garden rose red pink 56866 - याद-ऐ-गम

याद-ऐ-गम

एक अजनबी चले आओ फिर से एक अजनबी हो कर मिलने तुम मेरा नाम पूछो में तुम्हारा हाल पुछू तेरी एक झलक तेरी एक झलक को दिल तरस जाता है मेरा किस्मत वाले है वो लोग जो रोज़ तेरा दीदार करते है , तुझसे बात करते है उससे इतना कहना वो लड़की नज़र आये कभी […]

Continue Reading
shayarisms4lovers June18 199 - यादों का इक झोंका – तेरी यादें शायरी

यादों का इक झोंका – तेरी यादें शायरी

सजा बन जाती है गुज़रे हुए वक़्त की यादें न जाने क्यों छोड़ जाने के लिए मेहरबान होते हैं लोग यादों का इक झोंका यादों का इक झोंका आया हम से मिलने बरसों बाद पहले इतना रोये न थे जितना रोये बरसों बाद लम्हा लम्हा उजड़ा तो ही हम को एहसास हुआ पत्थर आये बरसों […]

Continue Reading
shayarisms4lovers mar18 153 - याद-ऐ-गम

याद-ऐ-गम

तुम याद नहीं करते हम भुला नहीं सकते तुम हँसा नहीं सकते हम रुला नहीं सकते दोस्ती इतनी प्यारी है हमारी तुम जान नहीं सकते और हम बता नहीं सकते दिल गुमसुम जुबान खामोश क्यों है यह आँखें आज नम क्यों है जिन्हे कभी पाया ही न था तो आज उन्हें हमे खोने का गम […]

Continue Reading