा की रहमतों से न कर सके मुकमल उस फ़रियाद को याद करते है Jab Bhi Tere Rukhsar ki Tamir Hum Karte Hai Jab […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 94 - ग़म इसका नहीं की आप मिल न सकोगे – याद शायरी

ग़म इसका नहीं की आप मिल न सकोगे – याद शायरी

तन्हाई में आंसू करोगे याद एक दिन साथ बिताए ज़माने को चले जाएंगे जिस दिन हम कभी वापिस न आने को करेगा महफ़िल में ज़िकर हमारा कोई तो चले जाओगे तन्हाई में आंसू वहाने को . Tanhai Mein Aansu Karoge Yaad Ek Din Saath Beete Zamane Ko Chale Jaayenge Jis Din Hum Kabhi Wapas Na […]

Continue Reading
garden rose red pink 56866 - याद-ऐ-गम

याद-ऐ-गम

एक अजनबी चले आओ फिर से एक अजनबी हो कर मिलने तुम मेरा नाम पूछो में तुम्हारा हाल पुछू तेरी एक झलक तेरी एक झलक को दिल तरस जाता है मेरा किस्मत वाले है वो लोग जो रोज़ तेरा दीदार करते है , तुझसे बात करते है उससे इतना कहना वो लड़की नज़र आये कभी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - यादों का इक झोंका – तेरी यादें शायरी

यादों का इक झोंका – तेरी यादें शायरी

सजा बन जाती है गुज़रे हुए वक़्त की यादें न जाने क्यों छोड़ जाने के लिए मेहरबान होते हैं लोग यादों का इक झोंका यादों का इक झोंका आया हम से मिलने बरसों बाद पहले इतना रोये न थे जितना रोये बरसों बाद लम्हा लम्हा उजड़ा तो ही हम को एहसास हुआ पत्थर आये बरसों […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - इश्क़ में यह दूरियां – दूरियाँ शायरी

इश्क़ में यह दूरियां – दूरियाँ शायरी

इन राहों की दूरियां निगाहों की दूरियां हम राहों की दूरियां फनाह हो सभी दूरियां तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे तेरी नज़रों से ओझल हो जायेंगे हम दूर फ़िज़ाओं में कहीं खो जायेंगे हम हमारी यादों से लिपट कर रोते रहोगे जब ज़मीन की मट्टी में सो जायेंगे हम Teri Nazron Se Ozhal Ho […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - फिर यही ग़ज़ल लिखोगे तुम

फिर यही ग़ज़ल लिखोगे तुम

बहुत याद आते है न जाने वो क्यों इतना याद आते है , उसकी सूरत आँखों से क्यों नहीं निकल पाती है , जितना भुलाऊँ उसको उतना याद आती है .. Bahut Yaad aate hai na jane wo kyu itna yaad aate hai, uski surat aankho se kyo nahi nikal paati hai, jitna bhulau usko […]

Continue Reading