Top 7 Happy Republic Day ( गणतंत्र दिवस कविता ) Poems in Hindi

poems Poetry Public Post

गणतंत्र दिवस पर कविताए : Read And Share Best Republic Day Poetries in Hindi. Great Collection Of Hindi Poems on Republic Day.

1. Best poem on 26 january in hindi

“गणतंत्र”

हर तरफ देखो लग रहा,

“जय हिन्द” का नारा है.।

लिए तिरंगा हाथ मे देश,

झूम रहा आज सारा है.।

आओ कि आया “राष्ट्र पर्व”

गणतंत्र हमारा है.।

नमन “माँ भारती” तुझे,

दिया राष्ट्र पर्व प्यारा है.।

2. New Happy Republic Day Poems in Hindi

आओ करे प्रतिज्ञा हम सब

इस पावन गणतन्त्र दिवस पर

हम सब बापू के आदर्शों

को अपनायेगे

नया समाज बनायेंगे

भारत माँ के वीर सपूतों

के बलिदानों को हम

व्यर्थ न जानें देंगे

जाति ,धर्म के भेदभाव से

ऊपर उठकर

नया समाज बनायेंगे

आजादी को मिले हुये

है अब अड़सठ साल

क्या सही मायनों में

हम आजादी के अर्थों

को समझ पायें है

क्या बापू के आदर्शों को

अपना पायें है

अंग्रजो की गुलामी से

निकल कर हम

क्या जाति, धर्म , गरीबी ,भष्टाचार

जैसे मुद्दों से लड़ पाये है

आओ आज करे प्रतिज्ञा हमसब

जो गरीब के घर न जले चूल्हा

तो हम भी निवाला नहीं खायें

बीनता कचरा जो बचपन

हम देखें

रातों को हम भी न सो पायें

शहीद सैनिको के परिवारों को

देख बिलखता

हम भी खामोश न रह पाये

मिलकर साथ आओ हमसब

करे प्रतिज्ञा आज

इस पावन गणतन्त्र दिवस पर

हम बापू के आदर्शों

को अपनाये

3. Republic Day Poetry Messages in Hindi

बस इस तिरंगे की पहचान को देखना….

कभी इन पत्थरों पर चल के देखना…

कभी इस मिट्टी की खुशबू महसूस करके देखना…

है हर चाल मे कितना प्यार, कभी आजमा के देखना…

बॅस इस तिरंगे की पहचान को देखना….

जो अपने प्राणो की बलि चढ़ाई उनके परिवार को देखना…

उन सिपाहियो की माँ के गीले चुनरी के पल्लू को देखना…

उनके घर के किसी कोने मे बुझे दीये की आस को देखना …

उनके आँगन मे गूंजते वन्दे मातरम को सुनना…

बस इस तिरंगे की पहचान को देखना….

थोड़ी दीये की लौ खुद के दिल में भी जलाओ…

किसी के आंसुओं की कीमत तुम भी जानो…

ऐसा कर जाओ की खाली न जाए वो हुई कुर्बानियां…

मिट्टी के हर कण-कण में वन्दे मातरम सुनाई दे जाए…

बस इस तिरंगे की पहचान को देखना….

इसके तीनो रंगो की पहचान को देखना…

एक हाथ मे गीता रखना दूजे हाथ आज क़ुरान रखना…

मज़हब जाती भाषा की दीवार न हो इसका ख्याल रखना…

प्यार और देशभक्ति की चुनर ओढ़े ऐसा हिन्दुस्तान बनाये रखना…

4. Gantantra Divas Par Poems in Hindi

Kehte hain alvida hum ab is jahaan ko,

Jaakr Khuda ke ghar se phir aaya na jaayega.

Ahle-e-vatan agarche humein bhool jaayenge,

Ahal-e-vatan ko humse bhulaya na jaayega.

Zulmo-sitam se tang naa aayenge hum kabhi,

Humse sare-niyaaz jhukaya na jaayega.

Isse ziyada aur sitam kya karenge vo,

Isse ziyada unse sataya na jaayega.

Yeh sach hai, maut humko mita degi dahar se,

Lekin hamara naam mitaya na jaayega.

Hum zindagi se rooth ke baithe hain jail mein,

Ab zindagi se humko manaya na jayega.

Humne lagayi aag hai jo inqalaab ki,

Is aag ko kisi se bujhaya na jaayega.

Yaron! Hai ab bhi waqt humein dekh-bhaal lo,

Phir kuch pata hamara lagaya na jaayega.

Ai maut! Jald aa ki tera intezaar hai,

Ab humse baare-jeest uthaya na jaayega.

Aazaad hum kara na sake apne mulq ko,

5. Long Poems On 26 January in Hindi

akatver bahut hai yah ganatantra.

Badal deta hai yah rajya tantra.

Kamjor nahin shaktishali hai yah,

Hai satta parivertan ka sahaj yah manatra.

Samvidhan deta hai sabako haq jeene ka.

Avaser shashan hetu sath mahine ka.

Janata bithati hai sir ankhon per lekin ,

Badale men chahati hai shahan karine ka.

Gantantra divas per sabhi ko garv hai.

Desh ka yah sarvottam parv hai.

Saman adhikar deta hai nagarikon ko,

6. Republic Day 2019 Short Poems in Hindi

Kash Koi Ham Se Puch Leta Ke Tum Bhi Pyar Karte Ho

Dil Me Koi Muhabbat He Ke Ase Hi Aah Bhrte Ho

Kasam Se Ham Unhe Kewal Sach Hi Batate

Jo Puch Lete Wo

Hamare Dil Me Kewal Watan Basa He,

7. Great Desh Bhakti Poems in Hindi

Aao jhuk kar salam kare unko,

Jinke hisse me ye mukam aata hai,

Khusnasib hota hai wo khoon

Jo desh ke kaam aata hai,

“HAPPY REPUBLIC DAY”

Leave a Reply